Editor

Editor

लंदन। कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण अमेरिका, भारत समेत सैकड़ों देशों में लॉकडॉउन के कारण भले ही अर्थ व्यवस्थाएं थम गई हों। लेकिन दुनिया भर में बड़े पैमाने पर औद्योगिक और मानवीय गतिविधियां कम होने से पिछले कुछ ही दिनों में पर्यावरण में बेहतरीन सुधार आया है। पूरे विश्व में कार्बन उत्सर्जन इस साल इतना अधिक कम हो गया है जितना 75 साल पहले द्वितीय विश्व युद्ध के बाद हुआ था। कार्बन उत्सर्जन के आंकड़े जुटाने वाले विश्व भर के वैज्ञानिकों के अनुसार साल दर साल इसी रफ्तार से कार्बन उत्सर्जन 5 फीसद तक कम हो सकता है।वैश्विक कार्बन उत्सर्जन का हिसाब रखने वाले ग्लोबल कार्बन प्रोजेक्ट के चेयरमैन रॉब जैक्सन का कहना है कि 2008 के वित्तीय संकट के बाद 1.4 फीसद कार्बन उत्सर्जन में कमी आई थी जो अब पांच फीसद तक हो सकती है।कैलीफोर्निया की स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी अर्थ सिस्टम साइंस के प्रोफेशर जैक्सन ने कहा कि इस साल कार्बन उत्सर्जन में पांच फीसद या उससे भी ज्यादा की गिरावट आश्चर्यजनक होने वाली है। ऐसा द्वितीय विश्व युद्ध के बाद से नहीं देखा गया है। उन्होंने कहा कि कितने ही बड़े संकट आए हों, चाहे सोवियत संघ का विघटन हो, तेल संकट हो या बैंकों के कर्ज का संकट हो, कभी भी उसका पर्यावरण पर इतना अच्छा प्रभाव नहीं पड़ा है। लेकिन इस लॉकडाउन ने औद्योगिक इकाइयों, एयरलाइनों और सभी प्रकार की मानवीय गतिविधियों की रोकथाम कर दी है। नतीजतन, पिछले 50 सालों में किसी संकट ने कार्बन उत्सर्जन पर इतना असर नहीं डाला जितना कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए विभिन्न देशों में किए गए लॉकडाउन ने किया है।हालांकि इंग्लैंड की एक्सटर यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिक पीयरे फ्रेडलिंगस्टन का कहना है कि पर्यावरण में यह सुधार कुछ ही अरसे के लिए है। चूंकि कोविड-19 महामारी के बाद विश्व में आर्थिक संकट से निपटने के लिए दुनिया फिर से अपनी पुरानी दिनचर्या पर चल देगी। अगले साल तक कार्बन उत्सर्जन की स्थिति फिर वहीं की वहीं पहुंच जाएगी।

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली का लाइव इंटरव्यू इंस्टाग्राम पर इंग्लैंड क्रिकेट टीम के पूर्व बल्लेबाज केविन पीटरसन ने लिया। विराट कोहली ने इस इंटरव्यू के दौरान अपनी जीवन से जुड़ी कई अहम बातों का खुलासा किया। इस बातचीत के दौरान विराट कोहली ने ये भी साफ कर दिया कि वो कब अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह देंगे।विराट कोहली के इंटरव्यू के दौरान केविन पीटरसन ने उनके एक किस्सा शेयर करते हुए कहा कि एक बार मैं एक जिम में था और ट्रेडमिल पर दौड़ रहा था। वहीं पर Dhoni भी थे और वो भी मेरे साथ ही ट्रेडमिल पर दौड़ने लगे। इस दौरान हम दोनों ने (धौनी और पीटरसन) आपके और आपकी (विराट कोहली) कप्तानी के बारे में बातें की। उस वक्त धौनी ने आपके बारे में कहा कि वो ये जरूर देखना चाहेंगे कि क्या आप इतनी ही उत्साह, आक्रामकता और एनर्जी अपने पूरे क्रिकेट करियर के दौरान बनाकर रख सकेंगे या नहीं।विराट कोहली ने केविन पीटरसन की इस कहानी को बड़े ध्यान से सुना और इसके बाद उन्होंने कहा कि वो हर मैच के दौरान मैदान पर अपना सबकुछ झोंक देते हैं और उनका एनर्जी लेवल हर वक्त अपने चरम पर होता है। उन्होंने कहा कि जिस दिन मैदान पर मैं अपना 120 फीसदी योगदान नहीं दे पाउंगा उस दिन ही इस खेल को अलविदा कह दूंगा।विराट कोहली ने पीटरसन से कहा कि आप खुद माही से पूछ सकते हैं कि जब मैं उनकी कप्तानी में खेलता था तब हर ओवर में उनसे कुछ ना कुछ कहता रहता था। जैसे कि हम ये कर सकते हैं वो कर सकते हैं। मैं लांग आन से भागकर लांग ऑफ पर जा सकता हूं। मैं हर गेंद पर अपना 120 फीसदी देता हूं और मैं इसके अलावा किसी अन्य तरीके से नहीं खेल सकता। मैंने अपने आप से ये वादा किया है कि जिस दिन मुझे लगेगा कि मैं इस तरह से नहीं खेल पा रहा हूं मैं इस खेल से रिटायरमेंट ले लूंगा।

नई दिल्ली।कोरोना वायरस की वजह से भारत में चल रहे लॉकडाउन के बीच देश के तमाम क्रिकेटर्स अपने फैंस के लिए बेहद मनोरंजक वीडियो शेयर कर रहे हैं। भारतीय क्रिकेट टीम के ओपनर बल्लेबाज शिखर धवन भी इनमें शामिल हैं और वो लगातार अपने फैंस के लिए फनी वीडियो शेयर कर रहे हैं। एक बार फिर से उन्होँने एक कमाल का वीडियो शेयर किया है जिसमें वो और उनकी पत्नी टेबल टेनिस खेल रहे हैं। पर ये वीडियो बेहद खास है क्योंकि वो अपनी पत्नी के साथ टेबल टेनिस खेलते हुए डांस भी कर रहे हैं।धवन ने इससे पहले ब्लाइंड पिलो गेम का वीडियो शेयर किया था जिसे सबने खूब पसंद किया था और इस बार उन्होँने जो वीडियो शेयर किया है उसमें वो अपनी पत्नी के साथ जितेंद्र स्टाइल में टेबल टेनिस खेलते नजर आ रहे हैं। आपको याद होगा कि जितेंद्र का एक बेहद फेमस गीत है जिसमें वो अपनी सह अभिनेत्री लीना चंद्रावरकर के साथ बैडमिंटन खेलते हुए ढल गया दिन हो गई शाम वाला गीत गा रहे हैं। धवन ने भी कुछ ऐसा ही करने की कोशिश की है। फर्क सिर्फ इतना है कि वो बैडमिंटन नहीं बल्कि टेबल टेनिस खेल रहे हैं।इस वीडियो में धवन ने जीतेंद्र के स्टाइल को पूरी तरह से कॉपी करने की कोशिश की है और उनका ड्रेस भी लगभग वैसा ही जैसा की जीतेंद्र ने अपनी फिल्म में पहना था। उनकी पत्नी भी लीना की तरह से ही ड्रेसअप हैं। धवन ये गेम अपनी पत्नी के साथ अपने ड्राइंग रूम में खेल रहे हैं और दोनों ने गीत पर डांस करते हुए एक भी शॉट मिस नहीं किया। धवन के इस वीडियो को सब खूब पसंद कर रहे हैं साथ ही मुरली विजय, कुलदीप यादव और चहल ने अपने कमेंट के जरिए उनकी तारीफ भी की है। धवन ने इस वीडियो का कैप्शन दिया है ..हो गई शाम, जाने दो जाना है।

नई दिल्ली। कोरोना महामारी से इस वक्त पूरी दुनिया जूझ रही और भारत भी इससे अछूता नहीं है। कोविड 19 की वजह से खेल की सारी गतिविधियां बंद हैं और आइपीएल 2020 को भी 15 अप्रैल तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। अब इस लीग को लेकर भारतीय क्रिकेटर सुरेश रैना ने कहा है कि आइपीएल का इंतजार किया जा सकता है, लेकिन इस संकट के समय जिंदगी ज्यादा महत्वपूर्ण है। कोरोना संकट से लड़ाई के लिए रैना ने 52 लाख रुपये का डोनेशन दिया था और सोशल मीडिया के जरिए वो इन दिनों देश में जागरुकता फैलाने का काम कर रहे हैं। सुरेश रैना से जब आइपीएल के बारे में पूछा गया तो उन्होँंने कहा कि इस वक्त जिंदगी ज्यादा अहम है। हम आइपीएल का इंतजार कर सकते हैं। इस वक्त हमें सरकार की तरफ से जो गाइडलाइन दिए गए हैं उसका पालन लॉक डाउन के दौरान करें नहीं तो हमें काफी बुरी स्थिति का सामना करना पड़ सकता है। जब जिंदगी बेहतर हो जाएगी तो हम आइपीएल के बारे में सोच सकते हैं। इतने सारे लोगों की इस समय जान जा रही है, हमें जिंदगियां बचाने की जरूरत है।’33 साल के रैना पिछले हफ्ते ही दूसरी बार पिता बने थे और वो इन दिनों अपनी पत्नी के साथ बेटे की देख-रेख में लगे हैं। भारत के लिए साल 2018 में आखिरी बार खेलने वाले रैना इऩ दिनों अपने परिवार के लिए खाना बनाने का आनंद ले रहे हैं साथ ही साथ वो घर का काम भी करने में मदद कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मैं लॉकडाउन में रिलैक्स कर रहा हूं, खाना पका रहा हूं, बच्चों के साथ समय बिता रहा हूं। क्रिकेट के अलावा भी जिंदगी में इतना कुछ करने को है, इस तरह के क्षण आपको ये महसूस कराते हैं। इस लॉकडाउन से लोगों को जमीन से जुड़ने की अहमियत को महसूस करना चाहिए।रैना ने बड़ी गूढ बात करते हुए कहा कि इस वक्त घर में तीन वक्त का खाना ज्यादा अहम है बजाए इसके कि आपको घर और कार की साइज क्या है या फिर आप क्या पहनते हैं ये सबकुछ मैटर नहीं करता। खाना बनाने की बात पर उन्होंने कहा कि मुझे अपने होस्टल के दिनों से ही इसकी आदत है। मेरी पत्नी ने पिछले हफ्ते ही मेरे बेटे को जन्म दिया है और अब दोनों रिकवर कर रहे हैं। मैं अपने घर के काम में हाथ बटांकर काफी खुश हूं।

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की वहज से भारतीय पुरुष क्रिकेटरों की तरह से महिला क्रिकेटर्स भी अपने-अपने घरों में हैं और खुद को बिजी रखने के लिए तमाम तरह के उपाय कर रही हैं। इसी क्रम में भारतीय महिला क्रिकेट टीम की 23 वर्षीय बल्लेबाज स्मृति मंधाना ने अपने क्रिकेट फैंस के साथ सवाल-जवाब का एक सेशन रखा। इस दौरान उन्होंने बताया कि जो उनका जीवन साथी बनेगा उसमें क्या-क्या गुण होने चाहिए।स्मृति मंधाना साल 2017 आइसीसी महिला वनडे विश्व कप के दौरान खूब चर्चा में रही थीं। यही नहीं उनके खेल और खूबसूरती की भी खूब तारीफ हुई थी। वो अब भी भारतीय टीम की बेहतरीन बल्लेबाज हैं। स्मृति मंधाना ने अपने सवाल और जवाब सेशन के दौरान अपने फैंस के कई सवालों के जवाब दिए। इसमें से एक फैन ने उनसे पूछा कि आपका लाइफ पार्टनर बनने के लिए कैसी योग्यता होनी चाहिए।अनिकेत नाम के इस फैन के सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने इसके लिए दो शर्त रखी। मंधाना ने अनिकेत के सवाल का जवाब देते हुए ट्वीट करते हुए लिखा कि,
नंबर एक- वो खूब प्यार करने वाला होना चाहिए।
नंबर दो- और वो शर्त नंबर एक को मानने वाला होना चाहिए।
इसके अलावा उन्होंने बताया कि वो लव अरेंज शादी करना चाहेंगी।स्मृति मंधाना का क्रिकेट करियर अब तक काफी शानदार रहा है। भारत के लिए इस महिला खिलाड़ी ने अब तक दो टेस्ट मैच खेले हैं जिसमें उन्होंने कुल 81 रन बनाए हैं। वहीं वनडे क्रिकेट की बात करें तो उन्होंने अब तक कुल 51 मैचों में 2025 रन बनाए हैं। वनडे में उनके नाम पर चार शतक और सात अर्धशतक हैं। टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में मंधाना ने अब तक 74 मैचों में 1705 रन बनाए हैं। क्रिकेट के सबसे छोटे प्रारूप में उनके नाम पर कुल 12 अर्धशतक दर्ज हैं।

सिडनी। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड की टी20 लीग इंडियन प्रीमियर लीग (आइपीएल) पर खतरे के बादल मंडरा रहे हैं। 29 मार्च से शुरू होने वाले टूर्नामेंट को बीसीसीसीआई ने कोरोना वायरस के संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए 15 अप्रैल तक स्थगित करने का फैसला लिया है। इस बार की नीलामी में सबसे महंगे बिके महंगे बिके ऑस्ट्रेलिया के पैट कमिंस को टूर्नामेंट के कराए जाने की उम्मीद है।इंडियन प्रीमियर लीग के सबसे महंगे खिलाडि़यों में से एक ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज पैट कमिंस ने लीग के आयोजन को लेकर उम्मीद नहीं छोड़ी है। उन्होंने साथ ही स्वीकार किया कि कोरोना वायरस के कारण लॉकडाउन से टूर्नामेंट के इस महीने शुरू होने की संभावना कम है।कमिंस को कोलकाता नाइटराइडर्स ने इस साल के शुरू में हुई नीलामी में 15.50 करोड़ रुपये में खरीदा था। वह आइपीएल में सबसे बड़ी कीमत पर बिकने वाले विदेशी खिलाड़ी बने थे।26 साल के कमिंस ने कहा कि आइपीएल अभी रद नहीं किया गया है या इस तरह का कोई फैसला आयोजकों ने नहीं किया है। उसकी स्थिति अभी जस की तस है। हम लगातार अपनी टीमों के संपर्क में हैं। निश्चित तौर पर अब भी हर कोई चाहता है कि इस टूर्नामेंट का आयोजन हो, लेकिन सभी जानते हैं कि अभी प्राथमिकता कोरोना वायरस को फैलने से बचाना है।
IPL पर कोरोना की मार:-भारत में इस वक्त कोरोना की वजह से 21 दिन का लॉकडाउन घोषित किया गया है। 14 अप्रैल तो यह खत्म होगा लेकिन इसके बाद होने वाली बैठक में तय होगा कि टूर्नामेंट का आयोजन तक किया जाएगा। मौजूदा हालात को देखते हुए फिलहाल तो आईपीएल कराना मुश्किल है। ऑस्ट्रेलिया में 6 महीने तक बॉर्डर सील करने का आदेश दिए गए हैं जिसका मतलब है कि आईपीएल के लिए ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी नहीं आ पाएंगे।

नई दिल्‍ली। नेचुरल गैस की कीमतों में आई कमी के कारण CNG और पाइप्‍ड कूकिंग गैस की कीमतों में शुक्रवार को कटौती की गई। शुक्रवार से यह 7 फीसद सस्‍ती हो गई है। राष्‍ट्रीय राजधानी और आसापास के क्षेत्रों में सीएनजी और पीएनजी की खुदरा विक्रेता इंद्रप्रस्‍थ गैस लिमिटेड (IGL) ने कहा है कि दिल्‍ली में अब CNG की कीमत 3.20 रुपये घटकर 42 रुपये प्रति किलो हो गई है।दिल्‍ली के आसपास के क्षेत्रों जैसे नोएडा, ग्रेटर नोएडा और गाजियाबाद में सीएनजी के दाम में 3.60 रुपये प्रति किलो की कटौती हुई और अब यह 47.75 रुपये प्रति किलो हो गया है। एक बयान में IGL ने कहा है कि इसने घरेलू पाइप्‍ड नेचुरल गैस यानी PNG के दाम में 1.55 रुपये प्रति स्‍टैंडर्ड क्‍यूबिक मीटर्स (scm) की कटौती की है और दिल्‍ली में अब इसकी कीमत 28.55 रुपये प्रति scm हो गई है। नोएडा, ग्रेटर नोएडा और गाजियाबाद में PNG की कीमतों में 1.65 रुपये की कटौती की गई है और अब यह 28.45 रुपये प्रति स्‍टैंडर्ड क्‍यूबिक मीटर्स (scm) हो गई है। छह महीने में PNG की कीमतों में दूसरी बार कटौती की गई है। दिल्‍ली में 2 अक्‍टूबर 2019 को सीएनजी कीमतों में 1.90 रुपये प्रति किलो की कटौती की गई थी, वहीं नोएडा, ग्रेटर नोएडा और गाजियाबाद में 2.15 रुपये प्रति किलो की राहत मिली थी। 2 अक्‍टूबर 2019 को ही दिल्‍ली में पीएनजी की कीमतों में 0.90 रुपये प्रति एससीएम की कटौती की गई थी। दूसरी तरफ, इसी तारीख को नोएडा, ग्रेटर नोएडा और गाजियाबाद में पीएनजी की कीमतों में 0.40 रुपये प्रति एससीएम की राहत दी गई थी।IGL ने कहा है कि उत्‍तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में सीएनजी की कीमत 56.65 रुपये प्रति किलो होगी वहीं हरियाणा के करनाल में इसकी कीमत 49.85 रुपये प्रति किलो होगी। रेवाड़ी और गुरुग्राम में सीएनजी 54.15 रुपये प्रति किलो मिलेगा।रेवाड़ी में पीएनजी की कीमत अब 28.60 रुपये प्रति एससीएम होगी, इसमें 1.55 रुपये प्रति एससीएम की कटौती की गई है। इंद्रप्रस्‍थ गैस लिमिटेड दिल्‍ली में 9 लाख से अधिक और नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद और रेवाड़ी के 4.5 लाख से अधिक ग्राहकों को PNG की आपूर्ति करती है।

नई दिल्ली। फिच रेटिंग्स ने शुक्रवार को कहा है कि उसने मौजूदा वित्त वर्ष के लिए भारत की ग्रोथ रेट के अनुमान को 30 साल के निचले स्तर 2 फीसद पर कर दिया है। इससे पहले फिच रेटिंग्स ने मौजूदा वित्त वर्ष के लिए भारत की ग्रोथ रेट का अनुमान 5.1 फीसद बताया था। वैश्विक अर्थव्यवस्था पर आर्थिक मंदी के संकट और कोरोना वायरस महामारी के कारण लॉकडाउन के चलते फिच रेटिंग्स ने ग्रोथ रेट के अनुमान में यह गिरावट की है। गौरतलब है कि भारत में कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए 25 मार्च से ही देशव्यापी लॉकडाउन लागू है।फिच रेटिंग्स ने एक स्टेटमेंट में कहा, 'फिच का इस साल वैश्विक मंदी का अनुमान है और हाल ही में हमने मार्च 2021 में खत्म हो रहे मौजूदा वित्त वर्ष के लिए भारत की ग्रोथ रेट के अनुमान को पिछले अनुमान 5.1 फीसद से घटाकर 2 फीसद कर दिया है। ग्रोथ का यह ताजा अनुमान पिछले 30 सालों का निचला स्तर है।'फिच रेटिंग्स ने मार्च 2020 में वित्त वर्ष 2020-21 के लिए भारत की जीडीपी ग्रोथ के अनुमान को घटाकर 5.1 फीसद किया था। इससे पहले दिसंबर 2019 में फिच रेटिंग्स ने मौजूदा वित्त वर्ष के लिए ग्रोथ रेट का अनुमान 5.6 फीसद बताया था।एजेंसी ने कहा कि ग्राहकों की मांग घटने से शूक्ष्म, लघु और मध्यम आकार के उद्यम और सेवा सेग्मेंट सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं। गौरतलब है कि पिछले सप्ताह मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस ने वित्त वर्ष 2020 के लिए ग्रोथ रेट के अनुमान को पिछले अनुमान 5.3 फीसद से घटाकर सीधे 2.5 फीसद कर दिया था।

नई दिल्ली। देश में कोरोनावायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों से लोग घबराए हुए हैं। इस खतरनाक वायरस के अब तक भारत में कुल लगभग 2,301 मामले आ चुके हैं। इस बीमारी से 157 लोग ठीक हो गए हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और एक मरीज को दूसरी जगह भेजा गया है। कुल 55 विदेशी भी इस बीमारी से पीड़ित हैं। अब तक 56 ने कोरोना से जान गंवाई है। ऐसे पैनिक समय में साइबर अपराधी लोगों को लगातार ठगने का काम कर रहे हैं।दिल्ली पुलिस ने इसे देखते हुए एक एडवाइजरी जारी की है, जिसमें लोगों से कोरोनोवायरस की दहशत के बीच अपनी सुरक्षा सुनिश्चित करने के साथ-साथ साइबर अपराधियों से ठगी से बचने के लिए भी कहा गया है। भारत में कोरोनावायरस के डर का फायदा उठाने की कोशिश कर रहे सक्रिय साइबर अपराधियों के बारे में लोगों को चेतावनी देते हुए, दिल्ली पुलिस ने ट्वीट किया कि कोरोना और साइबर अपराध से सुरक्षित रहें। कोरोनोवायरस के अलावा हाल के साइबर अपराध के तरीकों में भी इजाफा हुआ है। यह भी कहा गया है कि ये साइबर अपराधी कोरोनावायरस महामारी के डर से लोगों को चूना लगाने की कोशिश कर रहे हैं।
दिल्ली पुलिस ने पिछले कुछ दिनों में साइबर अपराधियों द्वारा उपयोग किए गए कुछ धोखाधड़ी और घोटाले की सूची साझा की। जिसमें...
1. ऑनलाइन फ्रॉड: घोटालेबाज फर्जी वेबसाइट, ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म, सोशल मीडिया अकाउंट और ईमेल बनाते हैं, वे यहां से मेडिकल प्रोडक्ट बेचने और देने का दावा करते हैं, साथी वह पीड़ितों को ऑनलाइन बैंक ट्रांसफर के जरिए भुगतान करने के लिए कहते हैं और इस तरह से अपनी ठगी का शिकार बना लेते हैं।
2. टेलीफोन फ्रॉड: जालसाज कहते हैं कि वे अस्पताल में इलाज करा रहे किसी कोरोनावायरस संक्रमित मरीज के रिश्तेदार हैं और उन्हें पैसे की जरूरत है, इस तरह वो कॉल कर लोगों से पैसे मांगते हैं।
3. फ़िशिंग: धोखाधड़ी की अगली कड़ी में ईमेल, महामारी से संबंधित लिंक अपराधियों द्वारा स्वास्थ्य अधिकारियों को दावा करके भेजे जाते हैं, जिसका उद्देश्य पीड़ितों को एक नए वेबपेज से जोड़ना होता है और वे इस तरह ईमेल पता और पासवर्ड के साथ लॉगिन करवाते हैं। स्कैमर्स तब संवेदनशील जानकारी का उपयोग करने के लिए अपनी क्रेडिट का उपयोग करते हैं और पैसे चोरी करते हैं।
इस तरह के जालसाजी को रोकने के लिए दिल्ली पुलिस ने 'क्या करें', 'क्या न करें' इसे लेकर ट्वीट किया है।
1. संदिग्ध ईमेल खोलने और सोशल मैसेजिंग ऐप, ईमेल इत्यादि पर प्रसारित असत्यापित कोरोनावायरस से संबंधित लिंक पर क्लिक करने से बचें।
2. सोशल मीडिया और बैंकिंग गतिविधियों के लिए मजबूत पासवर्ड और कई स्टेप के प्रमाणीकरण विकल्प को चुनें।
3. अपने सॉफ़्टवेयर को एंटी-वायरस सॉफ़्टवेयर सहित अपडेट रखें।
4. ऑनलाइन कैसे सुरक्षित रहा जाए इस बारे में अपने परिवार, विशेषकर बच्चों को बताएं।
5. कोरोनोवायरस रोगियों के लिए कोई भी दान करने से पहले चैरिटी फंड के बारे में मालूम करें।
6. अगर आप पीड़ित हो जाते हैं, तो आप तुरंत दिल्ली पुलिस को सतर्क करें।

नई दिल्ली। ऑनलाइन किराना प्लेटफॉर्म BigBasket अपने गोदामों और सामान की डिलीवरी के लिए 10,000 लोगों को काम पर रखेगी। दरअसल, BigBasket चाहती है कि लॉकडाउन में उसके पहले के आर्डर की जल्द से जल्द डिलीवरी हो जाए और नया आर्डर भी तुरंत पहुंचाया जा सके। ऑनलाइन ग्रॉसरी प्लेटफॉर्म ग्रोफर्स भी 10,000 लोगों की नियुक्ति कर रही है।बिगबास्केट के उपाध्यक्ष तनूजा तिवारी ने कहा, 'हम अपने गोदामों और सामान की डिलीवरी के लिए 10,000 लोगों को नियुक्त करना चाहते हैं। यह हायरिंग उन सभी 26 शहरों में होगी, जहां हम अपनी सेवाएं देते हैं।' उन्होंने यह भी कहा कि सभी शहरों में काम को लेकर दबाव है, क्योंकि चुनौतियां टीयर I शहरों में अधिक हैं।देश में 21 दिनों के लॉकडाउन की वजह से ई-कॉमर्स कंपनियों को आर्डर पहुंचाने में दिक्कत हो रही है।भले ही सरकार ने ई-कॉमर्स प्लेटफार्मों के माध्यम से खाद्य फार्मास्यूटिकल्स और चिकित्सा उपकरण सहित आवश्यक सामानों की डिलीवरी की अनुमति दी है, लेकिन, कंपनियों के डिलीवरी स्टाफ को पुलिस द्वारा परेशान किए जाने की शिकायत लगातार मिल रही है। स्थानीय अधिकारियों द्वारा गोदामों को बंद करने और ट्रक को राज्य की सीमाओं से बहार जाने से रोकने से ई-कॉमर्स कंपनियों का कार्य बाधित हो रहा है।कंपनियों ने काम करना शुरू कर दिया है और पेंडिंग आदेशों को पूरा करने के लिए काम कर रही हैं। कुछ कंपनियां लोगों को अपने ऑर्डर रद करने का विकल्प दे रही हैं, और पेंडिंग आर्डर के चलते नए ऑर्डर लेने में भी देरी कर रही हैं। उद्योग के सामने एक और चुनौती गोदामों और रसद के लिए सीमित कर्मचारियों की उपलब्धता है।तिवारी ने कहा कि मौजूदा समय में कंपनी के गोदामों और डिलीवरी टीम में 50 फीसद कर्मचारियों की कमी है।उन्होंने कहा कि कंपनी ने सभी शहरों में ऑर्डर लेना शुरू कर दिया है, लेकिन क्षमता की कमी के कारण स्लॉट बहुत जल्दी भरे जा रहे हैं। बिगबास्केट ने एक ट्वीट में कहा कि यह अपनी नियोजित क्षमता का लगभग 40 फीसद है।

Page 9 of 1196

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें