articles

-राहुल लाल (कूटनीतिक मामलों के जानकार) मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद तेजी से गोवा के राजनीतिक घटनाक्रम में बदलाव हुआ।इसके बाद बीजेपी ने गोवा विधान सभा अध्यक्ष प्रमोद सावंत को पर्रिकर का उत्तराधिकारी चुना।प्रमोद सावंत का शपथ ग्रहण समारोह सबसे ज्यादा सुर्खियों में रहा।सोमवार को दिन भर चली गहमागहमी के बाद सावंत के नाम पर मुहर लगी।हालांकि उनके नाम पर सहमति बनाने में बीजेपी आलाकमान और खासकर केंद्रीय मंत्री…
-प्रकाश दर्पेअस्पताल कैम्पस में एक वृद्धा ने पहले प्रवेश किया।पीछे पीछे एक युवा व्यक्ति दाखिल हुआ। असहाय वृद्धा खुद को जैसे तैसे संभालते हुए नपे तुले कदमो से अंदर रिसेप्शन काउंटर की ओर चली आ रही थी। पर सक्षम युवा अपनी तेज गति से रिसेप्शन पर उस महिला के पहले ही पहुँच गया। रिसेप्शनिष्ट ने उससे कहा , " जल्दी से अपना नाम बताईये । इसके बाद डॉक्टर साहब किसी…
-मेराज रज़ा, समस्तीपुर"कौन कहता है आसमां में सुराख नहीं हो सकता, एक पत्थर तो तबियत से उछालो यारों" इसे चरितार्थ कर दिखाया है समस्तीपुर जिले के मोहिउद्दीननगर प्रखंड स्थित उत्क्रमित मध्य विद्यालय सिवैंसिंहपुर के प्रधानाध्यापक श्री मेघन सहनी ने। जो लोग कहते हैं कि सरकारी स्कूलों का कुछ नहीं हो सकता उनके लिए कराड़ा जवाब है उत्क्रमित मध्य विद्यालय सिवैंसिंहपुर। मोटी फीस लेने वाले प्राइवेट स्कूलों को मात देता यह…
-ओम प्रकाश उनियालरैलियों, जन सभाओं, आन्दोलनों में भीडतंत्र काफी महत्व रखता है। भीड़तंत्र नेताओं का मनोबल बढ़ाता है और कार्यकर्ताओं में जोश और जुनून पैदा करता है। 16 मार्च को देहरादून के परेड ग्राउंड में भी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की परिवर्तन रैली में भी उमड़ी भीड़ ने राहुल गांधी का मनोबल बढ़ाकर गर्मजोशी से उनका स्वागत किया। राहुल के दौरे से कांग्रेस कार्यकर्ता नयी एवं काफी उम्मीद जगा रहे…
-प्रमोद दीक्षित ‘मलय‘आज से एक डेढ़-दो दशक पूर्व तक हमारे घरों में एक नन्ही प्यारी चिड़िया की खूब आवाजाही हुआ करती थी। वह बच्चों की मीत थी तो महिलाओं की चिर सखी भी। उसकी चहचहाहट में संगीत के सुरों की मिठास थी और हवा की ताजगी का सुवासित झोंका भी। नित्यप्रति प्रातः उसके कलरव से लोकजीवन को सूर्योदय का संदेश मिलता और वह अपने नेत्र खोल दैनन्दिन जीवनचर्या में सक्रिय…
- योगेश कुमार गोयल गोवा के मुख्यमंत्री तथा देश के पूर्व रक्षामंत्री63 वर्षीय मनोहर पर्रिकर17 मार्च की रात कैंसर से जंग लड़ते हुए जिंदगी की आखिरी जंग हारकर डोनापौला स्थित अपने निजी निवास पर चिरनिद्रा में लीन हो गए। एडवांस्डपैंक्रियाटिक कैंसर से जूझ रहे पर्रिकर लंबे समय से अस्वस्थ चल रहे थे लेकिन उनकी अस्वस्थता के बावजूद काम के प्रति उनका जोश और जज्बा बेमिसाल था और सदैव दूसरों के…
-ओम प्रकाश उनियाल देहरादून में स्थित गुरु राम राय दरबार एवं वहां लगने वाले झंडा मेले का जुड़ाव आपसी भाईचारा, एकता, धर्म, दर्शन व आदर्शों का परिचायक है। दरबार व मेले की अपनी अलग ही विशेष पहचान है। इस स्थल की शक्ति इतनी है कि दर्शन मात्र से ही नास्तिक के मन में स्वत: ही आस्तिकता का भाव उमड़ पड़ता है। दरबार के आगे नतमस्तक किए बगैर कोई नहीं गुजरता।…
नोहर, (हम हिंदुस्तानी)-नोहर के वरिष्ठ पत्रकार विद्याधर जी मिश्रा की सुपुत्री युवा साहित्यकार शालू मिश्रा को आमिर वर्ल्ड अचीवर्स अवार्ड के लिए चुना गया है।शालू ने बहुत कम समय में अपनी एक अनूठी पहचान बना ली है।इनकी जितनी तारीफ़ की जाए उतनी कम है ।आमिर सत्य फाउंडेशन इंडिया द्वारा सिरसा में 24 मार्च को होने वाले समारोह में शालू मिश्रा सहित अलग - अलग क्षेत्रो में उत्कृष्ट सेवा कार्य करने…
-तनवीर जाफ़री न्यूज़ीलैंड के क्राईस्टचर्च शहर में स्थित अलनूर मस्जिद में नमाज़ पढऩे वालों पर हुए हमले में 49 लोगों के मारे जाने के बाद न्यूज़ीलैंड जैसा शांतिप्रिय देश भी आतंक प्रभावित देशों की सूची में शामिल हो गया। बताया जाता है कि आस्ट्रेलिया निवासी 28 वर्षीय बे्रन्टन टैरन्ट नामक युवक ने पांच स्वचालित बंदूकों का इस्तेमाल करते हुए क्राईस्टचर्च की दो मस्जिदों में एक के बाद एक हमले किए…
-प्रकाश दर्पेअस्पताल कैम्पस में एक वृद्धा ने पहले प्रवेश किया।पीछे पीछे एक युवा व्यक्ति दाखिल हुआ। असहाय वृद्धा खुद को जैसे तैसे संभालते हुए नपे तुले कदमो से अंदर रिसेप्शन काउंटर की ओर चली आ रही थी। पर सक्षम युवा अपनी तेज गति से रिसेप्शन पर उस महिला के पहले ही पहुँच गया। रिसेप्शनिष्ट ने उससे कहा ," जल्दी से अपना नाम बताईये । इसके बाद डॉक्टर साहब किसी को…
Page 2 of 53

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें