नई दिल्ली। नई दिल्ली से वाराणसी के बीच शुरू होने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस या ट्रेन 18 में यात्रियों को खाना लेना ही होगा। वे इससे मना नहीं कर सकते जैसा कि शताब्दी, राजधानी और दुरंतो एक्सप्रेस में होता है।हालांकि इस सेमी हाई स्पीड ट्रेन से इलाहाबाद से वाराणसी की यात्रा करने वाले यात्रियों को टिकट बुक कराने के दौरान खाना चुनने या नहीं चुनने का विकल्प होगा। यात्री यदि टिकट बुकिंग के दौरान भोजन का विकल्प नहीं चुनते हैं, लेकिन वह यात्रा के दौरान खाना चाहते हैं तो उन्हें इसके लिए अतिरिक्त 50 रुपये देने होंगे।ट्रेन 18 के बारे में मिली जानकारी के मुताबिक, 'स्टेशनों के बीच कैटरिंग शुल्क तय कर दिया गया है और यह सभी यात्रियों के टिकट शुल्क में जोड़ा जाएगा।' नई दिल्ली से वाराणसी के बीच शुरू होने वाली इस ट्रेन को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 15 फरवरी को हरी झंडी दिखाने वाले हैं।वंदे भारत एक्सप्रेस में दो श्रेणी है। एक्जिक्यूटिव क्लास और चेयर कार। ट्रेन में मौजूद एग्जिक्युटिव क्लास और चेयर कार के लिए खाने का चार्ज भी अलग-अलग होगा। नई दिल्ली से वाराणसी के बीच एग्जिक्युटिव क्लास में सफर करने वाले यात्रियों को सुबह की चाय, नाश्ते और लंच के लिए 399 रुपये खर्च करने होंगे तो चेयर कार में 344 रुपये देने होंगे। नई दिल्ली से कानपुर और प्रयागराज के बीच सफर करने वाले यात्रियों को एग्जिक्युटिव क्लास में 155 और चेयरकार में 122 रुपये खर्च करने होंगे।वाराणसी से नई दिल्ली तक सफर करने वाले यात्रियों को एग्जिक्युटिव क्लास में 349 रुपये और चेयर कार में 288 रुपये खर्च करने होंगे। उन्हें शाम में चाय, स्नैक्स और रात का खाना दिया जाएगा।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें