Editor

Editor

नई दिल्ली। सर्राफा बाजार में शुक्रवार को सोने के भाव में बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में शुक्रवार को सोने में 96 रुपये की बढ़ोत्तरी हुई है। एचडीएफसी सिक्युरिटीज के अनुसार, इस बढ़ोत्तरी से सोने का भाव 40,780 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गया है। सिक्युरिटीज के अनुसार, रुपये में गिरावट के चलते सोने के भाव में यह बढ़ोत्तरी हुई है। गौरतलब है कि पिछले सत्र में सोना 40,684 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था।सोने के साथ ही चांदी की कीमत में भी शु्क्रवार को बढ़त दर्ज की गई है। चांदी में शुक्रवार को 238 रुपये की बढ़त हुई है। इस बढ़त से अब चांदी का भाव 47,277 रुपये प्रति किलोग्राम हो गया है। गौरतलब है कि चांदी पिछले सत्र में 47,039 रुपये प्रति किलोग्राम पर बंद हई थी। औद्योगिक इकाइयों और सिक्का कारोबारियों की लिवाली में तेजी आने के चलते चांदी के भाव में यह बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है।एचडीएफसी सिक्युरिटीज के वरिष्ठ विश्लेषक (कमोडिटी) तपन पटेल ने बताया कि शुक्रवार को दिल्ली में 24 कैरेट सोने के भाव में भी 96 रुपये की बढ़त दर्ज की गई है। उन्होंने बताया कि रुपये में गिरावट के चलते भाव में यह बढ़ोत्तरी दर्ज की गई। पटेल ने बताया कि हाजिर रुपया शुक्रवार को एक डॉलर के मुकाबले करीब तीन पैसे की गिरावट के साथ ट्रेंड कर रहा था।भारतीय रुपया शुक्रवार को शुरुआती कारोबार में एक डॉलर के मुकाबले 5 पैसे की गिरावट के साथ 71.31 पर ट्रेंड कर रहा था। वहीं, अंतरराष्ट्रीय बाजार की बात करें, तो सोना 1,558 डॉलर प्रति औंस पर और चांदी 17.80 डॉलर प्रति औंस पर लगभग स्थिर ट्रेंड कर रही थी।

नई दिल्ली। बाबा रामदेव की अगुवाई वाला हरिद्वार बेस्ड पतंजलि ग्रुप इस वित्त वर्ष में 25,000 करोड़ के टर्नओवर की उम्मीद कर रहा है। ग्रुप का लक्ष्य आने वाले सालों में देश की सबसे बड़ी एफएमसीजी कंपनी बनना है। योग गुरु बाबा रामदेव ने स्वयं शुक्रवार को यह बात कही है। गौरतलब है कि पतंजलि ने हाल ही में कर्ज में डूबी रुचि सोया का अधिग्रहण किया है।रामदेव ने कहा कि कंपनी मार्च 2020 को खत्म होने वाले चालू वित्त वर्ष में 25,000 करोड़ का ज्वाइंट टर्नओवर प्राप्त करेगी, जिसमें करीब 12,000 करोड़ का योगदान पतंजलि ग्रुप की ओर से और 13,000 करोड़ का योगदान रुचि सोया (Ruchi Soya) की ओर से होगा।रामदेव ने कहा, 'अगले पांच सालों में हम 50,000 करोड़ से एक लाख करोड़ का टर्नओवर प्राप्त करेंगे और एचयूएल को पछाड़कर देश की सबसे बड़ी एफएमसीजी कंपनी बनेंगे।'रुचि सोया को एक कॉरपोरेट इन्सॉल्वेंसी रेजोल्यूशन में करीब 4,500 करोड़ में खरीदने वाली पतंजलि इसकी प्रोडक्ट लाइन के विस्तार के लिए भी देख रही है।रामदेव ने कहा, 'हम हृ्दय, कॉलेस्ट्रोल और उच्च रक्त चाप जैसी बीमारियों से जूझ रहे लोगों और स्वास्थ्य के लिए जागरुक लोगों के लिए न्यूट्रेला ब्रांड के अंदर तीन नए उत्पाद लॉन्च करेंगे' इन उत्पादों में प्रीमियम ऑयल न्यूट्रेला गोल्ड, न्यूट्रेला हनी और न्यूट्रेला प्रोटीन आटा होगा।रामदेव ने कहा कि वे आने वाले समय में रुचि सोया से तीन गुना ग्रोथ की उम्मीद कर रहे हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि इससे भारत पर पड़ रहे खाद्य ऑयल के आयात का बोझ कम होगा और देश को इस सेक्टर में आत्मनिर्भर बनने में मदद मिलेगी। यहां बता दें कि पतंजलि (Patanjali) बॉलीवुड एक्ट्रेस माधुरी दीक्षित को रुचि सोया की महाकोश रेंज के उत्पादों के लिए ब्रांड एंबेसडर के रूप में बरकरार रखेगी। एफएमसीजी सेगमेंट की मार्केट लीडर HUL यानी हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड ने वित्त वर्ष 2018-19 में 38,000 करोड़ से अधिक का राजस्व प्राप्त किया था। ऐसी संभावना है कि यह जीएसके हैल्थकेयर बिजनेस के साथ विलय कर सकती है।

नई दिल्ली। अर्थव्यवस्था में सुस्ती को दूर करने के उद्देश्य से भारतीय कंपनियों ने मांग और खपत बढ़ाने के लिए आगामी बजट में पर्सनल इनकम टैक्स की दरों में कटौती की उम्मीद की है। कंपनियों का कहना है कि डिमांड में बढ़ोत्तरी के लिए अब पर्सनल इनकम टैक्स में कमी की जानी चाहिए। एक प्री बजट सर्वे से यह बात पता चली है। गौरतलब है कि सरकार ने पिछले साल कॉरपोरेट टैक्स में बड़ी कटौती की थी। सरकार ने कॉरपोरेट टैक्स की दर को पुरानी कंपनियों के लिए 25 फीसद तक और विनिर्माण क्षेत्र में आने वाली नई कंपनियों के लिए 15 फीसद तक कम किया था।यह सर्वे केपीएमजी द्वारा किया गया है, जिसमें 215 कंपनियां शामिल हुई हैं। सर्वे के मुताबिक, अधिकांश लोगों को उम्मीद है कि सरकार बजट में इनकम टैक्स छूट की लिमिट को 2.5 लाख रुपये सालाना से आगे बड़ा सकती है। यहां बता दें कि मौजूदा वित्त वर्ष के बजट में सराकर ने पांच लाख रुपये तक की कर योग्य आमदनी को टैक्स फ्री किया हुआ है। सर्वे के अनुसार, अधिकांश कंपनियां मानती हैं कि विदेशी कंपनयों के लिए टैक्स की दर में भी कमी होनी चाहिए।सर्वे में शामिल लोगों का मानना है कि आगामी बजट में सरकार होम लोन को प्रोत्साहित करने के लिए कदम उठा सकती है। सर्वे में शामिल लोगों का मानना है कि 30 फीसद टैक्स रेट में आने वाली इनकम लिमिट को भी आगामी बजट में बढ़ाया जा सकता है। वहीं, सर्वे में शामिल करीब आधे लोगों ने कहा कि निर्यात के लिए सेज इकाइयों को मिली टैक्स छूट के लाभ को मार्च 2020 के बाद आई इकाइयों को भी दिया जा सकता है।

बिग बॉस 13 (Bigg Boss 13) के घर में लगातार मचे घमासान के बीच टीवी सेलेब्स भी सोशल मीडिया पर लगातारा एक्टिव हैं। बीते दिन भी घर में काफी बवाल हुआ है। सिद्धार्थ शुक्ला (Sidharth Shukla), शेफाली जरीवाला (Shefali Jariwala), पारस छाबड़ा (Paras Chhabra), माहिरा शर्मा (Mahira Sharma) और आरती सिंह (Arti Singh) एक टीम में हैं और बीते दिन टास्क के दौरान सिद्धार्थ शुक्ला (Sidharth Shukla) की शहनाज गिल (Shehnaaz Gill) और असीम रियाज (Asim Riaz) के साथ काफी तू-तू-मैं-मैं हुई है। इनकी इस लड़ाई में शेफाली जरीवाला (Shefali Jariwala) भी कूद पड़ीं और असीम (Asim Riaz) और शहनाज गिल (Shehnaaz Gill) के साथ उलझ पड़ी। इस दौरान शेफाली ने शहनाज गिल को सूमो फाइटर तक कह दिया। अब इस पर टीवी स्टार और बिग बॉस सीजन 8 की विनर रही गौहर खान (Gauahar Khan) का ताजा बयान सामने आय़ा है।बीते एपिसोड के बारे में टीवी स्टार और बिग बॉस की एक्स विनर ने सोशल मीडिया पर कमेंट करते हुए सिद्धार्थ शुक्ला (Sidharth Shukla) की जमकर क्लास लगाई और लिखा, ‘बॉयफ्रेंड बनाने आई है, तेरे को कोई मिलेगा भी नहीं, ऐसी कुछ बातें शहनाज के लिए बोली गईं। वाह रे दोस्ती, औरतों के लिए कितनी इज्जत है।’इतना ही नहीं, इसके बाद शहनाज (Shehnaaz Gill) को सपोर्ट में आते हुए गौहर खान (Gauahar Khan) ने शेफाली जरीवाला (Shefali Jariwala) की भी क्लास लगा दी। उन्होंने लिखा, ‘पोक करना, उकसाना और बुलिंग की चलती फिरती मिसाल, ये वो है जो पहले कहती थी कि वो हमेशा पोक करता है। गुड शेफाली, अच्छे से पकड़े रहो। उसे ऐसा कहना कि हर एंगल से सूमो फाइटर लग रही है। ये सही नहीं था। और विशाल आदित्य सिंह आप कितने कन्फ्यूस्ड हो।’

बिग बॉस 13 (Bigg Boss 13) में सिद्धार्थ शुक्ला (Sidharth Shukla) और असीम रियाज (Asim Riaz) का झगड़ा तो खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है। हाल ही में बिग बॉस 13 के मेकर्स ने ताजा प्रोमो शेयर किया था। इस प्रोमो में असीम रियाज (Asim Riaz) सिद्धार्थ शुक्ला की आड़ में आरती सिंह (Arti Singh) पर निशाना साधते नजर आ रहे हैं। प्रोमो में असीम (Asim Riaz) गुस्से में इतने पागल हो चुके हैं कि, उन्होंने आरती सिंह (Arti Singh) के लिए आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया। दरअसल, इस झगड़े में आरती सिंह (Arti Singh) सिद्धार्थ शुक्ला का पक्ष लेती नजर आई थीं जिसकी वजह से असीम रियाज (Asim Riaz) ने आरती सिंह (Arti Singh) को सिद्धार्थ शुक्ला का फिक्स डिपॉजिट बता दिया।प्रोमो में आरती (Arti Singh) का रोष साफ देखने को मिल रहा है। अपने बारे में ऐसी बातें सुनकर आरती सिंह (Arti Singh) फूट फूट कर रोती नजर आई। इतना ही नहीं प्रोमो में रोते हुए आरती (Arti Singh) ने बिग बॉस 13 से जाने की भी बात कर दी है।इस बीच लगता है कि, आरती (Arti Singh) की ये हालत उनके परिवार से तो नहीं देखी जा रही है। तभी तो उनको सपोर्ट करने के लिए भाभी कश्मीरा शाह (Kashmera Shah) ने कमर कस ली है। हाल ही में कश्मीरा शाह ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट लिखी है।इस पोस्ट में उन्होंने (Kashmera Shah) असीम रियाज के खिलाफ जमकर जहर उगला है। कश्मीरा ने गुस्सा करते हुए लिखा कि, किसकी इतनी हिम्मत हुई कि, वह आरती (Arti Singh) को सिद्धार्थ शुक्ला की फिक्स डिपॉजिट बोल रहा है। एक बार ये बात मेरे सामने बोल कर दिखाओ और उसके मैं तुम्हारा ही फिक्स डिपॉटिज बना दूंगी। तुम्हारे दिमाग में ही गंदगी भरी है।आगे आरती (Arti Singh) को सपोर्ट करते हुए कश्मीरा शाह (Kashmera Shah) ने लिखा, आरती सिंह (Arti Singh) तुमको रोने की जरुरत नहीं है। किसी को भी तुम्हारे आंसूओं की कद्र नहीं है। कश्मीरा शाह के इस ट्वीट से साफ है कि, उनको असीम रियाज (Asim Riaz) के इस कमेंट पर बहुत गुस्सा आ रहा है।कश्मीरा शाह (Kashmera Shah) इससे पहले भी कई बार आरती सिंह (Arti Singh) का खुलकर सपोर्ट कर चुकी हैं। इतना ही नहीं बहुत जल्द ही कश्मीरा शाह (Kashmera Shah) बिग बॉस (Bigg Boss 13) के घर में वाइल्ड कार्ड के तौर पर जाने वाली हैं। ऐसे में वह असीम (Asim Riaz) की तो हालत खराब जरुर कर देंगी।

बॉलीवुड एक्टर अभिषेक बच्चन (Abhishek Bachhan) ने एक बार फिर बड़े पर्दे आने की तैयारी शुरू कर दी है। जी हां, अभिषेक ने हाल ही में अपकमिंग फिल्म 'बॉब बिस्वास' (Bob Biswas) की शूटिंग कोलकाता में शुरू कर दी है। फिल्म की किरदार की बात करें तो यह साल 2012 में आई विद्या बालन की फिल्म 'कहानी' (Kahaani) के एक किरदार 'बॉब बिस्वास' को लेकर बनाई जा रही है जो कि एक कॉन्ट्रैक्ट किलर होता है। अभिषेक ने अपनी फिल्म की शूटिंग स्टार्ट करते हुए सोशल मीडिया पर दो तस्वीरें जारी की हैं।इन तस्वीरों को पोस्ट करते हुए बॉलीवुड एक्टर अभिषेक बच्चन (Abhishek Bachhan) ने लिखा है "लाइट। कैमरा। 'नोमोशकार! पहले दिन का शूट शुरू!" दूसरी तस्वीर में एक पुराना मोबाइल फोन और चश्मा नजर आ रहा है। जो कि फिल्म में कॉन्ट्रैक्ट किलर 'बॉब बिस्वास' द्वारा इस्तेमाल किया जाएगा। फिल्म का निर्देशन सुजॉय घोष (Sujoy Ghosh) की बेटी दिया अन्नपूर्णा (Diya Annapurna) घोष कर रही हैं। बता दें, इसी फिल्म से दिया बतौर डायरेक्टर डेब्यू भी करने जा रही हैं। अभिषेक करीबन 42 दिनों के लिए कोलकाता में शूटिंग करेंगे। और अभिषेक शहर की सर्दियों का आनंद लेते दिख रहे हैं, जैसा कि उन्होंने ट्वीट में भी लिखा था "मुझे कोलकाता बहुत पसंद है।"खबरों की मानें तो फेमस बंगाली एक्टर शाश्वत चटर्जी (Saswata Chatterjee) को "कहानी" में बॉब बिस्वास के किरदार के लिए अपार सराहना मिली थी। हालांकि इस फिल्म को शुरू करने से पहले उनसे संपर्क किया गया था। लेकिन डेट इशू होने के कारण वो आ नहीं सके थे। फिल्म का निर्माण शाहरुख खान (Shahrukh Khan) की रेड चिलीज एंटरटेनमेंट द्वारा सुजॉय घोष की बाउंड स्क्रिप्ट प्रोडक्शन के साथ किया जा रहा है और फिल्म की शूटिंग जल्द से जल्द खत्म कर इस साल के अंत में रिलीज़ किया जा सकता है। अभिषेक बच्चन आखिरी बार अनुराग कश्यप की फिल्म 'मनमर्जियां' (Manmarziyaan) में तापसी पन्नू और विक्सि कौशल के साथ अहम भूमिका में दिखाई दिए थे।

नुसरत भरूचा (Nushrat Bharucha) और राजकुमार राव (Rajkummar Rao) की जोड़ी बहुत जल्द पर्दे पर एक साथ नजर आने वाले हैं। नुसरत और और राजकुमार 'छलांग' (Chhalaang) फिल्म में अहम किरदार में दिखाई देंगे। मेकर्स ने अब इस फिल्म का पहला पोस्टर जारी कर दिया है। जारी पोस्टर में नुसरत और और राजकुमार एक दूसरे के साथ बहुत अलग अंदाज में दिखाई दिए। सामने आए इस पहले पोस्टर में राजकुमार राव रेड कलर की स्लीपी अवतार में दिखाई दिए तो वहीँ नुसरत भरूचा पंबाजी सूट में नजर आई। नुसरत भरूचा (Nushrat Bharucha) और राजकुमार राव (Rajkummar Rao) की ये फिल्म कॉमेडी से भरपूर होगी।इस फिल्म में नॉर्थ इंडिया के एक फंडेड सेमी गर्वंमेंट स्कूल के पीटी मास्टर मोंटू (राजकुमार राव) की कहानी दिखाई जाएगी। राजकुमार राव के किरदार का नाम मोंटू है जोकि पेशे से एक पीटी मास्टर होते है। तो वहीँ नुसरत भरूचा के किरदार का नाम नीलू है। फिल्म की कहानी लव रंजन, असीम अरोड़ा और ज़ीशान कादरी ने लिखी गई है। इस फिल्म का निर्देशन हंसल मेहता द्वारा हुआ है। फिल्म का निर्माण अजय देवगन, लव रंजन और अंकुर गर्ग ने मिलकर किया है। नुसरत भरूचा (Nushrat Bharucha) और राजकुमार राव (Rajkummar Rao) की ये फिल्म 13 मार्च 2020 को रिलीज होगी।खैर बात अगर राजकुमार राव (Rajkummar Rao) की करें तो, एक्टर इन दिनों 'रूही अफ्जा' को लेकर काफी व्यस्त है। हाल ही में उन्होंने ने इस फिल्म की शूटिंग पूरी की है। इस फिल्म में वो जाह्नवी कपूर (Jahnvi Kapoor)के साथ स्क्रीन शेयर करते हुए दिखाई देंगे। ये फिल्म 13 मार्च 2020 को रिलीज होने वाली है। नुसरत भरूचा की आगामी फिल्म कौनसी होगी इसको लेकर किसी तरह की कोई जानकारी नहीं मिली है लकिन हाल ही में एक्ट्रेस 'ड्रीम गर्ल' में दिखाई दी थी। फिल्म में वो आयुष्मान खुराना के साथ दिखाई दी थी। दर्शकों को ये फिल्म बहुत पसंद आई थी।

नई दिल्ली। नीति आयोग के सदस्य वीके सारस्वत ने कश्मीर में इंटरनेट पर पाबंदी पर विवादित बयान दिया। उन्होंने कहा है कश्मीर में इंटरनेट न हो तो क्या फर्क पड़ता है? आप वहां इंटरनेट पर क्या देखते हैं? वहां क्या ई-टेलिंग हो रही है? गंदी फिल्में देखने के अलावा, आप वहां कुछ भी नहीं करते हैं। कश्मीर घाटी में इंटरनेट के पाबंदी का व्यापार पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा है।इससे पहले उन्होंने कांग्रेस समेत अन्य पार्टियों पर निशाना साधते हुए कहा कि नेता कश्मीर क्यों जाना चाह रहे हैं। कश्मीर जाकर वे दिल्ली की तरह प्रदर्शन भड़काना चाह रहे हैं। वे सोशल मीडिया की मदद से विरोध प्रदर्शन को बढ़ावा दे रहे हैं।
सारस्‍वत ने दी सफाई:-बाद में अपने बयान पर नीति आयोग के सदस्य वीके सारस्वत ने सफाई दी है। उन्‍होंने कहा कि मेर बयान का गलत मतलब निकाला गया है। अगर किसी को मेरी बात से दुख हुआ तो मैं माफी मांगता हूं। मैं नहीं चाहता हूं कि ऐसा लगे कि मैं कश्मीर के लोगों के इंटरनेट इस्तेमाल के अधिकार के खिलाफ हूं।
अगस्त में लगाई गई थी पाबंदी;-गौरतलब है कि अगस्त में जम्मू कश्मीर अनुच्छेद 370 हटाए जाने और इसे दो हिस्सों में बांटने के दौरान इंटरनेट पर पाबंदी लगाई थी। इसके बाद शनिवार को ही घाटी में सभी लोकल प्रीपेड मोबाइल सेवाएं बहाल हुईं हैं। यहां प्रीपेड कॉल, एसएमएस और 2G इंटरनेट सेवाएं शुरू हुईं हैं।
नागरिकता कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शनों ने देश की जीडीपी पर प्रहार किया:-सारस्वत ने आगे कहा कि नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर देशव्यापी विरोध प्रदर्शनों ने देश की जीडीपी पर प्रहार किया है। उन्होंने कहा कि पिछले 3 महीनों से सड़कों पर सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जारी है। इससे मानव-घंटे, कारखानों, अस्पतालों और स्कूलों के बंद होने का नुकसान हुआ। इन सबका जीडीपी पर असर पड़ता है। सरकारी स्कूलों में अध्यापकों को वेतन दिया जा रहा है, लेकिन कक्षाओं का आयोजन नहीं किया जा रहा है, वेतन का भुगतान किया जा रहा है, लेकिन कारखाने बंद पड़े हैं, यह सब हो रहा है।
अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए निर्यात क्षेत्र पर ध्यान देने की आवश्यकता:-नीति आयोग के सदस्य ने देश में अर्थव्यवस्था की स्थिति के बारे में आगे बात करते हुए कहा कि अमेरिका, चीन और अन्य बड़े देशों समेत दुनिया भर की अर्थव्यवस्था नीचे जा रही हैं। हालांकि, उन्होंने कहा कि भारत में अर्थव्यवस्था स्थिर है। उन्होंने जोर देकर कहा कि अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए निर्यात क्षेत्र में मानकीकरण, प्रतिस्पर्धा और गुणवत्ता पर ध्यान देने की आवश्यकता है।
जेएनयू में फीस बढ़ोतरी को लेकर प्रदर्शन पर वीके सारस्वत;-बता दें कि वीके सारस्वत जेएनयू के चांसलर भी हैं। उन्होंने इससे पहले बुधवार को जेएनयू में फीस बढ़ोतरी को लेकर प्रदर्शन पर कहा था कि आंदोलनकारी छात्र और शिक्षक किसी भी प्रकार का अनुशासन नहीं चाहते हैं। उन्होंने जेएनयू में चल रही समस्याओं के लिए पिछले 50-60 वर्षों से छात्रों और शिक्षकों को मिल रही छूट को जिम्मेदार ठहराया।

नई दिल्ली।भाजपा ने निर्भया सामूहिक दुष्कर्म मामले को लंबे समय तक खींचने का आरोप दिल्ली की केजरीवाल सरकार पर लगाया है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी और शाजिया इल्मी ने प्रेस कांफ्रेंस कर आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल निर्भया के दोषियों को बचाने की कोशिश कर रहे हैं।मनोज तिवारी ने कहा कि 2017 के जुलाई महीने में निर्भया के गुनहगारों को सजा हुई थी। 2017 से 2019 तक 2 साल में दिल्ली सरकार ने गुनहगारों को इस सजा की सूचना ही नहीं दी। उन्होंने कहा कि 2 साल तक आम आदमी पार्टी की सरकार ने जेल प्रशाशन के माध्यम से गुनहगारों को ये सूचना क्यों नहीं दी?।भाजपा नेता मनोज तिवारी ने कहा कि दिल्ली सरकार कहती है कि हमारे पास पुलिस विभाग नहीं है, इसलिए हम ऐसा नहीं कर सके। जेल विभाग राज्य सरकार के अंतर्गत आता है और ये सूचना उन गुनहगारों तक पहुंचाने का काम जेल प्रशासन का है, पुलिस का नहीं है।मनोज तिवारी ने आरोप कि आदमी पार्टी की सरकार दोषियों की फांसी को टाल रही है। उन्होंने कहा कि पूरे देश के राजनीतिक इतिहास में किसी पार्टी के द्वारा इस प्रकार के गुनहगारों की सजा को टलवाने का और फिर उन्हें बचाने का कोई दूसरा उदाहरण नहीं मिलता।
इंदिरा जयसिंह आम आदमी पार्टी की करीबी: शाजिया:-वहीं शाजिया इल्मी ने कहा कि निर्भया के दोषियों की फांसी को माफ करने की सलाह देने वाले वाली वरिष्ठ वकील इंदिरा जयसिंह आम आदमी पार्टी की करीबी हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा था कि दिल्ली का प्रशासनिक हेड उपराज्यपाल ही होंगे तब तो उस पूरे मामले में दिल्ली सरकार का पक्ष इंदिरा जयसिंह ने ही किया था।शाजिया इल्मी ने अरविंद केजरीवाल की आलोचना करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री से हम ये जानना चाहते है कि दिल्ली की जनता को बताये कि जो वकील इस समय दोषियों के साथ खड़ी है, उसे जनता के पैसों से कितनी फीस दी गयी।वहीं भाजपा महिला मोर्चा की अध्यक्ष सरोज पांडे ने कहा कि इंदिरा जयसिंह का इतिहास जग जाहिर है। आम आदमी पार्टी के साथ उनका संबंध भी जगजाहिर है, जब बात खुलेगी तो बहुत दूर तक जाएगी।बता दें कि सुप्रीम कोर्ट की वरिष्ठ वकील इंदिरा जयसिंह ने शनिवार को निर्भया की मां से अपील की थी कि वह दोषियों को माफ कर दें। इंदिरा जयसिंह की दोषियों को माफी की सलाह पर निर्भया की मां ने कड़ा एतराज जताया था। उन्होंने कहा कि पूरा देश निर्भया के दोषियों को जल्द से जल्द फंदे पर लटकता हुआ देखना चाहता है, लेकिन कुछ ऐसे लोग हैं, जो इन्हें बचाना चाहते हैं। इन्हीं लोगों के कारण दोषियों की फांसी की सजा में देरी हो रही है।

नई दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने रविवार को कहा है कि पिछले छह वर्षों में 2,838 पाकिस्तानी, 914 अफगानिस्तानी, 172 बांग्लादेशी शरणार्थियों को भारत की नागरिकता मिली है। उन्होंने कहा कि इनमें मुसलमान शरणार्थी भी शामिल हैं। उन्होंने कहा कि 1964 से 2008 तक श्रीलंका के चार लाख तमिलों को भी नागरिकता दी गई। उन्होने कहा 2014 तक पाक, बांग्लादेश और अफगानिस्तान के 566 मुसलमानों को भी देश की नागरिकता मिली थी। वित्त मंत्री ने नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) को लेकर बड़ा बयान दिया है।वित्त मंत्री ने चेन्नई में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि 2016 से 2018 के बीच पाकिस्तान के 1,595 शरणार्थियों और अफगानिस्तान के 391 मुस्लिमों को भारतीय नागरिकता मिली। 2016 में अदनान सामी को नागरिकता दी गई थी। यह एक उदाहरण है। तसलीमा नसरीन दूसरी उदाहरण हैं। यह साबित करता है कि हमारे खिलाफ लगे सभी आरोप गलत हैं। उन्होंने कहा कि इस कानून का मकसद लोगों की जिंदगियों को बेहतर बनाना है। सीतारमण ने कहा कि सरकार किसी भी व्यक्ति की नागरिकता छीन नहीं रही है बल्कि नागरिकता देने के लिए यह कदम उठाया गया है। न्यूज एजेंसी एएनआई के ट्वीट के मुताबिक सीतारमण ने चेन्नई में यह बात कही।वित्त मंत्री ने कहा कि पूर्वी पाकिस्तान से आए लोग अब भी विभिन्न शिविरों में रह रहे हैं और इस बात को अब 50-60 वर्ष हो गए हैं। उन्होंने कहा कि अगर आप उन शिविरों में जाएंगे तो आपको रोना आ जाएगा। श्रीलंका के शरणार्थियों की भी स्थिति वैसी ही है और वे शिविरों में रह रहे हैं। उन्हें बुनियादी सुविधाएं तक नहीं मिल सकी हैं।वित्त मंत्री ने सीएए को लागू नहीं करने के कुछ राज्यों के प्रस्ताव को 'असंवैधानिक' करार दिया। उन्होंने कहा कि केंद्र द्वारा पारित कानून को लागू करना सभी राज्यों की जिम्मेदारी है।

Page 4 of 1076

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें