Close

Recent Posts

महिला सशक्तिकरण ‘आप’ सरकार की मुख्य प्राथमिकता, हम मुख्यमंत्री भगवंत मान के योग्य नेतृत्व अधीन महिलाओं के आर्थिक सशक्तिकरण को सुनिश्चित बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं: बलजीत कौर

महिला सशक्तिकरण ‘आप’ सरकार की मुख्य प्राथमिकता, हम मुख्यमंत्री भगवंत मान के योग्य नेतृत्व अधीन महिलाओं के आर्थिक सशक्तिकरण को सुनिश्चित बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं: बलजीत कौर

राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष इकबाल सिंह लालपुरा ने केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह से मुलाकात की; जम्मू-कश्मीर में रहने वाले कश्मीरी पंडितों सहित सभी हिंदुओं और सिखों के लिए सुरक्षा की स्थिति के साथ-साथ शिक्षा और रोजगार के अवसरों पर चर्चा की

राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष इकबाल सिंह लालपुरा ने केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह से मुलाकात की; जम्मू-कश्मीर में रहने वाले कश्मीरी पंडितों सहित सभी हिंदुओं और सिखों के लिए सुरक्षा की स्थिति के साथ-साथ शिक्षा और रोजगार के अवसरों पर चर्चा की

भारत

पंजाब सरकार द्वारा ‘‘उड़ारियाँ’’-बाल विकास मेला 14 नवंबर से: डॉ. बलजीत कौर

पंजाब सरकार द्वारा ‘‘उड़ारियाँ’’-बाल विकास मेला 14 नवंबर से: डॉ. बलजीत कौर
  • PublishedNovember 11, 2022

सामाजिक सुरक्षा विभाग द्वारा ‘‘उड़ारियाँ’’-बाल विकास मेले की तैयारी सम्बन्धी ऑनलाइन वैबीनार आयोजित
चंडीगढ़,-पंजाब के सामाजिक सुरक्षा, महिला एवं बाल विकास मंत्री डॉ. बलजीत कौर ने बताया कि ‘‘उड़ारियाँ’’-बाल विकास मेला सप्ताह राज्य भर के गाँवों के आंगनवाड़ी सैंटरों में 14 से 20 नवंबर 2022 तक मनाया जा रहा है। इस सम्बन्धी आंगनवाड़ी सैंटरों में सप्ताह के हर दिन अलग-अलग प्रोग्राम करवाए जा रहे हैं। सामाजिक सुरक्षा विभाग द्वारा उड़ारियाँ-बाल विकास मेले के लिए ‘‘हरेक माता-पिता, हर गली, हर गाँव की एक ही आवाज़ हर बच्चे का हो संपूर्ण विकास’’ सलोगन जारी किया गया है।
सामाजिक सुरक्षा, महिला एवं बाल विकास मंत्री ने अधिक जानकारी देते हुए बताया कि उड़ारियाँ-बाल विकास मेले के लिए विभाग द्वारा इस सप्ताह के सभी दिन विशेष रूप से मनाए जाएंगे। 14 और 15 नवंबर को स्थानीय एन.जी.ओज द्वारा बच्चों के पोषण सम्बन्धी जागरूकता और फंड एकत्र करना, 16 नवंबर को पंजाब सरकार के विशेष संदेश के साथ सभी आंगनवाडिय़ों में बाल विकास मेले की गतिविधियों की शुरुआत होगी, 17 नवंबर को पोषण दिवस, 18 नवंबर को दादा-दादी, नाना-नानी दिन के रूप में मनाया जायेगा। उन्होंने आगे बताया कि 19 नवंबर को बाल सरपंच दिवस और 20 नवंबर को सकारात्मक पालन-पोषण दिवस मनाया जायेगा।
डॉ. बलजीत कौर ने अधिक जानकारी देते हुए बताया कि उड़ारियाँ-बाल विकास मेले के लिए विभाग द्वारा इस सप्ताह के सभी दिनों के लिए अलग-अलग गतिविधियाँ की जाएंगी। वैबीनार में डी.डी.पी.ओज और सी.डी.पी.ओज, सुपरवाइजऱ, आंगनवाड़ी वर्करों और हैल्परों को उनकी जिम्मेदारियों सम्बन्धी अवगत करवाया गया।
सामाजिक सुरक्षा विभाग द्वारा बच्चों के माता पिता, दादा-दादी और आम लोगों की मदद से बाल विकास सप्ताह बहुत उत्साह के साथ मनाया जायेगा। उन्होंने कहा कि इस प्रोग्राम में बच्चो के पोषण, खेल और कहानी आधारित विकास, सुरक्षा और साधन एवं सकारात्मक पालन-पोषण के लिए गतिविधियाँ करवाई जाएंगी। पूरे सप्ताह के दौरान बच्चों की बुनियादी ज़रूरतों पूरी करके, बच्चो के माहौल में सुधार करके हर बच्चे के विकास का प्रयास किया जायेगा।

Written By
bhangu