नई दिल्ली। डिफॉल्ट के कगार पर खड़ी पाकिस्तानी अर्थव्यवस्था को चीन की मदद मिली है। पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय ने बताया कि उसे चीन से 2.1 अरब डॉलर का कर्ज मिलेगा।पाकिस्तानी अखबार ने मंत्रालय के प्रवक्ता खकान नजीब खान ने कहा, 'चीन सरकार द्वारा पाकिस्तान को मुहैया कराए जाने वाली कर्ज की सभी प्रक्रियागत औपचारिकताओं को पूरा कर लिया है और इस राशि को सोमवार 25 मार्च को स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान के खाते में जमा कर दिया जाएगा।'इस कर्ज की मदद से पाकिस्तान के विदेशी मुद्रा भंडार में मजबूती आएगी और भुगतान संतुलन की स्थिति मजबूत होगी।गौरतलब है कि बीजिंग में चीन के प्रधानमंत्री ली केकियांग और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के बीच नवंबर 2018 में हुई बैठक के बाद चीन ने पाकिस्तान को उसकी वित्तीय संकट की स्थिति को दूर करने का आश्वासन दिया था।पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था इन दिनों बेहद खराब स्थिति से गुजर रही है। डॉलर के मुकाबले पाकिस्तानी रुपये में आई जबरदस्त गिरावट के बाद से पाकिस्तान के समक्ष भुगतान असंतुलन की स्थिति पैदा हो गई है। चीन की तरफ से की गई मदद से उसे आयात के लिए जरूरी पूंजी का स्तर बनाए रखने में मदद मिलेगी।फिलहाल पाकिस्तान को एक डॉलर की खरीद के लिए 140 रुपये तक का भुगतान करना पड़ता है और इसकी वजह से उसके विदेशी मुद्रा भंडार में लगातार कमी आई है।पिछले एक साल में पाकिस्तानी रुपया, डॉलर के मुकाबले 18 फीसद तक टूट चुका है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें