articles

- मुकेश कुमार ऋषि वर्मा गनपति चिंताग्रस्त खटिया पर लेटा था, उसके मस्तिष्क में बस यही चल रहा था कि कैसे गाँव के दबंगों से अपना खेत वापिस लिया जाये | बेचारा चौबीसों घंटे इसी चिंता में डूबा रहता है | सूखकर कांटा हो चुका है | तहसील प्रशासन के चक्कर लगा-लगाकर उसकीं टायर वाली चप्पल भी घिस गईं, पर कोई सकारात्मक कार्यवाही नहीं हुई | थकहार कर बेचारा गनपति…
-प्रभुनाथ शुक्ल [Journalist] आयोध्या 26 साल बाद फिर राजनीतिक केंद्र में है। बाबरी विंध्वंस की 26 वीं बरसी के ठीक ग्यारह दिन पूर्व 25 नवम्बर को रामलला की नगरी हिंदुत्व आंदोलन और राममंदिर निर्माण संकल्प का नया गवाह बनने जा रही है। लोकसभा चुनाव को देखते हुए सियासी दलों में हिंदुत्व और राम मंदिर पर एक बार पुनः प्रेम जाग उठा है। लेकिन मंदिर का निर्माण कब और कैसे होगा…
-इं. ललित शौर्य चुनाव आते ही मतदाता वशीकरण महायज्ञ के दिव्य-भव्य आयोजन चालू हो जाते हैं। चारों तरफ रिझाने-मनाने का अभियान जोरों पर रहता है।नेता अघोरी तांत्रिकों की भाँति तंत्र विद्या में जुट जाते हैं। मतदाताओं को अपने वश में करने के लिए बड़े-बड़े अनुष्ठान किये -करवाये जाते हैं। मुर्गा, दारू, बोतल-शोतल , पैसा-रोकड़ा सबका इंतजाम रहता है। बिना इन आहुतियों के यज्ञ सफल होने की कोई गारंटी नहीँ रहती।…
आज हर किसी की जिंदगी भाग दौड़ वाली है। ज्यादा काम का दबाव व्यक्ति के भीतर तनाव की स्थिति बन जाती है। तनाव के कारण हम लोग नकारात्मक विचारों को अपने मन में सोचने लगते है, इससे हमारे आस-पास नकारात्मक ऊर्जा का एक अनचाहा वातावरण बन जाता है। यह नकारात्मक वातावरण हमारे स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव डालता है। आज जीवन में नकारात्मकता का अंश इतना ज्यादा हो गया है कि…

ममता (लघुकथा)

पिंकी पाँच साल की थी तभी उसकी मॉ का साया छूट गया था . तब वह बेबस और अकेली हो गईं थी. उसकी देखभाल के बहाने उसके पापा ने अपनी सहूलियत देखकर सरोज से विवाह कर लिया था. पिंकी को एक आधार सा मिल गया था . कालांतर में उसे पुत्र हुआ तो उसका व्यवहार पिंकी के प्रति बदल गया . वह उपेक्षा की शिकार होती चली गयी . उसे…
-अशोक कुमार ढोरिया बैंड बज रहे थे। दूल्हे राजा के साथी व सगे सम्बन्धी शादी के पवित्र बंधन में नाच कूद कर खुशी मना रहे थे। आतिशबाजी हो रही थी। दूल्हे राजा होने वाली पत्नी के घर द्वार पर पहुँचे। दूसरी तरफ बारातियों की आवभगत में प्रीतिभोज चल रहा था।प्रीतिभोज के बाद भी देखा गया कि दूल्हे राजा दुल्हन के द्वार पर खड़े थे। बारातियों ने सोचा कि नीम झड़ाई…
*गरमागरम कवि सम्मेलन 2018 खगड़िया में अट्टहास का विमोचन पटना (हम हिंदुस्तानी)-अखिल भारतीय अंगिका साहित्य कला मंच खगड़िया एवं कविता कोश के तात्वाधान में गरमागरम विराट कवि सम्मेलन 2018 का भव्य आयोजन किया गया । हिन्दी भाषा साहित्य परिषद खगड़िया के अध्यक्ष तथा अखिल भारतीय अंगिका मंच के महासचिव कैलाश झा किंकर एवं अंगिका मंच के अध्यक्ष नंदेश निर्मल के संयुक्त संयोजन में खगड़िया जिला श्री गौशाला प्रांगण में आठ…
-बाल मुकुन्द ओझा (वरिष्ठ लेखक एवं पत्रकार) विश्व पर्यावरण संरक्षण दिवस प्रति वर्ष 26 नवम्बर को पर्यावरण संतुलन बनाए रखने एवं जन सामान्य को जागरूक करने के साथ सकारात्मक कदम उठाने के लिए मनाया जाता है। प्रकृति ने मनुष्य को कई प्रकार की सौगात दी है जिसमें सबसे बड़ी सौगात पर्यावरण की है। अगर पर्यावरण न हो तो पृथ्वी में जीवन संभव नहीं होगा। बिना पर्यावरण के कोई भी जीव…
-गौरव मौर्या कल्पना कीजिये कि कोई बाहरी व्यक्ति आपके घर मे कुछ ऐसे कचरे डाल देता है जिसे आप न तो बाहर निकाल सकतें है और न ही नष्ट कर सकतें है। कैसी स्थिति होगी आपकी? आज बिल्कुल वैसी ही स्थिति हमारे द्वारा उत्पादित ई-कचरों से हमारी पृथ्वी की हो रही है इसके लिए कोई बाहरी नही बल्कि हम सब जिम्मेदार है। आज का युग इलेक्ट्रॉनिक युग है तरह तरह…
- डा. राजेन्द्र प्रसाद शर्मा नोटा के प्रयोग को लेकर सोशियल मीडिया पर इन दिनोें खासतौर से चर्चा हो रही है। हांलाकि छत्तीसगढ़ में दो चरणों में मतदान हो चुका है। राजस्थान, मध्य प्रदेश सहित अन्य स्थानों पर चुनाव प्रचार का कार्य अब पूरे जोर पर है वहीं केन्द्र व राज्य सरकार के प्रति विरोध प्रदर्शित करने और किसी भी दल या उम्मीद्वार को नकारते हुए नोटा के प्रयोग को…
Page 81 of 89

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें