articles

-सलीम रज़ाबच्चे देश का भविष्य होते हैं ये बात सुनते चले आ रहे हैं,लेकिन देश का भविष्य कहे जाने वाले नौनिहाल सरकार के अधूरे संकल्प और दिशाहीनता के चलते खुद बेहाल हैं। हिन्दुस्तान ऐसे बड़े और साधन संपन्न देश में अगर बचपन नकारा सिस्टम और दिशाहीन सरकार की भेंट चढ़ जाये तो फिर कैसे संवरेगा भविष्य और कैसे अपने पैरों पर दौड़ेगा बचपन ? बच्चों के भविष्य को लेकर हर…
-सलीम रज़ाबच्चे देश का भविष्य होते हैं ये बात सुनते चले आ रहे हैं,लेकिन देश का भविष्य कहे जाने वाले नौनिहाल सरकार के अधूरे संकल्प और दिशाहीनता के चलते खुद बेहाल हैं। हिन्दुस्तान ऐसे बड़े और साधन संपन्न देश में अगर बचपन नकारा सिस्टम और दिशाहीन सरकार की भेंट चढ़ जाये तो फिर कैसे संवरेगा भविष्य और कैसे अपने पैरों पर दौड़ेगा बचपन ? बच्चों के भविष्य को लेकर हर…
-तनवीर जाफ़री 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है। पिछले दिनों 2019 से पहले हुए विधानसभा चुनावों के परिणाम जिन्हें लोकसभा 2019 का सेमीफाईनल कहा जा रहा था, आ चुके हैं। इन परिणामों में उत्तर भारत के तीन बड़े राज्य मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ भारतीय जनता पार्टी के हाथों से निकल गए हैं और जिस ‘कांग्रेस मुक्त भारत की कल्पना भाजपाई शीर्ष नेता कर रहे थे…
-विनोद कुमार विक्की आज सपने में टहलते हुए बापू मिल गए।अरे भाई .... आसाराम बापू नहीं मोहन दास करमचंद बापू।वही 1947 वाला लुक आंखों पर गोल चश्मा,एक धोती पर ढ़का हुआ शरीर,हाथ में लाठी.......हाँ दाएँ-बाएँ कन्याए नजर नहीं आ रही थी।औपचारिक अभिवादन के बाद सोचा आज बापू का इंटरव्यू ले लूँ यही सोच कर मै उनसे पूछ बैठा-''हैप्पी बर्थडे बापू.... कैसे होÓÓ?बापू ने मुस्कुराते हुए जवाब दिया-"मैं तो ठीक हूँ…
जयपुर (हम हिंदुस्तानी)- नेहरू युवा केंद्र संगठन जयपुर, राजस्थान, युवाकार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय तथा गृह मंत्रालय भारत सरकार के सहयोग सेस्काउट केंद्र जयपुर में 1 से 7 जनवरी तक 11 वां राष्ट्रीय आदिवासीयुवा आदान प्रदान कार्यक्रम का आयोजन किया गया। समापन कार्यक्रम केमुख्य अतिथि, रामकृष्ण स्वर्णकार निदेशक गृह मंत्रालय भारत सरकार थे।अध्यक्षता डाॅ राजेश कुमार शर्मा निदेशक गाॅधी अध्ययन केंद्र राजस्थानविश्वविधालय , विशिष्ट अतिथि डाॅ मुकेश जैन, श्री लोकेश शर्माप्रबंधक…
-प्रदीप हम आधुनिक मानव (होमो सेपियंस) पिछले दस हजार सालों से एकमात्र मानव प्रजाति होने के इस कदर अभ्यस्त हो चुके हैं कि किसी दूसरी मानव प्रजाति के बारे में कल्पना करना भी मुश्किल लगता है। उन्नीसवीं और बीसवीं सदी के आरंभ में मानव वैज्ञानिकों और पुरातत्वविदों ने हमारी इस सोच को बदलते हुए बताया कि वास्तव में होमो सेपियंस मानव प्रजातियों की महज एक किस्म है। आज से तकरीबन…
- डा. राजेन्द्र प्रसाद शर्मासत्रहवीं लोकसभा चुनाव के सात चरणों में से तीन चरण पूरे हो चुके हैं और 543 में से 303 लोकसभा सीटों के लिए मतदान हो चुका है, पर तीन चरणों के मतदान के जो आंकड़े सामने आए हैं वे साफ तौर से मतदाताओं की मतदान के प्रति बेरुखी दर्शा रहे हैं। देश में आधे से ज्यादा लोकसभा क्षेत्रों के लिए मतदाता अपने प्रतिनिधियों के भाग्य का…

मासूम बचपन

-नीरज त्यागी, ग़ाज़ियाबाद ( उत्तर प्रदेश ). आशीष और सपना शादी के बाद अपनी जॉब की वजय से अपने संयुक्त परिवार में ना रहकर गुड़गांव के दो कमरे के फ्लैट में अपना जीवन यापन कर रहे हैं।उन दोनों की शादी को लगभग पंद्रह साल हो गए हैं और एक बारह वर्षीय पुत्री के माता पिता है।उनकी बिटिया एक बड़े ही अच्छे स्कूल में पढ़ रही है दोनों पति पत्नी अपनी…

सोच और ममता

आशुतोष,m पटना बिहार, 9852842667(wtsapp) राजू को अपनी ही पड़ोस कि एक लडकी से प्यार हो गया ।राजू ने उस लडकी कामिनी को दोस्त बनाया पर वह अपने प्यार का इजहार न कर सका, क्योंकि उसे डर था कि कहीँ वह और घर वाले विरोध न कर दे तो दोस्ती भी टुट जाएगी और वो ऊससे कभी बात तक नही करेगी दोनो समान जाति के नही थे इसी वजह से राजू…
गुवाहाटी (हम हिंदुस्तानी)-पूर्वोत्तर भारत को विकलांगता के अभिशाप से मुक्ति दिलाने के महान उद्देश्य से गुवाहाटी के अमीनगाँव में 28 मार्च 1991 को स्थापित तोलाराम बाफना कृृत्रिम पैर व कैलिपर केंद्र ने गत 29 अप्रैल को 8 विकलांगों को नि:शुल्क कृृत्रिम पैर व कैलिपर प्रत्यारोपित करने के साथ ही 9000 विकलांगों को नि:शुल्क अत्याधुनिक कृृत्रिम जयपुरी पैर प्रत्यारोपित कर मानव सेवा के क्षेत्र में नया कीॢतमान स्थापित किया है। विशिष्ट…
Page 9 of 80

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें