नई दिल्ली। नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (DGCA) के बोइंग 737 मैक्स पर प्रतिबंध लगाए जाने के बाद बजट एयरलाइंस स्पाइसजेट के शेयर 8 फीसद तक लुढ़क गए। डीजीसीए ने यात्रियों की सुरक्षा का हवाला देते हुए इन विमानों को तत्काल प्रभाव से हटाने का निर्देश दिया है।स्पाइसजेट के बेड़े में जहां 12 बोइंग 737 मैक्स शामिल है, वहीं जेट एयरवेज के बेड़े में ऐसे 5 विमान शामिल हैं, जिन्हें सेवा से हटाया जा चुका है। नकदी संकट की वजह से जेट एयरवेज किराए पर विमान देने वाली कंपनियों का बकाया चुकाने में नाकाम रही है, जिसकी वजह से उसे पहले ही इन विमानों को खड़ा करने के लिए मजबूर होना पड़ा है।बुधवार को जारी बयान में स्पाइसजेट ने कहा, 'स्पाइसजेट ने डीजीसीए के निर्देशों के बाद बोइंस 737 मैक्स को सेवा से हटा दिया है।' कंपनी ने कहा, 'हमें भरोसा है कि हम बड़ी संख्या में यात्रियों को सेवा देने में कामयाब होंगे और उन्हें न्यूनतम असुविधा का सामना करना होगा।'इथियोपिया हादसे के बाद भारत समेत करीब 19 देश इस विमान की उड़ान को प्रतिबंधित कर चुके हैं। हादसे में विमान पर सवार सभी 157 लोगों की मौत हो गई थी, जिसमें चार भारतीय भी शामिल थे।नागरिक उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु ने देर रात ट्वीट कर बताया, 'डीजीसीए ने बोइंग 737 मैक्स विमानों को तत्काल प्रभाव से परिचालन से हटाने का फैसला लिया है। सुरक्षा के लिए जरूरी बदलाव किए जाने तक इन विमानों को इस्तेमाल नहीं किया जाएगा।'प्रभु ने कहा कि विमानन सचिव को सभी विमानन कंपनियों के साथ बैठकर उन्हें आपातकाली योजना बनाने के लिए कहा है, ताकि यात्रियों को किसी तरह की असुविधा का सामना नहीं करना पड़े।अभी तक की रिपोर्ट्स के मुताबिक चीन, ब्रिटेन, जर्मनी, फ्रांस, मेक्सिको, ब्राजील, अर्जेंटीना, इंडोनेशिया, तुर्की, आयरलैंड, ऑस्ट्रेलिया, इथियोपिया, दक्षिण अफ्रीका, मलेशिया, सिंगापुर, ओमान, मोरक्को और मंगोलिया में इस विमान पर प्रतिबंध लगाया गया है।इंडिगो के शेयरों में तेजी: डीजीसीए के निर्देशों के बाद से जहां स्पाइसजेट के शेयरों में गिरावट आई है, वहीं भारत की सबसे बड़ी बजट एयरलाइंस इंडिगो के शेयर में जबरदस्त तेजी आई है। बीएसई में बुधवार को इंडिगो का शेयर 2.11 फीसद की मजबूती के साथ 1301.45 रुपये पर बंद हुआ वहीं स्पाइसजेट का शेयर 2.09 फीसद की गिरावट के साथ 77.15 रुपये पर बंद हुआ।

 

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें