नई दिल्ली। पैन कार्ड के लिए अब आपको कई दिनों का इंतजार नहीं करना होगा। अब आप इसे महज 4 घंटे में ही बनवा लेंगे। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) के चेयरमैन सुशील चंद्रा ने कहा कि टैक्स डिपार्टमेंट 4 घंटे में पैन कार्ड देने की योजना पर कार्य कर रहा है।उन्होंने कहा, 'सीबीडीटी जल्दी ही 4 घंटे के भीतर ई-पैन देने की शुरुआत करेगा। हम एक नई प्रणाली सामने ला रहे हैं। एक साल या कुछ समय बाद हम 4 घंटे में पैन देना शुरू कर देंगे। आपको पहचान के तौर पर आधार देनी होगा और आपको 4 घंटे में ही ई-पैन मिल जाएगा।' उन्होंने कहा कि लोगों को पैन कार्ड के लिए 10 दिनों तक इंतजार नहीं करना होगा। सुशील चंद्रा ने बताया कि नोटबंदी का असर है कि आयकर रिटर्न करने वालों की संख्या तेजी से बढ़ रही है।उन्होंने कहा कि नोटबंदी देश में कर दायरा बढ़ाने के लिए काफी अच्छी रही है। इस साल हमें अब तक ही करीब 6.08 करोड़ आईटीआर मिल चुके हैं जो पिछले साल की इसी अवधि में मिले आईटीआर से 50 फीसद ज्यादा हैं। हालांकि, उन्होंने तारीख नहीं बताई जब आईटीअआर भरने वालों की संख्या 6.08 करोड़ तक पहुंच गई।बता दें कि अप्रैल 2017 में सीबीडीटी ने ई-पैन की सुविधा लॉन्च की थी। जिसके बाद हर आवेदक को ई-मेल के जरिए पैन कार्ड की सॉफ्ट कॉपी पीडीएफ फॉर्मैट में भेजी जाती है। जब इस्तेमाल करना हो तो इसे डाउनलोड कर उपयोग में लाया सकता है।दरसअसल, पैन यानी परमानेंट अकाउंट नंबर 10 कैरेक्टर का अल्फान्यूमेरिक नंबर होता है। इससे इनकम टैक्स देने वालों की जानकारी टैक्स डिपार्टमेंट को मिलती है। पैन कार्ड से सरकार को नागरिकों का वित्तीय लेखा-जोखा का पता चलता है। इसके जरिए किसी बड़ी वित्तीय गतिविधियों की जानकारी मिलती है। बड़े वित्तीय लेन-दें और इनकम टैक्स रिटर्न भरने के लिए पैन कार्ड की जरूरत होती है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें