articles

- ओम प्रकाश उनियाल गांधी जी की नीतियों को बेशक कुछ लोग पसंद न करते हों लेकिन उनकी व्यवहारिक बातें दमदार हैं। शायद मोदी जी भी उनकी बातों का अनुसरण करवा रहे हैं। ताकि आज समाज जिस गर्त में जा रहा है उससे बच सके। गांधी जी की कही छोटी-छोटी बातों को हर कोई जानता है। मगर अपने जीवन में कोई भी कितनी गहनता से उतारता है यह ज्यादा महत्वपूर्ण…
-मलिक असगर हाशमी पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और वहां के मुख्य सियासी दलों में एक तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के अध्यक्ष इमरान खान 66 वर्ष की उम्र में पांच बच्चों की मां 55 वर्षीय धर्मगुरू बुशरा वाट्टू से निकाह की हैट्रिक लगाकर विवादों में घिर गए हैं। चुनाव करीब होने के कारण जब पाक को आतंकवाद, गरीबी जैसी गंभीर समस्याओं से उबारने के लिए सपने बुनने का समय है तो…
-डॉ नीलम महेंद्र(Best editorial writing award winner) कर्नाटक में युगादि, तेलुगु क्षेत्रों में उगादि, महाराष्ट्र में गुड़ी पड़वा, सिंधी समाज में चैती चांद, मणिपुर में सजिबु नोंगमा नाम कोई भी हो तिथि एक ही है चैत्र मास की शुक्ल प्रतिपदा, हिन्दू पंचांग के अनुसार सृष्टि की उत्पत्ति का दिन, नव वर्ष का पहला दिन,नवरात्रि का पहला दिन।इस नववर्ष का स्वागत केवल मानव ही नहीं पूरी प्रकृति कर रही होती है।…
-प्रभुनाथ शुक्ल (स्वतंत्र पत्रकार हैं) भारत की सर्वोच्च अदालत ने दया मृत्यु यानी इच्छा-मृत्यु पर अपना अहम और ऐतिहासिक फैसला सुनाया है । दुनिया के दूसरे देशों के तरह अब यहाँ भी इच्छा मृत्यु की कानूनी मंजूरी मिल सकती है। अदालत ने सरकार से इस विषय पर कानून बनाने को कहा है। भारत में कई सालों से यह लड़ाई लड़ी जा रही थी।फरवरी 2015 में सुप्रीम कोर्ट ने पैसिव यूथेनेशिया…
-ओम प्रकाश उनियालभारत नक्सलवाद, माओवाद, अलगाववाद और आतंकवाद से निरंतर जूझ रहा है। हमारे सैनिक व सुरक्षाकर्मी अकारण इनके हमलों का शिकार हो रहे हैं। आखिर कैसे और क्यों बन रहे हैं ये इतने शक्तिशाली। इनकी लड़ाई में हमारे कितने जवान शहीद हो चुके हैं। जिनका बदला हम पूूरी तरह नहीं ले पा रहे हैं। इससे सैनिकों और सुरक्षाकर्मियों का मनोबल गिरता जा रहा है। देश के भीतर की गुप्त…
-संजय सिंह राजपूतहम सभी जानते हैं गोवा में कांग्रेस एक बड़ी पार्टी के रूप में २०१७ के चुनाव में जीत दर्ज की। लेकिन सरकार नहीं बना पाई। प्रथम दृष्टया सरकार बनाने का हक कांग्रेस को ही था। लेकिन ये निमंत्रण का इंतजार करते रहे और उधर भारतीय जनता पार्टी ने बिना वक्त गंवाए सारी नैतिकता को ताक पर रख सरकार बनाने का दावा ही नहीं, बल्कि सरकार भी बनाया। अब…
-निर्मल रानी पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त जेएम लिंगदोह ने अपनी सेवा निवृति से पूर्व राजनीति में प्रवेश होने की अटकलों से संबंधित पूछे गए सवाल के जवाब में कहा था कि-मैं राजनीतिज्ञों को अपने पास बिठाना भी पसंद नहीं करता।’ उन्होंने भारतीय राजनेताओं की निम्नस्तरीय हरकतों तथा उनकी स्वार्थपूर्ण व विचार व सिद्धांतविहीन राजनीति से दु:खी होकर ऐसा उत्तर दिया था। निश्चित रूप से भारतीय राजनीति दिन-प्रतिदिन अपना स्वरूप कुछ…
-प्रभुनाथ शुक्ल (स्वतंत्र पत्रकार हैं) राजनीतिक रुप से अहम उत्तर प्रदेश के उपचुनाव ने एक नया संदेश दिया है। यह संदेश जहाँ विपक्ष के लिए संजीवनी है वहीँ भाजपा के लिए मंथन का विषय। यह विशेष रुप से भाजपा और प्रधानमंत्री मोदी के लिए शुभ नहीँ है। प्रदेश की सत्ता के दो खास चेहरे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ख़ुद अपनी सीट बचाने में नाकाम रहें हैं…
बाल मुकुंद ओझा (वरिष्ठ लेखक एवं पत्रकार) विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग को लेकर देश में सियासी हलचल शुरू हो गई है। आंध्र प्रदेश ने विशेष राज्य का दर्जा देने की अपनी पुरानी मांग को मनवाने के लिए एनडीए सरकार से अपने सम्बन्ध विच्छेद करने का फैसला किया है। बिहार ने भी विशेष राज्य की मांग उठाकर एनडीए का सिरदर्द बढ़ा दिया है। झारखण्ड पहले से ही आंदोलनरत…
-तनवीर जाफ़री भारतीय जनता पार्टी के चुनाव प्रचार का सबसे महत्वपूर्ण वाक्य जो गत् एक दशक से सबसे अधिक प्रचारित किया जा रहा है वह है 'गुजरात का विकास मॉडल" या 'पूरे देश को गुजरात बना देना" जैसा प्रचार। प्रायोजित प्रचार माध्यमों द्वारा कहने को तो यही कहा जाता है कि गुजरात की बात करने का अर्थ है 'गुजरात जैसे विकास मॉडल को पूरे देश में लागू करने का प्रयास'…
Page 55 of 76

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें