Editor

Editor

नई दिल्ली। श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने लंका प्रीमियर लीग के आगाज सत्र के लिए कमर कस ली है। लंका प्रीमियर लीग यानी LPL T20 लीग के पहले मैच के साथ श्रीलंका की सरजमीं पर भी प्रोफेशनल क्रिकेट की शुरुआत हो जाएगी। इस टी20 लीग का पहला मैच गुरुवार 26 नवंबर को खेला जाना है। लंका प्रीमियर लीग के आगाज सत्र के पहले मैच में कोलंबो किंग्स का सामना कैंडी टस्कर्स टीम से होना है।श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने भारत और तमाम अन्य देशों की तरह अपने यहां भी टी20 लीग की शुरुआत कराने का फैसला किया है। इसी के तहत लंका प्रीमियर लीग की नींव रखी गई है। इस टी20 लीग के पहले संस्करण में पांच टीमें हिस्सा ले रही हैं। गुरुवार 26 नवंबर से शुरू हो रहे इस टूर्नामेंट के पहले मैच में तीन भारतीय खिलाड़ी भी आपको खेलते हुए नजर आ सकते हैं। कोलंबो किंग्स और कैंडी टस्कर्स के बीच ये मुकाबला भारतीय समय के अनुसार रात 8 बजे से खेला जाना है।LPL 2020 में कोलंबो किंग्स की ओर से एक और कैंडी टस्कर्स टीम की ओर से दो भारतीय खिलाड़ी इस मैच में और टूर्नामेंट के आगाज सत्र के आगाज मैच में खेल सकते हैं। कैंडी की टीम के लिए ऑलराउंडर इरफान पठान और मीडियम पेसर मुनफ पटेल प्लेइंग इलेवन का हिस्सा हो सकते हैं, जबकि कोलंबो की टीम में मनप्रीत गोनी को शामिल किया जा सकता है। एलपीएल में कुल चार भारतीय खिलाड़ी खेल रहे हैं, जिसमें एक नाम सुदीप त्यागी का भी है।कैंडी टस्कर्स टीम के कप्तान विकेटकीपर बल्लेबाज कुसल परेरा हैं, जबकि कोलंबो किंग्स की कप्तानी एंजलो मैथ्यूज करने वाले हैं। कोलंबो की टीम में वेस्टइंडीज के तूफानी ऑलराउंडर आंद्रे रसेल भी शामिल हैं। अब देखना ये है क्या उनको प्लेइंग इलेवन में जगह मिल सकती है या नहीं। इस मैच को आप टीवी पर सोनी सिक्स चैनल पर देख सकते हैं, जबकि लाइव स्ट्रीमिंग के लिए आपको सोनी लिव एप पर लॉग इन करना होगा। सभी मैच हंबनटोटा में खेले जाएंगे। 

नई दिल्ली। वरिष्ठ उद्योगपति रतन टाटा ने गुरुवार को मुंबई हमले की बरसी पर मुंबई के लोगों की एकता, दयालुता व उनकी संवेदनशीलता को याद किया और कहा कि इस भावना को भविष्य में भी बनाए रखना चाहिए। आज मुंबई हमले की बरसी है। 26 नवंबर 2008 की वो रात भारत कभी नहीं भूल सकता है, जब पाकिस्‍तान के दस आतंकियों ने भारत की आर्थिक राजधानी मुंबई की सड़कों पर खूनी खेल खेला था। रतन टाटा ने ट्विटर पर ताज होटल की फोटो शेयर करते हुए उस घटना को याद किया।रतन टाटा ने लिखा, ''आज से बारह वर्ष पहले जो घटना घटी, उसे कभी भुलाया नहीं जा सकेगा। लेकिन जो अधिक यादगार है, वो ये कि उस दिन आतंकवाद और विनाश को खत्‍म करने के लिए मुंबई के लोग सभी मतभेदों को भुलाकर एक साथ आए थे। हमने जिनको खोया, जिन्‍होंने दुश्‍मन पर जीत पाने के लिए कुर्बानियां दीं, आज हम जरूर उनका शोक मना सकते हैं, लेकिन हमें उस एकता, दयालुता के उन कृत्‍यों और संवदेनशीलता की भी सराहना करनी होगी, जिसे हमें हमेशा बरकरार रखना चाहिए।"साथ ही टाटा ने इंस्‍टाग्राम पर लिखा क‍ि जिन लोगों ने दुश्‍मन पर जीत पाने में मदद की, हम उनके बलिदान को हमेशा याद रखेंगे। उन्होंने कहा कि हमें अपनी एकता को संभालकर रखने की आवश्यकता है।कुछ इसी तरह महिंद्रा एंड महिंद्रा के अध्यक्ष आनंद महिंद्रा ने भी अपनी भावनाएं ट्विटर पर साझा की। उन्होंने लिखा, 'मुंबईवासी 26/11 की रात को कभी नहीं भूल सकते, जब चारों ओर अनिश्चितता और असुरक्षा फैली हुई थी। मुझे लग रहा था, जैसे शहर और देश पर आक्रमण हो रहा था। लेकिन हफ्ते के अंत तक हम नेल्सन मंडेला के इस कोट के अनुसार जीवन को पटरी पर ला चुके थे, कि..मुंबई और भारत ने विजय प्राप्त की..'

नई दिल्ली। केंद्रीय ट्रेड यूनियनों द्वारा बुलाई गई एक दिवसीय राष्ट्रव्यापी हड़ताल में कुछ बैंक यूनियनों के शामिल होने से गुरुवार को देशभर के सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में बैंकिंग कामकाज आंशिक रूप से प्रभावित हुआ है। सरकारी क्षेत्र के बैंकों में विदेशी और सरकारी लेनदेन व ब्रांचों में निकासी व जमा सहित नकद लेनदेन प्रभावित हुआ है। यह उन जगहों पर अधिक है, जहां हड़ताल में भाग लेने वाली यूनियनें मजबूत हैं। हालांकि, भारतीय स्टेट बैंक और निजी क्षेत्र के बैंकों में काम हो रहा है।भारतीय मजदूर संघ को छोड़कर दस केंद्रीय ट्रेड यूनियनें विभिन्न सरकारी नीतियों के विरोध में राष्ट्रव्यापी हड़ताल कर रही हैं। बैंक ऑफ महाराष्ट्र सहित कई कर्जदाताओं ने पहले ही ग्राहकों को सूचित कर दिया था कि हड़ताल के कारण ब्रांचों और कार्यालयों में सामान्य कामकाज बाधित रह सकता है।ऑल इंडिया बैंक इम्प्लॉइज एसोसिएशन (AIBEA), ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन (AIBOA) और बैंक इम्प्लॉइज फेडरेशन ऑफ इंडिया (BEFI) इस हड़ताल में भाग ले रही हैं। इसके अलावा ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कन्फेडरेशन (AIBOC) ने भी हड़ताल को समर्थन दिया है।एआईबीईए (AIBEA) ने एक बयान में कहा, 'कारोबार सुगमता के नाम पर लोकसभा ने हाल में तीन नए श्रम कानून पारित किए हैं। यह पूरी तरह से कॉरपोरेट के हित में है। करीब 75 फीसद कर्मचारियों को श्रम कानूनों के दायरे से बाहर कर दिया गया है और नए कानूनों के तहत उनके पास कोई विधिक संरक्षण नहीं है।'दस केंद्रीय ट्रेड यूनियनों इंडियन नेशनल ट्रेड यूनियन कांग्रेस (इंटक), ऑल इंडिया ट्रेड यूनियन कांग्रेस (एटक), हिंद मजदूर सभा (एचएमएस), सेंटर फार इंडियान ट्रेड यूनियंस (सीटू), ऑल इंडिया यूनाइटेड ट्रेड यूनियन सेंटर (एआईयूटीयूसी), ट्रेड यूनियन को-ऑर्डिनेशन सेंटर (टीयूसीसी), सेल्फ-इम्प्लॉइड वुमेन्स एसोसिएशन (सेवा), ऑल इंडिया सेंट्रल काउंसिल ऑफ ट्रेड यूनियंस (एआईसीसीटीयू), लेबर प्रोग्रेसिव फेडरेशन (एलपीएफ) और यूनाइटेड ट्रेड यूनियन कांग्रेस (यूटीयूसी) ने इस हड़ताल को बुलाया है।

बॉलीवुड स्टार करीना कपूर खान (Kareena Kapoor Khan) अपनी दूसरी प्रेग्नेंसी को इस वक्त जमकर एन्जॉय कर रही हैं। अदाकारा इन दिनों कैमरे की लाइमलाइट से दूर हैं और फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ की शूटिंग पूरी कर एक्ट्रेस अपना वक्त फैमिली संग बिता रही हैं। इस बीच अदाकारा करीना कपूर खान ने सोशल मीडिया पर अपनी कुछ लेटेस्ट तस्वीरें और एक वीडियो शेयर किया है। इन तस्वीरों और वीडियो में अदाकारा अपने बेटे तैमूर अली खान (Taimur Ali Khan) के साथ मिलकर मिट्टी के बर्तन बनाती हुई दिख रही हैं। इन तस्वीरों में तैमूर अली खान और करीना कपूर खान के चेहरे की खुशी देखते ही बन रही है। ये तस्वीरें सामने आते ही सोशल मीडिया पर वायरल होनी शुरू हो गई है।शेयर की गई तस्वीर में बेबो और टिम मियां सर्दी के कपड़ों से पूरी तरह लैस होकर अपने हाथों से मिट्टी के बर्तन बनाने का लुत्फ उठा रहे हैं। इन तस्वीरों को शेयर करने के साथ ही एक्ट्रेस ने एक बेहद प्यारा वीडियो भी शेयर किया है। जिस पर से यकीन मानिए... आपकी निगाह हटने नहीं वाली है।

इस महीने खुशखबरी सुनाएंगे सैफ-करीना;-बता दें कि करीना कपूर खान इस वक्त अपनी प्रेग्नेंसी के तीसरे ट्राइमिस्टर में हैं। वो अगले साल की शुरुआत में ही अपने दूसरे बच्चे को जन्म देने वाली हैं। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो एक्ट्रेस फरवरी 2021 में दोबारा मां बनेंगी। सैफ अली खान और करीना कपूर खान ने बीते दिनों ही इस बात का ऐलान अपने सोशल मीडिया एकाउंट से किया था कि वो दूसरे बच्चे के पैरेंट्स बनने वाले हैं।

कोरोना वायरस महामारी के समय में सभी के पास खाली समय है। इस समय का उपयोग कैसे करना है किसी को समझ नहीं आ रहा है। अगर एंटरटेनमेंट जगत से जुड़े सितारों की बात करें तो वो भी ऐसे ही लोगों में ही शामिल हैं, इसलिए कोई छुट्टियां मनाने विदेश जा रहा है तो कोई इंटरनेट पर अपनी बोल्ड तस्वीरें शेयर करके फैंस की धड़कनें बढ़ा रहा है।टीवी इंडस्ट्री की जानी-मानी अदाकारा आशा नेगी (Asha Negi) इंटरनेट हिलाने वालों में से एक हैं। आशा नेगी की तस्वीरें इंटरनेट पर जमकर वायरल होती हैं लेकिन आज उन्होंने जो तस्वीर फैंस के साथ शेयर की है, जिसने तो फैंस के दिलों को बेकरार कर दिया है। आशा नेगी ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर टॉपलेस तस्वीर शेयर की है, जिसमें वो बेहद बोल्ड नजर आ रही हैं। आशा नेगी की इस मिरर सेल्फी को फैंस से भी जबरदस्त रिस्पांस मिल रहा है। कुछ घंटे पहले शेयर की गई इस तस्वीर पर कुछ ही घंटों में लाखों लाइक्स आ चुके हैं और फैंस लगातार कमेंट करके आशा नेगी के हुस्न की तारीफ कर रहे हैं।आम लोगों के साथ-साथ टीवी इंडस्ट्री के सितारे भी आशा नेगी की खूबसूरती की सराहना कर रहे हैं। आशा नेगी की तस्वीर पर किश्वर मर्चेंट ने कमेंट करते हुए लिखा है, 'हॉटनेस...।' तो वहीं राघव जुयाल ने इस तस्वीर के चलते आशा नेगी की टांग खींच डाली है। राघल जुयाल ने आशा नेगी की तस्वीर पर कमेंट करते हुए लिखा है, 'पीछे से तो ठंड घुस रही होगी। चलो जल्दी से चुस्ती पहन लो...टीवी अदाकारा आशा नेगी को जी टीवी के सुपरहिट धारावाहिक 'पवित्र रिश्ता' से दर्शकों के बीच पहचान मिली थी। इस सीरियल में वो सुशांत सिंह राजपूत और अंकिता लोखंडे की बेटी का किरदार निभाती थीं। आशा नेगी को इस शो ने टीवी का सुपरस्टार बना दिया था। इसी शो के दौरान आशा नेगी की मुलाकात रित्विक से हुई थी, जिनसे उनका कुछ दिनों पहले ब्रेकअप हुआ है।

बॉलीवुड अभिनेता आमिर खान (Aamir Khan) की बेटी इरा खान (Ira Khan) अपने फैशन सेंस और स्टाइलिश अंदाज के लिए जानी जाती हैं। इरा भले ही अपने पिता की तरह फिल्मी दुनिया में एक्टिव नहीं हैं। इसके बावजूद वो अपनी पर्सनल लाइफ के चलते लगातार चर्चा में रहती हैं। इरा खान पिछले काफी लंबे समय से मिशाल कृपलानी को डेट कर रही हैं। लगभग दो साल तक मिशाल के साथ रिलेशनशिप में रहने के बाद दोनों ने 2019 में अपने रिश्ते को खत्म कर दिया। रिलेशनशिप खत्म करने के बाद इरा ने अपना सारा ध्यान डायरेक्शन की तरफ लगाया। हालांकि इस बीच चर्चा यह है कि इरा खान को एक बार फिर अपना प्यार मिला है।पिंकविला की एक रिपोर्ट्स के मुताबिक, इरा खान एक फिर रिलेशनशिप में हैं। इस बीच इरा ने अपने रिलेशनशिप को काफी सीक्रेट रखा है। आमिर खान की बेटी इरा पिछले छह महीनों से अपने पिता आमिर खान के फिटनेस कोच नुपुर शिखर (Nupur Shikhare) को डेट कर रही हैं। जाहिरा तौर पर इस लॉकडाउन के दौरान जब इरा खान ने अपनी बॉडी पर काम करने के बारे में सोचा तभी दोनों एक दूसरे के करीब आए थे। उन्होंने महाबलेश्वर में इरा खान के फार्महाउस में एक-दूसरे के साथ छुट्टियां मनाई हैं। उन्होंने अपने करीबी दोस्तों के साथ मिलकर लगभग सभी त्योहार मनाए। इरा ने नुपुर शिखर अपनी मां रीना दत्ता से भी मिलवाया। सूत्रों के यह भी मनना है कि इरा और नुपुर शिखर एक दूसरे के लिए काफी सीरियस भी हैं।हालांकि इस बारे में पोर्टल ने इरा खान से संपर्क करने की कोशिश कि तो वो इस पर कमेंट करने के उपलब्ध नहीं थी। नुपुर शिखर के बारे में बात करें तो, वह फिटनेससिस्म के फाउंडर होने के साथ साथ एक फिटनेस एक्सपर्ट और कंसलटेंट भी है। वो भारत की पहली मिस यूनिवर्स सुष्मिता सेन और बॉलीवुड अभिनेता आमिर खान के पर्सनल ट्रेनर भी हैं। इस बीच फैंस उम्मीद कर रहे हैं कि इरा और नुपुर जल्द ही अपने रिश्ते को ऑफिशियल करेंगे।

चंडीगढ़। पंजाब सरकार ने राज्‍य में कोरोना वायरस से संक्रमण के मामले बढ़ने के मद्देनजर बुधवार को बड़ा कदम उठाने की घोषणा की। राज्‍य के मुख्‍यमंत्री कैप्‍अन अमरिंदर सिंह ने ऐलान किया कि पंजाब में शहरों और नगरों में नाइट कर्फ्यू  लगाया जाएगा। यह 1 दिसंबर से लागू होगा। यह रात 10 बजे से संब पांच बजे तक लागू रहेगा। उन्‍होंने कोरोना के दूसरी लहर के खतरे को देखते हुए चरणबद्ध ढंग से लागू किए जाने वाली पाबंदियों की भी जानकारी दी।इसके साथ ही राज्‍य सरकार ने मास्‍क नहीं पहनने और शारीरिक दूरी का पालन नहीं करने पर लगने वाले जुर्माने की राशि भी दोगुनी कर दी है। इसके साथ ही होटल और रेस्‍टोरेटों के लिए भी पाबंदी लगाई गई है। ये रात 9.30 बजे तक ही खुल सकेंगे।

राज्‍य के शहरी क्षेत्रों में रात 10 बजे से सुब‍ह पांच बजे तक रहेगा नाइट कर्फ्यू;-बता दें कि दिल्‍ली-एनसीआर में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ने के साथ ही पंजाब में भी कोरोना के केस बढ़ रहे हैं और इससे लोगों की मौतें हो रही हैं। ऐसे में कोरोना संक्रमण के दूसरे चरण का खतरा बढ़ गया है। मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने बुधवार को कहा कि दिल्ली-एनसीआर में कोरोना वायरस कोविड-19 (Covid-19) से दोबारा की स्थिति गंभीर हो गई है और पंजाब में भी दूसरी लहर की आशंका है।

मास्‍क न पहनने और शारीरिक दूरी का पालन न करने पर अब 1000 रुपये जुर्माना;-कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बुधवार को राज्य में नए प्रतिबंधों का आदेश दिया। उन्‍होंने कहा कि सभी शहरों और शहरों में रात के कर्फ्यू को फिर से लागू किया जाएगा। यह 1 दिसंबर से लागू होगा। इसके साथ ही लोगों को मास्क पहनने या शारीरिक दूरी के मानदंडों का पालन करना होगा। इसका उल्‍लंघन करने पर लगने वाले जुर्माने की राशि अब 500 रुपये के बदल 1000 रुपये होगी।मुख्‍यमंत्री ने कहा कि 15 दिसंबर को हालत की समीक्षा की जाएगी। मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने सभी होटलों, रेस्तरांओं और मैरिज पैलेसों के लिए भी पाबंदी की घोषणा की। उन्‍होंने कहा कि होटल, रेस्‍टोरेंट और मैरिज पैलेस रात 9.30 बजे तक ही खुले रह सकेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि लोगों को हर हाल में काेरोना को लेकर जारी गाइडलाइन और उपायों का पालन करना होगा। लापरवाही बरतने वालों को किसी हालत में बख्‍शा नहीं जााएगा।एक सरकारी प्रवक्‍ता ने बताया कि राज्‍य में कोरोना के संक्रमण काे फैलने से रोकने के उपायों को सख्‍ती से लागू करने के लिए जुर्माने की राशि बढ़ाई गई है। मास्‍क नहीं पहनने और शारीरिक दूरी का पालन नहीं करने पर अब 500 रुपये की जगह 1000 रुपये जुर्माना लगेगा।प्रवक्‍ता ने कहा कि दिल्ली से पंजाब में इलाज के लिए कोरोना वायरस के मरीजों की बड़ी संख्‍या को देखते हुए अस्‍पतालों में स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं को बेहतर और व्‍यापक बनाने का फैसला किया गया है। राज्य में सरकारी के साथ निजी अस्पतालों में बेड उपलब्धता की समीक्षा और इसे बढ़ाने का  भी निर्णय लिया गया है। मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव विनी महाजन को संबंधित विभागों के साथ काम करने और निजी अस्पतालों को कोरोना मरीजों के लिए इलाज के लिए व्‍यवस्‍था करने को प्रोत्साहित करने को कहा गया है।

नई दिल्‍ली। केंद्रीय कैबिनेट की बुधवार को हुई बैठक में कई अहम फैसले लिए गए। इसकी जानकारी केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में दी। प्रकाश जावड़ेकर ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित कर कैबिनेट बैठक में लिए गए फैसलों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में कैबिनेट और आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति (CCEA) की बैठक में कई अहम निर्णय लिए गए। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार का जोर आत्मनिर्भर भारत को बढ़ावा देने का है। इसके लिए पूंजी जुटाने के लिए अब डेट मार्केट का फायदा उठाया जाएगा।बैठक में नेशनल इन्वेस्टमेंट एंड इन्फ्रास्ट्रक्चर फंड (NIIF) में निवेश, संकटग्रस्त लक्ष्मी विलास बैंक के DBS बैंक इंडिया लिमिटेड (DBIL) में विलय के प्रस्ताव समेत कई अन्‍य फैसलेे को मंजूरी मिली है।

जानें बैठक में लिए गए फैसले-

- नेशनल इन्वेस्टमेंट एंड इन्फ्रास्ट्रक्चर फंड (NIIF) में 6,000 करोड़ रुपये के निवेश की कैबिनेट की ओर से बुधवार को मंजूरी दी गई। इस रकम का निवेश अगले दो साल में होगा। इससे इन्फ्रास्ट्रक्चर विकास के लिए बॉन्ड मार्केट के द्वारा 1 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा रकम जुटाई जा सकेगी।

- संकटग्रस्त लक्ष्मी विलास बैंक के DBS बैंक इंडिया लिमिटेड (DBIL) में विलय के प्रस्ताव पर भी मुहर लगा दी गई।

- टेलीकॉम सेक्टर में एटीसी में एफडीआई को भी मंजूरी मिली, 2480.92 करोड़ से ज्यादा के विदेशी निवेश को सीसीईए की मंजूरी।

- कैबिनेट ने इंस्‍टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंट्स ऑफ इंडिया (ICAI) और नीदरलैंड की वेरेनाइजिंग वैन रजिस्‍टर कंट्रोलर्स  (VRC) के बीच सहमति पत्र ( Memorandum of Understanding) को भी अपनी मंजूरी दे दी है। 

रिजर्व बैंक ने दिए थे बैंकों के विलय के आदेश:-बता दें कि रिजर्व बैंक ने लक्ष्मी विलास बैंक के DBS बैंक में विलय के आदेश दिए थे। ATC Telecom Infra में 2480 करोड़ के प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) को भी कैबिनेट ने मंजूरी दी है। टाटा समूह की कंपनी एटीसी के 12 फीसदी शेयर एटीसी पैसिफिक एशिया ने लिए हैं। 17 नवंबर को भारतीय रिजर्व बैंक ने दक्षिण भारत के लक्ष्मी विलास बैंक को एक महीने के मोरेटोरियम पर डाल दिया था। रिजर्व बैंक ने  बैंक को आदेश दिया था कि अगले एक महीने तक बैंक से कोई भी ग्राहक 25 हजार रुपये से ज्यादा नहीं निकाल पाएगा। रिजर्व बैंक के इस फैसले का असर बैंक के शेयरों पर दिख रहा है। 

रांची। बिहार चुनाव के दौरान जेल से राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव द्वारा राजनीति करने की बात उठाई थी। चुनाव भले ही बिहार में हो रहा था, लेकिन उसका कंट्रोल रिम्स के केली बंगले से हो रहा था। इस पर पुख्‍ता मुहर मंगलवार की देर रात लगी, जब बिहार के ही पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने इससे सबंधित ट्वीट किया। इस ट्वीट से बवाल मच गया और राजनीतिक सियासत गर्म हो गई। हालांकि दैनिक जागरण के फोटोग्राफर ने बिहार चुनाव के रिजल्‍ट के दिन भी बंगले से ऐसे फोटो क्लिक किए थे, जिसमें लालू प्रसाद मोाबाइल पर बात कर रहे थे।बुधवार को एक ऑडियो भी वायरल हुआ है। इसमें एनडीए के विधायक ललन पासवान से बात करते हुए लालू प्रसाद की आवाज़ सुनाई दे रही है। उन्होंने विधायक को स्पष्ट शब्दों में कहा कि बिहार विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव में एबसेंट हो जाएं, फिर राजद उनके लिए बहुत कुछ करेगा। दोनों की बातचीत के बाद रात से ही राजनीतिक हलचल बढ़ गई है। बताया जा रहा है कि जिस मोबाइल से राजद सुप्रीमो ने बिहार में एनडीए के विधायक से बात की थी, वह उनके सेवादार नंबर 1 इरफान अंसारी का है। इरफान ने ही विधायक के पीए से बात कर लालू से उनकी बात करवाई थी। करीब 2 मिनट तक दोनों के बीच दो कॉल में बात हुई है।

इरफान अंसारी को लालू की सिफारिश में मिला है राजद प्रदेश महासचिव का दायित्व;-रिम्स में लालू प्रसाद के तीन सेवादार हैं। इसमें इरफान अंसारी का स्थान पहले नंबर पर है। सूत्रों के अनुसार लालू प्रसाद, इरफान अंसारी को बिहार में सरकार बनने के बाद एमएलसी बनाना चाहते थे। उनकी ही सिफारिश के बाद इरफान अंसारी को पार्टी में झारखंड प्रदेश का महासचिव बनाया गया था।जेल से सेवादार के रूप में अधिकृत इस महासचिव के कंधे पर ना ही लालू प्रसाद की सेवा का जिम्मा है, बल्कि बाहर के काम की व्‍यवस्‍था भी इरफान ही करते हैं। लालू प्रसाद से कौन मुलाकात करेगा, किसकी चिट्ठी अंदर जाएगी, कौन मोबाइल से बात करेगा, इरफान ही इन सारी चीजों को तय करने का काम करता है। जेल प्रशासन को जानकारी होने के बाद भी कभी कोई कार्रवाई नहीं की गई।

तीन सेवादारों के मोबाइल से लालू करते हैं बात, ट्विटर पर भी मॉनिटरिंग;-लालू प्रसाद अपने तीनों सेवादारों के मोबाइल से बात करते हैं। दैनिक जागरण ने कई बार इसकी फोटो भी प्रकाशित की है जो उसकी गवाही देती है। केली बंगले के सूत्रों ने दावा किया है कि असगर नामक सेवादार के मोबाइल से भी राजद सुप्रीमो बात करते हैं। यही नहीं, स्मार्टफोन से ट्विटर की गतिविधियों पर भी नजर रखते हैं। जेल प्रशासन हर सप्ताह बंगले का निरीक्षण करता है, लेकिन कभी उन्हें मोबाइल नहीं मिला। आज भी जेल प्रशासन निरीक्षण करने वाला है।

कैदी के पास किसी भी हाल में नहीं पहुंच सकता मोबाइल;-लालू के ऑडियो को लेकर जेल आइजी बीरेंद्र भूषण ने कहा कि यह जिम्मेदारी जेल अधीक्षक की है कि कोई कैदी नियम नहीं तोड़े। किसी भी सूरत में कैदी के पास मोबाइल नहीं पहुंच सकता है। एक बार शिकायत मिलने पर पेइंग वार्ड में छापेमारी भी की गई थी। तब लालू यादव के पास मोबाइल नहीं मिला था। अगर अभी वे मोबाइल से बात कर रहे हैं तो यह नियमों के खिलाफ है।

पटना।बिहार के संसदीय इतिहास में अरसे बाद विधानसभा अध्यक्ष पद का आज चुनाव हुआ है। प्रोटेम स्‍पीकर जीतन राम मांझी ने विजय कुमार सिन्‍हा के बिहार विधान सभा के स्‍पीकर पद पर निर्वाचित होने की घोषणा की । राजग प्रत्याशी विजय कुमार सिन्हा बिहार विधानसभा के नए अध्यक्ष चुने गए हैं। बुधवार को भारी हंगामे और शोर-शराबे के बीच प्रोटेम स्पीकर जीतन राम मांझी ने पक्ष और विपक्ष के विधायकों को खड़ा कर मत विभाजन किया। 243 सदस्यों वाली विधानसभा में राजग उम्मीदवार विजय सिन्हा के पक्ष में 126 विधायकों खड़े होकर अपना समर्थन दिया। महागठबंधन के प्रत्याशी अवध बिहारी चौधरी के समर्थन में 114 विधायक खड़े हुए। प्रोटेम स्पीकर जीतन राम मांझी द्वारा विजय सिन्हा के अध्यक्ष चुने जाने की घोषणा के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव नए अध्यक्ष को आसन तक ले गए और उन्हें पदभार ग्रहण कराया।

पहले ध्वनि मत से पूरी की गई थी चुनाव प्रक्रिया : विधानसभा की कार्यवाही बुधवार को अपने निर्धारित समय 11 बजे प्रारंभ हुई। चार सदस्यों के शपथ ग्रहण के बाद विधानसभा अध्यक्ष पद की चुनाव प्रक्रिया प्रारंभ हुई। पहले वॉयस वोटिंग कराई गई लेकिन, विपक्ष गुप्त मतदान पर अड़ा रहा। प्रोटेम स्पीकर मांझी ने साफ कर दिया कि संविधान में गुप्त मतदान के प्रावधान नहीं। अलबत्ता मांझी ने मत विभाजन से चुनाव कराने की मंजूरी जरूरी दी।

सदन के सदस्य नहीं रहने पर बवाल:-मत विभाजन से चुनाव प्रारंभ होते इसके पूर्व घंटी बजाकर सदन के बाहर रह गए सदस्यों को अंदर बुला लिया गया। चुनाव की प्रक्रिया शुरू होते ही नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, मंत्री अशोक चौधरी और मुकेश सहनी की मौजूदगी पर सवाल खड़े कर दिए। हंगामा बढ़ता देख प्रोटेम स्पीकर को सभा की कार्रवाई पांच मिनट के लिए स्थगित करनी पड़ी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार विधानसभा नहीं, विधान परिषद के सदस्य हैं, जबकि चौधरी और साहनी न विधानसभा के सदस्य हैं न ही विधान परिषद के।

मत विभाजन से हुआ फैसला;-पांच मिनट के बाद सदन की कार्यवाही दोबारा शुरू हुई। प्रोटेम स्पीकर ने हंगामा करने वाले सदस्यों को समझा बुझाकर उनके स्थान पर वापस भेजा और मत विभाजन से चुनाव की प्रक्रिया शुरू हुई। पहले सत्तापक्ष के विधायक अपने स्थान पर खड़े हुए इसके बाद विपक्ष के। बारी-बारी से दोनों बेंच के सदस्यों की गिनती की गई और प्रोटेम स्पीकर ने राजग के प्रत्याशी विजय कुमार सिन्हा को विजयी घोषित किया।

पक्ष-विपक्ष ने दी नए अध्यक्ष को बधाई : विजय कुमार सिन्हा के अध्यक्ष बनने पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद, रेणु देवी, विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव, संसदीय कार्य मंत्री विजय चौधरी, कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता अजीत शर्मा, हम प्रमुख जीतन राम मांझी, मंत्री मुकेश सहनी ने उन्हें बधाई दी।

Page 6 of 1565

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें