articles

-आशीष वशिष्ठ (स्वतंत्र पत्रकार) तीन राज्यों में सत्ता गंवाने के बाद राफेल मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले से बीजेपी के खेमे में खुशी की लहर है। सर्वोच्च अदालत के बाद संसद से लेकर सड़क तक बीजेपी के नेता व मंत्री कांग्रेस के आड़े हाथों लेते दिखे। संसद में भी सरकार ने विपक्ष को राफेल मामले में बहस की चुनौती दी है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस के मुखिया…
-राजीव डोगराआज हम 21वीं सदी के आधुनिक दौर में जीवन जी रहे हैं इस दौर में अनुशासनहीनता और हिंसा सिर्फ हमारे व्यक्तिगत जीवन तथा समाज में ही नहीं होती बल्कि ऑनलाइन अनुशासनहीनता और हिंसा का रुझान भी दिन-प्रति-दिन बढ़ता चला जा रहा है जैसे फेसबुक तथा व्हाट्सएप प्रयोग करने वाले आज के लोग या कहे आधुनिक पीढ़ी ऑनलाइन अनुशासनहीनता और हिंसा की बढ़ावा दे रही हैं एक तरफ इनका सदुपयोग…
-डॉ नीलम महेंद्र(Best editorial writing award winner) तीन राज्यों में विधानसभा चुनावों के नतीजों के परिणामस्वरूप कांग्रेस की सरकार क्या बनी, न सिर्फ एक मृतप्राय अवस्था में पहुंच चुकी पार्टी को संजीवनी मिल गई, बल्कि भविष्य की जीत का मंत्र भी मिल गया। जी हाँ, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपने इरादे स्पष्ट कर चुके हैं कि किसानों की कर्जमाफी के रूप में उन्हें जो सत्ता की चाबी हाथ लगी है…

कैलेंडर

-नीरज त्यागीदरवाजे की घंटी बजने पर उमेश ने दरवाजा खोला।दरवाजा खोलते ही उमेश ने देखा उसका बडा बेटा शाम को अपनी नौकरी से वापस आ गया है।उमेश ने अंदर जाकर बेटे को चाय बना कर दी।उमेश की पत्नी का देहांत लगभग 20 वर्ष पूर्व हो गया था।उस समय उसके दोनों बच्चे छोटे थे।आज उमेश बहुत खुश है क्योंकि उसके बच्चे आज बहुत अच्छी जॉब पर बड़ी-बड़ी कंपनियो में लग गए…
- राजेश कुमार शर्मा"पुरोहित" (कवि,साहित्यकार) काशी हिन्दू विध्वविद्यालय के प्रणेता इस युग के आदर्श पुरुष । भारत के प्रथम और अंतिम व्यक्ति थे जिन्हें महामना की सम्मानजनक उपाधि से विभूषित किया गया। पत्रकारिता, वकालात,समाज सुधार,मातृभाषा तथा भारत माता की सेवा में जीवन अर्पण करने वाले इस महामानव ने जिस विश्विद्यालय की स्थापना की उसमे उनकी परिकल्पना ऐसे विद्यार्थीयो को शिक्षित करके देश सेवा के लिए तैयार करने की थी जो…
-सलीम रज़ा, देहरादून (8859127838) अभी सियासत का सेमीफाईनल ही हुआ है, जिसमें तकरीबन हांफते-हांफते कांगेस पार्टी ने भाजपा को 3-0 से हरा दिया। तमाम कांग्रेसी सत्ता रूपी ट्राफी को हाथों में उठाकर जीत कर जश्न मनाने में मशगूल है। वहीं भारतीय जनता पार्टी के खेमे में ऐसा माहौल बन गया जैसे मानो पार्टी को ब्रेन स्टोक हो गया हो, लेकिन भई जीत तो जीत है। एक तरफ जहां कांग्रेस अपनी…
- योगेश कुमार गोयल(राजनीतिक विश्लेषक एवं वरिष्ठ पत्रकार) एटीएम उद्योग का प्रतिनिधित्व करने वाले संगठन ‘कैटमी’ (कन्फेडरेशन ऑफ एटीएम इंडस्ट्री) ने गत दिनों चेतावनी देते हुए स्पष्ट किया है कि चालू वित्त वर्ष के अंत तक अर्थात् मार्च 2019 तक देश के करीब 50 फीसदी एटीएम बंद हो जाएंगे। इस चेतावनी के बाद से ही बैंकिंग क्षेत्र में चिंता का माहौल है। हालांकि बंद होने वाले अधिकांश एटीएम गैर शहरी…
-सुरेन्द्र कुमार (लेखक एवं विचारक) पाँच वर्षों की लंबी सियासी लड़ाई के उपरांत कांग्रेस पार्टी देश के तीन प्रमुख राज्यों में सत्ता हथियाने में कामयाब तो हुई। परंतु हाईकमान कल्चर वाली इस पार्टी को इन राज्यों के लिए मुख्यमंत्री तय करने में कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। चार दिनों तक चली लंबी मंत्रणा के बाद गांधी परिवार की तिकडी यानी राहुल, सोनिया और प्रियंका ने फरमान जारी किए कि कमलनाथ को…
-तनवीर जाफ़री भारतवर्ष की भूमि निश्चित रूप से इस बात पर गर्व करती है कि जितने महापुरुष,ऋषि-मुनि,संत-फ़क़ीर तथा अवतार इस पावन धरती पर आए उतने शायद दुनिया के किसी भी देश में नहीं हुए। इसीलिए भारतीय समाज लगभग सामूहिक रूप से इस बात को स्वीकार करता है कि अनेक प्रकार के राजनैतिक,सामाजिक,क्षेत्रीय,जातीय व सांप्रदायिक मतभेदों के बावजूद तथा स्वार्थपूर्ण एवं सत्ता केंद्रित राजनीति होने के बाद भी हमारा देश इन्हीं…
-बाल मुकुन्द ओझा (वरिष्ठ लेखक एवं पत्रकार) देश के तीन हिंदी भाषी राज्यों में विजयी पताका फहराने के बाद अब कांग्रेस को संजीवनी मिल गयी है। कांग्रेस अध्यक्ष के तौर पर राहुल गांधी के एक साल पूरा होने के मौके पर कांग्रेस पार्टी ने तीन राज्यों में शानदार जीत हासिल की है। ऐसा लगता है सत्ता विरोधी लहर ने मोदी लहर को पछाड़ने में सफलता प्राप्त करली है। एससी-एसटी एक्ट…
Page 74 of 89

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें