नई दिल्ली। देश के दूरसंचार क्षेत्र में 2022 तक 5जी की शुरुआत हो जाएगी और इसके साथ ही अगले पांच साल में डिजिटल प्लेटफार्म पर पहुंच काफी तेज हो सकेगी। भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) के सचिव एस के गुप्ता ने गुरुवार को यह बात कही। उन्होंने कहा कि आर्टिफिशियल इंटीलिजेंस और बिग डाटा एनालिटिक्स के इस्तेमाल से उपभोक्ताओं के व्यवहार में काफी बदलाव आएगा।गुप्ता ने कहा कि मीडिया उद्योग में भारी बदलाव आया है और नई प्रौद्योगिकी को अपनाकर सफलता हासिल की जा सकेगी। एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए गुप्ता ने कहा, "दूरसंचार क्षेत्र 2022 तक 5जी में पहुंच जाएगा। अगले पांच साल में डिजिटल प्लेटफार्म तक पहुंच काफी तेजी से हो सकेगी।" उन्होंने कहा कि आज भारत में 40 करोड़ लोगों की अच्छी गुणवत्ता के इंटरनेट तक पहुंच है। ऐसे में डिजिटल प्लेटफार्म के जरिये मीडिया सामग्री के इस्तेमाल की संभावना काफी अधिक है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि स्मार्टफोन की संख्या बढ़ने से मीडिया सामग्री के विकास की प्रकृति में बदलाव आएगा।ट्राई के सचिव ने मीडिया उद्योग से कहा कि वह उपभोक्ताओं की उम्मीदों को पूरा करने का प्रयास करे और उनकी मांग पर ध्यान देते हुए ऐसी सामग्री का विकास करे जिससे मीडिया सामग्री का उपभोग बढ़ सके।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें