articles

लापरवाही

-नीरज त्यागीअर्पिता और अमित के जीवन में सब कुछ बड़ा ही खुशहाल चल रहा था। शादी के 20 वर्ष बाद अपने काम से अमित बहुत खुश था और अपनी बिटिया अंकिता के लिए एक सुंदर भविष्य की कामना के साथ उसने उसकी पढ़ाई के लिए सेविंग की हुई थी।अंकिता भी पढ़ने में काफी होशियार है।इस बात से अमित और अर्पिता के मन को बड़ी तसल्ली है।सब कुछ ठीक चल रहा…
-सुरेश हिन्दुस्थानीभारतीय राजनीति और राजनेताओं के प्रति आम जनता की भड़ास का प्रकट होना निश्चित रुप से यह प्रमाणित करता है कि राजनेताओं के बयानों की दिशा और दशा किसी भी प्रकार से भारत के उज्जवल भविष्य का दृश्य प्रदर्शित नहीं करती। दिल्ली की जनता को भविष्य के स्वर्णिम सपने दिखाने वाले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के प्रति आम जनता के बीच के एक व्यक्ति द्वारा आक्रोश प्रकट करना…
-अब्दुल रशीद (लेखक,पत्रकार व स्तंभकार) भारत की संस्कृति का यह कतई हिस्सा नहीं के किसी स्वर्गीय को अपमानित कर सत्ता पाया जाय। न ही गंगा-जमुनी तहज़ीब, गंगा-गटर तहज़ीब है,जैसा विकास की गंगा बहाने का दावा करने वाले एक महानुभाव बताते हैं। बहरहाल,इसे राजनीति के गिरते स्तर का चरम ही कहा जा सकता। सत्ता पाने और खोने के की राजनीतिक लड़ाई में नरेंद्र मोदी जी ये भी भूल गए कि राजनीति…
"आशुतोष", पटना बिहार, Mob. : 9852842667 मनुष्य को उसके स्वभाव, व्यवहार एवं आचरण के लिए जाना जाता रहा है, स्वभाव भाषा, एवं वाणी द्वारा ही हम स्वच्छ परिवार समाज और राष्ट्र के लिए विशिष्ट बनते हैं।सरल भाषा, कर्ण प्रिय शब्द तथा मधुर वाणी इन्सान के स्वभाव की शोभा है, जिसे हर हाल में बचाना आवश्यक है। आज-कल कटुता की मानसिकता फैशन की तरह हो गई है। पारम्परिक संस्कारों को छोड़…
-सलीम रज़ाउत्तराखण्ड के टिहरी जिले के नैनबाग में एक दलित युवक को इस कदर पीटा गया कि उसकी उपचार के दौरान अस्पताल में मृत्यु हो गई। उस दलित युवक का कसूर सिर्फ इतना था कि उसने एक शादी समारोह में सवर्णों के सामने कुर्सी पर बैठकर खाना खाने की गल्ती कर दी थी। क्या ये मानवीय संवेदनाओं और असहषुणता की कड़वी सच्चाई नहीं है। जहां एक ओर सरकार सबका साथ…
- बाल मुकुन्द ओझा (वरिष्ठ लेखक एवं पत्रकार) तीन मई का दिन दुनियाभर में प्रेस की आजादी के दिवस के रूप में मनाया जाता है। प्रेस स्वतंत्रता के बुनियादी सिद्धांतों, मूल्यों और प्रेस की स्वतंत्रता पर हो रहे हमले का बचाव करने और अपने पेशे को जिम्मेदारी और ईमानदारी से निभाते हुए जान गंवाने वाले पत्रकारों को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए हर साल यह दिन मनाया जाता है। प्रेस…
- राहुल लाल शक्तिशाली चक्रवात " फनी" के प्रकोप का सामना करने वाले भारत ने दुनिया को आपदा प्रबंधन की एक बड़ी सीख दी है।भारतीय मौसम विभाग ने 'फनी' को अत्यंत भयावह चक्रवाती तूफान की श्रेणी में रखा था।बंगाल की खाड़ी में उठे समुद्री तूफान फनी ने शुक्रवार को ओडिशा के पुरी समेत कई जिलों में जमकर तबाही मचाई।मूसलाधार वर्षा के बीच 250 किमी/घंटा की रफ्तार से चली हवा से…
-जावेद अनीस धमकियां, नफरत और उपेक्षा यही कुल जमा है जो 2019 के चुनावी बिसात पर इस देश के मुसलमानों को हासिल हो रहा है. साल 2014 के बाद से भारतीय राजनीति में मुस्लिम समुदाय को हाशिये पर धकेल दिया गया है. हालांकि ऐसा भी नहीं है कि इससे पहले मुसलमान राजनीति की मुख्यधारा में शामिल थे लेकिन वे एक ऐसा “वोटबैंक” जरूर माने जाते थे जिसे हासिल करने के…
-जावेद अनीस लोकतंत्र का मतलब केवल चुनाव, सरकार के गठन या शासन से नहीं है. लोकतंत्र की परिभाषा इससे व्यापक है जिसमें राज्य, समाज और परिवार सहित हर प्रकार के समूह पर सामूहिक निर्णय का सिद्धांत लागू होता है. केवल राज्य के स्तर पर लोकतंत्र के लागू होने से हम लोकतान्त्रिक नहीं हो जायेंगें इसे सामाज के अन्य संगठनों पर लागू करना भी उतना ही जरूरी है. इस सम्बन्ध में…
-ओम प्रकाश उनियालउत्तराखंड से लगातार पलायन होना एक गंभीर समस्या बनती जा रही है। कुछ गांवों में तो यह स्थिति है कि कभी आबाद नजर आने वाले गांव अब या तो वीरान पड़े हुए हैं या फिर मनुष्य के नाम पर एक-दो बुजुर्ग, जो कि ढलती उम्र के पड़ाव पर होने के कारण कुछ कर पाने की स्थिति में नहीं हैं। पहाड़ से जो लोग सालों पहले अन्य शहरों की…
Page 5 of 80

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें