Editor

Editor

पटना।विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा के राष्ट्रीय चुनाव संचालन समिति की बैठक शनिवार शाम दिल्ली में हुई। जेपी नड्डा की अध्यक्षता में भाजपा मुख्यालय में हुई बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष, केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह मौजूद थे। बैठक में बिहार में दूसरे और तीसरे चरण के प्रत्याशियों के नाम पर चर्चा हुई।बिहार से बैठक में भाजपा के बिहार प्रभारी भूपेंद्र यादव, चुनाव प्रभारी देंवेंद्र फड़नवीस, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राधामोहन सिंह और प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल शामिल हुए। चुनाव संचालन समिति की बैठक में केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत, राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री सौदान सिंह और पूर्व केंद्रीय मंत्री शाहनवाज हुसैन भी शामिल हुए। बता दें कि इससे पहले चार अक्टूबर को राष्ट्रीय चुनाव संचालन समिति की बैठक में पार्टी ने पहले चरण के लिए २९ प्रत्याशियों के नामों पर हरी झंडी दी थी। अभी 81 सीटों पर प्रत्याशियों के नाम की घोषणा बाकी है। ऐसे में शनिवार शाम हुई बैठक को काफी अहम माना जा रहा है। प्रधानमंत्री की मौजूदगी में वरिष्ठ नेताओं के बीच चुनाव प्रचार अभियान को लेकर भी चर्चा हुई।

भाजपा ने दूसरे चरण में कई विधायकों की कर दी छुट्टी;-सूचना है कि भाजपा ने दूसरे और तीसरे चरण वाले क्षेत्रों में कई विधायकों का टिकट काट दिया है। टिकट गंवाने वालों में अमनौर के शत्रुघ्न तिवारी उर्फ चोकर बाबा, चनपटिया के प्रकाश राय, सुगौली के रामचंद्र सहनी और बगहा के राघव शरण पांडेय जैसे कई विधायकों के नाम शुमार हो गया है। इसी तरह रक्सौल के विधायक डॉ. अजय कुमार सिंह का भी टिकट काट दिया है। हालांकि जहां-जहां पार्टी ने टिकट काट दिया उन सीटों पर प्रत्याशियों के नाम का औपचारिक रूप से टिकट का एलान नहीं किया है। इससे पहले पार्टी ने पहले चरण में झाझा विधायक डॉ. रवींद्र यादव की छुट्टी कर दी थी।

सीट शेयरिंग और समीकरण बना वजह:-विधायकों का टिकट काटने के पीछे वजहें कई बताई जा रही हैं। इसमें जदयू के साथ सीट शेयरिंग के अलावा मौजूदा विधायकों के प्रति पार्टी की नाराजगी सबसे अहम कारण है। इसके अलावा सांसदों के दबाव में भी पार्टी ने कई विधायकों की छुट्टी की है। यही नहीं, कुछ के पीछे क्षेत्र में नाराजगी भी अहम कारण बना है। हालांकि यह सबसे अहम वजह नहीं है। आधा दर्जन से अधिक विधानसभा क्षेत्र ऐसे भी जहां पूरी तरह संगठन और जनता की नाराजगी होने के बावजूद पार्टी ने विधायकों पर भरोसा जताया है।

कल गया में होगी बड़ी रैली;-बता दें कि बिहार में दूसरे चरण और तीसरे चरण  प्रत्याशियों के नाम की घोषणा अभी बाकी है। वहीं, दूसरे चरण के लिए नामांकन शुरू हो गया है। ऐसे में पार्टी द्वारा बुलाई गई बैठक को काफी अहम माना जा रहा है। इस बीच राष्ट्रीय अध्यक्ष नड्डा की रविवार को गया में रैली भी होने वाली है।

नई दिल्ली। भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए सबसे बुरा समय अब बीत चुका है और अब आर्थिक सुधार की रफ्तार उम्मीद से अधिक तेज है। एचडीएफसी लिमिटेड (HDFC Ltd) के सीईओ केकी मिस्त्री ने शनिवार को यह बात कही। मिस्त्री ने कहा कि दिसंबर तिमारी में ग्रोथ एक साल पहले की समान अवधि की तुलना में बेहतर रहने की उम्मीद है। मिस्त्री ने कहा कि इस तरह भारतीय अर्थव्यवस्था ने अपना लचीलापन साबित किया है। मिस्त्री अखिल भारतीय प्रबंधन संघ (AIMA) द्वारा आयोजित एक ऑनलाइन कार्यक्रम में बोल रहे थे।मिस्त्री ने कार्यक्रम में दिये अपने संबोधन में आगे कहा, 'अनुकूल ब्याज दरों का दौर आगे भी जारी रहेगा और आर्थिक गतिविधियों के तेज रफ्तार पकड़ने और मुद्रास्फीति का दबाव बढ़ने के बाद ही ब्याज दरें बढ़ेंगी। हालांकि, ब्याज दरें अपने निचले स्तर पर आ चुकी हैं।'अखिल भारतीय प्रबंधन संघ ने एक विज्ञप्ति जारी की है। इस विज्ञप्ति के अनुसार, मिस्त्री ने कार्यक्रम में कहा कि सरकार को रोजगार देने वाले सेक्टर्स की पहचान करनी चाहिए और उनके मुद्दों को प्राथमिकता के साथ सुलझाना चाहिए। मिस्त्री ने कहा कि कृषि के बाद आवास और अचल-सम्पत्ति के कारोबार में सबसे ज्यादा रोजगार मिले हुए हैं। इन कारोबारों में काम करने वालों को निम्न कौशल की जरूरत पड़ती है।एचडीएफसी लिमिटेड के सीईओ मिस्त्री ने मैन्यूफैक्चरिंग सेक्टर को भी मदद दिए जाने की जरूरत पर बल दिया। मिस्त्री ने कहा कि आवास और अचल सम्पत्ति सेक्टर में रुके हुए लोन्स का अनुपात इकाई अंक में ही रहेगा। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी से पैदा हुई परिस्थितयों के चलते जिन लोगों की नौकरियां गयी हैं, उनमें अधिकांश निम्न आयवर्ग के श्रमिक रहे हैं। वहीं, ऐसे वर्ग के लोगों की नौकरियां ज्यादा नहीं गई, जो आवास कर्ज लेते हैं।

नई दिल्ली। भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए सबसे बुरा समय अब बीत चुका है और अब आर्थिक सुधार की रफ्तार उम्मीद से अधिक तेज है। एचडीएफसी लिमिटेड (HDFC Ltd) के सीईओ केकी मिस्त्री ने शनिवार को यह बात कही। मिस्त्री ने कहा कि दिसंबर तिमारी में ग्रोथ एक साल पहले की समान अवधि की तुलना में बेहतर रहने की उम्मीद है। मिस्त्री ने कहा कि इस तरह भारतीय अर्थव्यवस्था ने अपना लचीलापन साबित किया है। मिस्त्री अखिल भारतीय प्रबंधन संघ (AIMA) द्वारा आयोजित एक ऑनलाइन कार्यक्रम में बोल रहे थे।मिस्त्री ने कार्यक्रम में दिये अपने संबोधन में आगे कहा, 'अनुकूल ब्याज दरों का दौर आगे भी जारी रहेगा और आर्थिक गतिविधियों के तेज रफ्तार पकड़ने और मुद्रास्फीति का दबाव बढ़ने के बाद ही ब्याज दरें बढ़ेंगी। हालांकि, ब्याज दरें अपने निचले स्तर पर आ चुकी हैं।'अखिल भारतीय प्रबंधन संघ ने एक विज्ञप्ति जारी की है। इस विज्ञप्ति के अनुसार, मिस्त्री ने कार्यक्रम में कहा कि सरकार को रोजगार देने वाले सेक्टर्स की पहचान करनी चाहिए और उनके मुद्दों को प्राथमिकता के साथ सुलझाना चाहिए। मिस्त्री ने कहा कि कृषि के बाद आवास और अचल-सम्पत्ति के कारोबार में सबसे ज्यादा रोजगार मिले हुए हैं। इन कारोबारों में काम करने वालों को निम्न कौशल की जरूरत पड़ती है।एचडीएफसी लिमिटेड के सीईओ मिस्त्री ने मैन्यूफैक्चरिंग सेक्टर को भी मदद दिए जाने की जरूरत पर बल दिया। मिस्त्री ने कहा कि आवास और अचल सम्पत्ति सेक्टर में रुके हुए लोन्स का अनुपात इकाई अंक में ही रहेगा। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी से पैदा हुई परिस्थितयों के चलते जिन लोगों की नौकरियां गयी हैं, उनमें अधिकांश निम्न आयवर्ग के श्रमिक रहे हैं। वहीं, ऐसे वर्ग के लोगों की नौकरियां ज्यादा नहीं गई, जो आवास कर्ज लेते हैं।

लखनऊ। हाथरस को बेहद चर्चा में लाने वाले बूलगढ़ी गांव के कांड में काफी उतार-चढ़ाव के दौर के बीच में मृत दलित युवती की कथित भाभी की चर्चा काफी तेज हो गई है। इसी बीच नक्सली होने का आरोप लगने पर प्रोफेसर डॉक्टर राजकुमारी बंसल मीडिया के सामने एक बयान जारी किया है।कथित दुष्कर्म के बाद दलित युवती की मौत के मामले की जांच कर रही एसआइटी टीम की जांच में सामने आया है कि हाथरस के 16 सितंबर से लेकर 22 सितंबर तक पीड़िता के घर में रहकर 'भाभी' ने बड़ी साजिश रची। माना जा रहा है कि भाभी के नक्सली कनेक्शन हैं। इसी ने इस केस में बड़ी साजिश रची थी। एसआईटी की टीम मध्य प्रदेश के जबलपुर की रहने वाली महिला की तलाश में जुटी है। इसी बीच नक्सली होने का आरोप लगने पर डॉक्टर राजकुमारी बंसल मीडिया के सामने एक बयान जारी किया।

पीड़ित परिवार से मेरा कोई रिश्ता नहीं;-उन्होंने कहा कि पीड़ित परिवार से मेरा कोई रिश्ता नहीं है, मैं केवल आत्मीयता के तौर पर हाथरस के बूलगढ़ी गांव में पीड़िता के घर गई थी। राजकुमारी बंसल ने बताया कि इस दौरान पीड़ित परिवार को अच्छा लगा कि हमारे समाज की एक लड़की इतने दूर से आई है तो उन्होंने कहा कि बेटा एक दो दिन रूक जाओ। उनके अनुरोध पर मैं रूक गई। उन्होंने कहा कि मैं पीड़ित परिवार की आर्थिक मदद करना चाहती थी। वहां जाने की जानकारी सिर्फ पति को ही दी थी। एसआईटी की जांच पर सवाल खड़ा करते हुए राजकुमारी बंसल ने कहा कि किसी को भी लेकर बोलना और आरोप लगाना बहुत आसान होता है। एसआइटी की जांच पर महिला ने कहा कि इसका पहले सबूत पेश करें।

पीड़िता की फॉरेंसिक रिपोर्ट देखने गई;-जबलपुर के मेडिकल कॉलेज में डॉक्टर राजकुमारी बंसल ने कहा कि मुझे लगा कि मेरे नंबर के साथ टेंपरिंग की जा रही है। मैने फौरन साइबर पुलिस में रिपोर्ट की है। यह मेरे मान सम्मान की बात है। कैसे मुझे नक्सल कहा गया। उन्होंने कहा कि मैं तो वहां पर पीड़िता की फॉरेंसिक रिपोर्ट देखने गई थी। उस विषय की मैं एक्सपर्ट हूं। मैने भाभी भी बनकर कभी कोई भी इंटरव्यू नहीं दिया। मैं बेटी हूं।आरोप है कि एक महिला घूंघट ओढ़कर पुलिस और एसआईटी से बातचीत कर रही थी। वह पीड़िता के ही घर में रहकर वह परिवार के लोगों को कथित रूप से भड़का रही थी। पीड़िता की भाभी बनकर रहने वाली नक्सली एक्टिविस्ट महिला की कॉल डिटेल्स में कई चौंकाने वाले खुलासे सामने आए हैं।

पीड़ित परिवार से एक दिन में कई बार पूछते हैं अफसर-कोई दिक्कत तो नहीं:-हाथरस में पीड़ित परिवार को जिला प्रशासन ने पूरी सुरक्षा में रखा है। दिन में कई बार अफसर इस बारे में उनसे पूछते भी हैं। अब तो नोडल अधिकारी डीआईजी शलभ माथुर भी लगातार उनके घर पर नजर रखे हैं।वह भी पीड़ित परिवार का हाल ले रहे हैं। पीड़िता के घर के चारों तरफ ही पुलिसकर्मी तैनात हैं। पीड़िता के घर महिला मजिस्ट्रेट भी दौरा कर रही हैं। पीड़िता के भाई ने बताया कि सुरक्षा के बारे में अफसर यही पूछते हैं कि वह लोग संतुष्ट हैं या नहीं। भाई का कहना था कि फिलहाल सुरक्षा इंतजामों से संतुष्ट हैं, आगे का पता नहीं। 

नई दिल्ली। बेंगलुरू में बिरयानी प्रेमियों ने कुछ गजब का कर दिखाया है। वायरल हो रहे एक वीडियो में देखा जा सकता है कि बिरयानी के लिए बेंगलुरू के लोगों ने 1.5 किलोमीटर लंबी लाइन लगा दी है।बेंगलुरु में एक रेस्तरां के बाहर एक किलोमीटर से ज्यादा लंबी कतार में खड़े सैकड़ों ग्राहकों का एक वीडियो समाचार एजेंसी एएनआई ने शेयर किया है। वीडियो में बिरयानी की प्लेट के इंतजार में मास्क में लोगों की एक बड़ी कतार दिखाई देती हैरेस्तरां  बाहर लगभग 1.5 किमी लम्बी कतार लगी हुई है। ऑनलाइन साझा किए जाने के बाद से इस वीडियो में लोग अपनी प्रतिक्रिया देते हुए बिरयानी की विशेषता का अनुमान लगाने की कोशिश कर रहे हैं। बिरयानी खरीदने के लिए लाइन में लगे एक ग्राहक ने बताया कि वह सुबह 4 बजे से लाइन में लगा है। सुबह 6:30 बजे मेरा ऑर्डर मिला, क्योंकि बिरयानी के लिए लगभग 1.5 किमी की लंबी कतार है। उन्होंने बताया कि यहां की बिरयानी बहुत  बहुत स्वादिष्ट है, यह इंतजार के लायक हैवहीं रेस्तरां के मालिक ने कहा कि मैं लगभग 22 साल पहले यह स्टाल खोला था। हमारी बिरयानी में किसी भी तरह का प्रिजर्वेटिव नहीं डाला जाता है। हम एक दिन में हजारों किलोग्राम से अधिक बिरयानी परोसते हैं।

टीवी स्टार अनिता हसनंदानी छोटे पर्दे की दुनिया में एक बड़ा नाम है। अदाकारा ने हाल ही में एक बेहद प्यारा वीडियो शेयर कर फैंस को खुशखबरी सुनाई है। लंबे वक्त से अनिता हसनंदानी की प्रेग्नेंसी को लेकर खबरें जोरों पर थी। हालांकि टीवी की दुनिया के इस क्यूट कपल ने हमेशा इन खबरों को नजरअंदाज किया। मगर अब खुद अनिता हसनंदानी और उनके पति रोहित रेड्डी ने एक बेहद प्यारा वीडियो शेयर कर इस बात का ऐलान किया है कि अदाकारा प्रेग्नेंट हैं और जल्दी ही उनके घर एक नन्हा मेहमान आने वाला है। इसका ऐलान करते हुए अनिता हसनंदानी ने शेयर किए वीडियो में अपना बेबी बंप भी फ्लॉन्ट किया है।

कुछ देर पहले ही दिया था ये इशारा;-इस खुशखबरी को बयां करने से पहले अनिता हसनंदानी ने एक और वीडियो शेयर कर फैंस को बताया था कि वो अपने फैंस को कुछ ही देर में एक न्यूज देने वाली है। ऐसे में लोगों को लगा था कि शायद अदाकारा अपने किसी नए प्रोजेक्ट का ऐलान करेंगी।

लगा बधाइयों का तांता:-अनिता हसनंदानी के इस न्यूज का ऐलान करते ही सोशल मीडिया पर उन्हें जमकर लोग सोशल मीडिया पर बधाइयां दे रहे हैं। अनिता हसनंदानी और रोहित रेड्डी की इस पोस्ट को देखने के बाद टीवी की दुनिया से अर्जुन बिजलानी, जय भानुशाली, सुरभि ज्योति, शिवांगी जोशी, सृष्टि रोड़े, अदा खान, करणवीर बोहरा, सरगुन मेहता समेत कई लोग बधाई दे रहे हैं। अनिता हसनंदानी और रोहित रेड्डी से फैमिली प्लानिंग पर अक्सर लोग सवाल करते थे। इस बार इस कपल ने उन सभी फैंस की मुराद पूरी कर दी है। अनिता हसनंदानी और रोहित रेड्डी को बॉलीवुड लाइफ की ओर से भी ढेरों बधाई।

सीरियल 'कैसी ये यारियां' और 'इश्कबाज' में नजर आ चुकी अदाकारा नीति टेलर इस दिनों अपनी शादी की खबरों को लेकर सुर्खियों में बनी हुई है। नीति टेलर ने 13 अगस्त अपने मंगेतर परीक्षित बावा के साथ सात फेरे ले लिए थे। नीति टेलर ने अपनी शादी की खबर को एक महीने तक फैंस से छिपा कर रखा है। चार दिन पहले ही नीति टेलर ने इस बात का खुलासा किया है कि वह अब सिंगल नहीं हैं। इसके साथ ही नीति टेलर ने अपनी शादी की तस्वीरें भी फैंस के साथ शेयर की हैं।शादी होने के बाद से ही नीति टेलर सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव हैं। कुछ देर पहले ही नीति टेलर ने फैंस के साथ एक तस्वीर और वीडियो शेयर की है जिसमें वह अपनी पहली रसोई की रस्म अदा करती नजर आ रही हैं। इस पोस्ट में नीति टेलर एक नई नवेली दुल्हन की तरह सजी धजी नजर आ रही हैं।नीति टेलर ने रेड ऑरेंज कलर का सूट पहना है। जिसके साथ नीति टेलर ने गले में मंगलसूत्र और माथे पर सिंदूर भी लगाया हुआ है। तस्वीर में नीति टेलर के साथों पर मेहंदी भी साफ नजर आ रही है। वहीं वीडियो में नीति टेलर फटाफट हलवा तैयार करती दिख रही हैं। नीति टेलर ने अपनी पहली रसोई की रस्म को पूरा करने के लिए सूजी का हलवा बनाया है।इस तस्वीर को शेयर करते हुए नीति टेलर ने लिखा कि ये मेरी पहली रसाई की तस्वीर है। जिसके साथ नीति टेलर ने रेड लकर के हार्ट की इमोजी भी बनाई है। सरोई में काम कर रही नीति टेलर की मुस्कान देखने लायक है। तभी तो फैंस नीति टेलर की तारीफ किए बिना खुद को रोक नहीं पा रहे हैं। ऐसे में नीति टेलर की तस्वीर और वीडियोज सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो गई हैं। 

पटना।बीते कई चुनावों से लगातार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हर बार मुद्दा रहे हैं। एक पक्ष सत्ता में आने के लिए तो दूसरा पक्ष किसी को सत्ता में आने से रोकने के लिए पीएम मोदी का नाम लेता है। लेकिन, बिहार विधानसभा के चुनाव में ऐसा पहली बार हो रहा है कि मोदी अपने समर्थकों के लिए ही मुददा बन गए हैं। भाजपा कह रही है-खबरदार, कोई दूसरा इस नाम का चुनावी इस्तेमाल न करे। किया तो चुनाव आयोग के पास शिकायत करेंगे। इधर लोजपा कह रही है कि वह मोदी के नाम पर वोट मांगेगी, जिसे जहां शिकायत करनी हो, कर ले।

लोजपा कर रही जदयू प्रत्‍याशियों का विरोध:-मोदी को अलग ढंग से चुनावी मुददा बनाने की शुरुआत लोजपा की ओर से ही हुई। लोजपा ने तय किया कि वह एनडीए में रहते दूसरे घटक दल जदयू का विरोध करेगी। उसने नारा दिया-' मोदी से बैर नहीं, नीतीश की खैर नहीं ।' बाद में इसे बदला- 'दिल्ली से बैर नहीं, नीतीश की खैर नहीं।' जदयू पूरे प्रकरण पर चुप है। क्योंकि राज्य में वोट लेने के लिए उसके पास मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जैसा बड़ा कद है। फिर भी गठबंधन धर्म के नाते उसने अपना विरोध दर्ज किया।

जोडी नंबर वन:-जदयू की ओर से नीतीश कुमार और पीएम मोदी का एक पोस्‍टर जारी किया गया , जिसमें दोनों को जोड़ी नंबर वन बताया गया। साथ ही बिहार के विकास को आयाम देने के लिए दोनों की जाेड़़ी को क्रेडिट दिया गया।पोस्‍टर में  बिहार में  एनडीए सरकार की पर्यावरण के क्षेत्र में किए गए कार्यो की उपलब्धियों को दिखाया गया है। नीतीश कुमार के महत्‍वपूर्ण योजना जल-जीवन-हरियाली  की उपलब्धियों को भी रेखांकित किया गया है। अंत में स्‍लोगन है- नीतीश और मोदी की जोड़ी ने बिहार को दिया नया आयाम।

सुशील मोदी ने लोजपा को चेतावनी दी:-भाजपा ने जदयू के विरोध का सम्मान किया। उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने प्रेस कांफ्रेंस में चेतावनी दी-एनडीए के चार घटक दलों-भाजपा, जदयू, हम और विकासशील इंसान पार्टी के अलावा अन्य दल चुनाव में नरेंद्र मोदी के नाम का इस्तेमाल करेंगे तो चुनाव आयोग से शिकायत की जाएगी। कानूनी कार्रवाई की मांग की जाएगी।

लोजपा का पलटवार, पीएम मोदी पूरे देश के:-इधर लोजपा का कहना है कि वह केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपलब्धियों के नाम पर ही जनता से वोट मांगेगी। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद प्रिंस पासवान कहते हैं-प्रधानमंत्री पूरे देश के हैं। चुनाव प्रचार के दौरान लोजपा कार्यकर्ता लोगों को बताएंगे कि नरेंद्र मोदी के हाथों को मजबूत करने के लिए हमारे उम्मीदवार को वोट दीजिए।

एनडीए कार्यकर्ताओं में उलझन;-भाजपा की चेतावनी के बावजूद लोजपा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम का इस्तेमाल कर रही है। उसके उम्मीदवारों के नामांकन में प्रधानमंत्री की तस्वीर लिए लोग बड़ी संख्या में मिल जाएंगे। लेकिन, भाजपा की ओर से अबतक लोजपा के खिलाफ कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई गई। इसमें परेशानी भी है। शिकायत दर्ज कौन कराएगा। स्थानीय स्तर पर एनडीए के कार्यकर्ताओं में अधिक उलझन नहीं है। वे लोजपा को एनडीए का ही हिस्सा मान रहे हैं। जदयू की ओर से शिकायत दर्ज कराने का सवाल नहीं उठता है। क्योंकि जदयू ने आधिकारिक तौर पर कभी लोजपा को स्वीकार नहीं किया। लोकसभा में जदयू संसदीय दल के नेता राजीव रंजन सिंह ऊर्फ ललन सिंह ने कई बार कहा है-लोजपा का जदयू से नहीं, भाजपा से गठबंधन है। कुल मिलाकर ब्रांड मोदी को लेकर भाजपा और लोजपा आपस में उलझ गई है। अभी शुरुआत है। संभव है कि चुनाव प्रचार सघन होने के साथ ही यह विवाद कोई और स्वरूप ग्रहण करे।

नई दिल्ली। दिल्ली से सटे गाजियाबाद के हिंडन एयरफोर्स स्टेशन में बृहस्पतिवार को 88वां वायुसेना दिवस मनाया गया। इस मौके पर आकाश मिसाइल, ध्रुव हेलिकॉप्टर, मिराज-2000, जगुआर, तेजस, सुखोई-30 एमकेआई, रोहिणी रडार सिस्टम, अपाचे हेलिकॉप्टर और सी-130जे सुपर हरक्यूलिस परिवहन विमान शामिल हुए। इस दौरान राफेल की उड़ान ने लोगों को रोमांचित किया। एयर शो के दौरान सारंग हेलिकॉप्टर ने डॉल्फिन लीप का प्रदर्शन किया। इससे पहले राफेल और तेजस ने उड़ान भरी। यह देखकर हिंडन एयरबेस पर मौजूद लोग वाह-वाह कर उठे। वहीं, विंटेज विमान टाइगर मोथ ने भी अपना करतब दिखाया। इस मौके पर IAF चीफ एयर चीफ मार्शल राकेश कुमार सिंह भदौरिया ने अपने संबोधन में कहा कि वह राष्ट्र को आश्वस्त करना चाहते हैं कि भारतीय वायु सेना विकसित होगी और देश की संप्रभुता और हितों की रक्षा के लिए सभी परिस्थितियों में कभी भी तैयार रहेगी।

कोलकाता। बंगाल में भाजपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ हालिया हिंसा, बिगड़ती कानून व्यवस्था समेत अन्य मुद्दे पर भाजपा की ओर से गुरुवार को बुलाए गए नवान्न चलो आंदोलन को लेकर कोलकाता व हावड़ा सहित राज्य के विभिन्न हिस्सों में सुबह से ही जमकर बवाल हो रहा है। राज्य सरकार के खिलाफ हजारों की संख्या में भाजपा कार्यकर्ता राज्य के अलग-अलग हिस्सों में रैलियां कर रहे हैं और राज्य सचिवालय नवान्न की तरफ बढ़ रहे हैं। प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए पुलिस ने विद्यासागर सेतु और हावड़ा ब्रिज सहित अन्य सड़कों को पूरी तरह से बंद कर दिया है और जगह-जगह बैरिकेडिंग भी लगा दी गई है।इस बीच राजधानी कोलकाता व हावड़ा में भाजपा कार्यकर्ताओं और पुलिस में जमकर भिड़ंत हो गई। पुलिस ने प्रदर्शनकारी कार्यकर्ताओं पर जमकर लाठियां बरसाईं। उनके ऊपर वॉटर कैनन छोड़े गए, जिसमें दर्जनों कार्यकर्ता घायल हुए हैं।देश भाजपा उपाध्यक्ष राजू बनर्जी भी इसमें बुरी तरह घायल हो गए हैं। भाजपा ने दावा किया है कि उन पर पुलिस ने केमिकल अटैक किया। जिसके बाद बनर्जी को खून की उल्टी हुई। उन्हें अपोलो अस्पताल में भर्ती कराया गया है। प्रदर्शन को देखते हुए भाजपा राज्य मुख्यालय के बाहर भी भारी पुलिस फोर्स तैनात किया गया था।

बीच सड़क पर धरने पर बैठे कैलाश विजयवर्गीय :-भाजपा के इस नवान्ना चलो आंदोलन में पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय सहित प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय समेत तमाम नेता और कार्यकर्ता सड़क पर हैं। भाजपा सांसद लॉकेट चटर्जी ने कहा कि पुलिस हमारे लोगों पर लाठीचार्ज कर रही है। कोलकाता के खिदिरपुर की तरफ एक विशेष समुदाय की तरफ से कार्यकर्ताओं पर पथराव किया जा रहा है। क्या पुलिस उसे नहीं देख सकती?वहीं पुलिसिया कार्रवाई के खिलाफ भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय बीच सड़क पर ही धरने पर बैठ गए हैं। विजयवर्गीय ने कहा कि बंगाल सरकार के भीतर डर है। इस कारण वह विरोध के बुनियादी लोकतांत्रिक अधिकारों को भी नकारने में लगी है। राज्य सचिवालय नवान्न को भी बंद कर दिया गया है। गौरतलब है कि नवान्न चलो आंदोलन को देखते हुए राज्य सरकार ने सुबह में अचानक राज्य सचिवालय नवान्न को सैनिटाइज करने के लिए 2 दिन तक बंद करने की घोषणा कर दी। इस बात से भाजपा कार्यकर्ता और उग्र हो गए। 

विजयवर्गीय का आरोप ; पुलिस के साथ आए उपद्रवियों ने भाजपा कार्यकर्ताओं पर पत्थर फेंके;-भाजपा के नवान्न चलो आंदोलन के दौरान प्रदर्शनकारियों पर जमकर लाठियां चलाई गईं। भाजपा कार्यकर्ताओं और नेताओं पर वॉटर कैनन व टियर गैस के गोले छोड़े गए। भाजपा का आरोप है कि वे शांति के मार्च निकाल रहे थे लेकिन उनके ऊपर पथराव किया गया। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय इसके खिलाफ कोलकाता में बीच सड़क पर धरने पर बैठ गए हैं। विजयवर्गीय ने कहा कि हम लोग लोकतांत्रित तरीके से प्रदर्शन कर रहे थे लेकिन ममता बनर्जी ने हम लोगों के शांतिपूर्ण प्रदर्शन को हिंसा में बदल दिया। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस के साथ आए उपद्रवियों/ बदमाशों ने हम लोगों पर पत्थर बरसाए। उनका इशारा तृणमूल के गुंडों पर था।

भाजपा के नवान्न चलो आंदोलन के चलते बंगाल सरकार ने दो दिनों के लिए बंद किया राज्य सचिवालय:-भाजपा के नवान्न चलो आंदोलन के चलते राज्य सरकार ने गुरुवार सुबह में 2 दिनों के लिए राज्य सचिवालय नवान्न को बंद करने की अचानक घोषणा कर दी। हालांकि सचिवालय को बंद करने के पीछे राज्य सरकार ने सैनिटेशन का काम होना बताया है।वहीं, भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव बंगाल के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि भाजपा के आंदोलन से ममता सरकार डर गई। इसीलिए अचानक राज्य सचिवालय बंद कर दिया गया है। उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा के कार्यकर्ता और नेता पुलिस लाठीचार्ज के बाद फिर से सड़क पर डट गए हैं।

पुलिस लाठीचार्ज के खिलाफ भाजपा कार्यकर्ताओं ने की आगजनी, जलाए टायर :-बंगाल में भाजपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ हालिया हिंसा के खिलाफ निकाली गई रैली के दौरान राजधानी कोलकाता में भाजपा कार्यकर्ताओं और पुलिस में जमकर भिड़ंत हो गई। पुलिस ने प्रदर्शनकारी कार्यकर्ताओं पर जमकर लाठियां बरसाईं। उनके ऊपर वॉटर कैनन व आंसू गैस छोड़े गए, जिसमें कई कार्यकर्ता घायल हुए हैं। इधर, पुलिस लाठीचार्ज के खिलाफ गुस्साए भाजपा कार्यकर्ताओं ने जमकर बवाल काटा और सड़कों पर जमकर आगजनी भी की। इन लोगों ने विभिन्न जगहों पर गाड़ियों के टायर जलाए।

कोलकाता से तीन व हावड़ा से निकाली जा रही हैं एक रैलियां;-नवान्न चलो आंदोलन को लेकर भाजपा की तरफ से चार प्रमुख रैलियां निकाली जा रही हैं। चार रैलियों में से तीन रैलियां अकेले कोलकाता में निकाली जा रही हैं। एक रैली हावड़ा के शिवपुर से सचिवालय तक निकल रही है। हालांकि पुलिस ने इसको रोक दिया है। इसी को लेकर जमकर बवाल हो रहा है।  

चप्पे-चप्पे पर कड़ी सुरक्षा;-किसी भी घटना से बचने के लिए राज्य सरकार ने जगह-जगह भारी पुलिस फोर्स तैनात किया है। चप्पे-चप्पे पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है।वॉटर कैनन की गाड़ियां लगाई गईं हैं। बंगाल सरकार ने पुलिस को हाई अलर्ट पर रखा है।

Page 10 of 1526

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें