Editor

Editor

सेंट लूसिया। टी20 क्रिकेट में 14000 रन बनाने का कमाल वेस्टइंडीज के बल्लेबाज क्रिस गेल ने किया है। क्रिस गेल दुनिया के एकमात्र बल्लेबाज हैं, जिन्होंने टी20 क्रिकेट में 14 हजार से ज्यादा रन बना लिए हैं। इतनी बड़ी संख्या में टी20 क्रिकेट में रन बनाने के बावजूद यूनिवर्स बॉस क्रिस गेल का कहना है उनमें रनों की भूख अभी भी बाकी है। गेल ने ये भी बताया है कि टी20 क्रिकेट में अब उनका अगला लक्ष्य क्या होने वाला है?बाएं हाथ के तूफानी बल्लेबाज क्रिस गेल ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे टी20 मुकाबले में 38 गेंदों पर सात छक्कों और चार चौकों की मदद से 67 रन की तूफानी पारी खेली। इसी के दम पर वे अपनी टीम को मैच और सीरीज में जीत दिलाने में सफल रहे। इस पारी के दौरान 29वां रन बनाते हीं गेल पहले बल्लेबाज बन गए, जिन्होंने टी20 क्रिकेट में 14000 रन पूरे किए। उन्होंने देश के लिए 14वां टी20 अर्धशतक भी जड़ा।क्रिस गेल ने मैच के बाद कहा, "14000 टी20 रन बनाना अच्छी उपलब्धि है। मैं अपने लिए एक नया टारगेट सेट करता हूं और अब मैंने 15000 रन बनाने का सोचा है। यह जानना सुखद है कि मैं पहला व्यक्ति हूं जिसने टी20 में 14000 रन बनाए हैं, विशेषकर अर्धशतक और जीत के साथ। अभी काफी कुछ करना बाकी है और मैं इसमें सक्षम हूं। मुझमें रन बनाने की भूख अभी भी है। यह अच्छा है कि मैं रन बना सका, क्योंकि पिछले कुछ समय से मेरा बल्ला खामोश था। मैं खुश हूं कि ऐसा कर सका लेकिन यह मेरे टीम के साथी खिलाड़ियों के बिना संभव नहीं था जो मुझे प्रेरित करते हैं।"गेल ने टीम के कप्तान किरोन पोलार्ड की भी तारीफ की। हालांकि, वे इस सीरीज अब तक नहीं खेल पाए हैं। उनकी अनुपस्थिति में निकोलस पूरन कप्तानी कर रहे हैं और टीम को जीत पर जीत दिला रहे हैं। वहीं, क्रिस गेल ने पोलार्ड को लेकर कहा, "कप्तान किरोन पोलार्ड ने मुझे याद दिलाया कि बस वहां जाकर खुद का खेल खेलो और मुझे खुशी है कि मैं इस मैच में ऐसा कर सका।"

दिल्ली। इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (IPPB) अपने मोबाइल एप के जरिए डिजिटल रूप से बचत खाता खोलने की सुविधा प्रदान करता है। पोस्ट ऑफिस खाताधारक इस एप के जरिए आसानी से बेसिक बैंकिंग लेनदेन कर सकते हैं। इससे ग्राहकों की बैंकिंग सेवाओं तक काफी आसान पहुंच हो गई है। यदि आपके पास आईपीपीबी खाता खुलवाने के लिए पोस्ट ऑफिस जाने का समय नहीं है और आप वहां लाइन में खड़े रहने के झंझट से बचना चाहते हैं, तो घर बैठे ही आईपीपीबी एप डाउनलोड कर उससे डिजिटल बचत खाता खुलवा सकते हैं। यह खाता खुलवाने के लिए आवेदक को 18 साल से अधिक का भारतीय नागरिक होना चाहिए।बता दें कि डिजिटल सेविंग अकाउंट केवल एक साल के लिए वैध होता है। खाता खोलने के एक साल के अंदर आपको उस खाते के लिए बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण पूरा करना है, जिसके बाद इसे नियमित बचत खाते में बदल दिया जाएगा। खाता खुलवाने का स्टेप बाय स्टेप प्रॉसेस यह है-

स्टेप 1. अपने मोबाइल फोन में आईपीपीबी मोबाइल बैंकिंग एप डाउनलोड करें। इसके बाद आईपीपीबी मोबाइल बैंकिंग एप को ओपन कर ‘Open Account’ पर क्लिक करें।

स्टेप 2. यहां आपको अपना पेन कार्ड नंबर और आधार कार्ड नंबर दर्ज करना होगा।

स्टेप 3. पेन कार्ड नंबर और आधार कार्ड नंबर दर्ज करने के बाद आपको लिंक्ड मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी प्राप्त होगा। वह ओटीपी दर्ज करें।

स्टेप 5. यह जानकारी दर्ज करने के बाद सबमिट पर क्लिक करें। इसके साथ ही खाता खुल जाएगा।

स्टेप 6. आप इस इंस्टेंट बैंक अकाउंट का उपयोग एप के द्वारा कर सकते हैं।

नई दिल्ली:- घरेलू बाजार में अधिक स्टॉक के कारण भारत का पाम ऑयल आयात इस साल के पिछले महीने की तुलना में 24 प्रतिशत गिरकर 5,87,467 टन रह गया। उद्योग निकाय सॉल्वेंट एक्सट्रैक्टर्स एसोसिएशन (SEA) ने मंगलवार को यह जानकारी दी। SEA ने चिंता जताई कि सितंबर तक कच्चे पाम ऑयल (सीपीओ) और अन्य पाम ऑयल के आयात शुल्क में हालिया कटौती, साथ ही दिसंबर तक आरबीडी पामोलिन का अप्रतिबंधित आयात घरेलू रिफाइनर और तिलहन उत्पादकों के हित के लिए हानिकारक होगा।दुनिया के प्रमुख वनस्पति तेल खरीदार भारत ने जून 2020 में 5,64,839 टन पाम ऑयल का आयात किया था। जबकि मई 2021 में पाम ऑयल का आयात 7,69,602 टन था। देश का कुल वनस्पति तेल आयात इस साल जून में 17 प्रतिशत घटकर 9.96 लाख टन रहा, जो एक साल पहले इसी अवधि में 11.98 लाख टन था। देश के कुल वनस्पति तेल आयात में पाम ऑयल का हिस्सा 60 प्रतिशत से अधिक है।SEA के अनुसार, घरेलू बाजार में स्टॉक ज्यादा होने के कारण जून में वनस्पति तेल का आयात पिछले महीने की तुलना में कम रहा। एसईए के आंकड़ों के मुताबिक, पाम ऑयल उत्पादों में कच्चे पाम तेल (सीपीओ) का आयात इस साल जून में बढ़कर 5.76 लाख टन हो गया, जो एक साल पहले की समान अवधि में 5.63 लाख टन था। इसी अवधि में कच्चे पाम कर्नेल तेल (CPKO) की शिपमेंट 1,000 टन से बढ़कर 7,377 टन हो गई।नरम तेलों में सोयाबीन तेल का आयात जून में घटकर 2,06,262 टन रह गया, जो पिछले साल की समान अवधि में 3,31,171 टन था। इसी तरह सूरजमुखी तेल की खेप 2,69,428 टन से गिरकर 1,75,702 टन रह गई। 1 जुलाई तक खाद्य तेल का कुल भंडार 19.87 लाख टन था।

नई दिल्‍ली। Indian Railways ने Covid Mahamari के दौरान नियमित ट्रेनों का चलाना बंद कर रखा है। लेकिन यात्रियों की सहूलियत को देखते हुए कुछ Special Train चलाई हैं। हालांकि बीते साल मार्च से पहले रेलवे रोजाना करीब 12,600 ट्रेनें चलाता था। इसमें करीब 2.3 करोड़ यात्री सफर करते थे।Indian railways समय-समय पर पटरियों और दूसरे मरम्‍मती कामों के कारण कई बार ट्रैफिक ब्लॉक करता है, जिससे ट्रेनों की आवाजाही बेहतर होती है। इसके लिए कुछ ट्रेनों को कैंसिल या उनका रूट बदलना पड़ता है। कभी कभार मरम्‍मती काम के कारण Train Time भी बदला जाता है।इन Train के बारे में रेलवे अपनी ट्रेन इनक्‍वायरी की वेबसाइट पर Cancel Train List भी जारी करता है। इससे यात्रियों को काफी सहूलियत होती है। वे समय रहते अपनी यात्रा में रद्दोबदल कर सकते हैं।13 जुलाई 2021 को Indian Railways ने जिन ट्रेनों को Partially कैंसिल किया है, उनकी लिस्‍ट रेलवे की वेबसाइट पर जारी की गई है।

 

ट्रेन कैंसिल होने पर पैसा वापस होगा;-Indian railways जिन ट्रेनों को कैंसिल करता है, उनकी जानकारी यात्रियों को दी जाती है। इसके लिए रेलवे स्टेशनों पर अनाउंसमेंट के जरिए भी बताया जाता है। Indian railways के इनक्‍वायरी नंबर 139 सर्विस पर SMS कर भी ट्रेनों का स्‍टेटस जाने सकते हैं। जिन ट्रेनों को कैंसिल किया गया है उनका टिकट रद्द कर पूरा रिफंड ले सकते हैं।

नई दिल्ली। वैक्सीनेशन में तेजी के चलते आर्थिक गतिविधियों में बढ़ोत्तरी होने से पिछले महीने तेल की मांग में वृद्धि हुई, लेकिन ओपेक+ देशों द्वारा आवश्यकता से कम उत्पादन करने से कीमतों का अस्थिर रहना तय है, जब तक कि उत्पादन बढ़ाने को लेकर कोई समझौता ना हो जाए। इंटरनेशनल एनर्जी एजेंसी ने मंगलवार को यह बात कही है।इस महीने की शुरुआत में ओपेक+ देशों की एक बैठक हुई थी, लेकिन इसमें गतिरोध देखा गया और उत्पादन में कटौती को धीरे-धीरे कम करने की योजना पर कोई फैसला नहीं हो पाया। बता दें कि कोरोना वायरस महामारी की शुरुआत के समय तेल की मांग में भारी कमी के कारण ओपेक+ देशों ने उत्पादन में कटौती का फैसला लिया थाहालांकि, अब तेल की मांग फिर से बढ़ रही है। इंटरनेशनल एनर्जी एसेंजी का अनुमान है कि इसमें पिछले महीने 3.2 मिलियन बैरल प्रति दिन (mbd) की वृद्धि हुई है, जो कि पिछले साल मांग में आई कुल गिरावट के एक तिहाई से अधिक है।आईईए का अनुमान है कि जुलाई से तीन महीने में तेल डिमांड 3.3 mbd और बढ़ सकती है। यह साल 2019 में समान अवधि के दौरान दर्ज हुई सीजनल वृद्धि के दोगुने से अधिक है। आईईए का कहना है कि यह कोविड प्रतिबंधों में राहत और वैक्सीनेशन में तेजी का परिणाम है।मांग बढ़ने पर ओपेक+ को धीरे-धीरे उत्पादन में वृद्धि करनी थी, लेकिन बैठक में आए गतिरोध का मतलब है कि उत्पादन मौजूदा स्तर से तब तक आगे नहीं बढ़ाया जाएगा, जब तक कि कोई समझौता नहीं हो जाता।इंटरनेशनल एनर्जी एजेंसी ने अपनी ताजा मासिक रिपोर्ट में कहा, "तेल की कीमतों ने पिछले हफ्ते ओपेक+ गतिरोध पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की। अगर कोई समझौता नहीं हो पाता है, तो आपूर्ति घाटा गहराने की संभावना है।"

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( Prime Minister Narendra Modi) ने शनिवार को अपने वियतनाम के समकक्ष फाम मिन्ह चिन्ह (Pham Minh Chinh) से फोन पर बात की और उन्हें देश के प्रधानमंत्री बनने पर बधाई दी। प्रधानमंत्री मोदी ने वियतनाम के पूर्व सुरक्षा अधिकारी और वहां की कम्युनिस्ट पार्टी के नेता फाम मिन्ह चीन्ह से वार्ता के दौरान भरोसा जताया कि उनके कुशल निर्देशन में दोनों देशों के बीच व्यापक सामरिक साझेदारी और भी मजबूत होगी।प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि दोनों नेताओं के बीच फोन पर वार्ता हुई और इस दौरान द्विपक्षीय संबंधों की प्रगति की समीक्षा की गई। बातचीत के दौरान दोनों देशों के बीच सहयोग के विभिन्न मुद्दों पर विचारों का आदान-प्रदान भी हुआ। PMO के अनुसार प्रधानमंत्री मोदी ने एक खुले, समावेशी, शांतिपूर्ण और नियम आधारित हिंद महासागर क्षेत्र को लेकर दोनों देशों के समान विचारों का हवाला देते हुए कहा, 'भारत-वियतनाम व्यापक सामरिक साझेदारी क्षेत्रीय शांति, समृद्धि और विकास को बढ़ावा देने में योगदान दे सकती है।' इस संदर्भ में प्रधानमंत्री मोदी ने यह हवाला भी दिया कि भारत और वियतनाम संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के सदस्य भी हैं।प्रधानमंत्री मोदी ने भारत में कोविड-19 की दूसरी लहर के समय वियतनाम की ओर से की गई सहायता के लिए आभार व्यक्त किया। साथ ही दोनों देशों के प्रमुखों ने महामारी का मुकाबला करने के लिए विचार-विमर्श और एक दूसरे का सहयोग करना जारी रखने पर सहमति व्यक्त की। PMO ने कहा, 'दोनों प्रधानमंत्रियों ने द्विपक्षीय संबंधों की प्रगति की समीक्षा की औरसहयोग के विभिन्न क्षेत्रों में विचारों का आदान-प्रदान किया।' पीएमओ ने बताया कि वर्ष 2022 में दोनों देशों के बीच कूटनीतिक रिश्तों की स्थापना की 50वीं वर्षगांठ होगी और दोनों नेताओं ने इस महत्वपूर्ण उपलब्धि को धूमधाम से मनाने पर सहमति जताई। प्रधानमंत्री मोदी ने अपने वियतनामी समकक्ष को भारत आने का निमंत्रण भी दिया।

जम्मू।दक्षिणी कश्मीर के अनंतनाग जिला के रानीपोरा इलाके के क्वारीगाम में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ शुरू हो गई है। सुरक्षाबलों को दो आतंकियों को ढेर करने में सफलता मिली है। दोनों ओर से अभी भी फायरिंग जारी है। अन्य विवरण प्रतीक्षारत हैं।जानकारी के अनुसार, आज यानि शनिवार को अनंतनाग जिला के क्वारीगाम इलाके में सुरक्षाबलों को आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली। इसके उपरांत सुरक्षाबलों ने पुलिस, सेना की 19 राट्रीय राइफल और सीआरपीएफ के साथ एक संयुक्त तलाशी अभियान चलाया। इसी दौरान एक जगह पर छिपे आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग करना शुरू कर दी। ऐसे में सुरक्षाबलों ने सबसे पहले आतंकियों को आत्मसमर्पण करने के लिए कहा लेकिन आतंकियों ने इसे अनसुना कर फायरिंग जारी रखी। इसके उपरांत सुरक्षाबलों ने जवाबी कार्रवाई की और इसमें दो आतंकियों को ढेर कर दिया गया। फिलहाल अभी भी क्षेत्र में तलाशी अभियान जारी है।

देहरादून: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने नई दिल्ली में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से शिष्टाचार भेंट की। उन्‍होंने उत्‍तराखंड से संबंधित विभिन्न बिंदुओं पर चर्चा भी की। मुख्यमंत्री ने केंद्रीय गृह मंत्री से अनुरोध किया कि राज्य में समय-समय पर आयोजित होने वाले विश्व प्रसिद्ध मेलों, पर्वों पर तैनात होने वाले केंद्रीय सुरक्षा बलों की तैनाती, व्यवस्थापन पर होने वाले व्यय को पूर्वोत्तर राज्यों / विशेष श्रेणी के राज्य की भांति (केंद्रांश : राज्यांश ) 90 : 10 के अनुपात में भुगतान की व्यवस्था निर्धारित की जाए।मुख्यमंत्री ने राज्य के सीमित आर्थिक संसाधनों को देखते हुए समय-समय पर तैनात केंद्रीय सुरक्षा बलों की तैनाती के फलस्वरूप लंबित देय धनराशि 47.29 करोड़ रुपये को अद्यतन विलंब शुल्क सहित छूट प्रदान करने का भी अनुरोध किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड से नेपाल व चीन की सीमा लगी है, जहां स्थित गांव दुर्गम भौगोलिक परिस्थिति, आर्थिक अवसरों की कमी के कारण वीरान हो रहे हैं। इन क्षेत्रों में इनर लाइन प्रतिबंध हटाए जाने से पर्यटन के अपार अवसर खुलेंगे तथा क्षेत्र में आर्थिक गतिविधियां बढ़ने से वहां से पलायन रुकेगा। इससे संवेदनशील क्षेत्रों में बेहतर सीमा प्रबंधन में भी सहायता मिलेगी। मुख्यमंत्री ने केंद्रीय गृह मंत्री से चमोली जिले के नीति घाटी और उत्तरकाशी के नेलोंग घाटी ( जाडूंग गांव) को इनर लाइन प्रतिबन्ध से हटाए जाने के प्रस्ताव पर विचार करने का आग्रह किया। मुख्यमंत्री ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से कोविड की तीसरी लहर के दृष्टिगत राज्य सरकार की तैयारियों, चार धाम यात्रा, कांवड़ यात्रा पर भी विचार विमर्श किया।मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड के प्राकृतिक आपदा की अत्यधिक संवेदनशीलता के दृष्टिगत विभिन्न महत्वपूर्ण बिन्दु राज्य सरकार द्वारा केंद्र सरकार को संदर्भित किए गए हैं। मुख्यमंत्री ने केंद्रीय गृह मंत्री से राज्य के लिए दो एयर एंबुलेंस,  ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैण में आपदा प्रबंधन शोध संस्थान की स्थापना, आपदा प्रभावित गांवों का विस्थापन एसडीआरएफ निधि के तहत अनुमन्य किए जाने के साथ ही आपदा में लापता व्यक्तियों को मृत घोषित किए जाने के लिए स्थायी व्यवस्था स्थापित करने का भी अनुरोध किया। मुख्यमंत्री ने राज्य आपदा जोखिम प्रबन्धन कोष घटकों के लिए दिशा-निर्देश तैयार करते समय विशेष रूप से पर्वतीय राज्यों की वस्तुस्थिति पर ध्यान दिए जाने का भी आग्रह किया। मुख्यमंत्री ने वित्तीय वर्ष 2021-22 में राज्य आपदा मोचन निधि के अन्तर्गत केन्द्रांश की द्वितीय किस्त अवमुक्त किए जाने का भी अनुरोध किया। इस मौके पर मुख्य सचिव डॉ एसएस संधु, अपर मुख्य सचिव आनंद बर्द्धन, सचिव शैलेश बगोली आदि मौजूद रहे।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में गांव तथा जिला की सरकार के बाद अब ब्लाक की सरकार का भी गठन हो रहा है। सत्तारूढ भारतीय जनता पार्टी को ब्लाक प्रमुख चुनाव में बम्पर जीत मिली है। शहर की पार्टी मानी जाने वाली भारतीय जनता पार्टी ने अब गांवों में भी अपना दबदबा कायम कर लिया है। भाजपा ने 476 ब्लाक के लिए आज सम्पन्न मतदान मे जोरदार प्रदर्शन किया है। पश्चिमी से लेकर पूर्वी तथा मध्य उत्तर प्रदेश के साथ बृज क्षेत्र और बुंदेलखंड में भी भाजपा ने ब्लाक प्रमुख चुनाव में अपना परचम लहरा दिया। भाजपा ने ब्लाक प्रमुख के कुल 825 पद में से निर्विरोध निर्वाचित 349 में 334 पद पर पहले ही कब्जा किया है और आज मतदान के बाद भी बाजी अपने हाथ में कर ली है।

लखनऊ की आठ में से सात सीट पर भाजपा जीती, समाजवादी पार्टी साफ:-भारतीय जनता पार्टी में लखनऊ की आठ ब्लाक प्रमुख सीट पर आज हुए मतदान में सात पर जीत दर्ज की है। लखनऊ में भाजपा ने चिनहट को छोड़कर अन्य सात ब्लाक प्रमुख सीट पर जीत दर्ज की है। चिनहट में निर्दलीय उम्मीदवार ऊषा यादव ने बाजी मारी। बाकी सात सीट पर भाजपा का परचम लहराया है। लखनऊ मे पहली बार समाजवादी पार्टी का खाता नहीं खुला है। समाजवादी पार्टी के पास आठ में से छह सीट थी। समाजवादी पार्टी पहली बार आठ में से एक भी सीट नही जीत सकी।

जौनपुर में 15 पर भाजपा, चार पर निर्दलीय व दो पर सपा प्रत्याशी जीते;-जौनपुर में 21 ब्लाकों के प्रमुख पद के चुनाव का परिणाम घोषित कर दिया गया। इसमें 15 ब्लाकों में भाजपा समर्थित प्रत्याशियों ने कब्जा जमाया तो दो पर सपा समर्थित ने जीत दर्ज की। वहीं चार ब्लाकों पर निर्दल का कब्जा हुआ। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच चुनाव शांतिपूर्ण संपन्न हुआ।

हरदोई में नौ में से पांच पर भाजपा, तीन निर्दलीय तथा एक सपा ने जीती:-हरदोई में शनिवार को ब्लाक प्रमुख पद के लिए मतदान और मतगणना के बाद आए परिणाम में नौ ब्लाकों में से पांच पर भाजपा, तीन पर निर्दलीय तथा एक पर सपा ने जीत दर्ज की। एक निर्दलीय को पूर्व मंत्री अब्दुल मन्नान जीत दिलाई। सुरसा में सपा और हरपालपुर में भाजपा जमानत नहीं बचा पाई। संडीला में भाजपा की आरती जीतीं। बेहंदर में पूर्व मंत्री अब्दुल मन्नान समॢथत लक्ष्मी देवी ने जीत दर्ज की। बिलग्राम में भाजपा प्रत्याशी सतेंद्र कुमार सिंह उर्फ मुन्ना सिंह जीते। सुरसा में भाजपा के विजय पाल जीते। भरावन में निर्दलीय विनोद सिंह तोमर ने जीत दर्ज की। पिहानी में निर्दलीय कुशी बाजपेई ने जीत दर्ज की। माधौगंज में भाजपा की लौंग श्री जीती। सांडी में भाजपा के अनिल कुमार सिंह जीते। हरपालपुर में सपा के अनोखेलाल ने जीत दर्ज की।

गोंडा में 15 में से 14 पर भाजपा जीती, एक पर सपा ने बाजी मारी;-गोंडा जिले में ब्लाक प्रमुख की 16 सीट में से 15 पर मतदान हुआ। जिसमें भाजपा ने 14 में जीत दर्ज की, जबकि समाजवादी पार्टी भी एक सीट के साथ खाता खोलने में सफल रही।गोंडा के झंझरी से भाजपा की रेखा मिश्रा, पंडरीकृपाल से प्रियंका गौतम, इटियाथोक से पूनम द्विवेदी, कर्नलगंज से तिलका देवी, परसपुर से प्रियंका सिंह, हलधरमऊ से रिचा सिंह, कटराबाजार से जुगरानी शुक्ला, मनकापुर से जगदेव चौधरी, छपिया से अनिल कुमार पासवान, बभनजोत से मधुलिका पटेल, तरबगंज से मनोज कुमार पांडेय, बेलसर से राजेंद्र प्रताप सिंह, नवाबगंज से अरुंधति सिंह तथा वजीरगंज से अनीता यादव ने जीत दर्ज की। यहां से समाजवादी पार्टी की बबिता सिंह ने रुपईडीह से बाजी मारी।

बागपत में फर्जी महिला वोटर गिरफ्तार, भेजी गई लॉकअप:-बागपत में शनिवार को ब्लाक प्रमुख के चुनाव के लिए फर्जी वोटर बनी महिला को गिरफ्तार कर लिया गया है। यहां के पिलाना ब्लॉक में फर्जी अफसाना बनकर वोट डालने गई महिला को पुलिस ने अपनी हिरासत में लेकर लॉकअप मे भेज दिया है।लोनी निवासी नगमा खातून यहां पर अफसाना बनकर वोट डालने जा रही थी। अफसाना पहले ही वोट डाल चुकीं थी, इसी कारण नगमा खातून चुनाव अधिकारी की गिरफ्त में आ गई।

इटावा के बढ़पुरा ब्लाक में मतदान केंद्र के बाहर अफसरों के सामने फायरिंग:-इटावा में ब्लाक प्रमुख चुनाव के दौरान बढ़पुरा ब्लाक परिसर के बाहर हवाई फायरिंग की गई। यहां पर भाजपा समर्थकों ने सपा समर्थकों पर बीडीसी को धमकाने के आरोप लगाए हैं। मौके पर पहुंचे एएसपी सिटी प्रशांत कुमार ने भाजपा समर्थकों को समझाने का प्रयास किया तो उनके साथ भी धक्का-मुक्की व खींचा तानी की गई। उनके एक व्यक्ति ने थप्पड़ मार दिया। जिससे जमीन पर गिर पड़े। बाद में अतिरिक्त पुलिस बल के आ जाने के बाद सभी को पीछे खदेड़ दिया गया। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े।इस ब्लाक में सपा प्रत्याशी आनंद यादव टंटी व भाजपा प्रत्याशी गणेश राजपूत के बीच मुकाबला है। यह मुकाबला दोनों ही दलों के लिए शुरू से ही प्रतिष्ठापूर्ण बना हुआ है। दोपहर एक बजे तक वोटिंग ठीक चल रही थी। उसके बाद मतदान केंद्र से 200 मीटर की दूरी के बाद खड़े भाजपा समर्थकों ने सपा समर्थकों पर उनके वोटर को धमकाने का आरोप लगाते हुए हंगामा शुरू कर दिया। जब उन्हें समझाने एएसपी सिटी पहुंचे तो पीछे से कुछ समर्थकों ने फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस बल की मौजूदगी में एएसपी सिटी उन लोगों को पीछे खदेड़ने में कामयाब हो गए। सूचना मिलने पर जिलाधिकारी श्रुति सिंह व एसएसपी डा. बृजेश कुमार सिंह मौके पर पहुंचे तो उनके सामने ही भीड़ में पीछे से किसी से फिर दो-तीन राउंड फायर किए। डीएम, एसएसपी द्वारा बड़ी संख्या में पुलिसबल को लेकर भीड़ को पीछे खदेड़ा गया है। यहां पर पुलिसजनों की सदर विधायक सरिता भदौरिया व भाजपा जिलाध्यक्ष अजय प्रताप धाकरे से बहस भी हुई। सरिता भदौरिया का आरोप था कि सपा के लोगों ने उनके सदस्यों को धमकाया है। 

कानपुर देहात में दो प्रत्याशियों के समर्थकों के बीच फायरिंग, वाहनों में तोड़फोड़:-कानपुर देहात के सरवनखेड़ा ब्लाक में निर्दलीय प्रत्याशियों के समर्थक आमने-सामने आ गए। कई राउंड फायरिंग के बाद वाहनों में तोड़फोड़ की गई। पुलिस बल जुटा तो सभी भाग निकले। एक प्रत्याशी कानपुर के भाजपा विधायक महेश त्रिवेदी की भाभी हैं। सरवनखेड़ा ब्लाक में उर्वशी चंदेल व भाजपा विधायक महेश त्रिवेदी की भाभी निर्दलीय प्रत्याशी उपमा त्रिवेदी आमने सामने हैं। मतदान के समय दोपहर में उर्वशी पक्ष के लोगों ने उपमा के समर्थकों पर मतदान केंद्र तक जाने के दौरान धमकाने व रूकावट का आरोप लगाया। काफी देर गहमागहमी के बाद दोनों तरफ से लोग एकजुट हो गए और फायरिंग शुरू हो गई। एक दूसरे के वाहनों को भी डंडा व ईंट मारकर तोड़ दिया गया। पुलिस बल ने लाठी लेकर खदेड़ा तो सभी भाग निकले। किसी के अभी तक घायल होने की जानकारी नहीं है। डीएम जेपी सिंह व एसपी केशव कुमार चौधरी भी पहुंचे और स्थिति को नियंत्रित किया।

प्रतापगढ़ में पुलिस को करनी पड़ी हवाई फायरिंग:-प्रतापगढ़ के आसपुर देवसरा ब्लाक में पुलिस को बवाल करने वालों को काबू में लेने के लिए हवाई फायरिंग करनी पड़ी। यहां के आसपुर देवसरा ब्लॉक में चल रहे मतदान के दौरान लगभग एक बजे पुलिस ने एक पक्ष से जुटी भीड़ को तितर-बितर करने के लिए दौड़ाया तो लोग ईट पत्थर चलाने लगे। पुलिस ने जवाब देने के लिए हवा में गोलियां चलाई। इससे सनसनी फैल गई। कुछ देर तक मामला शांत रहा उसके बाद पुन: मतदान शुरू हो गया। यहां एडीएम शत्रुघ्न वैश्य के साथ पुलिस व पीएसी के जवान मौके पर हैं। प्रयागराज में 21, प्रतापगढ़ में 11 और कौशांबी में सात ब्लाक प्रमुख चुनने के लिए बीडीसी सदस्य वोट डाल रहे हैं।

मुजफ्फरनगर और सहारनपुर में हंगामा, पुलिस से नोकझोंक:-ब्लाक प्रमुख चुनाव के लिए ब्लाक मुख्यालयों पर मतदान जारी है। मुजफ्फरनगर के बुढ़ाना ब्लाक में मतदान के दौरान भाजपा विधायक के आने पर विपक्षियों ने हंगामा करते हुए नारेबाजी शुरू कर दी। दोनों तरफ से समर्थक आमने-सामने आ गए। भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष नरेश टिकैत भी पहुंच गए। पुलिस ने समझाकर स्थिति संभाली। नरेश टिकैत ने आरोप लगाया कि प्रशासन भाजपा के दबाव में काम कर रहा है। सहारनपुर में भाजपा प्रत्याशी के समर्थक बीडीसी सदस्यों को हेल्पर दिए जाने और विपक्ष के प्रत्याशी के सदस्यों को हेल्पर न दिए जाने को लेकर हंगामा हुआ। बागपत में रालोद कार्यकर्ताओं की पुलिस से नोकझोंक हुई। मेरठ, बिजनौर, बुलंदशहर और शामली में शांतिपूर्ण मतदान चल रहा है।

हमीरपुर में मतदान को लेकर सपा-भाजपा कार्यकर्ताओं में मारपीट, पत्थर चले;-हमीरपुर के सुमेरपुर विकासखंड में ब्लाक प्रमुख पद के लिए हो रहे मतदान के दौरान सपा व भाजपा कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए। दोनों पक्षों में जमकर लाठी-डंडे चले। जिसमें दो वाहन क्षतिग्रस्त होने के साथ सपा प्रत्याशी समेत उनका बीडीसी भाई घायल हो गया। हालांकि मामले को शांत करा पुलिस ने प्रत्याशी व उनके भाई को मतदान स्थल में प्रवेश कराया। जिले में ब्लाक प्रमुख पद को लेकर सुमेरपुर का चुनाव सबसे अधिक संवेदनशील है। यहां चुनाव को लेकर शुक्रवार रात से सरगर्मियां तेज हैं। जहां जालौन के एट थानाक्षेत्र स्थित एक महाविद्यालय में रुके सपा प्रत्याशी जयनारायन सिंह यादव के समर्थक बीडीसी सदस्यों के साथ मारपीट की गई। साथ ही चार सदस्यों को भी मौके से उठा लिया गया।इसके बाद शेष सदस्यों व प्रत्याशी को थाने में बैठाए रखा गया। शनिवार सुबह सभी को वहां से छोड़ दिया गया। वहीं सुमेरपुर विकासखंड परिसर में मतदान शुरू होते ही सबसे पहले भाजपा समर्थित प्रत्याशी पूजा सिंह 11 बीडीसी सदस्यों के साथ मतदान को पहुंची। वहीं बाद में सपा समर्थित प्रत्याशी जयनरायन सिंह यादव अपने समर्थक बीडीसी सदस्यों के साथ मतदान को जा रहे थे। तभी हाईवे में श्री गायत्री विद्यामंदिर इंटर कॉलेज के पास मौजूद भाजपा समर्थकों से सपा समर्थकों की झड़प होने लगी। कुछ ही देर में दोनों पक्षों में जमकर लाठी डंडे चलने लगे। जिसमें सपा प्रत्याशी की स्कॉर्पियो व भाजपा समर्थक की कार क्षतिग्रस्त हो गई। इसके अलावा सपा प्रत्याशी जयनरायन व उनके बीडीसी भाई राजनारायन के भी चोटें आई। वहीं पुलिस मामले को शांत कराने में जुटी रही। बाद में समझाने के बाद दोनों पक्ष शांत हो गए। सपा समर्थकों को जहां तपोभूमि के पास रोक दिया गया। वहीं भाजपा समर्थक गायत्री विद्या मंदिर इंटर कॉलेज के सामने डटे रहे। इसके साथ ही सपा प्रत्याशी व उनके भाई को मतदान परिसर में प्रवेश कराया गया। हालांकि अभी भी माहौल तनावपूर्ण बना हुआ है।ब्लाक प्रमुखों के चुनाव के मतदान के दौरान प्रदेश में अतिरिक्त सतर्कता के निर्देश दिए गए हैं। नामांकन के दौरान हुई हिंसा के बाद अब हर जगह पुलिस प्रशासन चौकन्ना है। जिलों में वरिष्ठ अधिकारियों को भी फील्ड में मुस्तैद रहने के निर्देश है। अतरिक्त पीएसी भी तैनात की गई है। आज मतगणना पूरी होने तक पुलिस के लिए शांति व्यवस्था बनाये रखने की अग्निपरीक्षा होगी। ब्लाक प्रमुख के चुनाव की नामांकन तथा नाम पवासी प्रक्रिया के दौरान उत्तर प्रदेश में हिंसा, फायरिंग और पथराव के बीच में अब मतदान की बारी है। सूबे के हर ब्लाक में शनिवार को भारी सुरक्षा के बीच क्षेत्र पंचायत सदस्य ब्लाक प्रमुख चुनने के लिए मतदान करेंगे। बीते दिनों सपा व भाजपा समर्थकों की झड़प के बाद आज पीएसी की अतिरिक्त फोर्स भी हर ब्लाक में तैनात की गई है। हर ब्लाक पर सुरक्षा की जिम्मेदारी सीओ को सौंपी गई है।प्रमुखों क्षेत्र पंचायत (ब्लाक प्रमुख) के 825 पदों में से शुक्रवार को नामांकन वापसी के बाद 349 प्रमुखों क्षेत्र पंचायत निर्विरोध निर्वाचित घोषित कर दिए गए। इनमें से 334 से ज्यादा भाजपा के हैं। अब 476 पदों के लिए आज मतदान होगा। राज्य निर्वाचन आयुक्त मनोज कुमार ने बताया कि 825 प्रमुखों क्षेत्र पंचायत पदों के लिए कुल 1778 नामांकन गुरुवार को किए गए थे। जांच में कमियां मिलने पर 68 नामांकन रद कर दिए गए। इसी बीच 187 उम्मीदवारों ने अपना नामांकन वापस ले लिया। नाम वापसी के बाद जिन 349 पदों पर एक ही प्रत्याशी रह गया वहां संबंधित प्रत्याशी को निर्विरोध निर्वाचित घोषित कर दिया गया।

निर्विरोध निर्वाचित प्रमुखों में 334 से ज्यादा भाजपा के;-भाजपा के प्रदेश महामंंत्री जेपीएस राठौर ने बताया कि निर्विरोध निर्वाचित ब्लाक प्रमुखों में 334 से ज्यादा भाजपा के हैं। पार्टी की ओर से पंचायत चुनाव का दायित्व संभाल रहे राठौर के मुताबिक जिला पंचायत अध्यक्ष की तरह प्रमुखों क्षेत्र पंचायत के पदों पर भी भाजपा का शानदार प्रर्दशन रहेगा। जिन पदों के लिए शनिवार को मतदान है, उनमें से भी ज्यादातर पर भाजपा ही जीत हासिल करेगी। 

नई दिल्‍ली/मॉस्‍को। भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर तीन दिनों की रूस की यात्रा पर थे। भारतीय विदेश मंत्री का यह दौरा भारत-रूस साझेदारी से इतर दोनों देशों के बीच सामरिक साझेदारी को और मजबूत करने का एक अवसर भी है। खास बात यह है कि विदेश मंत्री का यह दौरा ऐसे समय हो रहा है, जब भारत और चीन के रिश्‍ते काफी तल्‍ख है। पूर्वी लद्दाख में भारत-चीन के बीच सैन्‍य तनाव बना हुआ है। यह बात तब और अहम हो जाती है, जब चीन और रूस के बीच संबंध बेहद मधुर है। दूसरे, पाकिस्‍तान से भी अब रूस के संबंध पूर्व की तरह नहीं हैं। रूस और पाकिस्‍तान की निकटता बढ़ रही है। दोनों देशों के बीच सामरिक रिश्‍ते मजबूत हो रहे हैं। यह भारत के लिए चिंता का विषय है।

रूस के साथ नए संबंधों की तलाश में भारत

Page 7 of 565

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें

data-ad-type="text_image" data-color-border="FFFFFF" data-color-bg="FFFFFF" data-color-link="0088CC" data-color-text="555555" data-color-url="AAAAAA">