Editor

Editor

ढाका।फेसबुक वीडियो की मदद से एक बांग्लादेशी व्यक्ति 48 साल बाद अपने परिवार से फिर मिल सका। सीमेंट का व्यापार करने वाले हबीबुर रहमान काम के सिलसिले में घर से बाहर गए थे और तभी से लापता थे। 'द डेली स्टार' अखबार के मुताबिक हबीबुर सिलहट के बाजग्राम में रहते थे। जब वह लापता हुए उनकी उम्र 30 साल थी। परिजनों ने उन्हें खोजने की बहुत कोशिश की, लेकिन कामयाबी नहीं मिली।बीते शुक्रवार को अमेरिका में रहने वाले हबीबुर के बड़े बेटे की पत्नी ने फेसबुक पर एक वीडियो देखा, जिसमें बांग्लादेश के एक सरकारी अस्पताल में भर्ती मरीज की आर्थिक मदद की अपील की गई थी। बेटे की पत्नी ने हबीबुर को देखा तो नहीं था, लेकिन पति और सास से उनकी कई कहानियां सुनी थीं। इस पर उन्होंने वीडियो पति से शेयर किया। उन्होंने बांग्लादेश स्थित अपने भाइयों से अस्पताल जाकर मरीज का पता लगाने को कहा। शनिवार को उनके भाई अस्पताल गए और यह देखकर हैरान रह गए कि वीडियो में दिख रहा व्यक्ति और कोई नहीं बल्कि उनके पिता हैं। हबीबुर के बेटे ने कहा, मुझे अच्छी तरह से याद है कि मेरी मां और मेरे चाचा ने पिता को सालों खोजने का प्रयास किया। पिता का इंतजार करते-करते मां की वर्ष 2000 में मौत हो गई।'पता चला है कि पिछले 25 सालों से हबीबुर मौलवी बाजार के रायोसरी इलाके में रह रहे थे और रजिया बेगम नाम की महिला उनकी देखभाल करती थी। रजिया ने बताया कि उसके परिवार के लोगों को हबीबुर 1995 में हजरत शाहबुद्दीन की दरगाह पर बीमार हालत में मिले थे। वह खानाबदोश जीवन व्यतीत करते थे। वह तब से हमारे साथ रह रहे हैं। बेहतर इलाज के लिए हबीबुर के बेटों ने उन्हें एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया है।

नई दिल्ली। पाकिस्तान कश्मीर राग से अपने को अलग नहीं कर पा रहा है। दुनियाभर के तमाम देशों से वो कश्मीर के मामले पर हस्तक्षेप करने की मांग कर चुका है। अब पाकिस्तान ने फिर से यूएन से इस मामले में हस्तक्षेप की मांग की है। इस बार इसके लिए पाकिस्तान ने तर्क दिया है कि भारत नियंत्रण रेखा पर गोलीबारी करता रहता है जिससे नागरिकों की मौत हो रही है जबकि सच्चाई इससे एकदम उलट है।पाकिस्तान की ओर से ही आए दिन नियंत्रण रेखा पर गोलीबारी की जाती है इसमें सीमा पर रहने वाले निर्दोष नागरिकों की मौत हो रही है। भारत इसके कई सबूत भी दे चुका है उसके बाद भी पाकिस्तान इस पर अंकुश नहीं लगा रहा है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने रविवार को ट्वीट करते हुए कहा कि पाकिस्तान भारत नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर हो रही गोलीबारी से नागरिकों को निशाना बनते हुए नहीं देख सकता है।उन्होंने सोशल मीडिया ट्विटर पर कहा कि मैं भारत और अंतरराष्ट्रीय समुदाय को स्पष्ट करना चाहता हूं कि अगर भारत ने एलओसी के पार नागरिकों को मारने वाले अपने सैन्य हमलों को जारी रखा तो पाकिस्तान को नियंत्रण रेखा के साथ एक निष्क्रिय पर्यवेक्षक बने रहना मुश्किल होगा। उन्होंने दोहराया कि संयुक्त राष्ट्र (यूएन) को अधिकृत कश्मीर में स्थिति में हस्तक्षेप करने की आवश्यकता है।उन्होंने कहा कि भारतीय फौज एलओसी के पार बढ़ती तीव्रता के साथ नागरिकों को निशाना बनाकर मार रही हैं। भारत को UNMOGIP [यूनाइटेड नेशंस मिलिट्री ऑब्जर्वर ग्रुप इन इंडिया एंड पाकिस्तान] की अनुमति देने के लिए UNSC [संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद] की तत्काल आवश्यकता है। जो सेनाएं वहां तैनात है उनको वहां से वापस [एलओसी पर कब्जे वाले कश्मीर]। बुलाया जाए।

सिडनी। ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में लगी आग के बीच भले ही बारिश ने राहत दिलाई हो, लेकिन इस आग में मरने वालों की संख्या 29 के पास पहुंच गई है। इसकी जानकारी सिडनी पुलिस ने रविवार को दी। 31 दिसंबर 2019 को सिडनी के अस्पताल में आग में झुलसे लोगों की मौत हो गई। इस आग का प्रभाव जानवरों पर भी पड़ा है।
भारी बारिश का पूर्वानुमान जारी:-ऑस्ट्रेलिया के मौसम विभाग ने भारी बारिश पूर्वानुमान जारी कर दिया है। माना जा रहा है कि ऑस्‍ट्रेलिया के जंगलों में लगी आग बुझाने में बारिश महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी, लेकिन आग के कारण पैदा हुए धुएं ने ऑस्‍ट्रेलिया के दूसरे बड़े शहर सिडनी को बुरी तरह प्रभवित किया है। इस आग के धुएं के कारण सिडनी में प्रदूषण की स्थिति खतरनाक स्तर पर पहुंच गई है। समाचार एजेंसी एएफपी की रिपोर्ट में कहा गया है कि सिडनी को दुनिया का सबसे प्रदूषित शहर दर्ज किया गया है।इस आग ने यहां के जंगल में लगभग एक अरब जीव जंतु नष्ट कर दिए हैं। कई तो लुप्तप्राय जानवर आग की भेंट चढ़ गए हैं। अब उनका अस्तित्व ही खत्म हो गया है। ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में लगी आग ने कई करोड़ रुपये की संपत्ति भी स्वाहा कर दी है। आग से इतना अधिक नुकसान हुआ निकला था कि यहां का पूरा आसमान ही लाल हो गया था। ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में 100 से अधिक जगहों पर आग लगी थी। लेकिन हाल के दिनों में हुई बरसात और अग्निशमन विभाग के प्रयासों के बाद अब इस पर काबू मिल पाया है। बताया जाता है कि इस जंगल की आग ने ऑस्ट्रेलिया की कोआला की एक तिहाई आबादी को मार डाला है।आग से बचाव के लिए दुनिया की सबसे बड़ी फायर सर्विस (74 हजार) काम कर रही है। यही नहीं ऑस्ट्रेलिया में स्तनधारियों के विलुप्त होने की दर बढ़ गई है। आलम यह है कि ऑस्ट्रेलिया में ऊंचे पेड़ों पर रहने वाले खूबसूरत जीव कोआला को विलुप्तप्राय प्रजाति घोषित किया जा सकता है।

नई दिल्ली। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच बेंगलुरु के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में 3 मैचों की वनडे सीरीज का आखिरी और निर्णायक मुकाबला खेला जा रहा है, जिसमें टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 287 रन का लक्ष्य भारत को दिया। इसके जवाब में भारतीय टीम ने खबर लिखे जाने तक 8 ओवर में बिना नुकसान के 48 रन बना लिए हैं। फिलहाल, रोहित शर्मा और केएल राहुल क्रीज पर हैं।इस निर्णायक मैच में ऑस्ट्रेलियाई टीम के कप्तान एरोन फिंच ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया और निर्धारित 50 ओवर बल्लेबाजी की। स्टीव स्मिथ के शतक के दम पर 9 विकेट के नुकसान पर ऑस्ट्रेलिया ने 286 रन बनाए। इस तरह भारत के सामने मैच और सीरीज जीत के लिए 287 रन का लक्ष्य रखा। मोहम्मद शमी ने ऑस्ट्रेलिया के 4 बल्लेबाजों को पवेलियन भेजा।
भारत की पारी, मिली अच्छी शुरुआत:-ऑस्ट्रेलिया द्वारा रखे गए 287 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारतीय पारी की शुरुआत सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने केएल राहुल के साथ की, क्योंकि शिखर धवन चोटिल थे। ऐसे में दोनों ने पहले 5 ओवर में बिना विकेट खोए 38 रन बनाए।
ऑस्ट्रेलिया की पारी, स्मिथ ने ठोका शतक;-ऑस्ट्रेलियाई टीम ने सीरीज डिसाइडर मैच में टॉस जीतकर बल्लेबाजी चुनी, लेकिन डेविड वार्नर 3 रन बनाकर मोहम्मद शमी की गेंद पर केएल राहुल के हाथों कैच आउट हुए। वहीं, कप्तान एरोन फिंच 26 गेंदों पर 19 रन बनाकर रन आउट हो गए। स्टीव स्मिथ ने 63 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया। वहीं, लाबुशान ने 60 गेंदों पर अपना पहला वनडे अर्धशतक पूरा किया।तीसरे विकेट के लिए स्मिथ और लाबुशाने के बीच 123 रन की साझेदारी हो चुकी थी और ये दोनों बल्लेबाज टीम इंडिया के लिए खतरनाक साबित हो रहे थे, लेकिन जडेजा ने इस साझेदारी को तोड़ा। उन्होंने लाबुशाने को 54 रन पर आउट करके भारतीय टीम को राहत दिलाई। लाबुशाने का कैच विराट कोहली ने लपका। उधर, मिचेल स्टार्क को नंबर 5 पर भेजा जो बिना खाता खोले जड़ेजा के इसी ओवर में चहल के हाथों कैच आउट हुए।ऑस्ट्रेलिया को पांचवां झटका एलेक्स कैरी के रूप में लगा जो 35 रन बनाकर कुलदीप यादव की गेंद पर श्रेयस अय्यर के हाथों कैच आउट हुए। कंगारू टीम का छठा विकेट एस्टन टर्नर का रूप में गिरा जो 4 रन बनाकर नवदीप सैनी की गेंद पर केएल राहुल के हाथों कैच आउट हुए। उधर, स्टीव स्मिथ ने 117 गेंदों पर अपना 9वां वनडे अंतरराष्ट्रीय शतक पूरा किया। स्मिथ 132 गेंदों में 131 रन बनाकर शमी की गेंद पर अय्यर के हाथों कैच आउट हुए।पैट कमिंस बिना खाता खोले मोहम्मद शमी की गेंद पर क्लीन बोल्ड किया, जबकि एडम जैंपा को 1 रन पर क्लीन बोल्ड किया। इस तरह कंगारू टीम के कुल 9 विकेट गिरे, जिसमें से 4 विकेट मोहम्मद शमी ने झटके। वहीं, 2 विकेट रवींद्र जडेजा के खाते में गए, जबकि एक-एक विकेट नवदीप सैनी और कुलदीप यादव को एक-एक सफलता मिली।
ऑस्ट्रेलियाई टीम में हुआ एक बदलाव:-सीरीज डिसाइडर मैच के लिए ऑस्ट्रेलियाई टीम में एक बदलाव हुआ है। कप्तान एरोन फिंच ने केन रिचर्डसन की टीम से बाहर किया है, जबकि जोश हेजलवुड को टीम में शामिल किया है। उधर, भारतीय टीम में कोई भी बदलाव नहीं देखने को मिला है। अच्छी बात ये है कि शिखर धवन और रोहित शर्मा चोट से उबर चुके हैं।इस सीरीज का एक-एक मुकाबला दोनों टीमों ने जीत लिया है। ऐसे में आज ये वनडे मैच सीरीज डिसाइडर है, जिसमें मेजबान भारत और कंगारू टीम चमचमाती ट्रॉफी के लिए मैदान पर उतरेंगी।
अब तक ऐसा है सीरीज का हाल:-तीन मैचों की इस वनडे सीरीज का पहला मुकाबला मेहमान टीम ऑस्ट्रेलिया ने जीता था। पहले मैच में भारत को 10 विकेट से हार मिली थी, जबकि दूसरे मैच में टीम इंडिया ने पलटवार किया था। राजकोट में खेले गए दूसरे एकदिवसीय मैच में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 36 रन से हराया था और सीरीज 1-1 से बराबर की थी।
भारत की प्लेइंग इलेवन:-रोहित शर्मा, शिखर धवन, विराट कोहली, श्रेयस अय्यर, केएल राहुल (विकेटकीपर), मनीष पांडे, रवींद्र जडेजा, कुलदीप यादव, नवदीप सैनी, मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह।
ऑस्ट्रेलिया की प्लेइंग इलेवन:-डेविड वार्नर, एरोन फिंच, स्टीव स्मिथ, मार्नस लाबुशाने, एस्टन एगर, एस्टन टर्नर, एलेक्स कैरी(विकेटकीपर), जोश हेजलवुड एडम जैम्पा, पैट कमिन्स और मिचेल स्टार्क।

नई दिल्ली। रोहित शर्मा ने बेंगलुरु के एम चिन्नस्वामी स्टेडियम में ऑस्ट्रेलिया टीम के खिलाफ तीसरे वनडे मैच की दूसरी पारी में 4 रन बनाते ही अपने करियर में एक अहम मुकाम हासिल कर लिया। रोहित ने इन चार रनों के साथ ही वनडे क्रिकेट में अपने नौ हजार रन पूरे कर लिया। रोहित भारत की तरफ से वनडे क्रिकेट में सबसे कम पारियों में नौ हजार रन पूरे करने के मामले में दूसरे नंबर के बल्लेबाज बने जबकि विश्व क्रिकेट में वो सबसे तेज 9000 रन बनाने वाले तीसरे नंबर के बल्लेबाज बन गए।
रोहित शर्मा ने सचिन व गांगुली को पीछे छोड़ा-रोहित शर्मा भारत की तरफ से वनडे क्रिकेट में सबसे तेज 9000 रन पूरे करने वाले दूसरे बल्लेबाज बने। उन्होंने वनडे करियर की 217वीं पारी में ये सफलता अर्जित की। उन्होंने सौरव गांगुली और सचिन तेंदुलकर को पीछे छोड़ते हुए उनके कम पारियों में नौ हजार रन पूरे किए। सचिन तेंदुलकर ने वनडे में 235वीं पारी में ये कमाल किया था जबकि सौरव गांगुली ने 228वीं पारी में ये उपलब्धि हासिल की थी। वनडे क्रिकेट में सबसे तेज 9000 रन पूरा करने वाले बल्लेबाज विराट कोहली हैं जिन्होंने 194वें पारी में ये कमाल किया था वहीं एबी इस मामले में दूसरे स्थान पर हैं। एबी ने 205 पारियों में ये उपलब्धि हासिल की थी।
वनडे में सबसे तेज 9000 रन पूरा करने वाले बल्लेबाज (पारियों में)-
विराट कोहली - 194 पारी
एबी डिविलियर्स - 205 पारी
रोहित शर्मा - 217* पारी
सौरव गांगुली - 228 पारी
सचिन तेंदुलकर - 235 पारी
ब्रायन लारा- 239 पारी
आपको बता दें कि बेंगलुरु वनडे में ऑस्ट्रेलिया की टीम के पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में 9 विकेट पर 286 रन बनाए। कंगारू टीम की तरफ से स्मिथ ने शतकीय पारी खेली। टीम इंडिया की तरफ से मो. शमी ने शानदार गेंदबाजी करते हुए चार विकेट हासिल किए। इस मैच में जडेजा ने दो जबकि कुलदीप यादव व नवदीप सैनी ने एक-एक विकेट लिए

नई दिल्ली। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन वनडे मैचों की सीरीज के पहले मैच में रिषभ पंत जैसे ही चोटिल हुए भारतीय टीम की विकेटकीपिंग की जिम्मेदारी केएल राहुल को सौंप दी गई। राहुल ने अपने स्तर पर इस जिम्मेदारी को बखूबी निभाया और तीसरे मैच में रिषभ के फिट होने के बावजूद उन्हें अंतिम ग्यारह में शामिल नहीं किया गया। राहुल ने विकेटकीपिंग की जिम्मेदारी तो निभाई ही वो बल्लेबाजी भी अच्छी कर रहे हैं।केएल राहुल की विकेटकीपिंग पर पूर्व भारतीय खिलाड़ी व कमेंटेटर आकाश चोपड़ा ने अपनी राय दी है और कहा कि इस मामले में वो राहुल द्रविड़ से ज्यादा अच्छे हैं। उन्होंने खुलकर कहा कि केएल राहुल को दोहरी जिम्मेदारी देना सही नहीं है। वैसे लोकेश राहुल अंडर 19 विश्व कप के दौरान विकेटकीपर की भूमिका निभा चुके हैं। इसके अलावा वो अपना कर्नाटक टीम और आइपीएल में भी ये जिम्मेदारी निभा चुके हैं। आकाश चोपड़ा ने पीटीआइ से बात करते हुए कहा कि राहुल विकेटकीपिंग के मामले में द्रविड़ से ज्यादा बेहतर हैं, लेकिन उन्हें नियमित तौर पर ये जिम्मेदारी दी जाए ऐसा मैं बिल्कुल नहीं चाहता। ये नहीं होना चाहिए कि वो पहले 50 ओवर विकेटकीपिंग करें और फिर ओपनिंग में बल्लेबाजी के लिए उतरें। उन्होंने कहा कि अगर कोई बल्ले से अच्छा कर रहा है और वह टीम में कोई और योगदान दे सकता है तो इसका यह मतलब नहीं कि उसे विकेटकीपिंग भी करनी चाहिए। केएल राहुल एक विकेटकीपर बल्लेबाज के रूप में मेरे लिए बहुत कीमती हैं। इस तरह उसके कार्यभार को प्रबंधित करने के बजाए आप उसे बढ़ा रहे हैं।आकाश ने कहा कि अगर कभी-कभार टीम के बेहतर संयोजन के लिए ऐसा किया जाए तो सही है, लेकिन अगर आप चाहतें हैं कि वो दस हजार रन बनाए तो इसके लिए आपको उन्हें लंबे वक्त तक मौका देना होगा। अगर वो विकेटकीपिंग करते हैं तो ये फिर संभव नहीं हो पाएगा। वहीं राहुल ने विकेटकीपिंग की जिम्मेदारी मिलने पर कहा ये एक बड़ी चुनौती है। मैं कुछ मौकों पर कुलदीप (यादव) और (रविंद्र) जडेजा की गेंदों की गति नहीं समझ पाता। मुझे अपनी प्रथम श्रेणी टीम के साथ इस तरह की गेंदबाजी का सामना नहीं करना पड़ा था। मुझे जो भी जिम्मेदारी सौंपी जा रही है मैं केवल उसका आनंद उठा रहा हूं और अपनी तरफ से बेस्ट करने की कोशिश कर रहा हूं।

बेंगलुरु। ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के पूर्व ओपनर बल्लेबाज मैथ्यू हेडेन का मानना है कि डेविड वार्नर और स्टीव स्मिथ की टीम में वापसी के बाद से कंगारू टीम काफी मजबूत हो गई है। इनकी वापसी और टीम की मजबूत गेंदबाजी की वजह से इस साल के अंत में होने वाले भारत और ऑस्ट्रेलिया टेस्ट सीरीज में कंगारू टीम जीत की मजबूत दावेदार होगी। टीम इंडिया ने पिछले साल जनवरी में ऑस्ट्रेलिया को उसकी धरती पर पहली बार टेस्ट सीरीज में हराकर 71 साल के जीत के सूखे को खत्म किया था। मैथ्यू हेडेन ने कहा कि भारत और ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट की दो टॉप टीमें हैं। उन्होंने कहा कि ये निराश करने वाली बात है कि दोनों देशों की बीच की टेस्ट सीरीज पांच मैचों की नहीं है।अगर आप इस वनडे सीरीज को ही देखो तो क्रिकेट फैंस जब तक इसके रंग में ढलेंगे तब तक यह श्रृंखला खत्म हो जाएगी।वनडे विश्व कप खिताब को दो बार जीतने वाली टीम के सदस्य रहे इस पूर्व दिग्गज ने कहा कि टेस्ट में दोनों बड़ी टीमें हैं। यह करीबी सीरीज होगी। जाहिर है परिस्थितियां आस्ट्रेलिया के पक्ष में होगी और उन्हें विश्व स्तरीय गेंदबाजी आक्रमण का साथ मिलेगा। टीम के साथ शायद आस्ट्रेलिया का प्रतिनिधित्व करने वाला सर्वश्रेष्ठ आफ स्पिनर (नाथन लियोन) खेलेगा। आस्ट्रेलिया को ये टेस्ट सीरीज जीतनी चाहिए।उन्होंने कहा कि इसमें कोई शक नहीं कि यह भारत के लिए ये सीरीज आसान नहीं होगी। स्कोरलाइन मायने नहीं रखती लेकिन आस्ट्रेलिया को जीत हासिल करनी चाहिए वे प्रबल दावेदार होंगे। कंगारू टीम ने हाल ही में एशेज के बाद से लगातार टेस्ट सीरीज में शानदार प्रदर्शन किया है। टीम में स्मिथ और वार्नर की वापसी को हुई ही साथ में मार्नस लाबुशाने के टीम में आने से बल्लेबाज और मजबूत हो गई है। वैसे भारत के लिए कंगारू धरती पर टेस्ट सीरीज खेलना चुनौतीभरा होगा।

नई दिल्ली।बेंगलुरु के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में मेजबान भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 3 मैचों की वनडे सीरीज का आखिरी मुकाबला खेला जा रहा है। इसी मुकाबले में भारतीय टीम के खिलाड़ी आज ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ काली पट्टी बांधकर मैदान पर उतरे हैं। कप्तान विराट कोहली समेत टीम के सभी सदस्यों ने अपनी बाजू पर ब्लैक बैंड भारतीय टीम के एक पूर्व दिग्गज खिलाड़ी के सम्मान में बांधा है।दरअसल, शुक्रवार 17 जनवरी को भारतीय टीम के पूर्व ऑलराउंडर बापू नादकर्णी (Bapu Nadkarni) का निधन हो गया था। करीब 13 साल तक भारतीय टीम के लिए टेस्ट क्रिकेट खेलने वाले बापू नादकर्णी ने 86 साल की उम्र में इस दुनिया को अलविदा कहा। इन्हीं के सम्मान में भारतीय टीम के सभी खिलाड़ी आज काली पट्टी बांधकर मैदान पर उतरे हैं। मैच से ठीक पहले बीसीसीआइ ने इस बात का ऐलान कर दिया था कि खिलाड़ी इस मैच में ब्लैक बैंड के साथ उतरेंगे।
ऐसा था नादकर्णी का करियर:-लगातार 21 ओवर मेडेन फेंकने का वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने वाले बापू नादकर्णी ने 1955 में अपना टेस्ट डेब्यू किया था। इसके बाद 1968 तक उन्होंने टीम इंडिया के लिए कुल 41 टेस्ट मैच खेले, जिनकी 65 पारियों में बापू नादकर्णी ने 88 विकेट अपने नाम किए थे। हैरान करने वाली बात ये है कि उनके करियर का इकॉनमी रेट 1.7 रन प्रति ओवर है। वहीं, बतौर बल्लेबाज बापू नाडकर्णी ने 1414 रन बनाए हैं, जिसमें एक शतक और 7 अर्धशतक शामिल हैं।बापू नादकर्णी के निधन के बाद क्रिकेट के तमाम दिग्गजों ने उनको याद किया। यहां तक बीसीसीआइ ने भी अपने पूर्व खिलाड़ी को याद किया। इस मौके पर सचिन तेंदुलकर ने उनके याद में लिखा, "बापू नादकर्णी के निधन की खबर सुनकर बहुत दुख हुआ। मैं उनके टेस्ट में लगातार 21 मेडन ओवर की गेंदबाजी के रिकॉर्ड के बारे में पढ़ते हुए बढ़ा हुआ। मेरी संवेदनाएं उनके परिवार और परिजनों के साथ हैं।" वहीं, सुनील गावस्कर ने कहा, "वह हमारे कई दौरों पर सहायक मैनेजर थे। वह काफी उत्साह बढ़ाने वाले थे। उनका पसंदीदा वाक्यांश था, छोड़ो मत। जब उस दौर में पैड और गलव्स बहुत अच्छे नहीं होते थे तब भी वह बहुत शानदार क्रिकेटर थे।"

बॉलीवुड एक्ट्रेस शबाना आजमी (Shabana Azmi) के साथ शनिवार को एक्सीडेंट हो गया था। ये घटना शनिवार दोपहर को हुई थी। शबाना आजमी की कार अचानक एक ट्रक से भीड़ गयी। इसके बाद अभिनेत्री शबाना आजमी को गंभीर रूप से चोट आई और उनको तुरंत निजी की अस्पताल में भर्ती कराया गया। शबाना आजमी के साथ ये हादसा महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में मुंबई-पुणे एक्सप्रेस-वे पर हुआ था। मिली जानकारी के अनुसार, एक्ट्रेस शबाना आजमी की हालत अब स्थिर है। लेकिन अब इस हादसे से जुड़ी अहम खबर सामने आई हैं।खबरों के मुताबिक, ट्रक के ड्राइवर ने अब शबाना आजमी के ड्राइवर के खिलाफ पुलिस में एफआईआर दर्ज करवा दी है। एएनआई ने इनकी जानकारी एक सोशल मीडिया के जरिए दी है। एएनआई ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा- ‘शबाना आजमी (Shabana Azmi) के ड्राइवर अमलेश कामत के खिलाफ खालापुर पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज हुई हैं। इस दर्ज एफआईआर के अनुसार, ‘ड्राइवर सड़क पर काफी तेजी से गाड़ी चला रहा था। मुंबई- पुणे एक्सप्रेस पर चल रही इस गाड़ी ने ट्रक को टक्कर मारी है। ड्राइवर की लापरवाई के बाद ये बड़ी दुर्घटना हुई है।‘बता दें, महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में मुंबई-पुणे एक्सप्रेस-वे पर हुई इस घटना के दौरान शबाना आजमी के पति जावेद अख्तर (Javed Akhtar) उस समय उनके साथ उस गाड़ी में नहीं थे। शबाना आजमी (Shabana Azmi) के साथ हुए इस हादसे की जानकरी जैसे ही सोशल मीडिया के जरिए उनके फैंस को पता चली वैसे ही उनके अच्छी सेहत के लिए हर कोई कामना करता दिखाई दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर लता मंगेशकर, वरुण धवन ने उनकी सेहत के लिए सोशल मीडिया एक खास मैसेज लिखा।

नई दिल्ली।भारतीय टीम 3 मैचों की वनडे सीरीज का आखिरी मैच बेंगलुरु में खेल रही है, जिसमें ऑस्ट्रेलिया पारी की शुरुआत के दौरान टीम इंडिया को एक बड़ा झटका सलामी बल्लेबाज शिखर धवन के रूप में लगा है। वहीं, बीच मैच में शिखर धवन को एक्सरे के लिए अस्पताल ले जाया गया है। एक्सरे रिपोर्ट आने के बाद ही उनके खेलने और नहीं खेलने का फैसला किया जाएगा।ऑस्ट्रेलियाई पारी के दौरान पांचवें ओवर की तीसरी गेंद पर मेहमान टीम के कप्तान एरोन फिंच ने शॉट खेला जो कवर की दिशा में गया। यहां पर शिखर धवन फील्डिंग कर रहे थे। एक रन तो बन चुका था और शिखर धवन ने डाइव लगाई तो उनके बायां कंधा चोटिल हो गया। मैच की शुरुआत में ही टीम के लिए बड़ा खतरा जैसा लग रहा है। हालांकि, उनके सब्सिट्यूट के तौर पर मैदान पर युजवेंद्र चहल आ गए हैं, लेकिन अभी भी मेजबान टीम के लिए परेशानी है।
दूसरे मैच में दोनों ओपनर हुए थे चोटिल;-दरअसल, दूसरे वनडे मैच में भारतीय टीम के उपकप्तान और सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा भी कंधे की चोट के कारण मैदान से बाहर चले गए थे। हालांकि, तीसरे मैच के लिए वे उपलब्ध हो गए, लेकिन उनके जोड़ीदार चोटिल हैं। इतना ही नहीं, दूसरे मैच में बल्लेबाजी के दौरान भी शिखर धवन चोटिल हो गए थे और मैदान पर पूरे मैच में नज़र नहीं आए। दूसरे मैच में शिखर ने शानदार 96 रनों की पारी खेली थी और टीम इंडिया को अच्छी शुरुआत दिलाई थी। पहले मैच में चोट के कारण मैदान पर फील्डिंग करने नहीं आए बाएं हाथ के बल्लेबाज शिखर धवन दूसरे मैच में भी चोटिल होकर मैदान से बाहर हो गए हैं।अगर शिखर धवन इस मैच से बाहर हो जाते हैं तो उनकी जगह किसी बल्लेबाज को मौका मिल सकता है जो भारतीय टीम के लिए बल्लेबाजी कर पाएगा। हालांकि, अभी इस पर आधिकारिक अपडेट बीसीसीआइ की ओर से आनी है, जिसका सभी को इंतजार है, लेकिन क्रिकेट प्रेमी चाहेंगे कि इस अहम मैच में शिखर धवन और रोहित शर्मा ओपनिंग करते हुए नज़र आएं।

Page 9 of 1076

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें