articles

कारण

अभिमान और स्वाभिमान दो मूल कारण हैं जो किसी भी व्यक्ति को आत्महत्या के लिए उकसाते हैं। यह कहना कि स्त्रियां इस प्रकार के कदम ज्यादा उठाती हैं कुछ हद तक सही है क्यों कि जब अभिमान में मद-मस्त कोई भी व्यक्ति स्त्री के स्वाभिमान पर प्रहार करता है तब एक स्त्री अंदर तक खंडित हो जाती है। अपने मान-सम्मान पर लगी ठेस के कारण वह टूट जाती है। लोग…
-राहुल लाल (कूटनीतिक मामलों के विशेषज्ञ) जलवायु परिवर्तन और नवोन्मेष(इनोवेशन) को आर्थिक वृद्धि से जोड़ने वाले अमेरिकी अर्थशास्त्री विलियम नॉर्थहॉस और पॉल रॉमर को संयुक्त रुप से इस वर्ष का अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार विजेता घोषित किया गया है।द रॉयल स्वीडिश अकेदमी ऑफ साइंसेज के मुताबिक याले विश्वविद्यालय के विलियम डी नॉर्डहॉर्स को "दीर्घाकालिक समष्टि आर्थिक विश्लेषण में जलवायु परिवर्तन को एकीकृत करने के लिए " और न्यूयॉर्क विश्वविद्यालय के…
-राज शेखर भट्ट, देहरादून हमारे देशवासियों ने अनेक प्रकार की चाय पी हुयी हैं। जैसे कि... दूध वाली चाय, नींबू वाली चाय, काली चाय, तुलसी चाय, ग्रीन चाय। वहीं दूसरी ओर हमारे राजनेताओं ने भी देसवासियों को अनेकों प्रकार की चाय पिलाई हैं। जैसे कि घोषणा वाली चाय, वादों वाली चाय, इरादों वाली चाय और भाषण वाली चाय। वैसे भी भाषण वाली चाय का स्वाद तो भारतवासियों को पता ही…
--प्रकाश दर्पे आख़िर रघुवीर का पुश्तेनी मकान बिक गया। भले ही उसके हिस्से में आधा घर आता था । पर था तो उसका अपना । यही इसी परिवेश में वह पला पढ़ा था। जब भी उसे घर की याद आती थी , वह दो चार दिन के लिए आ जाता था । रिटायर होकर यही बस जाने की उसकी चाह थी। हालाँकि मकान जर्जर हो रहा था, परंतु उसकी आर्थिक…
-सुरेश हिन्दुस्थानी(वरिष्ठ पत्रकार एवं स्तंभकार) देश में 2019 में होने वाले लोकसभा चुनावों के लिए बनने वाले विपक्षी गठबंधन के प्रयासों में हर बार कोई न कोई राजनीतिक दल दरार पैदा कर रहा है। विशेषकर छोटे राजनीतिक दलों की महत्वाकांक्षाओं ने प्रस्तावित गठबंधन की राह में बहुत बड़ा पेच खड़ा कर दिया है। एक प्रकार से देखा जाए तो इस राजनीतिक गठबंधन की दिशा में कांग्रेस पर कोई भी दल…
प्रधान संपादक :- अनूप श्रीवास्तवअतिथि संपादक:- विनोद कुमार विक्कीपृष्ठ:- 56सम्पादकीय कार्यालय:- 9,गुलिस्तां कॉलोनी लखनऊ उत्तर प्रदेशसमीक्षक:- राजेश कुमार शर्मा"पुरोहित" युवा व्यंग्यकार विनोद कुमार विक्की की मेहनत रंग लाई। विक्की ने अट्टहास के प्रस्तुत हास्य व्यंग्य विशेषांक में बिहार झारखण्ड के नवोदित व स्थापित व्यंग्य लेखकों की रचनाओं का शानदार तरीके से चयन किया है।व्यंग्य लिखने का प्लॉट तैयार होता है समाज मे व्याप्त विभिन्न समस्याओं से चाहे वे राजनीतिक सामाजिक…
-प्रभुनाथ शुक्ल [Journalist] कुत्ते भी अपनी कारस्तानी से सुर्ख़ियों में रहते हैं।कभी वफाई तो कभी बेवफाई दोनों के बिंदास मालिक हैं। स्वामीभक्ति का तमगा इनकी बपौती है। लेकिन मौसम देख बन्दे मिजाज बदलने में उस्ताद होते हैं। बेमौसम की भौं- भौं से नक्कारे, जाहिल जीना दूभर कर देते हैं। उस स्थिति में न घर के होते हैं न घाट के, लेकिन ठाट के बड़े निराले होते हैं। कुत्तों के भाग…
- गुरिन्दर भरतगढ़िया पान खाने की आदत दो हज़ार साल पुरानी है। श्री लंका की प्रमाणित एतिहासिक पुस्तक ‘महावासमा’ में, जो पारसी में लिखी गई है, ज़िक्र आया है कि 504 ईसा पूर्व एक राजकुमारी को उसका प्रेमी हर मुलाक़ात के दौरान पान खिलाया करता था।106 ईसा पूर्व दुतगमिनी और मालवारिया के बीच हुए युद्ध के संदर्भ में एक दिलचस्प तथ्य का उल्लेख है कि शत्रु आपस में पान खाए…
-सलीम रज़ाभारत के सर्वोच्च न्यायालय द्वारा दिये गये आदेश में कि अयोध्या मामले में नमाज़ कोई मुददा नहीं है इसके बाद अब सिर्फ इस मामले में टाईटल की सुनवाई होगी क्योंकि अब इस सुनवाई में कोई अवरोध नहीं है। अदालत निर्बाध रूप से अब राम मंदिर मामले की सुनवाई करेगी।रोज सुनवाई होगी या नही इस पर अभी संशय बना हुआ है। बहरहाल कहने का मकसद ये है कि भले ही…
-अब्दुल रशीद कर्ज व बिजली बिल की माफी,बकाए गन्ने का भुगतान और स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें लागू करवाने सहित अन्य मांगों को लेकर भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले किसान क्रांति पदयात्रा 23 सितंबर को हरिद्वार से किसानों ने शुरू की, जिसकी ख़बर उत्तर प्रदेश सरकार और केंद्र सरकार को थी। इस यात्रा में मुख्य रूप से पश्चिमी उत्तर परदेश उत्तराखंड,हरियाणा और पंजाब के किसान शामिल थे लेकिन किसी भी…
Page 5 of 87

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें