नई दिल्ली। ई-कॉमर्स के नए नियमों के जवाब में अमेरिका, भारत को भारी झटका दे सकता है। न्यूज एजेंसी रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप उस व्यापारिक छूट को खत्म कर सकते हैं, जिसके तहत अमेरिका को होने वाले 5.6 अरब डॉलर के भारतीय निर्यात पर कोई शुल्क नहीं देना पड़ता है।जेनरलाइज्ड सिस्टम ऑफ प्रिफरेंसेज (जीएसपी) को वापस लेने से भारत के निर्यात पर बड़ा असर पड़ेगा। यह योजना अमेरिका में 1970 से लागू है, जिसका फायदा भारत को मिलता रहा है।डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के बाद से ही अमेरिका दुनिया के अन्य देशों के साथ अपने व्यापारिक घाटा का हवाला देते हुए टैक्स लगाता रहा है। चीन के कई उत्पादों पर ट्रंप ने इसी नीति का हवाला देते हुए टैक्स लगाए हैं। उन्होंने इसी सिलसिले में कई बार भारत का भी जिक्र किया है।ट्रंप ने राष्ट्रपति बनने के बाद ''मेक अमेरिका ग्रेट अगेन'' का नारा देते रहे हैं, ताकि स्थानीय स्तर पर मैन्युफैक्चरिंग को बढ़ावा दिया जा सके। एजेंसी के मुताबिक भारत में ई-कॉमर्स के नए नियमों के लागू होने के बाद अमेरिका भारत को दिए जा रहे व्यापारिक छूट को समाप्त करने के बारे में सोच रहा है।गौरतलब है कि नए बदलावों के मुताबिक अब ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म उन कंपनियों के प्रॉडक्ट नहीं बेच पाएंगे, जिनमें उनकी हिस्सेदारी है। इसके अलावा ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर अब किसी प्रॉडक्ट विशेष की एक्सक्लूसिव सेल भी नहीं होगी।इन नए नियमों की वजह ई-कॉमर्स सेक्टर की दिग्गज कंपनियों को बड़ा झटका लगा है और एमेजॉन को अपनी पैंट्री सेवा तक को बंद करना पड़ा।भारत में तेजी से बढ़ते ई-कॉमर्स सेक्टर में दो बड़ी अमेरिकी कंपनियां काम कर रही है। एमेजॉन के अलावा वॉलमार्ट ने हाल ही में फ्लिपकार्ट का अधिग्रहण किया है। भारत का ऑनलाइन बाजार 2027 तक 20 अरब डॉलर का होने की उम्मीद है।सूत्रों के मुताबिक अगर अमेरिका करीब 2,000 भारतीय प्रॉडक्ट्स के ड्यूटी फ्री एक्सेस को खत्म करता है, तो इसका सबसे ज्यादा असर छोटे कारोबारियों पर होगा।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें