Editor

Editor

बिग बॉस की एक्स कंटेस्टेंट रह चुकीं सना खान (Sana Khan) इन दिनों मेल्विन लुइस (Melvin Louis) से अपने ब्रेकअप को लेकर चर्चा में हैं। हाल ही में सना खान ने डांसर और कोरियोग्राफर मेलविन लुईस से ब्रेकअप कर लिया है। पिछले काफी लंबे समय से दोनों एक दूसरे के साथ रिलेशनशिप में थे। दोनों की जोड़ी उनके फैंस को भी काफी पसंद आती थी। ब्रेकअप से पहले सना खान (Sana Khan) अक्सर एक्स बॉयफ्रेंड मेल्विन लुइस की तस्वीरें शेयर करती दिखाई देती थी। लेकिन अब जब दोनों का ब्रेकअप हो गए हैं सना खान पहली बार मेलविन लुईस से रिश्ते को लेकर खुलकर सामने आयी है।बॉलीवुड एक्ट्रेस सना खान (Sana Khan) ने स्पॉटबॉय को दिए इंटरव्यू में मेल्विन लुइस (Melvin Louis) पर आरोप लगाते हुए खुलासा किया है कि 'मैं मेल्विन लुइस के साथ पिछले एक साल से हूं। लेकिन कुछ दिनों के बाद मुझे पता चला कि वो मुझे धोखा दे रहे हैं।' दिए अपने इंटरव्यू में सना खान ने आगे कहा- 'जब वो मुझे अलग हो गए तब मैं भावनात्मक रूप से टूट चुकी थी। मुझे समझ नहीं आ रहा था कि मैं क्या करूं। ब्रेकअप के बारे में सोच सोच कर मैं डिप्रेशन और चिंता से जूझ रही हूं। लेकिन अब मैं खुद को संभाल लिया है। मैं धीरे-धीरे इससे बाहर निकल रही हूं और ठीक हो रही हूं। साथ ही अपना ख्याल रख रही हूं।' सोशल मीडिया पर मुझे कहा जा रहा हैं कि जीवन में अब आगे बढ़ जाओ मैं उनको कहना चाहती हूं कि यह इतना आसान नहीं है।'सना खान (Sana Khan) ने अपनी बात रखते हुए आगे कहा- 'धोखेबाज लोग सब कुछ कर के आगे बढ़ जाते हैं, लेकिन जो लोग सच्चा प्यार करते हैं। मुझे खुद को वक्त देना है मैं इससे बाहर निकलना चाहती हूं। मेल्विन और मैं शादी करना चाहते थे लेकिन इससे पहले हम अलग हो गए।'

 

बिग बॉस 13 (Bigg Boss 13) की शुरूआत से ही पारस छाबड़ा (Paras Chhabra) और आंकाक्षा पुरी (Akanksha Puri) का रिश्ता लोगों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है। जब पारस छाबड़ा बिग बॉस के घर के अंदर थे, तब आकांक्षा पुरी ने कई सारे विवादित बयान दिए और लोगों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया। हालांकि अब बारी पारस छाबड़ा की है क्योंकि वो बिग बॉस के घर से बाहर हैं और मीडिया के सामने अपनी बात रख सकते हैं।भाईजान के विवादित शो के खत्म होते ही पारस छाबड़ा ने आकांक्षा पुरी पर कटाक्ष करना शुरू कर दिया था और ताजा जानकारी के अनुसार उन्होंने आकांक्षा पुरी से अपना रिश्ता पूरी तरह से खत्म कर लिया है। हाल में पारस छाबड़ा ने स्पॉटबॉय से बात की है और बताया है कि, 'मुझे नहीं पता है कि वो मेरे पीछे क्या-क्या बोल रही थीं। अगर मैंने उनके परिवार से कोई वादा किया होता तो वो खुद आकर अपनी बात रखते। हालांकि उन्होंने जो इंटरव्यू दिया है, उसे देखने के बाद मैं कह सकता हूं कि अगर मैंने ऐसा कोई वादा किया होता तो मैं उनसे नहीं करता क्योंकि उन्होंने उसमें मेरे बारे में क्या-क्या नहीं बोला है ?'मीडिया से बात करने के सिलसिले में पारस छाबड़ा ने टेलीचक्कर से भी बात की थी, जिसके दौरान उन्होंने 'व्हाट इज इन योर फोन' गेम खेला, जिसमें उन्होंने बताया कि उन्होंने 506 लोगों को ब्लॉक किया हुआ है और इसमें उनकी एक्स-गर्लफ्रेंड आकांक्षा पुरी भी शामिल हैं। इसके साथ-साथ पारस छाबड़ा ने यह खुलासा भी किया कि माहिरा शर्मा उनके फोन की स्पीड डाइल पर हैं।पारस छाबड़ा जिस तरह से आकांक्षा पुरी पर बेबाकी से जवाब दे रहे हैं, उससे साफ है कि वो अपनी तरफ से यह रिश्ता खत्म कर चुके हैं। पारस छाबड़ा इस समय कलर्स चैनल के नए शो मुझे शादी करोगे का हिस्सा हैं, जिसमें वो शहनाज गिल के साथ अपने पार्टनर की तलाश कर रहे हैं।

सलमान खान (Salman Khan) के सुपरहिट टीवी शो बिग बॉस को विवादित इसीलिए कहा जाता है क्योंकि इसका हिस्सा बनने वाले प्रतियोगी कई सालों तक चौंकाने वाले कामों और बयानों के चलते खबरों में रहते हैं। अब बिग बॉस 12 की प्रतियोगी जसलीन मथारू (Jasleen Matharu) को ही ले लीजिए जो भाईजान के शो में जाने-माने भजन सिंगर अनूप जलोटा (Anup Jalota) के साथ आईं थीं और उन्होंने कहा था कि दोनों गर्लफ्रेंड-बॉयफ्रेंड हैं। हालांकि इस दावे की हवा शो होते ही निकल गई और अनूप जलोटा ने खुद कहा कि दोनों के बीच ऐसा कोई रिश्ता नहीं है।अब ये जोड़ी एक बार फिर से चर्चा में है लेकिन अपने अफेयर को लेकर नहीं बल्कि कलर्स चैनल के शो मुझसे शादी करोगे (Mujhse Shaadi Karoge) के चलते। असल में इसमें पारस छाबड़ा (Paras Chhabra) और जसलीन मथारू अपने लिए जीवनसाथियों की तलाश कर रहे हैं। शो में कई सारे लोग भाग ले रहे हैं, जिनमें से जसलीन मथारू भी एक हैं। हालांकि अनूप जलोटा को यह बात पसंद नहीं आ रही है कि उनकी शिष्या पारस छाबड़ा में अपना जीवनसाथी तलाश रही है।अनूप जलोटा ने हाल में स्पॉटबॉय से बात की है और कहा है कि जसलीन मथारू का दूल्हा तो उनके जैसा होना चाहिए। अनूप जलोटा के अनुसार, 'पारस छाबड़ा मुझे जसलीन के लिए सही लड़का नहीं लगता है। वो खुद यह बात स्वीकार कर चुका है कि उसके दो रिलेशन रह चुके हैं, ऐसे में जसलीन का उससे शादी करने का फैसला गलत है। मेरे अनुसार तो जसलीन को पारस से शादी करने के बारे में सोचना भी नहीं चाहिए। उसका पार्टनल मेरे जैसा होना चाहिए जो अपना काम शिद्दत से करे और सबसे अच्छा व्यवहार करे।' अब जसलीन मथारू, अनूप जलोटा की बात से कितनी सहमत हैं, यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा।

नई दिल्ली। हाल के कुछ वर्षों में कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) ने अपनी सेवाओं को ऑनलाइन बनाने की दिशा में कई तरह के कदम उठाए हैं। इस दिशा में विभाग ने यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (UAN) के जरिए सबसे अहम कदम उठाया था। विभाग ने इस विचार के साथ यूएएन प्रणाली को लागू किया है कि हर सब्सक्राइबर का एक अकाउंट नंबर होना चाहिए, वह कितनी भी नौकरियां बदले। ऐसे में आप जब जॉब चेंज करते हैं तो नई कंपनी आपसे UAN मांगती है ताकि आपका पुराना पीएफ नई कंपनी में ट्रांसफर किया जा सके। EPFO की ऑनलाइन सेवाओं का लाभ उठाने के लिए आपके पास यूएएन होना चाहिए।अगर आपको पीएफ की किसी भी ऑनलाइन सर्विस का लाभ उठाना है तो आपको अपना UAN नंबर मालूम होना चाहिए। ऐसे में आपको अपनी कंपनी के एचआर डिपार्टमेंट से यूएएन नंबर की जानकारी मांगनी चाहिए। हालांकि, अगर आपने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है तो EPFO के यूएएन पोर्टल के जरिए यह नंबर खुद पता लगा सकते हैं। इसके लिए आपको एक आसान प्रक्रिया को फॉलो करना होगा।
आइए जानते हैं यूएएन नंबर पता करने का स्टेप-बाय-स्टेप तरीका:
-अपने कंप्यूटर या मोबाइल के ब्राउजर पर ईपीएफओ के यूनिफाइड मेंबर पोर्टल पर लॉग ऑन कीजिए।
-वेबसाइट के दाहिने तरफ 'important links' सेक्शन में ‘Know your UAN status’ को सेलेक्ट कीजिए।
-अब अपना पीएफ अकाउंट नंबर या आधार नंबर या पैन नंबर के साथ नाम, जन्म की तारीख, मोबाइल नंबर और ईमेल आइडी प्रविष्ट करें। अगर आपको ईपीएफ मेंबर आईडी नहीं मालूम तो आप अपने सैलरी स्लीप पर देख सकते हैं।
-इन जानकारियों को डालने के बाद आपको पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा।
-ओटीपी डालने के बाद आपका यूएएन नंबर आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेजा जाएगा।
-ईपीएफओ ने इसके लिए ट्वीट कर जानकारी दी है कि कोई भी EPF Subscriber किस स्टेप को फॉलो करते हुए अपने यूएएन नंबर की जानकारी प्राप्त कर सकता है।

 

 

नई दिल्ली। भारत और मेजबान श्रीलंका के बीच तीन मैचों की वनडे इंटरनेशनल सीरीज खेली जा रही है। इस सीरीज के बाद दोनों देशों के बीच दो मैचों की अंतरराष्ट्रीय टी20 सीरीज भी खेली जाएगी। इसी टी20 सीरीज के लिए वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड ने अपनी 14 सदस्यीय टीम का ऐलान किया है, जिसमें लंबे समय बाद तूफानी ऑलराउंडर आंद्रे रसेल की वापसी हुई है।क्रिकेट वेस्टइंडीज (CWI) की चयन समिति ने श्रीलंका के खिलाफ टी20 सीरीज के लिए आंद्रे रसेल और तेज गेंदबाज ओशेन थॉमस को टीम में शामिल किया है। 31 साल के आंद्रे रसेल ने साल 2018 में अपना आखिरी टी20 इंटरनेशनल मैच खेला था, जबकि वर्ल्ड कप 2019 के बीच से वे टीम से बाहर हो गए थे, क्योंकि उनके पैर में चोट थी। 47 टी20 मैच अपनी टीम के लिए खेलने वाले रसेल वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड की मेडिकल टीम की मदद से चोट से उबर पाए हैं। मेजबान श्रीलंका और वेस्टइंडीज के बीच दो मैचों की टी20 सीरीज का पहला मैच 4 मार्च और दूसरा मैच 6 मार्च को पल्लेकल में खेला जाएगा। इन्हीं दो मैचों के लिए आंद्रे रसेल, ओशेन थॉमस और शाई होप की टीम में वापसी हुई है। इससे पहले दोनों देशों के बीच तीन मैचों की वनडे सीरीज खेली जा रही है, जिसके पहले मुकाबले में मेहमान टीम वेस्टइंडीज को एक विकेट से हार मिली है।
वेस्टइंडीज की टीम इस प्रकार है:-किरोन पोलार्ड(कप्तान), शिमरोन हेटमायर, शाई होप, ब्रैंडन किंग, निकोलस पूरन, ड्वेन ब्रावो, फैबियन एलेन, शेल्डन कॉटरेल, रोवमैन पॉवेल, आंद्रे रसेल, लेंडल सिमंस, ओशेन थॉमस, हैडेन वॉल्श जूनियर और केसरिक विलियम्स।श्रीलंकाई दौरे के बाद वेस्टइंडीज टीम के खिलाड़ी फ्री हो जाएंगे। इसके बाद ये खिलाड़ी आइपीएल 2020 की तैयारियों में जुट जाएंगे, जबकि कुछ खिलाड़ी पाकिस्तान सुपर लीग में खेलने के लिए भी जा सकते हैं। ये लीग पाकिस्तान में शुरू हो चुकी है।

 

 

लंदन। वैज्ञानिकों को साइबेरिया की जमी हुई मिट्टी से हॉ‌र्न्ड लार्क पक्षी के अवशेष मिले हैं। अनुसंधानकर्ताओं को पता चला है कि यह पक्षी 46,000 साल पुराना है। इस अध्ययन से यह पता करने में मदद मिल सकेगी कि अंतिम हिम युग के अंत में क्षेत्र में किस तरह बदलाव आए जब अधिकांश पृथ्वी बर्फ से ढकी हुई थी। कम्यूनिकेशन बायोलॉजी जर्नल में प्रकाशित अध्ययन में बताया गया है कि अंतिम हिम युग के दौरान उत्तरी यूरोप और एशिया तक फैला यह विशान मैदानी क्षेत्र अब विलुप्त हो चुकीं वूली मैमथ और वूली राइनोसरस जैसी प्रजातियों का निवास था।शोधकर्ताओं के मुताबिक, आनुवांशिक विश्लेषण से पता चलता है कि यह पक्षी उस आबादी से संबंधित है जो आज मिलने वाली हॉ‌र्न्ड लार्क की दो उप-प्रजातियों की संयुक्त पूर्वज थीं। इन दोनों उप-प्रजातियों में से एक साइबेरिया और दूसरी मंगोलिया के विशाल मैदानों में मिलती है। वैज्ञानिकों का कहना है, इस जानकारी से यह समझने में मदद मिलगी कि इस पक्षी की उप-प्रजातियां कैसे विकसित हुईं।इसके बारे में जानने के लिए इसे एक्सपर्ट निकालाज डुसेक्स और लव डेलेन को सौंप दिया था। इस खोज से जुड़ा रिसर्च जनरल कम्युनिकेशन बायोलॉजी में शुक्रवार को प्रकाशित किया गया है। जानकारों का कहना है कि साइबेरिया बेहद ठंडा इलाका है। यहां साल के अधिकतम दिन तापमान माइनस में रहता है। यही वजह रही कि इतने साल बाद भी इसके शरीर को कोई नुकसान नहीं पहुंचा।
इस पक्षी के जीनोम एनालिसिस से जानकारी मिल सकेगी:-एक्सपर्ट डेलेन ने मीडिया को बताया कि यह पक्षी वर्तमान में पाए जाने वाले लार्क पक्षियों का पूर्वज है। इसकी एक प्रजाति उत्तरी रूस और दूसरी मंगोलिया में पाई जाती है। इस खोज का निष्कर्ष यह निकला कि हिमयुग के आखिर में होने वाले जलवायु परिवर्तन के कारण पक्षियों की नई उप-प्रजातियां बन गईं।शोध के अगले चरण में पक्षी के पूरे जीनोम को शामिल किया गया है। इससे आज के लार्क पक्षियों के बारे में नई जानकारी मिल सकती है।वैज्ञानिक अभी दूसरे जानवरों के शरीर के आंतरिक और बाह्य अंगों पर काम कर रहे हैं। इनमें भेड़िया और हिरण जैसे जानवर शामिल हैं।

 

 

नई दिल्ली। निर्भया सामूहिक दुष्कर्म मामले में दोषियों के खिलाफ नया डेथ वारंट जारी करने के मामले में दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में सुनवाई खत्म हो गई है। कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है। अब निर्भया के दोषियों को तीन मार्च को फांसी होगी। दोषियों को सुबह छह बजे फांसी दी जाएगी। बता दें कि निर्भया के दोषियों को फांसी देने के लिए कोर्ट ने यह तीसरी बार वारंट जारी किया है।सुनवाई शुरू होते ही तिहाड़ जेल की तरफ से अभी तक की स्टेट्स रिपोर्ट कोर्ट में सौंप दी। विशेष लोक अभियोजक राजीव मोहन ने मामले की वर्तमान स्थिति के बारे में अदालत को अवगत कराया और कहा कि 4 दोषियों में से 3 ने पहले ही अपने कानूनी उपायों को समाप्त कर दिया है।उन्होंने कहा कि दिल्ली हाई कोर्ट ने दोषियों को सात दिन का समय दिया था और वह अवधि समाप्त हो गई है। इसके साथ ही तारीख के रूप में किसी भी अदालत में कोई याचिका लंबित नहीं है। बता दें कि निर्भया के परिजनों ने दोषियों के खिलाफ नया डेथ वारंट जारी करने के लिए कोर्ट में याचिका दायर की है।
-कोर्ट ने निर्भया के गुनगहारों को फांसी देने के मामले में फैसला सुना दिया है। अब निर्भया के दोषियों को तीन मार्च को फांसी होगी। दोषियों को सुबह छह बजे फांसी दी जाएगी।
-दोषी पवन गुप्ता के वकील ने कोर्ट को बताया कि वह सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटीशन और राष्ट्रपति के समक्ष दया याचिका दाखिल करना चाहता है।
-अक्षय के वकील ने बताया कि वह राष्ट्रपति के समक्ष नई दया याचिका दाखिल करना चाहता है।
-एक अन्य दोषी विनय के वकील ने कहा कि विनय पर अदालत में हमला किया गया और उसके सिर में चोटें आईं हैं।
-चारों दोषियों में एक मुकेश ने कोर्ट को बताया कि वह वकील वृंदा ग्रोवर की मदद नहीं लेना चाहता। इसके बाद रवि काजी को कोर्ट ने दोषी मुकेश का वकील नियुक्त किया।
-कोर्ट को बताया गया है कि दोषी विनय शर्मा भूख हड़ताल पर है। वह जेल में खाना नहीं खा रहा है। इस दौरान कोर्ट ने जेल प्रशासन को विनय का विशेष देखभाल करने का निर्देश दिया।
-दोषी मुकेश की अधिवक्ता वृंदा ग्रोवर ने अदालत को बताया कि अब वे मुकेश की वकील नही हैं। वहीं दोषी विनय के वकील ए पी सिंह ने अदालत को बताया कि विनय 11 फरवरी से भूख हड़ताल पर है।
-दोषी पवन के वकील रवि काजी ने अदालत को बताया कि वह अदालत द्वारा दिये गए सात दिन में अपनी क्यूरेटिव पिटीशन दायर नहीं कर सका क्योंकि उसके पास वकील नहीं था। आज उनकी पवन के साथ मुलाकात है और वह क्यूरेटिव पिटीशन दायर करने के लिए तैयार है।
-समाचार एजेंसी एएनआइ से बातचीत में निर्भया की मां ने कहा कि कोर्ट में सुनवाई की कई तारीखें बीत चुकी हैं लेकिन अभी तक नया डेथ वारंट जारी नहीं हुआ है। उन्होंने बताया कि वह हर सुनवाई में नई उम्मीद के साथ जातीं हैं लेकिन निराशा हाथ लगती है। दोषियों के वकील हर सुनवाई में नई रणनीति का इस्तेमाल करते हैं। दोषियों के खिलाफ नया डेथ वारंट जारी होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि वह कह नहीं सकती कि आज क्या होगा। लेकिन उन्हें उम्मीद है कि दोषियों के खिलाफ कोर्ट डेथ वारंट जारी करेगी।
-इससे पहले की सुनवाई में तिहाड़ जेल प्रशासन ने कोर्ट को बताया था कि दोषी पवन गुप्ता की तरफ से कहा गया है कि वह किसी वकील की सेवा नहीं चाहता। बता दें कि कोर्ट ने चारों दोषियों के खिलाफ दो बार डेथ वारंट जारी कर चुकी है। दोषियों की याचिकाएं पेडिंग होने की वजह से कोर्ट ने अगले आदेश तक डेथ वारंट पर रोक लगा दी थी।
-डेथ वारंट पर रोक लगाने के फैसले को गृह मंत्रालय ने हाई कोर्ट में चुनौती दी थी। केंद्र सरकार की तरफ से कोर्ट में कहा गया था कि दोषी फांसी को टालने के लिए कानून का दुरुपयोग कर रहे हैं। इसलिए निर्भया के गुनहगारों को फांसी जल्द से जल्द दिया जाना चाहिए। वहीं दोषियों के वकील ने कहा था कि जब तक उनके पास कानूनी विकल्प है तब तक कानूनी प्रक्रिया को पूरी करने के लिए समय दिया जाए।

भोपाल। ज्योतिरादित्य सिंधिया की राज्यसभा की राह रोकने के लिए अब प्रियंका कार्ड खेला जा रहा है। माना जा रहा है कि प्रियंका गांधी को मध्य प्रदेश से राज्यसभा भेजा जा सकता है। प्रियंका को राज्यसभा भेजने के सुझाव के पीछे ज्योतिरादित्य को पीछे रखने की राजनीति काम कर रही है। मुख्यमंत्री कमलनाथ और पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीच कड़वाहट के दौर में राज्यसभा चुनाव पर राजनीतिक दांवपेंच शुरू हो गए हैं।गौरतलब है कि मध्य प्रदेश से राज्यसभा की तीन सीट खाली होने वाली हैं। इनमें से दो कांग्रेस और एक भाजपा के पास जाना तय है। कांग्रेस की 2 सीटों पर पहले ही दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया और दिग्विजय सिंह दावेदार हैं। लेकिन अब हाईकमान की तरफ से प्रियंका गांधी का नाम भी चर्चा में आ रहा है। ऐसी स्थिति में तीनों दिग्गज नेता में से किसी एक को फिलहाल सदन में जाने का मौका छोड़ना पड़ सकता है। फ़िलहाल इन सीट पर दिग्विजय सिंह, प्रभात झा और सत्यनारायण जटिया सदस्य हैं।बता दें कि 2020 के आखिर तक देशभर से राज्यसभा की 68 सीटें खाली हो रही हैं, इस चुनाव में कांग्रेस कई सीटें गंवा सकती है। वहीं पार्टी की सत्ता वाले राज्यों से प्रियंका गांधी वाड्रा, ज्योतिरादित्य सिंधिया, दिग्विजय सिंह जैसे कई दिग्गजों को कांग्रेस राज्यसभा भेजने पर विचार कर रही है। मप्र में प्रियंका गांधी को राज्य सभा में भेजने की मांग भी उठ रही है। बताया जा रहा है सीएम कमलनाथ से भी दिल्ली दौरे के दौरान आलाकमान ने चर्चा की है।

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन एक्ट(सीएए) के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग में पिछले दो महीने से जारी प्रदर्शन को लेकर आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। आज सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने शाहीन बाग में सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों का पक्ष जानने के लिए दो वार्ताकार नियुक्त किए हैं।कोर्ट ने वरिष्ठ अधिवक्ता संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन के नाम प्रदर्शनकारियों से बात करने के लिए वार्ताकार के रूप में नियुक्त किए हैं। इसके साथ ही कोर्ट ने मामले की अगली सुनवाई के लिए 24 फरवरी की तारीख तय कर दी है।
संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन वार्ताकार नियुक्त;-सुप्रीम कोर्ट ने आज सुनवाई के दौरान पूछा कि शाहीन बाग के नागरिकता संशोधन अधिनियम प्रदर्शनकारियों से बात करने/बातचीत करने के लिए जाने के लिए किसे नियुक्त किया जा सकता है। इस सुनवाई के दौरान कोर्ट ने कहा कि वरिष्ठ अधिवक्ता संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन के नाम प्रदर्शनकारियों से बात करने के लिए एक वार्ताकार के रूप में नियुक्त किए गए।
'...तो स्थिति से निपटने के लिए अधिकारियों को छोड़ देंगे':-सुप्रीम कोर्ट ने टिप्पणी करते हुए कहा कि प्रदर्शनकारियों ने अपनी बात रखी है और शाहीन बाग का विरोध काफी समय से चला आ रहा है। यदि कुछ भी काम नहीं करता है, तो हम स्थिति से निपटने के लिए अधिकारियों को छोड़ देंगे।सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि लोगों को विरोध करने का मौलिक अधिकार है लेकिन जो चीज हमें परेशान कर रही है वह सड़कों को बाधित करना है।सुप्रीम कोर्ट ने अपनी टिप्पणी में कहा कि लोकतंत्र, विचार व्यक्त करने का अधिकार देता है, लेकिन इसके लिए रेखाएं और सीमाएं हैं।
सुप्रीम कोर्ट की तल्ख टिप्पणी;-सुनवाई के दौरान SC ने कहा कि लोगों को कानून के खिलाफ विरोध करने का अधिकार है, लेकिन सवाल यह है कि आंदोलन करना कहां है। इस मामले की सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने टिप्पणी करते हुए कहा कि हमारी चिंता सीमित है, अगर हर कोई सड़क पर उतरने लगेगा तो क्या होगा ? शाहीन बाग मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू हो गई है। सुप्रीम कोर्ट में कालिंदी कुंज के पास शाहीन बाग से नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) प्रदर्शनकारियों को हटाने के लिए केंद्र और अन्य को उचित निर्देश देने की याचिका पर सुनवाई चल रही है।दस फरवरी को जस्टिस संजय किशन कौल और जस्टिस केएम जोसेफ की खंडपीठ ने केंद्र, दिल्ली सरकार और पुलिस को प्रदर्शन को लेकर नोटिस जारी किया था। कोर्ट शाहीन बाग को खाली कराने संबंधी दो याचिकाओं की सुनवाई कर रही है। पिछले दिनों दिल्ली के शाहीन बाग ने पूरे देश का ध्यान अपनी ओर खींचा था। जब मुस्लिम महिलाएं बच्चों को लेकर सीएए और एनआरसी के विरोध में शाहीन बाग की सड़क को जाम करके धरने पर बैठ गई थीं। नंद किशोर गर्ग और अमित साहनी की दायर याचिकाओं में उनके वकील शशांक देव सुधि ने पिछले हफ्ते केंद्र और अन्य को दिशा-निर्देश देने की अपील की थी।अदालत शाहीन बाग, कालिंदी कुंज सड़क की मंजूरी के लिए दो याचिकाओं पर सुनवाई कर रही है, जहां लगभग दो महीने से विरोध प्रदर्शन चल रहा है। सुनवाई के दौरान, जस्टिस कौल ने जारी विरोध पर असंतोष व्यक्त किया और कहा कि प्रदर्शन लंबे समय से चल रहा है, आप एक सार्वजनिक सड़क को कैसे रोक सकते हैं?
गायब हो रही भीड़:-जामिया मिल्लिया इस्लामिया के सामने चल रहे धरने से भी लोग गायब होते जा रहे हैं। 10 फरवरी को जामिया मिल्लिया इस्लामिया और शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों ने संसद तक के लिए मार्च निकाला था, लेकिन मार्च में फूट पड़ गई और ज्यादातर लोग मार्च से वापस चले गए थे।नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) व एनआरसी के विरोध में शाहीन बाग में दो महीने से चल रहा धरना अब थक सा गया है। पिछले कुछ दिनों से धरने पर बैठे लोगों की संख्या तेजी से घटती जा रही है। लिहाजा लोग बस कोई सम्मानजनक अंत चाहते हैं। कई दिनों से दावा किया जा रहा था कि रविवार को शाहीन बाग से करीब 5000 लोग केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मिलने जाएंगे, लेकिन मुश्किल से 300-400 लोग ही इकट्ठा हो पाए थे।दरअसल, इस धरने से लोगों का बहुत नुकसान हुआ है। काम धंधा चौपट हो गया है। धरना स्थल के आसपास 100 से ज्यादा बड़े-बड़े ब्रांडों के शोरूम हैं। दो माह से अधिक समय से यह शोरूम बंद पड़े हैं। कालिंदी कुंज से जामिया नगर थाने जाने वाला मार्ग बंद होने से सैकड़ों दुकानें भी बंदी की कगार पर हैं। दो महीने से रास्ता बंद होने के कारण शाहीन बाग के लोगों को भी नोएडा, फरीदाबाद व दिल्ली के विभिन्न इलाकों में आने जाने में परेशानी हो रही है। हालत यह है कि तमाम भावुक अपीलों, लाउडस्पीकर पूरे शाहीन बाग, जामिया नगर और जाकिर नगर आदि इलाकों में प्रचार के बावजूद बमुश्किल दो तीन सौ लोग ही जुड़ते हैं।

लुधियाना। लुधियाना में हथियारबंद लुटेरों ने दिनदिहाड़े लूट की बड़ी वारदात को अंजाम दिया है। सोमवार सुबह लगभग साढ़े 11 बजे के आसपास हथियारों से लैस चार लोग गोल्ड लाेन देने वाली कंपनी के ऑफ‍िस में घुसे और कर्मचारियों को बंधक बनाकर 30 किलो सोना लूट लिया। यहां से लुटेरे अपने साथ साढ़े तीन लाख रुपये भी लूटकर ले गए हैं। पुलिस माैके पर पहुंच गई और छानबीन में जुटी हुई है। शहर के अभी व्यस्त एरिया गिल रोड पर आइआइएफएल नाम की कंपनी का ऑफ‍िस है। यह कंपनी लोगों को गोल्ड लाेन देने का काम करती है। सोमवार सुबह साढ़े बजे के आसपास चार हथियारबंद लुटेरे आॅफ‍िस में घुसे।लुटेरों की संख्या पांच बताई जा रही है और वे सफेद रंग की कार में सवार होकर आए थे। वारदात के समय एक लुटेरा कार में ही बैठा रहा। लुटेरों ने ऑफ‍िस में घुसकर कर्मचारियों को हथियारों से डराकर बंधक बनाया और 30 किलो सोना लूट लिया। इसके बाद लुटेरे साढ़े तीन लाख रुपये कैश लेकर फरार हो गए। मामले की जानकारी मिलते ही कंपनी के ऑफ‍िस के बाहर लोग इकट्ठे हो गए। लूट की सूचना तुरंत पुलिस को दी गई। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई और जांच पड़ताल शुरू कर दी है।पुलिस कमिश्नर राकेश अग्रवाल समेत कई अधिकारी मौके पर पहुंचे हैं। लुटेरों को पकड़ने के लिए पुलिस की तरफ से कई जगह नाके लगाए गए हैं। दिनदिहाड़े लूट की इतनी बड़ी वारदात होना पुलिस की कार्यप्रणाली पर काफी सवाल उठाती है। लूट की इस वारदात के बाद गिल रोड के दुकानदारों में दहशत का माहौल है। लाेगों व दुकानदारों का कहना है कि शहर की कानून व्यवस्था इतनी खराब हो गई है कि अब दिनदहाड़े लूट हो रही है।
नजदीक खड़ी थी पीसीआर गाड़ी;-हैरान करने वाली बात यह है कि जहां पर यह वारदात हुई है, उसके नजदीक ही पीसीआर गाड़ी थी। फ‍िर भी लुटेरे बेखौफ होकर कंपनी के ऑफ‍िस में घुस गए और सोना व रुपये लूटकर फरार हो गए। लाेन देने वाली कंपनी के ऑफ‍िस के समीप ही क्राइम इंवेस्टिगेशन एजेंसी-3 का ऑफ‍िस भी है।
बढ़ रहीं लूट की वारदातें:--लुधियाना जिला की बात करें तो पिछले कुछ समय से लूट की वारदातों में बढ़ोतरी हुई है। आए दिन मोबाइल व पर्स स्नेचिंग के मामले सामने आ रहे हैं। हालांकि पुलिस तरफ से अपराध पर लगाम लगाने के लिए पूरी सख्ती बरती जा रही है, लेकिन फ‍िर भी अपराधी वारदात को अंजाम देने से बाज नहीं आ रहे हैं।

Page 5 of 1108

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें