articles

-राहुल लाल (कूटनीतिक मामलों के विशेषज्ञ) रूस और यूक्रेन के ताजा टकराव ने वैश्विक ताकतों के बीच एक बार फिर तनाव पैदा कर दिया है,जो न्यू कोल्ड वार की आहट है।यूक्रेन के तीन नौसैनिक जहाजों पर हमले के बाद रूस और यूक्रेन के बीच तनाव पुनः चरम पर पहुँच गया है।रूस ने क्रीमियाई प्रायद्वीप के पास यूक्रेन के तीन जहाजों पर हमला कर उन्हें अपने कब्जे में ले लिया है।इस…
-डॉ नीलम महेंद्र (Best editorial writing award winner) हाल ही में जापान की राजकुमारी ने अपने दिल की आवाज सुनी और एक साधारण युवक से शादी की। अपने प्रेम की खातिर जापान के नियमों के मुताबिक, उन्हें राजघराने से अपना नाता तोड़ना पड़ा। उनके इस विवाह के बाद अब वे खुद भी राजकुमारी से एक साधारण नागरिक बन गईं हैं। कैम्ब्रिज के ड्यूक और ब्रिटेन के शाही परिवार के राजकुमार…
-बाल मुकुन्द ओझा (वरिष्ठ लेखक एवं पत्रकार) राजस्थान में चुनावी रणभेरी बज गयी है। सत्तारूढ़ भाजपा और कांग्रेस ने चुनाव जीतने के लिए अपने सियासी तीरों की बौछारे शुरू करदी है। तीसरा मोर्चा हालाँकि कोई मजबूत विकल्प के रूप में सामने नहीं आया है फिर भी कांग्रेस और भाजपा से आये बागियों को साथ लेकर लगभग तीन दर्जन सीटों पर मुकाबला त्रिकोणीय बनाने में सफल हुआ है। घनश्याम तिवाड़ी और…
-गौरव मौर्या हठ और बचपन का बहुत गहरा सम्बन्ध होता है।बाल्यवस्था में ये दोनों सामान्यतः एक दूसरे के पूरक होतें हैं। इसीलिए कहा जाता है कि बालहठ से बड़ा कोई हठ नही होता अतः इसी हठ के कारण बच्चों के मन में जो भी चाहत उठती है,उसे वे पूरा करना चाहतें हैं।आजकल बच्चों में विभिन्न प्रकार की कामनाएं उभारने के अनेकोनेक साधन उपलब्ध हैं,उनकी पूर्ति की व्यग्रता बालमन में एक…
सलीम रज़ा, देहरादून कालान्तर से हमारे देश भारत में नारी को सर्वोच्च स्थान प्राप्त है। नारी को पूज्य माना गया है, यहां तक की नारी को अर्धांग्नी की संज्ञा दी गई। नारी वो ममता की मूरत है, जिसके अन्दर कई रूप समाहित हैं। अपने सारे रूपों से निकलकर जब मां के रूप में आती है तो एक आत्मीय शान्ति और सुखद अनुभूति होती है। जिसके आंचल में ममता, प्यार और…
-राज शेखर भट्ट, देहरादून यह भी एक विशिष्ट उदाहरण है कि समस्त देवभूमि उत्तराखण्ड की एकमात्र इष्ट देवी ‘नन्दा’ ही है। इस पर्वतीय अंचल में नंदा की पूजा और अर्चना जिस प्रकार की जाती है वह अन्यत्र देखने में नहीं आती। गढ़वाल में मां नंदा की पूजा विशिष्ट तौर-तरीकों से की जाती है। प्रति बारह साल बाद यहां धार्मिक रीति-रिवाजों के अनुसार नंदा राजजात यात्रा का आयोजन किया जाता है।…
-रमेश सर्राफ धमोरा (स्वतंत्र पत्रकार) राजस्थान में आगामी सात नवम्बर को होने जा रहे 15 वीं विधानसभा के चुनाव में भाजपा व कांग्रेस दोनो पार्टियों को ही अपने बागियों से नुकसान उठाना पड़ रहा है। कांग्रेस के मुकाबले भाजपा को अपने बागियों से कम नुकसान उठाना पड़ेगा, क्योंकि भाजपा ने नाम वापसी के अन्तिम समय तक कई प्रभावशाली बागियों को मना कर उनका नामांकन फार्म उठवाने में सफल रही जबकि…
रोहतक (हम हिंदुस्तानी)- सामाजिक संस्था विलक्षणा एक सार्थक पहल समिति की संस्थापक एवं अध्यक्ष तथा बहलम्बा गाँव की बेटी व अजायब गाँव की बहू डॉ सुलक्षणा अहलावत को अलग अलग संस्थाओं ने सम्मानित किया। डॉ सुलक्षणा अहलावत को शिक्षा एवं समाज सेवा में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए सम्मानित किया गया। प्रकृति भक्त फाउंडेशन द्वारा दिल्ली में आयोजित दिल्ली गॉड गिफ्टेड रत्न अवार्ड समारोह में उन्हें गेस्ट ऑफ ऑनर से…
-ओम प्रकाश उनियाल जहां शहरों में तरह-तरह के प्रदूषण से वायु प्रदूषित होती जा रही है। वहीं दिनोंदिन बढती आबादी शहरों के लिए घातक सिद्ध हो रही है। हर कोई शहरों की तरफ रुख कर रहा है। खासतौर पर बड़े शहरों की तरफ। सरकारें भी शहरों का परिसीमन कर गांवों का शहरीकरण करती रहती है। दबड़ेनुमा घरों या फ्लैट्स में जिंदगी काट रहे हैं लोग। गगनचुंबी इमारतें और कुकरमुतों की…
ज्ञानेंद्र मोहन ज्ञान का 'और कब तक ' नामक गजल संग्रह ऐसे समय में आया है जब प्यार के अभाव में खुदगर्जी का चलन बढ़ गया है इसलिए सौ गजल के इस समूचे संग्रह के सभी प्रतीकों कथनों उपकथनों को कोई एक नाम दिया जाए तो वह होगा प्यार की तलाश | प्यार की असीम पिपासा को शांत करने के लिए शायर गजलों के विभिन्न वैचारिक उपायों से रिश्तों को,…
Page 80 of 89

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें