articles

-रमेश सर्राफ धमोराप्रति वर्ष दुनिया में 100 से ज्यादा देशों के लोगों द्वारा 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाता है। इसकी शुरुआत 1972 में 5 जून से 16 जून तक संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा आयोजित विश्व पर्यावरण सम्मेलन से हुई। 5 जून 1973 को पहला विश्व पर्यावरण दिवस मनाया गया था। इस अभियान की शुरुआत लोगों के बीच में पर्यावरण के मुद्दों के बारे में वैश्विक जागरुकता लाने…
-मनोज ज्वाला भारत के प्रधानमंत्री- नरेन्द्र मोदी को ‘इण्डियाज डिवाइडर इन चिफ’घोषित करने वाली ‘टाइम’ की आवरण-कथा का ‘अनावरण’ हो जाने के बाद उसका जोनया संस्करण आया है , सो एक ओर उस विश्व-विख्यात अमेरिकी पत्रिका कीनीति, नीयत व उसकी हकीकत पर सवाल खडा कर दिया है, तो दूसरी ओर उसे ‘सच काआईना’ समझते रहने वाले भारत के बुद्धिबाजों को बगलें झांकने के लिए विवशकर दिया है । अपने पिछले…
-राजीव डोगरापर्यावरण दिवस हर साल 5 जून को मनाया जाता है मगर पर्यावरण दिवस मनाने से कुछ नहीं होता हम हर साल पर्यावरण दिवस मनाते हैं लोगों को जागृत करते हैं मगर फिर भी पर्यावरण प्रदूषण कम होने के स्थान पर दिन प्रतिदिन बढ़ता ही चला जा रहा है,भले जल प्रदूषण हो,वायु प्रदूषण हो,ध्वनि-प्रदूषण हो ,थल प्रदूषण हो इत्यादि कोई भी हो। पर्यावरण प्रदूषण की समस्या सिर्फ भारत में ही…
मुंबई (हम हिंदुस्तानी)-विक्रम मल्होत्रा की नेतृत्व वाली अबन्डशिया एंटरटेनमेंट ने भारत के मशहूर थ्रिलर लेखक, विश धमीजा की बेहद लोकप्रिय 'रीता फ़ेरेइरा' सीरीज़ के अधिकार हासिल किए। इस डील में 3 किताबें - भिंडी बाज़ार, दूसरा और लिपस्टिक शामिल हैं। अनुभूतियां ने इन किताबों को एक मल्टी-सीज़न, प्रीमियम ओरिजिनल डिजिटल सीरीज़ के लिए अडैप्ट करने की योजना बनाई है।मुंबई के परिवेश पर लिखी इन किताबों की कहानी डीसीपी रीता फ़ेरेइरा…
-पंकज चन्देल प्रसून टोंक राजस्थानदोस्तों,आज वर्तमान में हमारी भारतीय संस्कृति को पाश्चात्य संस्कृति ने लगभग पूरी तरह से अपने अधीन कर रखा है वर्तमान में वही देश प्रगति करता है जिस देश का युवा वर्ग शिक्षित, अच्छी सोच, अच्छी नीयत और कुछ कर गुजरने का हौसला रखता हो आज का युवा अपने जीवन में प्रतिष्ठा पाना चाहता है परन्तु पहचान पाना आसान है लेकिन प्रतिष्ठा नहीं लेकिन में अगर कहूं…
-नीरज त्यागीरमेश की मां इन दिनों बहुत खुश है 55 साल की आयु में बेटे के यहाँ बच्चे होने की खुशी में रमेश की मां बहुत खुश है और धरती पर अपने पोते पोती के आने के इंतजार में अपनी खुशी सभी से बांट रही है।आखिर वह दिन भी आया जब उनके यहां पर एक पुत्री का जन्म हुआ। रमेश की मां बहुत खुश है।पोती के होते ही रमेश ने…
-नीरज त्यागीअंकुर बड़ी तेजी से अपने घर की तरफ अपनी कार को दौड़ाता हुआ जा रहा था पता नहीं उसके मोबाइल पर घर से क्या खबर आई और वह अचानक अपने ऑफिस से निकला और घर पहुंचने की जल्दी में कार को तेजी से दौड़ाया।घर पहुंचकर अपने पिता को अस्पताल की और तेजी से ले चला।पूरे रास्ते अपनी माँ और पिता से लड़ता रहा। मम्मी मैं पापा को कितने समय…
- राजेश कुमार शर्मा"पुरोहित" (शिक्षक एवम साहित्यकार) आज विश्व पर्यावरण दिवस पर सोशल मीडिया पर पेड़ पौधे लगाते लोगों की तस्वीरें खूब पोस्ट हुई। क्या ये सभी लगाए पेड़ बच जाएंगे। जवाब में आओ यही कहेंगे नहीं। क्योंकि आज हम कोई भी दिवस आता है उसे औपचारिक तौर पर मना लेते हैं। दिवस की सार्थकता तभी होती है जब धरातल पर काम होता है। मात्र अखबार में फ़ोटो व न्यूज़…
-डॉ प्रदीप उपाध्याय यह बात उन्हें अब जाकर सुझायी दी जब हम नौकरी छोड़कर घर बैठ गए! विश्व स्वास्थ्य संगठन कुछ पहले जाग जाता तो कम से कम ज्यादा हम्माली से बचते हुए हम भी मेडिकल लीव्ह ले लेते।उसने अब इस बात को माना कि ऑफिस में काम के दबाव के कारण होने वाली थकान को बीमारी माना जाएगा और इसे बर्न आऊट नाम दिया गया है।भले ही उन्होंने इसे…
-डॉ नीलम महेंद्र(Best editorial writing award winner) 2019 के लोकसभा नतीजे कांग्रेस के लिए बहुत बुरी खबर लेकर आए। और जैसा कि अपेक्षित था, देश की सबसे पुरानी पार्टी में भूचाल आ गया। एक बार फिर हार की समीक्षा के लिए कमेटी का गठन हो चुका है। पार्टी में इस्तीफों की बाढ़ आ गई है। खबर है कि खुद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इस्तीफा देने पर अड़े हैं। लेकिन कांग्रेस…
Page 3 of 89

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें