-नेताआ को करना होगा देश का विकास तथा जनता को देना होगा पूरा समय

 

-मनप्रीत सिंह मन्ना

लोकसभा चुनावों में अपनी पार्टी की उम्मीदवारों के हित में प्रचार करने के लिए पार्टियों के नेता व उम्मीदवार चुनाव प्रचार के लिए विभिन्न गावों में जाते है। इस दौरान जो यू.टयूब , फेसबुक व अन्य सोशल मीडिया तथा न्यूज चैनलों व समाचार पत्रों द्वारा जो देखने को मिल रहा है कि लोगों द्वारा नेताआ से विकास कार्यों व पार्टियों की नीतियों को लेकर नेताआ व पार्टी के कार्यकर्ताआ से सवाल किए जा रहे है।
जबाव न देकर चलते बनते है नेता
इस दौरान जनता द्वारा जब सवाल किए जाते है तो नेता उस बात का जबाव न देते हुए वहां से निकल जाते है, जिसके बाद वहां पर हला हो जाता है। लोग पार्टियों के नाम व नेताआ का नाम लेकर नारेबाजी करते है। आज कल तो घटना कहीं भी घटित हो वह सोशल मीडिया के द्वारा लोगों तक पहले पहुंच जाती है, जिसका असर सीधा ही पार्टी के वोट बैंक पर पड़ता है।
थपड़ मारना व नेताआ पर जूते फैंकना चर्चा का विषय
चुनावों के दौरान हर नेता लोगों के बीच में चलता है। नेताआ पर थपड़ मारने व जूते फैंकने की घटनाएं घटित होती रहती है। एक घटना कांग्रेस पार्टी की वरिष्ठ नेता बीबी राजिंदर कौर भ_ल जो कि एक रैली के दौरान किसी के सवालों का जबाव न देकर नौजवान को थप्पड़ मार दिया, जिसकी काफी चर्चा हुई। इसी के साथ दिल्ली में आम आदमी पार्टी के प्रधान व दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को नौजवान द्वारा मारा गया थप्पड़ भी चर्चा का विषय बना इसी के साथ तो कई घटनाएं ऐसी घटित होती रही है, जिनकी चर्चा होती रहती है।
जीतने के बाद दिखाई न देने वाले नेताआ पर निकलता है लोगों का गुस्सा
चुनावों में कई उम्मीदवार खड़े होते है। जीत और हार बनी हुई है। कोई उम्मीदवार हार जाता है तथा कोई जीत जाता है। जीतने के बाद कई नेतागण तो जनता में जाते नहीं है। जनता को मिलने का समय नहीं देते जब चुनाव आते है तो जब वह नेता वोट मांगने के लिए आता है तो जनता के गुस्से का शिकार होना पड़ता है। कई नेता आपे से बाहर हो जाते है तथा कई बार जनता आपे से बाहर हो जाती है। इससे नेताआें की छवि को काफी नुक्सान होता है।
भगवंत मान व सिमरनजीत बैंस से लेना होगा नेताआ के सबक
लोकसभा क्षेत्र संगरूर से चुने गए सांसद व लुधियाना के विधायक सिमरनजीत सिंह बैंस ने चुनाव जीत कर जिस तरह जनता में रहे जनता की समस्याआ को हल करवाया उससे नेताआ को सबक लेकर अपनी राजनीतिक कैरियर को आगे बढ़ाना होगा। पार्टी चाहे कोई भी हो अगर नेता विकास करवाना चाहे तो विकास हो सकता है। आगे जनता को किसी बात का पता नहीं होता था लेकिन अब जनता उठकर खड़ी होने लगी है और सवालों पर सवाल खड़े हो रहे है। इन दोनों नेताआ ने जिस तरह से काम किए या जनता से घुले मिले जनता से मिल रहे प्यार व सत्कार से अंदाजा लगाया जा सकता है। पिछले फेसबुक पर भगवंत मान का आम जनता में जाकर ट्रालियों व छोटी छोटी बैकों में जुट रही भीड़ नेताआ की छवि को दर्शाती है। एक फेसबुक पर सिमरनजीत सिंह बैंस की एक वीडियो देखी जिसमें जब वह प्रचार के लिए जाते है जनता उन पर फूलों की वर्षा करती है।
जनता हुई जागृत पहनाना होगा वायदों को अमलीजामा
चुनावों के समय में विभिन्न पार्टियों द्वारा लोगों को अपनी तरफ आकर्षित करने के लिए वायदों के पिटारे खोल दिए जाते है, उस पर अमल होता है या उन वायदों को निभाया जाता है या नहीं यह बात सवाल ही बाद में पैदा होता है। जनता अब जागृत हो गई है। अब एेसा लग रहा है कि जो वायदे किए जाते है उनको अमलीजामा अब पहनाना होगा तभी जाकर आने वाले समय में नेताआें व जनता के बीच होने वाली झड़प पर अंकुश लग सकेगा।


मकान नंबर 86ए, वार्ड नंबर 5
गढ़दीवाला (होशियारपुर)
M.No.09417717095

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें