articles

-रमेश सर्राफ धमोरा (स्वतंत्र पत्रकार)भगवान विश्वकर्मा को वास्तुशास्त्र और तकनीकी ज्ञान का जनक माना जाता है। पौराणिक साक्ष्यों के मुताबिक, स्वर्गलोक की इन्द्रपुरी, यमपुरी, वरुणपुरी, कुबेरपुरी, असुरराज रावण की स्वर्ण नगरी लंका, भगवान श्रीकृष्ण की समुद्र नगरी द्वारिका और पांडवों की राजधानी हस्तिनापुर के निर्माण का श्रेय भी विश्वकर्मा को ही जाता है। पौराणिक कथाओं में इन उत्कृष्ट नगरियों के निर्माण के रोचक विवरण मिलते हैं। उड़ीसा का विश्व प्रसिद्ध…
-ओम प्रकाश उनियालहिमालय के आँचल में बसे गांवों से पलायन होना वास्तव में हिमालयी राज्यों के लिए सामरिक दृष्टि से भी चिंता का विषय है। पड़ौसी देेश चीन और पाक हमेशा भारत पर नजर गढ़ाए रहते हैं। सीमांत क्षेत्रों में आबादी होना जरूरी है। क्योंकि सीमावर्ती गांवों के लोगों का सीमाओं की सुरक्षा में खासा योगदान होता है। कोई भी घुसपैठिया यदि सीमा में घुसपैठ करता है तो ये लोग…
शब्द आईने की नजर में "दलित" -विनीत सिंहडिप्टी एस. पी, उत्तर प्रदेश पुलिस एसटीएससी एक्ट को लेकर देश में मचे सियासी घमासान ने एक नई राजनीति बहस को जन्म दे दिया है।इस बहस में सवाल उठ रहे हैं कि जब "दलित "और "हररिजन"शब्द कानूनी तौर पर प्रतिबंधित हैं तो उनके नाम पर विशेषाधिकार क्यों?क्या राजनीतिक फायदे के लिये इनके तुस्टीकरण का खेल खेला जा रहा और एट्रोसिटी एक्ट भी उसी…
गंगापुर सिटी (हम हिंदुस्तानी)-हिन्दी-दिवस के अवसर पर "शान्ति महरवाल मल्टी स्पेशलिटी हॉस्पिटल" (दशहरा मैदान, भोमिया जी के बाग के पीछे) में 14/09/2018 , सायं 04 बजे, काव्य-गोष्ठी का आयोजन रखा गया। काव्य-गोष्ठी की अध्यक्षता श्री शान्ति स्वरूप महरवाल "समाजसेवी" ने की व मुख्य अतिथि सेवानिवृत प्राचार्य श्री प्रेमकुमार उपाध्याय रहे । काव्य गोष्ठी में स्थानीय वरिष्ठ कवि गोपीनाथ 'चर्चित, कृपाशंकर 'प्रीतम', चौखे लाल वर्मा, अजय विद्रोही, भाग्येश जैन, ओम भारती,…
वर्तमान अंकुर के संयोजन में, एकल पुस्तक संग्रह की श्रृंखला के अंतर्गत प्रकाशित काव्यसंग्रह, “दर्पण... एक उड़ान कविता की” रत्ना पांडे जी का एक वैचारिक काव्य संग्रह है। वड़ोदरा गुजरात की रहने वाली रत्ना पांडे की काव्य लेखन में बेहद रूचि है। इस काव्य संग्रह से पूर्व, वह कई प्रतिष्ठित पत्र-पत्रिकाओं एवं वेब मैगजीन में प्रकाशित हो चुकी है। “दर्पण... एक उड़ान कविता की” एक ऐसा काव्य संग्रह है, जो…
-तनवीर जाफ़री इन दिनों पूरे विश्व में हज़रत इमाम हुसैन की शहादत को याद किया जा रहा है। 'मुसलमानों के विभिन्न समुदाय करबला की इस घटना को अपने अलग-अलग अंदाज़ में मना रहे हैं। भारतवर्ष में भी 'खासतौर पर शिया व दाऊदी बोहरा समुदाय के लोग हज़रत इमाम हुसैन का $गम मजलिस, मातम व ताजि़यादारी का आयोजन कर मनाते आ रहे हैं। पिछले दिनों अशर-ए-मुबारक नाम का एक ऐसा ही…
-अनीता वर्मा (अंतर्राष्ट्रीय मामलों की विशेषज्ञ) डॉलर के मुकाबले रुपया ऐतिहासिक रूप से लगातार कमजोर हो रहा है।डॉलर बुधवार को रिकॉर्ड 72.91 के स्तर पर लुढ़कने के बाद संभला और 72.19 रुपये प्रति डॉलर के मूल्य पर बंद हुआ।दुनिया के देशों से लेन-देन के लिए आमतौर पर डॉलर की जरूरत होती है।ऐसे में डॉलर के तुलना में भारतीय मुद्रा के कमजोर होने का हमारे अर्थव्यवस्था पर व्यापक और गहरे प्रभाव…
-रमेश ठाकुर दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संगठन चुनाव की मतगणना में दिल्ली राज्य चुनाव आयोग की अधिकृत ईवीएम मशीनों का इस्तेमाल नहीं किया। मतगणना में जिन मशीनों का प्रयोग किया गया वह किसी निजी कंपनी से कालेज प्रशासन द्वारा मंगाई गईं थी। यह खुलासा तब हुआ जब कांग्रेस की ओर से राज्य चुनाव आयोग को गड़बड़ी के संबंध में लिखित शिकायत की। शिकायत को गंभीरता से लेते हुए आयोग ने तत्काल…
-सुरेन्द्र कुमार (लेखक एवं विचारक)स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने बीते 12 सितंबर को देश में बिकने वाली लगभग 328 फिक्सड डोज कांविनेशन यानी निश्चित खुराक संयोजक दवाओं के उत्पादन, बिक्री और वितरण पर मानव उपयोग हेतु प्रतिबंध लगा दिया है। इन दवाओं को अब देश में बनाया व बेचा नहीं जा सकता। फिक्सड डोज कांविनेशन या एफडीसी दवाएँ वे होती हैं जिन्हें दो या दो से अधिक दवाओं को…
-रमेश सर्राफ धमोरावर्ष 1965 के भारत-पाक युद्ध को दोनों सेनाओं के टैंकों की लड़ाइयों के लिए भी याद किया जाता है। उस समय पाकिस्तान को अपने पैटन टैंकों पर बहुत घमंड था जो उसे अमेरिका से मिले थे। उनके लिए पाकिस्तानी जनरल कहा करते थे कि इन टैंकों का मुकाबला कोई नहीं कर सकता है ये तो अजेय हैं। उस युद्ध में भारतीय सेना के रिसालदार अयूब खान ने पाकिस्तान…
Page 55 of 128

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें