Editor

Editor

तिरुअनंतपुरम। नए साल 2021 के पहले दिन यानि शुक्रवार, 1 जनवरी से केरल, कर्नाटक और असम के स्‍कूलों को दोबारा से खोला गया। सरकार द्वारा जारी किए गए दिशानिर्देशों के पालन के साथ बेंगलुरु में दसवीं और 12वीं के लिए कक्षाओं की शुरुआत हुई लेकिन असम में स्‍कूल आज सूना ही देखा गया। बेंगलुरु के एक छात्र ने कहा, 'ऑनलाइन क्‍लासेज की तुलना में ऑफलाइन क्‍लासेज बेहतरीन है। मुझे स्‍कूल आकर अच्‍छा लग रहा है। हम कोविड-19 गाइडलाइनों का पालन कर रहे हैं।'

खुले केरल के स्‍कूल;-केरल के तमाम स्‍कूलों में आज से काम-काज का संचालन फिर से शुरू कर दिया गया। सरकार द्वारा जारी दिशानिर्देशों के तहत  शुक्रवार, 1 जनवरी 2021 से राज्‍य भर के स्‍कूलों को दोबारा खोल दिया गया है। स्‍कूल की शिक्षिका ने बताया, 'लंबे समय के बाद बच्‍चों को दोबारा स्‍कूल में देख प्रसन्‍नता हो रही है। एक क्‍लासरूम में केवल 10 बच्‍चों को प्रवेश की अनुमति दी गई है और सभी सुरक्षात्‍मक उपाय किए गए हैं।'  उल्‍लेखनीय है कि कोविड-19 महामारी को फैलने से रोकने के लिए बंद स्‍कूलों में 9 माह बाद दोबारा पठन-पाठन शुरू हुआ है। देश भर के कुछ राज्यों में कक्षा 9 से 12वीं तक की कक्षाएं शुरू करने के साथ ही स्कूल खुल गए थे। हालांकि कई राज्य स्कूल को खोलने के पक्ष में नहीं हैं। केरल की तरह जनवरी से कई राज्यों में छठी से 12वीं तक की कक्षाएं शुरू की जाएंगी। इनमें बिहार, झारखंड सहित कई अन्‍य राज्‍यों के नाम शामिल हैं जहां स्कूलों को खोला जाएगा। जहां तक राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्ली की बात है तो यहां की सरकार का कहना है कि जब तक कोविड-19 वैक्‍सीन नहीं आ जाता तब तक स्कूल खोलना सही नहीं है।

 बंगाल व दिल्‍ली में नहीं खुलेंगे स्कूल:-पश्चिम बंगाल में इस साल न तो माध्यमिक और उच्च माध्यमिक की परीक्षाएं होंगी, न ही स्कूल खुलेंगे। शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने यह जानकारी दी है। उन्होंने कहा है कि माध्यमिक (10वीं बोर्ड) और उच्च माध्यमिक (12वीं बोर्ड) की परीक्षाएं जून में आयोजित की जाएंगी। दिल्ली में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया कह चुके हैं कि जब तक वैक्सीन नहीं आ जाती, तब तक स्कूल नहीं खोले जाएंगे। इस वक्त स्कूल शुरू करना बच्चों को कोरोना की तरफ धकेलने जैसा होगा। 

बिहार, राजस्थान व महाराष्ट्र में खुलेंगे स्कूल;-बिहार सरकार के आदेशानुसार, 4 जनवरी 2021 से राज्य भर के सभी सरकारी स्कूलों और कोचिंग सेंटरों को खोल दिया जाएगा। साथ ही इनमें कोविड-19 दिशानिर्देशों का सख्‍ती से पालन होगा। राजस्थान में भी 4 जनवरी से छठी से 12वीं तक स्कूल खोलने की तैयारी है। देश के सर्वाधिक संक्रमित राज्‍य महाराष्ट्र में 9वीं से 12 वीं कक्षा के छात्रों के लिए 4 जनवरी से स्‍कूलों को खोला जाएगा। महाराष्ट्र के अधिकतर क्षेत्रों में स्कूलों को दोबारा शुरू करने का फैसला लिया गया है। यहां स्कूल खुलने के बाद टीचर्स का कोरोना टेस्ट कराया जाएगा।

झारखंड में शुरू है चल रहे हैं स्कूल :-झारखंड में तो दिसंबर में ही स्कूल दोबारा खोल दिए गए। वर्ष 2021 में बोर्ड की आगामी परीक्षाओं के कारण केवल 10वीं और 12वीं कक्षा के छात्रों के लिए स्कूलों को खोला गया है। राज्य सरकार ने तय सुरक्षा दिशा-निर्देशों को सख्ती से लागू करने का आदेश दिया है। यहां स्कूलों में स्टूडेंट्स ऑड-ईवन फार्मूले के तहत कक्षा में पहुंच रहे हैं।

उत्‍तर प्रदेश में स्कूल खोलने की तैयारी;-यूपी माध्यमिक शिक्षा परिषद प्रदेश में कक्षा 6 से 8वीं तक के स्कूल खोलने की तैयारी में है लेकिन अधिकांश प्रधानाचार्यों ने इनकार किया है। प्रधानाचार्यों ने जिला विद्यालय निरीक्षक को रिपोर्ट भेजा है और कहा है कि 9 से 12 वीं तक स्कूल खुल रहे हैं जिसमें भी उपस्थित होने वाले छात्र-छात्राओं की संख्या काफी कम है।

 दिसंबर से चल रहे हैं मध्‍यप्रदेश के स्कूल;-मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh)में 18 दिसंबर से ही स्‍कूलों की शुरुआत हो चुकी है। शिक्षा विभाग ने दिसंबर से यहां के स्कूल खोल दिए।  यहां कक्षा 9 और 11 के छात्रों को हफ्ते में एक दो दिन के लिए अभिभावकों की मंजूरी के साथ स्कूल आने की इजाजत दी गई है। 

लखनऊ।वर्ष 2021 के पहले दिन सुबह उत्तर प्रदेश कोहरे की गिरफ्त में रहा। कोहरे के कहर के कारण चारसड़क दुर्घटनाओं में प्रदेश में 12 लोगों ने मौके पर ही दम तोड़ दिया, जबकि 19 घायलों में 12 लोग गंभीर हैं। एक्सप्रेस-वे पर कोहरे तथा रफ्तार के कहर के कारण वाहनों के अनियंत्रित होने से मामले बढ़ते गये।उन्नाव में लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर बिहार से दिल्ली जा रही बस ने सड़क के किनारे खड़े कंटेनर पर तेज टक्कर मार दी। टक्कर इतनी तेज थी कि बस कंटेनर का पीछे से गेट तोड़ती हुई आधी अंदर गुस गई। चार लोगों ने मौके पर ही दम तोड़ दिया जबकि 14 घायलों में नौ बेहद गंभीर हैं। मथुरा में यमुना एक्सप्रेस-वे पर दो हादसों में पांच लोगों की मौत हो गई।उत्तर प्रदेश में 2021 का स्वागत कड़ाके की ठंड के साथ कोहरा ने किया। सुबह घने कोहरे के कारण तेज रफ्तार कई जिंदगियों पर भारी पड़ गई। उन्नाव में लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे पर औरास थाना क्षेत्र के मैनीभावा गांव के सामने घने कोहरे में सड़क घेरकर खड़े कंटेनर में डबल डेकर बस पीछे से घुस गई। हादसे में बस सवार चार यात्रियों की मौत हो गई। यहां दहशत में यात्री खिड़कियां तोड़ कर बस से कूदे और बाहर निकले।तेज रफ्तार के कारण करीब पांच फिट कंटेनर के अंदर घुसी बस को क्रेन की मदद से बाहर निकाला गया। एसओ राज बहादुर सिंह ने बताया कि बस में 65-70 यात्री सवार थे। यह लोग बिहार के दिल्ली जा रहे थे। घने कोहरे के चलते कंटेनर भी किसी वाहन से टकरा कर सड़क पर खड़ा हुआ था। उसका चालक भाग निकला है।

इटावा में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर कोहरे में आठ वाहन भिड़े, तीन की मौत:-आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर ऊसराहार थाना अंतर्गत चैनल नंबर 132 पर घने कोहरे में आठ वाहन आपस में भिड़ गए। दुर्घटना में तीन लोगों की मौत हो गई तथा एक दर्जन लोग घायल हो गए। दुर्घटना निर्माणाधीन पुलिस चौकी के सामने सुबह करीब 10 बजे घटित हुई। वाहन आगरा से लखनऊ की तरफ जा रहे थे। एक ट्रक के अचानक मोड़ते समय डीसीएम उससे टकरा गई। इसके बाद पीछे से आ रहे एक के बाद एक वाहन आपस में भिड़ते चले गए। मरने वालों में डीसीएम का चालक व क्लीनर भी शामिल है।दुर्घटना इतनी भीषण थी कि चालक को क्रेन की मदद से बाहर निकाला जा सका। एक्सप्रेस-वे पर जाम लग गया। जाम को खुलवाने में पुलिस जुटी हुई है। मरने वालों में चालक 22 वर्षीय हीरालाल पुत्र खैराती लाल निवासी छारड़ा थाना नागल राजा वातन जिला दौसा राजस्थान, क्लीनर 20 वर्षीय धोलूराम पुत्र राधेश्याम निवासी उपरोक्त, 24 वर्षीय रोहित निवासी कोटिया थाना कनीना जिला महेंद्रगढ़ हरियाणा हैं। घायलों में पांच लोगों गंभीर हालत में मेडिकल यूनिवर्सिटी सैफई भेजा गया है। एसएसपी आकाश तोमर ने बताया कि सीओ भरथना चंद्रपाल सिंह सहित थाना ऊसराहार पुलिस को मौके पर भेजा गया है। जाम को खुलवाया जा रहा है। डीसीएम मालिक के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाएगी।

मथुरा में दो हादसों में पांच की मौत:-मथुरा के सुरीर क्षेत्र में शुक्रवार सुबह हुए दो हादसों में पांच लोगों की मौत हो गई और पांच घायलों में तीन लोग गंभीर हैं। नोएडा की ओर से आ रही मोटरसाइकिल को सुरीर क्षेत्र में माइल स्टोन 92 के समीप पीछे आ रहे अज्ञात वाहन ने रौंद दिया। बाइक पर सवार विशाल गुप्ता निवासी आशीर्वाद भवन मानवत चौराहा मैनपुरी, कुलदीप निवासी माथुर चतुर्वेदी पुस्तकालय मोहल्ला मिश्राना मैनपुरी और करण वीर निवासी खेडिय़ा थाना कागरोल आगरा ने मौके पर ही दम तोड़ दिया।सुरीर क्षेत्र में माइल स्टोन 85 पर चार वाहन कोहरे के कारण आपस में भिड़ गए। इस हादसे में स्विफ्ट कार सवार दो लोगों की मौत हो गई और पांच लोग घायल हो गए। जिनके नाम पते की अभी जानकारी नहीं हुई है। घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

न्यूयॉर्क। नए साल के दिन दुनियाभर में अनुमानित 3,71,504 बच्चों का जन्म होगा। इनमें से भारत में लगभग 60 हजार बच्चों के जन्म का अनुमान है।  संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (यूनिसेफ) ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी। साल 2021 में कुल अनुमानित 140 मिलियन (14 करोड़) बच्चे  पैदा होंगे। उनकी औसत जीवन प्रत्याशा 84 वर्ष होने की उम्मीद है। प्रशांत क्षेत्र में स्थित फिजी में पहला और अमेरिका में साल 2021 का आखिरी बच्चे का जन्म होगा। यूनिसेफ के अनुसार नए साल के पहले दिन दुनियाभर के आधे से अधिक बच्चों का जन्म 10 देशों में होने का अनुमान है।इन 10 देशों में भारत (59,995), चीन (35,615), नाइजीरिया (21,439), पाकिस्तान (14,161), इंडोनेशिया (12,336), इथियोपिया ( 12,006), अमेरिका (10,312), मिस्र (9,455), बांग्लादेश (9,236) और रिपब्लिक ऑफ द कांगो (8,640) शामिल है। यूनिसेफ के कार्यकारी निदेशक हेनरीटा फोर ने एक बयान में कहा कि आज जन्म लेने वाले बच्चे एक साल पहले की तुलना में बहुत अलग दुनिया में प्रवेश करेंगे। नया साल दुनिया को पुनः स्थापित करने का एक नया अवसर लेकर आता है। उन्होंने यह भी कहा कि आज पैदा हुए बच्चे को विरासत में वो दुनिया मिलेगी, जिसका हमने उनके लिए निर्माण किया है। आइए हम 2021 में बच्चों के लिए एक न्यायपूर्ण, सुरक्षित, स्वस्थ दुनिया का निर्माण करना शुरू करें।

भारत में पैदा होने वाले बच्चों की जीवन प्रत्याशा 80.9 वर्ष होगी- यूनिसेफ:-यूनिसेफ के अनुसार भारत में, शुक्रवार को पैदा होने वाले बच्चों की जीवन प्रत्याशा 80.9 वर्ष होगी। इंडिया न्यूबर्न एक्शन प्लान 2014-2020 की मदद से हर दिन एक अतिरिक्त हजार बच्चे जीवित रहते हैं। यूनिसेफ में भारत के प्रतिनिधि यश्मीन अली हक ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण न केवल एक संकट की स्थिति में, बल्कि हर समय लोगों की सुरक्षा के लिए व्यवस्था और नीतियों की आवश्यकता के बारे में हमें पता चला है। इस साल संगठन के 75 साल पूरे हो जाएंगे। 

ताइपे। ताइवान की राष्ट्रपति साई इंग-वेन(TSai Ing Wen) ने शुक्रवार को नए साल के संदेश में कहा कि उनका देश चीन से सैन्य खतरे का सामना कर रहा है। बात दें कि चीन इस द्वीपीय क्षेत्र को अपना मानता है और इस क्षेत्र पर बल पूर्वक कब्जे की धमकी भी दे चुका है।साई ने अपने संदेश में चीन से बढ़ते खतरे का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि ताइवान स्ट्रेट में लड़ाकू विमानों और युद्धपोतों की गतिविधियां बढ़ गई हैं। इससे क्षेत्रीय स्थिरता के लिए पैदा हुआ खतरा न सिर्फ इस स्वायत्त क्षेत्र बल्कि पूरी दुनिया के लिए चिंता की बात है।राष्ट्रपति साई ने नए साल के अपने संदेश में कोरोना महामारी से मुकाबले के लिए उठाए गए कदमों की तारीफ भी की। उन्होंने कहा कि ताइवान ने लॉकडाउन लगाए बगैर संक्रमण पर अंकुश पाने में प्रगति की है। चीन के समीप होने के बावजूद इस द्वीपीय क्षेत्र में कोरोना के महज 800 मामलों की पुष्टि हुई और सात पीडि़तों की मौत हुई है।नए साल के दिन अपने वार्षिक संबोधन में ताइवान की राष्ट्रपति साई इंग-वेन ने कहा कि ताइवान ने व्यावसायिकता में विश्वास करते हुए  एक दूसरे पर भरोसा करते हुए और समाज के रूप में एकीकरण करते हुए, व्यवसाय और शिक्षा के लिए गंभीर अवरोधों के बिना प्रभावी ढंग से कोरोना पर विजय प्राप्त की। राष्ट्रपति ने ताइवान में कोरोना को लेकर तेज और निरंतर प्रयासों के लिए सराहना की गई। चीन से निकटता होने के बावजूद, जहां केवल सात मौतें और 800 से कम मामले सामने आए हैं।इससे पहले ताइवान ने चीन के बढ़ते खतरे को लेकर सभी एशियाई देशों को आगाह किया था। सीएनएन को दिए एक खास इंटरव्‍यू में ताइवान की राष्ट्रपति त्साई इंग-वें ने आगाह किया था कि अगर चीन को नहीं रोका गया तो एशिया के दूसरे देश उसके निशाने पर आ जाएंगे। साई का यह बयान इस वजह से भी बेहद खास है क्‍योंकि जनवरी में ही चीन के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग ने कहा था कि ताइवान अगर बातचीत से नहीं माना तो वह सैन्‍य कार्रवाई से भी पीछे नहीं हटेगा।

नई दिल्ली। आइसीसी ने कुछ दिनों पर दशक की बेस्ट टेस्ट, वनडे व टी20 टीम का चयन किया था। आइसीसी ने दशक की बेस्ट वनडे व टी20 टीम का कप्तान MS Dhoni को बनाया था जबकि टेस्ट टीम की कमान विराट कोहली को सौंपी थी। दशक की बेस्ट टीम की घोषणा किए जाने के बाद कई पूर्व क्रिकेटरों ने आइसीसी के चयन पर सवाल खड़े किए तो वहीं टीम इंडिया के पूर्व ओपनर बल्लेबाज आकाश चोपड़ा ने भी एम एस धौनी के चयन पर सवाल खड़े कर दिए।आकाश चोपड़ा एम एस को टी20 की दशक की बेस्ट टीम में शामिल किए जाने पर हैरान हैं और कहा कि, इस दशक में भारत ने एम एस की कप्तानी में कोई भी टी20 वर्ल्ड कप नहीं जीता। वहीं उन्होंने ये भी कहा कि, इस दशक में धौनी ने टी20 प्रारूप में ज्यादा अच्छा प्रदर्शन भी नहीं किया। उन्होंने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा कि, इस दशक में टी20 क्रिेकेट की बात करें तो ना तो भारत ने कोई वर्ल्ड कप जीता और ना ही धौनी का प्रदर्शन अच्छा रहा। उन्होंने आगे कहा कि, हम एक टी20 टीम बना रहे हैं जिसमें जोस बटलर जैसे खिलाड़ी नहीं हैं। धौनी की कप्तानी में टीम इंडिया ने टी20 वर्ल्ड कप का पहला सीजन साल 2007 में जीता था। उनकी कप्तानी में भारत ने इसके बाद कई सारे टी20 वर्ल्ड कप खेले, लेकिन जीत हासिल नहीं कर पाई। साल 2014 में टीम इंडिया फाइनल में पहूंची थी, लेकिन श्रीलंका ने भारत को हरा दिया था।वहीं एम एस के टी20 इंटरनेशनल करियर की बात करें तो उन्होंने 98 मैचों में कुल 1617 रन बनाए हैं। उनके नाम पर दो अर्धशतक दर्ज है और उनका स्ट्राइक रेट 126.13 का रहा है। धौनी ने बतौर बल्लेबाज टी20 में संघर्ष किया, लेकिन उन्होंने इस प्रारूप में भी शानदार कप्तानी की थी। धौनी ने साल 2020 में 15 अगस्त से इंटरनेशनल क्रिेकेट से रिटायरमेंट ली थी। 

आइसीसी की टी20 की दशक की बेस्ट टीम-रोहित शर्मा, क्रिस गेल, आरोन फिंच, विराट कोहली, एबी डिविलियर्स, ग्लेन मैक्सवेल, एम एस धौनी (कप्तान), किरोन पोलार्ड, राशिद खान, जसप्रीत बुमराह, लसिथ मलिंगा। 

नई दिल्ली। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच से पहले टीम के नियमित कप्तान विराट कोहली भारत वापस लौट गए तो इसके बाद टीम के कार्यवाहक कप्तान अजिंक्य रहाणे बने जो पहले टीम के नियमित उप-कप्तान थे। इसके बाद दूसरे टेस्ट के लिए टीम का उप-कप्तान मध्यक्रम के बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा को बनाया गया, लेकिन तीसरे टेस्ट मैच के लिए अब उनकी जगह टीम का नया उप-कप्तान रोहित शर्मा को बनाया गया है। रोहित शर्मा तीसरे टेस्ट के लिए वापसी कर चुके हैं और उम्मीद की जा रही है कि उन्हें प्लेइंग इलेवन में भी मौका मिलेगा। रोहित को टेस्ट उप-कप्तान बनाए जाने की घोषणा बीसीसीआइ ने की। ये पहला मौका है जब रोहित शर्मा को टेस्ट क्रिकेट के उप-कप्तान बनाया गया है। इससे पहले वो भारतीय वनडे व टी20 टीम के उप-कप्तान रहे हैं। पुजारा को दूसरे टेस्ट के लिए उप-कप्तान बनाया गया था, लेकिन रोहित की वापसी के बाद उन्हें एक मैच के बाद ही इस पद से हटा दिया गया। रोहित शर्मा की बात करें तो उन्होंने साल 2013 में भारत के लिए टेस्ट डेब्यू किया था और उसके बाद से अब तक उन्होंने कुल 32 टेस्ट मैच खेले हैं जिसमें उन्होंने 2141 रन बनाए हैं जिसमें 6 शतक शामिल है। रोहित शर्मा टेस्ट टीम से हमेशा ही अपने प्रदर्शन के आधार पर अंदर-बाहर होते रहे हैं। 2019 वनडे वर्ल्ड कप में बेहद सफल रहे रोहित शर्मा को वेस्टइंडीज दौरे पर भी टेस्ट टीम में जगह नहीं दी गई थी। हालांकि वो टीम के साथ थे, लेकिन प्लेइंग इलेवन में उन्हें शामिल नहीं किया गया था। इसके बाद होम सीजन शुरू होने पर उन्हें टेस्ट टीम का ओपनर बल्लेबाज बनाया गया जहां उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया। इसके बाद नवंबर 2019 में वो इंजर्ड हो गए और उसके बाद वो टेस्ट मैच नहीं खेल पाए। अब जाकर एक बार फिर से उन्हें टेस्ट खेलने का मौका मिल रहा है। अब तीसरे टेस्ट में वो ओपनर की भूमिका निभाएंगे या फिर मध्यक्रम में खेलेंगे ये देखने वाली बात होगी। भारत को तीसरा टेस्ट मैच कंगारू टीम के खिलाफ 7 जनवरी से खेलना है। 

नई दिल्ली। बॉलीवुड एक्टर अर्जुन कपूर और मलाइका अरोड़ा इस वक्त गोवा में एक्ट्रेस अमृता अरोड़ा के विला में अपना न्यू ईयर सेलिब्रेट कर रहे हैं। मलाइका-अर्जुन लंबे वक्त से एक दूसरे को डेट कर रहे हैं। पहले दोनों छुपछुप कर मिलते थे और मीडिया की नज़रों से अपने रिश्ते को छुपाकर रखते थे। लेकिन अब दोनों अपने रिश्ते को खुलकर बयां करते हैं। हाल ही में कोविड-19 पॉजिटिव होने के दौरान भी मलाइका और अर्जुन साथ में क्वारंटाइन थे। अब दोनों साथ में गोवा में वेकेशन एंजॉय कर रहे हैं।मलाइका ने अपने इंस्टाग्राम पर न्यू ईयर के ख़ास मौके पर ब्वॉयफ्रेंड अर्जुन कूपर के साथ रोमांटिक फोटो शेयर की है। इस फोटो में अर्जुन और मलाइका साथ में बैठे नज़र आ रहे हैं। एक्ट्रेस ने अर्जुन के कंधे पर हाथ रखा हुआ है और दोनों कैमरे की तरफ देखकर हल्की सी स्माइल कर रहे हैं। फोटो शेयर करने के साथ मलाइका ने फैंस को न्यू ईयर की बधाई दी है। फोटो शेयर करने के साथ मलाइका ने कैप्शन में लिखा है, ‘ये नई सुबह है... ये नया दिन है... ये नया साल है... 2021।। मलाइका के फोटो पर करीना कपूर ने कमेंट कर उन्हें अपना फेवरेट कपल बताया है। करीना ने कमेंट करते हुए लिखा, ‘मेरे दो फेवरेट... मेन्यू क्या है ???’।इससे पहले मलाइका ने नए साल के मौके पर अपनी दो फोटोज़ शेयर की थीं। एक फोटो में मलाइका स्वीमिंग पूल में नहाती नज़र आ रही हैं। वहीं दूसरी फोटो में मलाइका अपने डॉगी के साथ खेलती दिख रही हैं। स्वीमिंग पूल में नहाते हुए फोटो शेयर करते हुए मलाइका ने कैप्शन में लिखा है, ‘गुड बाय 2020...मैं दुआ करती हूं और आशा भी कि साल 2021 सबके लिए शानदार रहे। हैप्पी न्यू ईयर’।आपको बता दें कि हाल ही में मलाइका और अर्जुन धर्माशाला भी साथ घूमने गए थे। इस ट्रिप में उनके साथ करीना कपूर ख़ान, तैमूर अली ख़ान और सैफ अली ख़ान भी थे। धर्मशाला से वापस आकर मलाइका ने अर्जुन के साथ एक फोटो शेयर की थी जो काफी वायरल भी हुई थी।

नई दिल्ली। साल 2021 में काजोल एक नई पारी शुरू कर रही हैं। नेटफ्लिक्स की फ़िल्म त्रिभंगा- टेढ़ी-मेढ़ी क्रेज़ी से काजोल डिजिटल दुनिया में क़दम रख रही हैं। फ़िल्म में काजोल के साथ तन्वी आज़मी और मिथिला पाल्कर मुख्य भूमिकाओं में हैं। त्रिभंगा में तीन पाढ़ियों की कहानी दिखायी जाएगी।टीज़र की शुरुआत एक हंसते-खेलते परिवार के साथ होती है, जिसमें मां तन्वी आज़मी, बेटी काजोल और पोती मिथिला पाल्कर हैं। इसके बाद काजोल ओडिसी नर्तकी के गेटअप में दिखती हैं। फिर दृश्य बदलता है और तन्वी एक बड़ी डेस्क पर काम में डूबी हुई दिखती हैं। छोटी बच्ची बड़ी होकर मिथिला बन चुकी है। फ़िल्म 15 जनवरी को रिलीज़ हो रही है। इसे अजय देवगन ने प्रोड्यूस किया है। फ़िल्म की कहानी रेणुका शहाणे ने लिखी है और उन्होंने ही निर्देशन किया है। फ़िल्म अजय देवगन का बतौर प्रोड्यूसर डिजिटल डेब्यू है।पिछले साल जुलाई में काजोल ने एक वीडियो शेयर करके इसकी सूचना दी थी। उन्होंने लिखा था- तीन महिलाओं की कहानी, अपनी ही ताल पर नाचती हैं। त्रिभंगा आपको अपूर्णता में सम्पूर्णता दिखाती है। और मैं दुनिया को यह दिखाने के लिए बेसब्र हूं। इस फ़िल्म से पहले काजोल यूट्यूब की शॉर्ट फ़िल्म काम कर चुकी हैं। देवी शीर्षक से बनी फ़िल्म 2020 में आयी थी। काजोल के अलावा नेहा धूपिया समेत कई एक्ट्रेस शामिल थीं। इस शॉर्ट फ़िल्म को काफी तारीफ़ मिली। इसके बाद अब काजोल के फैंस को उनके नए अवतार का इंतज़ार है। काजोल के करियर की बात करें तो आख़िरी बार 2020 की शुरुआत में रिलीज़ हुई फ़िल्म तान्हाजी- द अनसंग वॉरियर में नज़र आयी थीं, जिसमें वो अजय देवगन के किरदार तान्हाजी मालुसरे की पत्नी बनी थीं। इससे पहले काजोल 2018 की फ़िल्म हैलीकॉप्टर ईला में नज़र आयी थीं। शाह रुख़ ख़ान की फ़िल्म ज़ीरो में भी काजोल ने स्पेशल एपीयरेंस किया था। इससे पहले वो शाह रुख़ के साथ 2015 की फ़िल्म दिलवाले में फीमेल लीड रोल में दिखी थीं।

नई दिल्ली। सरकारी स्वामित्व वाली स्टील कंपनी स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (SAIL) ने शुक्रवार को जानकारी दी कि सोमा मंडल ने कंपनी के चेयरपर्सन का पदभार ग्रहण कर लिया है। इससे पहले वह देश की स्टील बनाने वाली सबसे बड़ी कंपनी की निदेशक (कॉमर्शियल) के पद पर कार्यरत थीं। वर्ष 1984 में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी-राउरकेला से ग्रेजुएशन की डिग्री लेने वाली मंडल ने अपने करियर की शुरुआत NALCO में ग्रेजुएट इंजीनियर ट्रेनी के रूप में की थी। वह NALCO में डायरेक्टर (कॉमर्शियल) के पद तक पहुंचीं। इसके बाद 2017 में वह डायरेक्टर (कॉमर्शियल) के रूप में सेल से जुड़ीं।मंडल ने अनिल कुमार चौधरी का स्थान लिया है, जो गुरुवार को सेवानिवृत्त हो गए। चौधरी ने जूनियर मैनेजर और डायरेक्टर (फाइनेंस) सहित विभिन्न पदों पर काम किया और 36 साल तक कंपनी से जुड़े। इस मौके पर मंडल ने कहा, ''हमारी पहली प्राथमिकता राजस्व और मुनाफे में बढ़ोत्तरी करना है। हम अपने शेयरधारकों वैल्यू को बेहतर बनाने एवं कंपनी को संरचानात्मक रूप से मजबूत बनाने की रणनीति पर काम कर रहे हैं।'' उन्होंने कहा कि सेल की विरासत काफी समृद्ध रही है और वर्षों से कंपनी के कर्मचारियों और नेतृत्व ने अपनी ओर से बहुत अधिक अंशदान दिया है।

नई दिल्ली। दिसंबर महीने में कुल 1,15,174 करोड़ रुपये का वस्तु एवं सेवा कर (GST) कलेक्शन हुआ। यह अब तक का सबसे अधिक जीएसटी कलेक्शन है। समाचार एजेंसी एएनआई की ओर से किए गए ट्वीट में कहा है कि दिसंबर, 2020 में एसजीएसटी के रूप में 27,804, सीजीएसटी के रूप में 21,365 करोड़ रुपये और IGST (एकीकृत जीएसटी) के रूप में 57,426 करोड़ रुपये की आमदनी हुई। इसके अलावा सेस के रूप में सरकार को 8,579 करोड़ रुपये की आमदनी हुई।सरकार की ओर से उपलब्ध करायी गई जानकारी के मुताबिक नवंबर से 31 दिसंबर, 2020 तक कुल 87 लाख GSTR-3B रिटर्न भरे गए हैं।सरकार ने रेगुलर सेटलमेंट के रूप में आईजीएसटी में से सीजीएसटी के रूप में 23,276 करोड़ रुपये और एसजीएसटी के रूप में 17,681 करोड़ रुपये का सेटलमेंट किया है। दिसंबर, 2020 में रेगुलर सेटलमेंट के बाद केंद्र सरकार और राज्य सरकारों की कुल आमदनी सीजीएसटी के रूप में 44,641 करोड़ रुपये और एसजीएसटी के रूप में 45,485 करोड़ रुपये पर रही।जीएसटी कलेक्शन में यह वृद्धि त्योहारी मांग को दिखाता है।

Page 11 of 1603

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें