articles

- राजेश कुमार शर्मा"पुरोहित", साहित्यकार महिला सशक्तिकरण के अन्तर्गत महिलाओं से जुड़े सामाजिक,आर्थिक,राजनैतिक और कानूनी मुद्दों पर संवेदनशीलता और सरोकार व्यक्त किया जाता है।सशक्तिकरण की प्रक्रिया में समाज को पारम्परिक पितृ सत्तात्मक दृश्टिकोण के प्रति जागरूक किया जाता है। आज भी हमारे देश मे महिलाएं पूर्ण रूप से सशक्त नहीं है ग्रामीण क्षेत्रों में महिला सरपंच के स्थान पर उनके पति ही राजकाज करते हैं। कई महिला सरपंच अपने साथ…
-प्रभुनाथ शुक्ल (स्वतंत्र पत्रकार) भाजपा मिशन-2019 की तैयारी में पूरी तरह जुट गयी है। उसने अपनी रणनीति के केंद्र में यूपी और कांग्रेस के सियासी गढ़ अमेठी को रखा है। जबकि महागठबंधन की चुनावी तस्वीर अभी जमीन पर उतरती नहीं दिखती। भाजपा किसी भी तरह से यूपी को अपने हाथ से नहीं निकलने देना चाहती। अबकि बार उसके निशाने पर गांधी परिवार की राजनीतिक जमींन अमेठी है। स्मृति ईरानी और…
- योगेश कुमार गोयल पाकिस्तान द्वारा पुलवामा में दहशत का खूनी खेल खेलने के बाद से ही समूचे भारत में उसके साथ हर मोर्चे पर संबंध तोड़ लिए जाने की मांग जोर पकड़ रही है। फिर वो संबंध राजनयिक हों या आर्थिक अथवा खेल संबंधी। बालाकोट में भारत द्वारा की गई एयरस्ट्राइक और उसके बाद पाकिस्तान के दस एफ-16 विमानों द्वारा भारतीय सीमा में भारत में सैन्य ठिकानों को निशाना…
-Vibhooti Mani Tripathi देश प्रेम और देश भक्ति एक ऐसा जज्बा है जिसके लिये इंसान कुछ भी करने के लिये तैयार हो जाता है, देश प्रेम और देश भक्ति एक ऐसी भावना है जिसको कभी किसी को सिखाया नही जा सकता, यह एक ऐसा एहसास है जो कि इंसान केे अंदर अपने आप पैदा होता है । जिस पल मनुष्य धरती पर जन्म लेता है उसी समय उस देश की…
रमेश सर्राफ धमोरा (स्वतंत्र पत्रकार)विश्व के विभिन्न क्षेत्रों में महिलाओं के प्रति सम्मान,प्रशंसा और प्यार प्रकट करते हुए इस दिन को महिलाओं के आर्थिक, राजनीतिक और सामाजिक उपलब्धियों के उपलक्ष्य में उत्सव के तौर पर दुनियाभर में हर वर्ष 8 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाता है। आज दुनिया में महिलाशक्ति हर क्षेत्र में अपनी ताकत का अहसास करवा रही है। भारत में देश के दो महत्वपूर्ण मंत्रालय रक्षा…
-डॉ प्रदीप उपाध्याय,कहते हैं कि जो जीता वही सिकन्दर लेकिन लोकतंत्र के तथाकथित मन्दिर में क्या तो पतित और क्या पावन क्योंकि उसमें किसकी घटस्थापना हुई और कौन विराजित हुआ, इसपर संशय हमेशा से बना रहा है।कारण यही है कि लोकतंत्र में जीत-हार का गणित चुनावी गोरख धन्धे से तय होता है।इसी में मूरत भी तय होती है।अतः यह तय कर पाना भी जरा मुश्किल ही है कि चुनाव करना/करवाना…
- योगेश कुमार गोयल संयुक्त अरब अमीरात की राजधानी अबूधाबी में 1-2 मार्च को इस्लामिक देशों के विदेश मंत्रियों के सम्मेलन ‘ऑर्गनाइजेशन ऑफ इस्लामिक को-ऑपरेशन’ (ओआईसी) को सम्बोधित करते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने आतंकवाद के मुद्दे को पुरजोर तरीके से उठाते हुए इस्लामिक देशों के इस बड़े मंच के जरिये भी पाकिस्तान का नाम लिए बगैर उसे खूब खरी-खोटी सुनाई, जिससे पाकिस्तान इस्लामिक देशों के संगठन में अलग-थलग…
-बाल मुकुन्द ओझा (वरिष्ठ लेखक एवं पत्रकार) भारत में एयर सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर सियासत शुरू हो गई है। पक्ष और विपक्ष ने एक दूसरे पर चुनावी लाभ लेने के आरोप लगाकर सियासत को गरमा दिया है। 26 फरवरी को पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने आतंकवादियों को मुंहतोड़ जवाब देते हुए पीओके और पाकिस्तान के आतंकी कैंपों पर हवाई हमला किया और उसके सारे कैंपों…

सबक़

-उत्तम सूर्यवंशीबात बीस साल पुरानी है। उस वक्त मैं मात्र आठवीं कक्षा में पढ़ रहा था।किसी काम को लेकर मैं जिला मुख्यालय चम्बा गया हुआ था। वहाँ से आते समय मुझे बस सुड़ला तक ही मिल सकी अभी भी मुझे घर तक पहुँचने के लिए तीस किलोमीटर की दूरी तय करनी थी। अतः मैं वहां से एक निजी बस में बैठ गया । बस में काफ़ी भीड़ थी जिस कारण…
- सोनिया चोपड़ा आज हर जगह चाहे वह गांव हो या शहर हर जगह महिला सशक्तिकरण की चर्चा हो रही है। महिलाओं की स्थिति में पहले की अपेक्षा काफी सुधार हुआ है लेकिन जिस तेजी से सुधार की परिकल्पना की जाती है वैसा सुधार अभी नही हो पाया है। सामाजिक परिवेश में विभिन्न भूमिकाएं निभाते हुई महिलाएँ आज हर क्षेत्र में पुरूषों के कंधे से कंधा मिलाकर चल रही हैं।…
Page 9 of 53

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें