Editor

Editor

नई दिल्ली। अगर आपकी कोई एलआईसी पॉलिसी हाल में लैप्स हो गई थी, तो उसे रिवाइव करवाने का आपके पास एक और मौका है। लाइफ इंश्योरेंस कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (LIC) ने कोरोना महामारी को देखते हुए लोगों को अपनी लैप्स हो चुकी पॉलिसीज को फिर से चालू कराने का यह अवसर दिया है। सरकारी स्वामित्व वाली दिग्गज इंश्योरेंस कंपनी की ओर से जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि यह विशेष रिवाइवल कंपेन सात जनवरी से शुरू हुआ है। यह विशेष अभियान छह मार्च, 2021 तक जारी रहेगा। इस अभियान के तहत कंपनी के ग्राहक अपनी लैप्स हो चुकी पॉलिसीज को फिर से चालू करा पाएंगे।इस प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि एलआईसी ने अपने 1526 कार्यालयों को इसके लिए अधिकृत कर दिया है, जहां विशेष मेडिकल टेस्ट की दरकार नहीं होगी। कंपनी की ओर से जारी रिलीज के मुताबिक इस विशेष रिवाइवल स्कीम के तहत ऐसे एलिजिबल प्लान की विशेष पॉलिसीज को रिवाइव किया जा सकता है, जिसके अनपेड प्रीमियम के भुगतान के लिए तय तिथि को बीते हुए अभी पांच साल नहीं हुए हैं। हालांकि, इसके लिए कई तरह की नियम और शर्तों को ध्यान में रखना होगा। इसके अलावा स्वास्थ्य की स्थिति से जुड़ी अनिवार्यता को लेकर भी छूट दी गई है। प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक अधिकतर पॉलिसीज को केवल अच्छे स्वास्थ्य से जुड़े घोषणापत्र के आधार पर रिवाइव करने का विकल्प दिया जा रहा है। इसके अलावा प्रपोजर या लाइफ इंश्योरेंस कराने वाले को कोविड-19 से जुड़े कुछ सवालों का जवाब देने को कहा जा सकता है। एलआईसी ने पात्र पॉलिसीज के लेट फीस पर छूट भी दी है। हालांकि, टर्म एश्योरेंस, हेल्थ इंश्योरेंस, मल्टीपल रिस्क पॉलिसीज पर यह छूट नहीं मिलेगी। 

नई दिल्ली। आगामी केंद्रीय बजट की तैयारियां जोरों पर हैं। वित्त वर्ष 2021-22 का केंद्रीय बजट एक फरवरी को पेश किए जाने की संभावना है। वर्ष 2020 में आए कोरोना संकट के बाद देश में हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर सेक्टर के लिए अधिक बजटीय प्रावधान की मांग तेज हो गई है। हेल्थ एवं फार्मा सेक्टर के अग्रणी लोगों ने भी बजट से जुड़ी अपेक्षाओं में इस बात को प्रमुखता से उठाया है। एनटोड फार्माश्यूटिकल के एग्ज्युक्युटिव डायरेक्टर निखिल के मसूरकर ने कहा कि बीते साल ने एक बार फिर से हमें यह अहसास कराया है कि देश के हेल्थकेयर इन्फ्रास्ट्रक्चर में सुधार की दरकार है।मसूरकर के मुताबिक वर्ष 2020 ने इस पर भी प्रकाश डाला है कि हमें हमारे हेल्थकेयर और फार्मा सेक्टर्स के बायोमेडिकल रिसर्च को मुख्य स्तम्भ के रूप में बनाने की जरुरत है। हालांकि, आगामी बजट का लक्ष्य होगा कि नई नौकरियों के द्वार खोले जाएं और अर्थव्यवस्था को फिर से पटरी पर लाया जाए लेकिन हेल्थकेयर और फार्मा सेक्टर पर ध्यान देने की जरुरत है। उन्होंने कहा, ''हेल्थकेयर आवंटन को बढ़ाया जाना चाहिए और इसे जीडीपी का 2.5 फीसद किया जाना चाहिए। इस कदम को उठाना भारत सरकार की काफी समय से प्रतिबद्धता रही है, हम इस बजट से इस दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम उठाने की उम्मीद करते हैं।'' उन्होंने कहा कि सरकार को ऐसे उपाय ढूंढने चाहिए जिससे 'आयुष्मान भारत योजना' जैसी महत्वाकांक्षी योजनाएं फंड की कमी के कारण ना रुके। ऐसे समय में जब लाखों लोगों की डिस्पोजल इनकम (टैक्स कटने के बाद की आय) काफी कम हो गयी है तो ऐसे में पब्लिक हेल्थकेयर सपोर्ट को ज्यादा गंभीरता से चैनलाइज करने की जरुरत है।उन्होंने कहा, ''आगामी बजट में स्वास्थ्य देखभाल और मेडिकल रिसर्च के लिए उपलब्ध धनराशि के आवंटन में बढ़ोत्तरी एक प्रमुख कदम होना चाहिए। इस समय फार्मा सेक्टर को पर्याप्त पॉलिसी सपोर्ट देने से आत्मनिर्भर बनने की उम्मीद है।  न केवल ड्रग मैन्युफैक्चरिंग चेन (दवा निर्माण श्रृंखला) बल्कि स्वदेशी ड्रग डिस्कवरी प्रयासों को भी आत्मनिर्भर होने के लिए सहयोग देने की जरुरत है।'' मसूरकर ने साथ ही कहा, ''हम फार्माश्यूटिकल डिपार्टमेंट द्वारा रिसर्च एंड डेवलपमेंट के लिए एक अलग डिपार्टमेंट और एक ऐसा इंस्टीटयूट बनाने की उम्मीद करते हैं जो रिसर्च और डेवलपमेंट के लिए ही हो। अगले 20 सालों में भारत को विश्व स्तर पर नए ड्रग मोलिक्युल का कम से कम 10% हिस्सेदार बनने का लक्ष्य रखना चाहिए।  नई दवा की खोज को बढ़ावा देने के लिए एक समर्पित पब्लिक-प्राइवेट-अकेडमिया पहल को शुरू करने पर विचार किया जाना चाहिए।'' 

नई दिल्ली। संसदीय मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति (CCPA)ने 29 जनवरी से बजट सत्र की सिफारिश की है।  इस बार दो भाग में बजट सत्र चलेगा। इसके तहत भाग 1 में 29 जनवरी से 15 फरवरी तक और भाग दो में 8 मार्च से 8 अप्रैल तक बजट सत्र की सिफारिश की है। सूत्रों के अनुसार, सीसीपीए की सिफारिश के मुताबिक राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 29 जनवरी को संसद के दोनों सदनों की संयुक्त बैठक को संबोधित करेंगे। इसके अनुसार, 1 फरवरी को आम बजट पेश किया जाएगा। संसद के बजट सत्र के दौरान सभी कोविड से संबंधित प्रोटोकॉल का पालन किया जाएग। दोनों सदनों की कार्यवाही 4-4 घंटे चलेगी।गौरतलब है कि कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण इस बार संसद का शीतकालीन सत्र नहीं बुलाया गया। सरकार ने ऐलान किया कि कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण इस बार संसद के शीतकालीन सत्र का आयोजन नहीं होगा। सरकार अब सीधे संसद का बजट सत्र बुलाएगी।केंद्रीय संसदीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने पिछले दिनों लोकसभा में कांग्रेस पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी की एक चिट्ठी का जवाब दिया था, जिसमें अधीर रंजन की तरफ से एक सत्र की मांग की गई थी। अधीर रंजन ने विवादास्पद नए कृषि कानूनों पर चर्चा की मांग की थी। इस लेटर के जवाब में प्रह्लाद जोशी ने जवाब दिया कि कोरोना संकट के कारण इस बार मानसून सत्र भी सितंबर में हो पाया था, जिसमें काफी सावधानी बरती गई थी। सर्दी का मौसम कोरोना संकट के कारण अहम है। हमें जल्द ही कोरोना की वैक्सीन मिलने की उम्मीद है। उन्होंने सभी नेताओं के साथ विचार-विमर्श किया और सर्वसम्मति से कोविड-19 के कारण सत्र नहीं बुलाए जाने पर सभी सहमत हुए थे।

नई दिल्ली। देश में कोरोना के नए मामलों में कमी देखी जा रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि देश में अब कोरोना के एक्टिव मामले 2.5 लाख से भी कम रह गए हैं। देश में कोरोना वैक्सीन की चर्चाएं भी तेज हैं। ऐसे में डीसीजीआई (Drugs Controller General of India) ने दो वैक्सीन को मंजूरी दे दी है। डीसीजीआई ने तीन जनवरी को कोविशील्ड (Covishield) और कोवाक्सिन (Covaxin) को मंजूरी दी थी। वहीं, आज केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि वैक्सीन को आपातकालीन स्वीकृति मिलने के 10 दिन के भीतर ही टीकाकरण शुरू होगा। और एक टीकाकरण टीम में 5 सदस्य होंगे। ऐसे में माना जा रहा है कि 13 या 14 जनवरी तक देश में कोरोना का टीकाकरण शुरू हो सकता है।कोरोना वैक्सीन की जानकारी देते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बताया कि करनाल, मुंबई, चेन्नई और कोलकाता में स्थित GMSD नामक 4 प्राथमिक वैक्सीन स्टोर बनाए गए हैं और देश में ऐसे 37 वैक्सीन स्टोर हैं। वे टीकों को थोक में इकठ्ठा करेंगे और फिर आगे वितरित किए जाएंगे।

गाजियाबाद। मुरादनगर में श्मशान घाट पर हुए हादसे के गुनहगार ठेकेदार अजीत त्यागी को एक महिला ने चप्पल से मारा। महिला ने ठेकेदार को उस समय चप्पल से मारा जब वो अस्पताल से मेडिकल कराकर वहां से बाहर निकल रहा था। इसी दौरान महिला ने चप्पल निकालकर ठेकेदार अजीत त्यागी के सिर पर मार दिया, चप्पल लगने से ठेकेदार थोड़ी देर के लिए सकपका गया। उसके बाद मेडिकल कराने के लिए अजीत के साथ चल रही पुलिस की टीम ने महिला को हिरासत में ले लिया। महिला के नाम पूनम बताया जा रहा है। फिलहाल पुलिस महिला से पूछताछ कर रही है। आरोपित अजय त्यागी व संजय गर्ग को पुलिस ने मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश किया। अदालत ने दोनों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेजने के आदेश दिए।मुरादनगर हादसे के मुख्य आरोपी ठेकेदार अजय त्यागी को पुलिस द्वारा गाजियाबाद के जिला एमएमजी अस्पताल में मेडिकल जांच के लिए लाया गया तो वहां पर पहले से भर्ती किशन पाल की पत्नी पूनम ने आरोपी ठेकेदार की चप्पल से पिटाई कर दी। जैसे ही किशन पाल की पत्नी पूनम को पता चला इस हादसे के मुख्य आरोपी अजय त्यागी को मेडिकल जांच के लिए अस्पताल लाया जा रहा है तो वह बाहर निकली और उस पर पीछे से चप्पल मार दी। इसके बाद पुलिस ने पूनम को धक्का देकर पीछे कर दिया और अजय त्यागी को बचाकर वहां से सीधे कोर्ट ले गए। बता दें कि पूनम के पिता जय राम की अंत्येष्टि में शामिल होने आए 25 लोगों की मौत हो चुकी है और 40 घायलों का उपचार चल रहा है ।श्मशान घाट पर छत गिरने की घटना के लिए ठेकेदार अजीत त्यागी को जिम्मेदार माना जा रहा था। उसी की फर्म ने यहां पर ये काम किया था। पुलिस टीम ने इसके आरोपी तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया था। ठेकेदार अजीत त्यागी फरार चल रहा था। प्रशासन की ओर से अजीत त्यागी पर 25 हजार का इनाम घोषित कर दिया गया था। उसके बाद कई टीमें अजीत को पकड़ने के लिए लग गई थी।मंगलवार की सुबह अजीत को गिरफ्तार करने की बात बताई गई। गिरफ्तारी के बाद पुलिस दोपहर में अजीत को मेडिकल कराने के लिए अस्पताल लेकर गई थी। पुलिस टीम उसके साथ ही चल रही थी। जब अजीत मेडिकल कराकर अस्पताल से बाहर निकल रहा था, उस दौरान भी उसके पीछे पुलिस के जवान साथ चल रहे थे। इलेक्ट्रानिक चैनल के कुछ पत्रकार अजीत से बाइट लेने की कोशिश कर रहे थे, इसी दौरान पीछे से एक महिला ने अजीत के सिर पर चप्पल दे मारी, तब तक पुलिस के जवानों ने उसे पकड़ लिया। 

नई दिल्ली।: पूरे उत्तर भारत में मौसम का मिजाज बेहद बिगड़ा हुआ है। जम्मू-कश्मीर में बर्फबारी से हालात गंभीर हैं। वहीं इसका असर दिल्ली तक देखा जा रहा है। दिल्ली के कई इलाकों में हल्की बारिश हो रही है और सड़कों पर ट्रैफिक की रफ्तार धीमी हो गई है। कुछ जगहों पर लोग बारिश का मजा लेने के लिए घरों से बाहर दिखाई दे रहे हैं। बता दें कि मौसम विभाग ने पहले ही बता दिया था कि आज सुबह 9 बजे तक दिल्ली और आसपास के इलाकों में बारिश शुरू हो सकती है और ऐसा ही हुआ। उत्तर प्रदेश के कई शहरों में भी बारिश का मौसम देखा जा रहा है। उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड के बीच मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है। अगले 24 घंटों में दिल्ली समेत कई इलाकों में बारिश और ओलावृष्टि की आशंका है, वहीं जम्मू-कश्मीर में भारी हिमपात की चेतावनी दी गई है।

दिल्ली में ऑरेंज अलर्ट:-दिल्ली-एनसीआर में पिछले तीन दिनों से हो रही बारिश मंगलवार की सुबह भी जारी है। अगले दो दिनों के लिए मौसम विभाग ने ऑरेंज अलर्ट जारी कर दिया है। दिल्ली में 6 जनवरी की दोपहर से मौसम साफ होने की उम्मीद है लेकिन ठंड से राहत नहीं मिलेगी। मौसम विभाग के मुताबिक 7 जनवरी से दिल्ली में शीतलहर का दूसरा दौर शुरू हो सकता है।देश के पहाड़ी इलाकों में आज भी बर्फबारी देखने को मिल सकती है। आज भी दिल्ली में बारिश हुई है और उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड के बीच मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है। अगले 24 घंटों में दिल्ली समेत कई इलाकों में बारिश और ओलावृष्टि की आशंका है, वहीं जम्मू-कश्मीर में भारी हिमपात की चेतावनी दी गई है।

राजस्थान में धुंध, बारिश और ओले:-उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में जबरदस्त ठंड के साथ-साथ बारिश हो रही है और ओले भी पड़ रहे हैं। राजस्थान में जहां पारा गर्मियों में 50 डिग्री को छूने लग जाता है। वहीं इस वक्त कड़ाके की सर्दी के बीच कोहरे और ओले की मार झेल रहा है। राजस्थान में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। कहीं जबरदस्त ओले पड़ रहे हैं तो कहीं इतना कोहरा छाया है कि सामने की इमारत धुंध में गायब हो गई है। सबसे बड़ी मुसीबत सीकर में देखने को मिली जहां सुबह से ही घनघोर बादल छाए रहे. दोपहर से बरसात शुरू हुई और कुछ ही देर में आसमान से ओले की बरसात शुरू हो गई। 

पहाड़ों पर भारी बर्फबारी:-उत्तराखंड के मुंशायारी में ताजा बर्फबारी के बाद सैलानी उमड़े हैं और हर तरफ बर्फ की चादर बिछी है। श्रीनगर में भारी बर्फबारी से जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाइवे लगातार तीसरे दिन भी बंद रहा है। मशीनों से रास्ता खोलने की कोशिश हो रही है। पहाड़ों पर बर्फबारी से उत्तर प्रदेश जबरदस्त शीतलहर की चपेट में आ गया है और अयोध्या में स्कूल का टाइम बदला गया है। हिमाचल में भी आसमान से बर्फ का गिरना जारी है। राजधानी शिमला समेत कई जिलों का बुरा हाल हो रहा है और लोग सर्दी का सितम झेल रहे हैं।जम्मू-कश्मीर के डोडा और किश्तवाड़ में भारी बर्फबारी हो रही है और हर तरफ बर्फ ही बर्फ दिखाई दे रही है।उत्तराखंड के बदरीनाथ में घाटी बर्फबारी से सफेद हो गई है। निचले इलाकों में भीषण ठंड से लोग परेशान हैं.कश्मीर घाटी के बरामूला में भारी बर्फबारी से सभी रास्ते बंद हो गए हैं। कल एक बीमार महिला को 12 किलोमीटर पैदल चलकर अस्पताल पहुंचाया गया जिसका वीडियो भी वायरल हो गया है।

तमिलनाडु के चेन्नई में हुई सबसे ज्यादा बारिश:-बीते 24 घंटों के दौरान उत्तर के पर्वतीय राज्यों और दक्षिण भारत के कई राज्यों में कई जगहों पर भारी बारिश हुई. इस दौरान देश के पर्वतीय क्षेत्रों में कुछ स्थानों पर में बर्फबारी भी देखने को मिली। बीते 24 घंटों में भारत में सबसे ज्यादा बारिश तमिलनाडु के चेन्नई में हुई, जहां 63 मिमी वर्षा दर्ज की गई।

 

महाराष्ट्र में हल्की बारिश की संभावना:-महाराष्ट्र में पिछले सप्ताह मौसम मुख्यतः शुष्क बना रहा। इस सप्ताह रुक-रुक कर महाराष्ट्र के कुछ इलाकों में बारिश हो सकती है। स्काइमेट वेदर के अनुसार, 6 और 7 जनवरी को मराठवाड़ा और विदर्भ में बारिश हो सकती है। इसके अलावा, सांगली, सतारा, कोल्हापुर समेत दक्षिणी मध्य महाराष्ट्र के जिलों में 8 जनवरी तक छिटपुट बारिश हो सकती हैं।

नई दिल्ली। पेंशन निधि विनियामक और विकास प्राधिकरण (पीएफआरडीए) द्वारा स्थापित राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली न्यास (एनपीएसटी) ने विभिन्न पदों पर भर्ती के लिए विज्ञापन जारी किया है। न्यास द्वारा 24 दिसंबर 2020 को जारी भर्ती विज्ञापन (सं.02/2020-21) के अनुसार ग्रेड ए ऑफिसर (असिस्टेंट मैनेजर) और ग्रेड बी ऑफिसर (मैनेजर) के कुल 14 पदों पर भर्ती के लिए योग्य उम्मीदवारों से आवेदन आमंत्रित किये जा रहे हैं। इन पदों के लिए आवेदन के इच्छुक उम्मीदवार एनपीएस की ऑफिशियल वेबसाइट, npstrust.org.in पर उपलब्ध कराये गये ऑनलाइन फॉर्म के माध्यम से अपना अप्लीकेशन सबमिट कर सकते हैं। आवेदन की प्रक्रिया 30 दिसंबर से शुरू हो चुकी है और उम्मीदवार 29 जनवरी 2021 तक आवेदन कर पाएंगे। उम्मीदवारों को ध्यान देना चाहिए आवेदन शुल्क का भुगतान भी 29 जनवरी तक ही किया जा सकेगा।

कौन कर सकता है आवेदन?:-एनपीएस ग्रेड ए ऑफिसर (असिस्टेंट मैनेजर) पदों के लिए वे ही उम्मीदवार आवेदन कर सकते हैं जिन्होंने किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या किसी अन्य उच्च शिक्षा संस्थान से किसी भी विषय में मास्टर्स डिग्री या लॉ/इंजीनियरिंग में बैचलर्स डिग्री उत्तीर्ण की हो या सीए/सीएफए/सीएस/सीडब्ल्यूए उत्तीर्ण हों।जबकि ग्रेड बी ऑफिसर (मैनेजर) पदों के लिए किसी भी विषय में मास्टर्स डिग्री या लॉ/इंजीनियरिंग में बैचलर्स डिग्री उत्तीर्ण की हो या सीए/सीएफए/सीएस/सीडब्ल्यूए उत्तीर्ण होने के साथ-साथ सम्बन्धित क्षेत्र में कम से कम तीन वर्षों का अनुभव रखते हों।दूसरी तरफ, ग्रेड ए ऑफिसर (असिस्टेंट मैनेजर) और ग्रेड बी ऑफिसर (मैनेजर) पदों के लिए निर्धारित अधिकतम आयु सीमा 30 वर्ष है। आयु की गणना 30 नवंबर 2020 से की जानी है। हालांकि, अधिकतम आयु सीमा में आरक्षित वर्गों के उम्मीदवारों के लिए सरकार के नियमानुसार छूट का प्रावधान किया गया है। अधिक जानकारी के लिए उपर दिये गये भर्ती विज्ञापन के लिंक पर जाएं।

लंदन। देश में गणतंत्र दिवस (26 January) के अवसर पर ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को मुख्य अतिथि बनाया गया था। वहीं, अब जॉनसन ने अपनी भारत यात्रा को रद कर दिया है। भारत दौरा रद करने से पहले जॉनसन ने पीएम मोदी से फोन पर बात की है। गणतंत्र दिवस के अवसर पर भारत न आने पर उन्होंने पीएम मोदी से खेद भी जताया है। बोरिस जॉनसन ने कोरोना के नए स्ट्रेन और ब्रिटेन में लगाए गए लॉकडाउन के चलते ये निर्णय लिया है।डाउनिंग स्ट्रीट के एक प्रवक्ता ने कहा कि प्रधानमंत्री ने आज सुबह पीएम मोदी से बात की, उन्होंने खेद व्यक्त करते हुए कहा कि वह इस महीने के अंत में भारत आने में असमर्थ होंगे। इसके साथ ही प्रवक्ता ने बताया कि जॉनसन का मानना है कि उनके लिए ब्रिटेन में रहना महत्वपूर्ण रहेगा, ताकि वह देश में फैले कोरोना वायरस पर ध्यान केंद्रित कर सकें। बता दें कि ब्रिटेन में कोरोना के अत्यधिक मामले सामने आ रहे हैं। कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन भी सबसे पहले ब्रिटेन में ही पाया गया, जिसके बाद से वहां कि सरकार ने एक बार फिर लॉकडाउन लगाकर सख्ती से निपटने के निर्देश दिए हैं। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कोरोना संक्रमण के नए स्ट्रेन के बढ़ते संकट के बीच फिर से देश में लॉकडाउन का ऐलान किया है। बोरिस जॉनसन ने कहा कि कोरोना से निपटने के लिए कम से कम फरवरी के मध्य तक नया नेशनल लॉकडाउन लगाया है ताकि नए स्ट्रेन को रोका जा सके। एक तरफ ब्रिटेन में कोरोना की वैक्सीन लगाने का काम शुरू किया गया है तो दूसरी तरफ लॉकडाउन का ऐलान किया गया है। 

बर्लिन।  जर्मनी में कोरोना वायरस के कारण मंगलवार को मौतों की संख्या 944 हुई है। यह जानकारी जर्मनी के रोग नियंत्रण केंद्र ने दी। इसके बाद यह उम्मीद जगी है कि चांसलर एंजेला मर्केल और देश के 16 राज्य गवर्नर इस महीने के अंत तक जर्मनी में लॉकडाउन को बढ़ाएंगे।नवंबर की शुरुआत में आंशिक रूप से बंदी होने के बाद जर्मनी के नवीनतम लॉकडाउन ने 16 दिसंबर तक बढ़ाया है। जर्मनी अब तक कोरेाना वायरस के संक्रमण की संख्या को कम करने में विफल रहा है।  पहले इसे 10 जनवरी तक खत्म करने का फैसला लिया गया था, लेकिन मौतों की बढ़ती संख्या के कारण लॉकडाउन को बढ़ा दिया गया।मंगलवार को राज्यपालों के साथ मर्केल की बैठक में तय करेंगी कि लॉकडाउन कब तक चलेगा और स्कूल फिर से किस हद तक खुलेंगे। निराशाजनक माहौल के बीच एजेंडे पर एक और विषय के तहत मर्केल देश में टीकाकरण कार्यक्रम की आलोचना को भी संबोधित करेंगी।जर्मनी और शेष 27 राष्ट्र यूरोपीय संघ में टीकाकरण एक सप्ताह पहले शुरू हुआ। रॉबर्ट कोच इंस्टीट्यूट ने कहा कि जर्मनी की जनसंख्या 8 करोड़ 30 जनसंख्या है। सोमवार तक दो लाख 65 हजार लोगों का टीकाकरण हो चुका है।विपक्षी राजनेताओं और यहां तक कि जर्मनी के गवर्निंग गठबंधन में कुछ लोगों ने यूरोपीय संघ के फाइजर बायोनेट वैक्सीन के अग्रिम आदेश जारी किए जाने की आलोचना की है। इसमें केवल यूरोपीय संघ के राष्ट्रों में उपयोग के लिए मंजूरी दे दी गई है। यूरोपीय संघ के चिकित्सा नियामक ने भी मॉडर्ना द्वारा एक वैक्सीन का मूल्यांकन किया जा रहा है। जर्मनी के स्वास्थ्य मंत्री ने बार-बार कहा कि टीकाकरण अपेक्षित रूप से आगे बढ़ रहा है। इसकी अभी धीमी शुरुआत है क्योंकि मोबाइल टीमें सबसे अधिक असुरक्षित टीका लगाने के लिए सबसे पहले नर्सिंग होम जा रही हैं, जो लोगों को सामूहिक टीकाकरण केंद्रों में आमंत्रित करने से ज्यादा समय लेती हैं।

नई दिल्ली। सोमवार को कॉमेडियन कपिल शर्मा ने आख़िरकार उस गुड न्यूज़ का खुलासा कर दिया है, जिसको लेकर सोमवार को ट्विटर पर हंगामा मचा रहा। कपिल की यह गुड फैमिली एक्सटेंशन को लेकर नहीं, बल्कि उनके नेटफ्लिक्स के साथ एसोसिएशन को लेकर है, जिसका एलान उन्होंने मंगलवार को किया।कपिल ने ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट किया है। इस वीडियो में दिखाया गया है कि कपिल उठते-बैठते, खाते-पीते, सोते-जागते ऑस्पिशियस बोलने की प्रैक्टिस कर रहे हैं, मगर सफल नहीं हो पा रहे। इसके बाद शूट शुरू होता है। कैमरा रोल होने के बाद कपिल अपना परिचय देते हैं और ऑस्पिशियस बोलते-बोलते अटक जाते हैं। कपिल को अटकते देख कैमरामैन कहता है कि इसे हिंदी में भी बता सकते हैं। कपिल तपाक से पेपर एक तरफ़ फेंककर कहते हैं कि मेरी तो अंग्रेज़ी में भी तैयारी थी, पर ठीक है, अगर नेटफ्लिक्स ख़ुद ही देसी है, तो अपने को क्या ज़रूरत है, जबरदस्ती अंग्रेज़ी बोलने की। तो मैं आ रहा हूं आपके टीवी, लैपटॉप और मोबाइल फोन पर... यानी नेटफ्लिक्स पर। दिस वॉज़ द ऑस्पिशियस न्यूज़ (यही था शुभ समाचार)। वीडियो के अंत में कपिल कहते हैं कि अंग्रेज़ी में ही कर लें।इस वीडियो के साथ कपिल ने लिखा- अफ़वाहों पर ध्यान मत दीजिए दोस्तों। मेरा यक़ीन कीजिए। मैं जल्द ही नेटफ्लिक्स पर आ रहा हूं। यही शुभ समाचार था। बता दें, सोमवार को कपिल ने ट्वीट करके फैंस से पूछा था- शुभ समाचार को अंग्रेज़ी में क्या कहते हैं? कृपया बताएं। इसी बात को उन्होंने रोमन में भी लिखा। इसके कुछ घंटे बाद उन्होंने इसी ट्वीट को रीट्वीट करके लिखा- Tomorrow I will share a शुभ समाचार matlab ek auspicious news... यानी कल मैं एक शुभ समाचार मतलब ऑस्पिशियस न्यूज़ साझा करूंगा।कपिल के इस ट्वीट के जवाब में कई फैंस ने उनसे पूछा कि क्या वो दोबारा पापा बनने वाले हैं? कुछ फैंस ने इससे अलग भी अनुमान लगाये। किसी ने कहा कि उनकी वेब सीरीज़ आने वाली है तो किसी ने लिखा कि फ़िल्म शुरू होने वाली है। कुछ ने द कपिल शर्मा शो में सुनील ग्रोवर की वापसी का भी अंदाज़ा लगाया।

Page 8 of 1603

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें