articles

-आशीष वशिष्ठ-लखनऊ के एक पंचतारा होटल में जहां तकरीबन दो साल पहले ‘यूपी के लड़के’ प्रेस कांफ्रेंस कर रहे थे, आज फिर उसी जगह पर दोबारा एक संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन हुआ। जगह वही थी, मगर प्रेस कांफ्रेंस के किरदार बदले हुये थे। यूपी के लड़कों की जगह पर बुआ-भतीजे की जोड़ी मीडिया से मुखातिब थी। मौका था गठबंधन की आधिकारिक घोषणा और सीटों के बंटवारे के ऐलान का।…
स्वामी विवेकानंद जी एक ऐसे शख्स जिस पर सिर्फ भारत वासियों को नहीं समूची मानव जाति को उन पर गर्व है इन्होंने अपनी ओजस्वी वाणी से टूटी हुई भारतीय जनता को फिर से उठ खड़े होने के लिए प्रेरित किया। वास्तव में किसी भी युग पुरुष की जयंती मनाने का मतलब उनको सिर्फ याद करना ही नहीं होता जयंती का मतलब है हम उनके उपदेशों को अपने जीवन में डाल…
रोहतक (हम हिंदुस्तानी)- बहलम्बा गाँव की बेटी और अजायब गाँव की बहू शिक्षाविद, कवयित्री एवं समाज सेविका डॉ सुलक्षणा अहलावत को 12 जनवरी को जयपुर में वीआ अवार्ड 2019 से सम्मानित किया जाएगा। यह सम्मान उन्हें समाज सेवा के लिए प्रदान किया जाएगा। यह सम्मान जयपुर के मैसूर पैलेस में आयोजित भव्य सम्मान समारोह में जानी मानी बॉलीवुड अभिनेत्री डॉ अदिति गोवित्रिकर द्वारा प्रदान किया जाएगा। डॉ सुलक्षणा ने बताया…
जयपुर (HH) गृह मंत्रालय भारत सरकार के सौजन्य से नेहरू युवक केंद्रसंगठन, जयपुर की ओर से राजधानी स्थित स्काउट प्रशिक्षण केंद्र में आयोजित सात दिवसीय आदिवासी yuwa आदान प्रदान शिविर में देश के विभिन्न राज्योंके नक्सल प्रभावित ज़िलों के 200 युवाओं ने भाग लिया। शिविर में विषयविशेषज्ञों ने विभिन्न सत्रों में आदिवासी युवाओं के शैक्षिक और कौशलउन्नयन व्यक्तित्व विकास, जीवन शिक्षा,राष्ट्रीय एकता, आदिवासी संस्कृति,सामाजिक आर्थिक विकास, जनजाति क्षेत्रों में रोजगार…
-आशीष वशिष्ठ (स्वतंत्र पत्रकार)लोकसभा का नजारा उस वक्त बड़ा दिलचस्प था जब राफेल मुद्दे पर बहस के दौरान कांग्रेसी सांसद च्कागज के जहाजज् उड़ाकर अपनी क्राफ्ट कला का प्रदर्शन कर रहे थे। यह भी कहा जा सकता है कि कुल जमा ४५ कांग्रेसी सांसदों में से अधिकतर अपने स्कूल के दिनों में लौट गये थे। जब वो खाली पीरियड में कागज के हवाई जहाज उड़ाया करते थे। वैसे भी देश…
-गौरव मौर्याआखिर सौंदर्य क्या है? प्रत्येक व्यक्ति इसकी चाह में जीवन भर क्यों लगा रहता है?धन-दौलत और दुनिया के सभी भौतिक सुख होने के बाद भी इसकी चाह क्यों नही मिटती?अगर गहराई से हम अपने व्यक्तिगत जीवन के बारें सोचें तो कभी न कभी हम सभी को ऐसे प्रश्नों का सामना अवश्य करना पड़ सकता है।सामान्य जीवन में हम सौंदर्य का मतलब किसी चीज के सुंदर या खूबसूरत होने से…
-डॉ नीलम महेंद्र(Best editorial writing award winner) भारत की राजनीति का वो दुर्लभ दिन जब विपक्ष अपनी विपक्ष की भूमिका चाहते हुए भी नहीं नहीं निभा पाया और न चाहते हुए भी वह सरकार का समर्थन करने के लिए मजबूर हो गया, इसे क्या कहा जाए? कांग्रेस यह कह कर क्रेडिट लेने की असफल कोशिश कर रही है कि बिना उसके समर्थन के भाजपा इस बिल को पास नहीं करा…
समानांतर सिनेमा के अग्रदूत थे मृणाल सेन - योगेश कुमार गोयल* भारत के प्रतिष्ठित दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित प्रख्यात फिल्म निर्देशक मृणाल सेन 30 दिसम्बर को अंतिम सांस लेते हुए 95 वर्ष की आयु में चिरनिद्रा में लीन हो गए। वे विगत कई वर्षों से कई गंभीर बीमारियों से पीडि़त थे और बीमारी के ही चलते पिछले 16 वर्षों से फिल्म निर्माण से भी दूर थे। वर्ष 2002…
-डॉ नीलम महेंद्र(Best editorial writing award winner) वैसे तो आने वाला हर साल अपने साथ उत्साह और उम्मीदों की नई किरणें ले कर आता है, लेकिन यह साल कुछ खास है। क्योंकि आमतौर पर देश की राजनीति में रूचि न रखने वाले लोग भी इस बार यह देखने के लिए उत्सुक हैं कि 2019 में राजनीति का ऊँठ किस करवट बैठेगा। खास तौर पर इसलिए कि 2019 की शुरुआत दो…
-राज शेखर भट्ट, देहरादूनलोकसभा के अंदर राफेल डील की बहस में सभी के द्वारा तथ्य छुपाने की कला तो बेहतरीन थी। यूं लगा कि जैसे सब्जी की ठेली वाले एक दूसरे से बहस कर रहे हों कि कल मण्डी से करेले क्या भाव लाया और क्या भाव बेचा। सभी इतने व्यस्त हैं कि करेले साथ-साथ कद्दू, गोबी और टमाटर के भाव भी बहस में ले आये। एक ठेली वाला गड़बडी…
Page 5 of 117

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें