नई दिल्ली। चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में मुनाफे में आई भारी गिरावट के बाद टाटा मोटर्स के शेयरों में भारी गिरावट आई है। शुक्रवार को कंपनी का शेयर 30 फीसद तक लुढ़क गया, जो फरवरी 1993 के बाद से इंट्रा डे के दौरान आई सबसे बड़ी गिरावट है।दोपहर बाद बीएसई में कंपनी का शेयर करीब 20 फीसद की गिरावट के साथ ट्रेड कर रहा है।जगुआर लैंड रोवर की परिसंपत्तियों पर किए गए खर्च की वजह से टाटा मोटर्स को अब तक का सबसे बड़ा घाटा हुआ है। दिसंबर तिमाही में टाटा मोटर्स को 26,992.54 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। कंपनी ने 3.10 अरब पॉन्ड की राशि को बट्टा खाते में डाला है।तीन फरवरी 1993 के बाद यह कंपनी के स्टॉक में आई सबसे बड़ी गिरावट है। शुक्रवार को कंपनी का शेयर 141.90 के निचले स्तर को छू गया। पिछले एक सालों में इसमें 50 फीसद से अधिक की गिरावट आई है।दिसंबर तिमाही में टाटा मोटर्स के राजस्व में 4.4 फीसदी का इजाफा हुआ है। हालांकि जेएलआर की बिक्री में जुलाई के बाद लगातार गिरावट आई है। दिसंबर तिमाही में कंपनी की बिक्री में सालाना आधार पर 6.4 फीसद की गिरावट आई है। कंपनी की बिक्री पर सबसे ज्यादा असर चीन की खराब बाजार स्थिति का हुआ है।

 

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें