Editor

Editor

नई दिल्ली। बॉलीवुड एक्ट्रेस करीना कपूर खान और सैफ अली खान के घर जल्द ही एक और नन्हा मेहमान आने वाला है। करीना दूसरी बार मां बनने जा रही है। इससे पहले करीना और सैफ का एक बेटा तैमूर अली खान हैं। इन दिनों करीना अपने प्रेग्नेंसी पीरियड को एंजॉय कर रही हैं। वहीं प्रेग्नेंसी की खबर सामने आने के बाद करीना की कई तस्वीरें और वीडियो सामने आए हैं जिसमें उनके बेबी बंप को साफ देखा जा सकता है। इसी बीच करीना ने सैफ अली खान खान संग अपने रिश्ते को लेकर एक खुलासा किया है। करीना ने बताया कि जब भी उनके और सैफ अली खान के बीच झगड़ा होता है तो दोनों में सबसे पहले कौन सॉरी बोलता है।करीना कपूर खान ने हाल ही में अपने चैट शो ‘वॉट वुमेन वॉन्ट' (What Women Want) में एक्टर कुणाल खेमू से बात चीत की। इस दौरान उन्होंने कुणाल से पूछा कि जब कभी उनके और  सोहा अली खान के बीच जंग होती है तो माफी कौन मांगता है। कुणाल इस सवाल का जवाब दे पाते इससे पहले ही करीना ने कहा मेरे और सैफ के बीच जब भी विवाद होता है तो पहले सैफ ही सॉरी बोलते हैं। इसके बाद कुणाल खेमू ने करीना के सवाल का जवाब बड़े ही मजाकिया अंदाज में कहा कि सोहा की डिक्शनरी में ‘सॉरी' शब्द है, लेकिन गलती से उसका पन्ना फट गया है और किसी दूसरी जगह पर जाकर लग गया है। वहीं इसी चैट शो में कुणाल खेमू ने आगे कहते हैं कि पहली बात तो सोहा की डिक्शनरी में सॉरी शब्द नहीं है। वहीं अगर वह उनकी डिक्शनरी में मिलता भी नहीं है। अगर कभी मिल गया तो ऐसा लगता है कि बहुत बड़ी चीज हो गई है। वहीं करीना ने आगे कहा कि मेरे और सैफ के बीच पहले वो सॉरी बोलते हैं  और सब कुछ संभाल लेते हैं। यही नहीं करीना ने ये भी कहा कि उनका मानना है कि पुरुष आमतौर पर ज्यादातर गलतियां करते हैं।

नई दिल्ली। अभिनेता से लेकर राजनेता तक का सफर तय करने वाले भोजपुरी सिनेमा के सुपरस्टार मनोज तिवारी इन दिनों दूसरी बार बेटी के पिता बनने की खबर को लेकर चर्चा में हैं। मनोज तिवारी की पत्नी सुरभि ने बीते महीने 30 दिसंबर को एक बेटी को जन्म दिया था।  इस खबर के सामने आने के बाद से ही उनके सुपरहिट गाने ‘रिंकिया के पापा' का एक पुराना वीडियो सोशल मीडिया पर ट्रोंड हो रहा था। वहीं अब बीजेपी लीडर एक्टर मनोज तिवारी ने अपनी नन्ही बेटी के नाम का खुलासा कर दिया है। उन्होंने बताया कि आखिर उनकी बेटी का क्या नाम है और किसने ये नाम रखा है।भोजपुरी एक्टर ओर ‘बिग बॉस 4' फेम मनोज तिवारी ने हाल ही में टाइम्स ऑफ इंडिया से की गई बातचीत में बेटी के नाम का खुलासा किया। मनोज तिवारी ने बताया, ‘ उनकी दूसरी बेटी का नाम बड़ी बेटी ऋति ने रखा है। ऋति ने पहले ही अपनी छोटी बहन का नाम सोच लिया था। उनसे हमें बता दिया था कि मैं अपनी छोटी बहन का नाम सान्विका रखूंगी और हमने उसके फैसले का सम्मान किया। सान्विका नाम मां देवी लक्ष्मी के कई नामों में से एक नाम है। वहीं संयोग की बात है कि बड़ी बेटी ऋति मां दुर्गा का ही एक नाम है। इस तरह अब मेरी जिंदगी में दो देवियां हैं।'इसी बातचीत में मनोज तिवारी ने अपनी दूसरी शादी को लेकर भी बात की। उन्होंने बताया कि उनकी बड़ी बेटी ही उनकी दूसरी शादी को लिए उनकी मैचमेकर साबित हुई थीं। एक्टर ने बताया कि सुरभि काफी वक्त से  ऋति के केयरटेकर के तौर पर काम कर रही थीं। वहीं मैं सुरभि को साल 2015 से ही जानता था। वह मेरी बेटी के लिए केयरटेकर के तौर पर थीं। ऋति ने ही मुझे इस अहम फैसले को लेने के लिए राजी किया। यही नहीं छोटी बेटी की जिम्मेदारी भी उसने बहुत अच्छे से संभाली। 

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शानदार प्रदर्शन किया। भारत के टेस्ट सीरीज जिताने में उनका अहम योगदान रहा। ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर ही सिराज ने अपना टेस्ट डेब्यू किया। सिराज ने अपने पिता का सपना पूरा किया लेकिन उनके खेलते देखने के लिए वह मौजूद नहीं थे। ऑस्ट्रेलिया जाने के बाद ही सिराज के पिता का निधन हो गया था। वह भारत लौटने के बाद सबसे पहले पिता के कब्र पर गए और फूल चढ़ाया।भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी ऑस्ट्रेलिया के दौरे से गुरुवार को ही भारत लौटे हैं। सिराज ने एक चैनल से बात करते हुए कहा, "मैं सीधा घर नहीं गया, मैं एयरपोर्ट से सीधा कब्रगाह गया। वहां जाकर मैं अपने पिता की कब्र के पास कुछ देर बैठा। मैं उनसे बात तो नहीं कर पाया लेकिन कब्र पर फूल चढ़ाकर आया।" इंडियन प्रीमियर लीग के खत्म होने के बाद भारतीय टीम दुबई से सीधा ऑस्ट्रेलिया के लिए रवाना हो गई थी। सिराज को ऑस्ट्रेलिया पहुंचने के बाद पिता के निधन का खबर मिली। वह बायो बबल में थे लिहाजा उसे तोड़कर भारत नहीं लौट पाए। उनके पिता चाहते थे कि वह भारत के लिए मैच खेलें इसी वजह से बीसीसीआइ द्वारा घर लौटने का विकल्प देने के बाद भी वह ऑस्ट्रेलिया में सीरीज खेलने के लिए रुके। सिराज ने बताया कि पिता के कब्र पर काफी देर बैठने के बाद वह घर लौटे, "इसके बाद मैं अपने घर वापस लौटा। जब मैं अपनी मां से मिला तो उन्होंने रोना शुरू कर दिया। इसके बाद मैंने उनको संभालने की कोशिश की सांत्वना दिया और कहा मत रोना। यह बहुत ही मुश्किल एहसास था। 6-7 महीनों के बाद उनका बेटा घर लौटा है। मां हमेशा से ही मेरे घर आने का इंतजार कर रही थी। जब से मैं घर से गया था तभी से वह मेरे लौटने का एक एक दिन गिनती थी।"

हैदराबाद। भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज ने भारत वापस लौटने के बाद बड़ा खुलासा किया। उन्होंने कहा कि, ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट फैन द्वारा नस्लीय टिप्पणी किए जाने के बाद वो मानसिक तौर पर और मजबूत हो गए थे। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी टेस्ट मैच के दौरान भारतीय तेज गेंदबाज मो. सिराज व जसप्रीत बुमराह पर नस्लीय टिप्पणी की गई थी। इसके बाद अजिंक्य रहाणे की टीम इंडिया को मैदान पर मौजूद अंपायर ने सलाह दी थी कि, वो मैच को छोड़कर मैदान से बाहर जा सकते हैं, लेकिन भारतीय टीम ने ऐसा करने का फैसला नहीं किया था। सिराज ने एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कहा कि, ऑस्ट्रेलियन क्रिकेट फैंस ने मुझे गालियां देनी शुरू कर दी थी, लेकिन इस घटना ने मुझे मानसिक तौर पर और मजबूत बना दिया। इसकी वजह से मैं बिल्कुल भी विचलित नहीं हुआ और जो मेरा काम था वही किया। हालांकि मैंने इस घटना के बारे में कप्तान रहाणे को बताया। इसके बाद अंपायर ने कहा कि, आप मैदान छोड़ सकते हैं, लेकिन अज्जू भाई (अजिंक्य रहाणे) ने कहा कि, हम मैदान से बाहर नहीं जाएंगे क्योंकि हम क्रिकेट का सम्मान करते हैं। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ क्रिकेट सीरीज शुरू होने से ठीक पहले सिराज के पिता का निधन हो गया था, लेकिन वो टीम के साथ बने रहे। हालांकि उनके पिता उन्हें टेस्ट मैच खेलते हुए नहीं देख पाए जो उनका सपना था। मो. सिराज ने इस टेस्ट सीरीज में भारत की तरफ से सबसे ज्यादा विकेट लिया था और उन्होंने गाबा में एक पारी में पांच विकेट भी चटकाए। सिराज ने कहा कि, ये मेरे लिए काफी दुख भरी घड़ी थी। मैंने अपने पिता को खो दिया था और मैं इससे काफी डिस्टर्ब भी हुआ था। सिराज ने बताया कि, मैंने अपने परिवार से बात की और उन्होंने कहा कि आप अपने पिता का सपना पूरा करो। मेरे परिवार, मेरी होने वाली पत्नी और पूरी भारतीय टीम ने इस दुख की घड़ी में मेरा पूरा साथ दिया। मैंने इस टेस्ट सीरीज में लिए हर विकेट को अपने पिता को समर्पित किया। सिराज ने मेलबर्न में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना टेस्ट डेब्यू किया था। भारत ने इस टेस्ट सीरीज को 2-1 से जीता। 

नई दिल्ली। अगर आप भारतीय स्टेट बैंक (SBI) के ग्राहक हैं तो यह खबर आपके काम की है। देश के पब्लिक सेक्टर के सबसे बड़े बैंक ने ट्वीट कर अपने ग्राहकों से कहा है कि अगर उन्हें इंटरनेशनल ट्रांजैक्शन में दिक्कत पेश आ रही है तो फटाफट अपने पैन कार्ड से जुड़ा विवरण बैंक अकाउंट में अपडेट करा लें। बैंक ने अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर कहा है, ''अंतरराष्ट्रीय लेनदेन में परेशानी हो रही है? एसबीआई डेबिट कार्ड के जरिए बिना किसी दिक्कत के फॉरेन ट्रांजैक्शन के लिए अपना पैन डिटेल्स बैंक के रिकॉर्ड के साथ अपडेट करा लीजिए।''इस ट्वीट के साथ बैंक ने एक फोटो भी अटैच की है। इस फोटो पर अंकित है कि एटीएम, पीओएस/ ई-कॉमर्स के जरिए इंटरनेशनल ट्रांजैक्शन के लिए अपने एसबीआई डेबिट कार्ड के इस्तेमाल के लिए कृपया अपने पैन विवरण बैंक में अपडेट करा लीजिए। 

एसबीआई अकाउंट में कैसे अपडेट करा सकते हैं पैन कार्ड (How to Link PAN Card with SBI Account):-बैंकबाजार.कॉम के मुताबिक कोई भी एसबीआई ग्राहक ऑफलाइन या ऑनलाइन दोनों माध्यमों से एसबीआई अकाउंट के साथ पैन कार्ड लिंक करा सकता है। अकाउंट के साथ पैन को लिंक कराने के लिए www.onlinesbi.com पर जाकर 'My Accounts' ऑप्शन के नीचे Profile-Pan Registration पर क्लिक करना होगा।इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा। नए पेज पर अपने अकाउंट नंबर को चुनें और उसके बाद पैन नंबर प्रविष्ट करें। इसके बाद सबमिट बटन पर क्लिक कर आप अपने अकाउंट नंबर में पैन नंबर लिंक करा सकते हैं। 

नई दिल्ली। Air Asia ने अपने Flash Sale ऑफर के विस्तार की घोषणा की है। एयरलाइन ने इसे बढ़ाकर 22 जनवरी कर दिया है, अब यात्री कल यानी शुक्रवार तक टिकट की बुकिंग कर सकते हैं। Flash Sale ऑफर के साथ किराया 877 रुपये से शुरू होता है। बुक किए गए टिकट पर यात्रा का समय 1 अप्रैल से लेकर 30 सितंबर 2021 तक है।सेल के तहत, कोच्चि से बेंगलुरु का किराया 1,281 रुपये, मुंबई से गोवा का किराया 1,875 रुपये और दिल्ली से मुंबई के का किराया 2,576 रुपये है। एयरलाइन ने हवाई यात्रा को सुरक्षित बनाने के लिए अतरिक्त सीट जैसी सुविधा भी दी है। ग्राहक यात्रा करने के लिए एक अतरिक्त सीट खरीद सकते हैं। एयर एशिया ने बयान में बताया कि इस सेवा को AirAsia की ओर से संचालित सभी उड़ानों पर लागू किया गया है। AirAsia ने हाल ही में तीन नए एयरबस A320neos और नए मार्गों को जोड़ा है। AirAsia ने अपनी सेवाएं पुणे, कोलकाता और भुवनेश्वर के रास्तें में भी शुरू की हैं।

SpiceJet का ऑफर: दूसरी ओर SpiceJet और IndiGo ने भी आकर्षक ऑफर निकाला है। SpiceJet सिर्फ 899 रुपये में हवाई यात्रा का आनंद लेने का मौका दे रही है, वहीं, IndiGo ने घरेलू यात्रा के लिए फ्लाइट टिकटों की कीमत सिर्फ 877 रुपये रखी है। यह ऑफर 22 जनवरी तक है। Spicejet का सेल 13 जनवरी से शुरू है और यह भी 22 जनवरी तक चलेगा। एयरलाइन प्रत्येक ग्राहक को प्रति फ्लाइट बेस फेयर की बराबर राशि का एक मुफ्त वाउचर भी दे रही है। यह वाउचर अधिकतम 1,000 रुपये का हो सकता है। टिकट वाउचर का इस्तेमाल आप 28 फरवरी 2021 तक कर सकते हैं। ये वाउचर सिर्फ घरेलू उड़ानों पर ही लागू होगा।

IndiGo का ऑफर: IndiGo की लेटेस्ट सेल ऑफर में खरीदे गए टिकटों से एक अप्रैल से 30 सितंबर के बीच यात्रा की जा सकती है। यह ऑफर एक अप्रैल, 2021 और 30 सितंबर, 2021 के बीच की अवधि में यात्रा के लिए कुछ चुनिंदा सेक्टर्स में नॉन स्टॉप घरेलू उड़ानों के लिए उपलब्ध है। 

वाशिंगटन:- नवनिर्वाचित जो बाइडन बुधवार को अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति के तौर पर पद और गोपनीयता की शपथ लेंगे। बाइडन एकता के संदेश के साथ वाशिंगटन डीसी पहुंच गए हैं। बतौर राष्ट्रपति बाइडन के सामने कई चुनौतियां होंगी। कोरोना संकट के चलते इस बार पहले की तरह शपथ ग्रहण कार्यक्रम में भीड़ नहीं होगी। यही नहीं ट्रंप समर्थकों की ओर से किसी बवाल की आशंका के मद्देनजर सुरक्षा के पुख्‍ता बंदोबस्‍त किए गए हैं।

बाइडन ने कहा- अमेरिका के लिए नया दिन, ट्रंप ने छोड़ा व्हाइट हाउस:-अमेरिका के नव निर्वाचित राष्‍ट्रपति जो बाइडन ने शपथ ग्रहण समारोह से पहले कहा है कि यह अमेरिका के लिए नया दिन है। वहीं डोनाल्ड ट्रंप ने ठीक शपथ ग्रहण से पहले अमेरिका के राष्ट्रपति के तौर पर आखिरी बार व्हाइट हाउस छोड़ दिया। 74 वर्षीय ट्रंप और प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप ज्वॉइंट बेस एंड्रयूज जाने के लिए व्हाइट हाउस के लॉन से मरीन वन हेलीकॉप्टर पर सवार हुए। विदाई समारोह के दौरान उपराष्ट्रपति पेंस मौजूद नहीं रहेंगे।

अमेरिकियों से करेंगे एकजुटता की अपील:-बाइडन को चीफ जस्टिस जॉन रॉबर्ट्स कैपिटल बिल्डिंग (संसद भवन) के वेस्ट फ्रंट में दोपहर 12 बजे (स्थानीय समयानुसार) पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाएंगे। शपथ लेने के बाद जो बाइडन अपना पहला संबोधन देंगे। साथ ही अमेरिका के सामने पेश अभूतपूर्व चुनौतियों से निपटने में लोगों से सहयोग की गुजारिश करेंगे। अमेरिका यूनाइटेड विषय पर यह भाषण 20 से 30 मिनट का हो सकता है।

चीन और पाक के खिलाफ जारी रहेगी सख्‍ती :-अमेरिका की चीन और पाकिस्‍तान के प्रति नीतियां पहले जैसी ही रहेंगी। बाइडन प्रशासन ने कहा है कि भारत के साथ सीमा विवाद कर रहे चीन के खिलाफ अमेरिकी सख्‍ती ट्रंप प्रशासन की तरह से ही जारी रहेगी। यही नहीं अमेरिका के नए प्रशासन ने पाकिस्‍तान को भारत विरोधी आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए आगाह किया है।

जाते-जाते ट्रंप ने दी नवनिर्वाचित प्रशासन को बधाई:-अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने देश को सुरक्षित रखने और समृद्ध बनाने में नवनिर्वाचित प्रशासन को सफलता के लिए ना केवल शुभकामनाएं दीं बल्कि उसके सफल रहने की भी प्रार्थना की। ट्रंप ने कहा कि अमेरिकी लोगों को अपने साझा मूल्यों के प्रति एकजुट होना चाहिए और पक्षपातपूर्ण नफरत की भावना से ऊपर उठना चाहिए। ट्रंप का यह विदाई भाषण व्हाइट हाउस ने मंगलवार को जारी किया।

मैंने उम्मीद से ज्यादा हासिल किया : ट्रंप :-ट्रंप ने कहा कि मैंने कठिन चुनौतियों का विकल्प चुना क्योंकि आपने मुझे ऐसा करने के लिए चुना था। आपकी जरूरतें पूरी करना मेरा पहला कर्तव्य था। मैं देश के 45 वें राष्ट्रपति के तौर पर अपना कार्यकाल पूरा कर रहा हूं, लेकिन इस दौरान मैंने उम्मीद से ज्यादा हासिल किया। हमने वही किया जो हम करने यहां आए थे। ट्रंप ने संकेत दिया कि वह भले ही व्हाइट हाउस से जा रहे हैं लेकिन सार्वजनिक रूप से सक्रिय रहेंगे।

संसद पर हमलेे की निंदा :-ट्रंप ने अमेरिकी संसद पर अपने समर्थकों के छह जनवरी के हमले पर भी बात की। उन्होंने कहा, 'संसद पर हमले से सभी अमेरिकी आतंकित हो गए थे। यह उन सभी चीजों पर हमला है जिन पर एक अमेरिकी होने के नाते हम गौरव महसूस करते हैं। इसे कभी भी बर्दाशत नहीं किया जा सकता।

जाते जाते बैनन समेत 143 को दिया क्षमादान:-ट्रंप ने अपना कार्यकाल खत्म होने से कुछ घंटे पहले अपने पूर्व मुख्य रणनीतिकार स्टीव बैनन समेत 143 लोगों को क्षमादान दे दिया। इसमें 73 लोगों को जहां माफ किया गया है वहीं 70 लोगों की सजा कम कर दी गई है। हालांकि ट्रंप ने खुद को, अपने परिवार या फिर अपने वकील रूडी गुलियानी को माफी नहीं दी है।

ट्रंप की सबसे छोटी बेटी ने सगाई की;-डोनाल्ड ट्रंप की छोटी बेटी टिफनी ट्रंप ने अपनी सगाई की घोषणा की है। टिफनी ने मंगलवार को व्हाइट हाउस में अपने पिता के राष्ट्रपति के तौर पर आखिरी दिन माइकल बुलोस से सगाई की। इस बात की जानकारी उन्होंने इंस्टाग्राम पर फोटो शेयर करके दी।

यूट्यूब ने ट्रंप पर प्रतिबंध एक सप्ताह बढ़ाया:-शपथ ग्रहण समारोह में हिंसा की आशंका को देखते हुए अल्फाबेट इंडस्ट्रीज के स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म यूट्यूब ने ट्रंप पर प्रतिबंध को एक सप्ताह के लिए बढ़ा दिया है। बता दें कि अमेरिकी संसद पर हुए हमले के बाद 12 जनवरी को यूट्यूब ने उन पर एक सप्ताह का प्रतिबंध लगाया था। 

उपराष्ट्रपति को पहले दिलाई जाती है शपथ;-अमूमन नवनिर्वाचित उपराष्ट्रपति को नव निर्वाचित राष्ट्रपति से पहले शपथ दिलाई जाती है। कमला हैरिस को शपथ सुप्रीम कोर्ट की न्यायमूर्ति सोनिया सोटोमायोर दिलाएंगी। यह कार्यक्रम इस लिहाज से भी ऐतिहासिक होगा कि पहली अश्वेत दक्षिण एशियाई महिला उप राष्ट्रपति को पहली लातिन अमेरिकी न्यायमूर्ति के द्वारा शपथ दिलाई जाएगी।

सुरक्षा का सख्त बंदोबस्त:-शपथ ग्रहण के समय अमेरिकी संसद की ओर जाने वाली सड़कों पर हजारों की तादाद में सुरक्षाकर्मी गश्त लगा रहे हैं। अमेरिकी संसद भवन के इर्द गिर्द के इलाके, पेंसिलवेनिया एवेन्यू, और व्हाइट हाउस के आसपास का बड़ा हिस्सा आम जनता के लिए पहले ही बंद कर दिया गया है। साथ ही इन स्थानों पर कोई अवांछनीय व्यक्ति प्रवेश नहीं कर सके, इसलिए आठ फुट ऊंचे अवरोधक लगाए गए हैं। पूरा वाशिंगटन डीसी शहर हाई अलर्ट है।

भव्‍य आयोजन :-शपथ ग्रहण की भव्‍यता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि मेजेस्टिक नेशनल मॉल जहां पर शपथ ग्रहण समारोह के दौरान हजारों लोग मौजूद रहते हैं... उसे लगभग दो लाख झंडों से सजाया गया है। इसके 56 खंभों पर रोशनी की गई। ये खंभे अमेरिकी प्रांतों और काउंटी का प्रतिनिधित्व करते है। हालांकि यहां पर किसी को मौजूद रहने की अनुमति नहीं है।

बाइडन के सामने क्‍या होंगी चुनौतियां:-व्हाइट हाउस के नवनियुक्त चीफ ऑफ स्टाफ रोन क्लीन ने बीते दिनों एक ज्ञापन में कहा था कि बाइडन ऐसे समय में कार्यभाल संभाल रहे हैं जब अमेरिका गंभीर संकट से जूझ रहा है। बाइडन के सामने चार बड़े संकट हैं, जो एक दूसरे से जुड़े हैं। ये संकट है-कोरोना और इसके चलते पैदा हुआ आर्थिक संकट, पर्यावरण से जुड़ी समस्यांए और नस्ली समानता के अभाव से जुड़ा संकट है।

वाशिंगटन। डोनाल्ड ट्रंप की छोटी बेटी टिफनी ट्रंप ने अपनी सगाई की घोषणा की है। टिफनी ने मंगलवार को व्हाइट हाउस में अपने पिता के राष्ट्रपति के तौर पर आखिरी दिन माइकल बुलोस से सगाई की। इस बात की जानकारी उन्होंने इंस्टाग्राम पर फोटो शेयर करके दी। माइकल बुलोस के साथ फोटो शेयर करते हुए टिफनी ट्रंप ने लिखा, 'व्हाइट हाउस में ऐतिहासिक अवसरों का जश्न मनाने और अपने परिवार के साथ यहां रहना एक सम्मान है, लेकिन मेरे मंगेतर माइकल के साथ सगाई से ज्यादा खास नहीं है।'टिफनी के मंगेतर माइकल बुलोस ने फोटो शेयर करते हुए लिखा, 'मैंने अपनी जिंदगी के प्यार के साथ सगाई की। अब हम एक साथ नेक्स्ट चैप्टर का इंतजार कर रहे हैं।' 27 साल की टिफनी ट्रंप डोनाल्ड ट्रंप और उनकी दूसरी पत्नी मार्ला मेपल्स की इकलौती संतान हैं। उन्होंने जॉर्ज टाउन विश्वविद्यालय के लॉ स्कूल से स्नातक किया है। टिफनी के मंगेतर माइकल बुलोस की उम्र 23 साल है और नाइजीरियाई उद्योगपति के बेटे हैं।नाइजीरिया के लागोस से शुरुआती पढ़ाई करने के बाद उन्होंने अपना ग्रेजुएशन लंदन से किया है। लंदन में ही माइकल और टिफनी की पहली मुलाकात हुई थी। ट्रंप के 5 बच्चे हैं। ट्रंप की मौजूदा पत्नी मेलानिया ट्रंप से 14 साल का बेटा बैरन है, जबकि पूर्व पत्नी इवाना ट्रंप से डोनाल्ड ट्रंप जूनियर (43), इवांका (39) और एरिक ( 37) तीन बच्चे हैं।

नई दिल्ली। नए कृषि कानूनों को लेकर केंद्र सरकार और आंदोलनकारी किसानों के बीच आज 10वें दौर की वार्ता जारी है। कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल किसानों के साथ विज्ञान भवन में बातचीत कर रहे हैं। पहले यह वार्ता मंगलवार को होनी थी, लेकिन इसे टाल दिया गया।  बता दें कि किसान 26 नवंबर से ही तीनों नए कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे हैं। वे तीनों कानूनों की वापसी के मांग पर अड़े हुए हैं। वहीं, दूसरी ओर केंद्र सरकार नए कानूनों को किसानों के लिए हितकारी बता रही है और गतिरोध को बातचीत के माध्यम से सुलझाना चाहती है। इसे लेकर दोनों पक्षों के बीच अब तक नौ दौर की वार्ता हो चुकी है, लेकिन अब तक कुछ हासिल नहीं हुआ है। 

- बैठक के बाद बाद बाहर निकल कर किसान नेता ने कहा कि सरकार ने कहा है कि वह डेढ़ साल के लिए कानूनों को निलंबित करने के लिए तैयार है। जवाब में, किसानों ने कहा कि कानूनों को निलंबित करने का कोई मतलब नहीं है और यह स्पष्ट किया है कि हम कानूनों को निरस्त करना चाहते हैं।

- सूत्रों के अनुसार, कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने एक कमेटी के गठन का प्रस्‍ताव दिया, जिसमें सरकार और किसान के सदस्य होंगे। समिति क्‍लाज वाइज कानूनों पर चर्चा करेगी, जबकि अदालत ने 2 महीने के लिए खेत कानूनों पर रोक लगा दी है। अगर जरूरत हुई और परामर्श जारी रहा, तो सरकार कानून के कार्यान्वयन पर एक साल तक रोक लगा सकती है।

- 10 वें दौर की बातचीत रही बेनतीजा, केंद्र सरकार ने कृषि कानूनों पर अस्थाई रोक का प्रस्ताव दिया, जिस पर किसान नेता राजी नहीं हुए। सरकार ने आंदोलन खत्‍म करने की अपील की।    

- भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि सरकार को न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर एक कानून बनाना होगा और तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करना होगा। हमारा विरोध सरकार और कॉर्पोरेट सिस्टम के खिलाफ है। 

- कृषि कानूनों के खिलाफ सिंघु बॉर्डर पर किसानों का विरोध प्रदर्शन आज 56वें दिन भी जारी है। किसान मजदूर संघर्ष कमेटी के अध्यक्ष ने बताया, 'आज की बैठक से भी उम्मीद नहीं है। इसका नतीजा पहली बैठक जैसा ही रहेगा क्योंकि सरकार का कानूनों को रद करने और एमएसपी पर कानून बनाने का मन नहीं है।

वार्ता के माध्यम से समाधान तक पहुंचने के लिए केंद्र सकारात्मक: नरेंद्र तोमर:-15 जनवरी को केंद्र सरकार और किसान यूनियनों के बीच नौवें दौर की बातचीत हुई थी। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है कि यूनियनों को आपस में अनौपचारिक समूह बनाने और अपनी मांगों के बारे में सरकार को एक मसौदा प्रस्तुत करने के लिए कहा गया है। कृषि मंत्री ने कहा है कि सरकार 'खुले मन' से मसौदे पर विचार करेगी। उन्होंने कहा कि सरकार ठंड की स्थिति में विरोध कर रहे किसानों को लेकर चिंतित है। उन्होंने जोर देकर कहा कि वार्ता के माध्यम से समाधान तक पहुंचने के लिए केंद्र सकारात्मक है। 12 जनवरी को, सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र के तीन कृषि कानूनों को लागू करने पर रोक लगा दी और उसके द्वारा गठित समिति से दो महीने में अपनी रिपोर्ट देने को कहा।

समिति को दो महीने के भीतर रिपोर्ट देने के निर्देश:-समिति को निर्देश दिया गया है कि वह किसानों के साथ बातचीत करे और अपनी पहली बैठक के दो महीने के भीतर कृषि कानूनों से संबंधित अपनी सिफारिशें प्रस्तुत करे। हालांकि, किसान यूनियनों के नेताओं ने समिति को यह कहते हुए अस्वीकार कर दिया कि उनके सदस्य पहले से ही कृषि कानूनों के पक्षधारी हैं। भारतीय किसान यूनियन (मान) के राष्ट्रीय अध्यक्ष भूपिंदर सिंह मान ने गुरुवार को नए कृषि कानूनों को लेकर शीर्ष अदालत द्वारा नियुक्त चार सदस्यीय समिति से खुद को अलग कर लिया।

समिति 21 जनवरी को किसानों के साथ अपनी पहली बैठक करेगी:-समिति 21 जनवरी को किसानों के साथ अपनी पहली बैठक करेगी। मंगलवार को पैनल के सदस्य अनिल घणावत ने इसकी जानकारी दी। उन्होंने एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान कहा कि समिति के सामने सबसे बड़ी चुनौती आंदोलनकारी किसानों को इस मामले पर चर्चा करने के लिए मनाने की है।

नई दिल्ली। गणतंत्र दिवस के मद्देनजर आतंकी समूह सिख फार जस्टिस (एसएफजे) ने दिल्ली की बिजली काटने की धमकी दी है। उनकी राजधानी को अंधेरे में डुबाने की साजिश है। इस संबंध में कृषि कानून के विरोध में आंदोलन कर रहे किसानों के पास वीडियो मैसेज भेजे जा रहे हैं।वहीं, ब्रिटेन से भी लोगों के पास रिकॉर्ड फोन कॉल आ रही है। जिसमें खालिस्तानी संगठन द्वारा आतंकी हमले की बात बता लोगों को 26 जनवरी के दिन घर से निकलने से मना किया जा रहा है। इस दोनों मामले में अभी तक पुलिस ने कोई मुकदमा दर्ज नहीं किया है। लेकिन पुलिस पूरी तरह सतर्क है। पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि दिल्ली में गणतंत्र दिवस के मद्देनजर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है।पुलिस सूत्रों के मुताबिक आतंकी समूह सिख फार जस्टिस (एसएफजे) की ओर से केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे पंजाब के किसानों के पास सोमवार को एक वीडियो भेजा गया। जिसमें उन्हें गणतंत्र दिवस पर उकसाने की कोशिश की गई है। किसानों के पास भेजे गए वीडियो मैसेज में एसएफजे के प्रमुख व आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्नू ने कहा है कि बीएसईएस राजधानी पावर लिमिटेड और बीएसईएस यमुना पावर लिमिटेड दिल्ली को बिजली प्रदान करती हैं। इस कंपनी का मालिक अंबानी है।नए कृषि कानून से इस कंपनी को ही ज्यादा फायदा होगा। इसलिए किसान 25 और 26 जनवरी के दिन दिल्ली की बिजली काट दें। ताकि राजधानी में अंधेरा फैल जाए और सरकार किसानों की मांग मांगने को मजबूर हो जाए। वहीं, मंगलवार से एसएफजे की ओर से दिल्ली के निवासियों को गणतंत्र दिवस के दिन घरों से नहीं निकलने की धमकी भरे फोन भी आ रहे हैं। रिकॉर्ड फोन काल में पन्नू लोगों से कह रहा है कि सरकार खालिस्तान की मांग को अहमियत नहीं दे रही है।इसलिए खालिस्तानी आतंकी गणतंत्र दिवस के दिन दिल्ली में आतंकी हमला करेंगे। इसलिए लोग इस दिन ना तो घरों से निकलें और ना ही गणतंत्र दिवस की परेड में जाए। वीडियो और ऑडियो काल ऑनलाइन मीडिया पर भी वायरल हो रही हैं। आतंकी संगठन ने गत वर्ष नवंबर महीने में हमले की बात बता लोगों से लंदन जाने वाली एयर इंडिया की उड़ान से ब्रिटेन जाने से माना किया था।इससे पहले भी एसएफजे की ओर से लाल किले पर खालिस्तानी झंडा फहराने पर लोगों को इनामा देेन सहित अलग-अलग प्रकार की बातें कही जा चुकी हैं। खालिस्तानी आतंकी संगठन की ओर से फैलाए जा रहे इन वीडियो और फोन काल के मद्देनजर पुलिस अधिकारी सक्रिय हो गए हैं। पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक राष्ट्रीय पर्व आने पर देश विरोधी संगठनों द्वारा हर बार इस प्रकार के प्रयास किए जाते हैं। लेकिन पुलिस उनके मंसूबे को किसी भी तरह से कामयाब नहीं होने देगी। पुलिस इन मामलों पर नजर रखे हुए है और दिल्ली की सुरक्षा चाक चौबंद है।

Page 2 of 1603

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें