Close

Recent Posts

महिला सशक्तिकरण ‘आप’ सरकार की मुख्य प्राथमिकता, हम मुख्यमंत्री भगवंत मान के योग्य नेतृत्व अधीन महिलाओं के आर्थिक सशक्तिकरण को सुनिश्चित बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं: बलजीत कौर

महिला सशक्तिकरण ‘आप’ सरकार की मुख्य प्राथमिकता, हम मुख्यमंत्री भगवंत मान के योग्य नेतृत्व अधीन महिलाओं के आर्थिक सशक्तिकरण को सुनिश्चित बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं: बलजीत कौर

राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष इकबाल सिंह लालपुरा ने केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह से मुलाकात की; जम्मू-कश्मीर में रहने वाले कश्मीरी पंडितों सहित सभी हिंदुओं और सिखों के लिए सुरक्षा की स्थिति के साथ-साथ शिक्षा और रोजगार के अवसरों पर चर्चा की

राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष इकबाल सिंह लालपुरा ने केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह से मुलाकात की; जम्मू-कश्मीर में रहने वाले कश्मीरी पंडितों सहित सभी हिंदुओं और सिखों के लिए सुरक्षा की स्थिति के साथ-साथ शिक्षा और रोजगार के अवसरों पर चर्चा की

दुनिया प्रमुख खबरें

चीन को झिंजियांग उइघुर स्वायत्त क्षेत्र में मानवाधिकार उल्लंघनों के मामलों पर ध्‍यान देना चाहिए-मानवाधिकार विशेषज्ञ समूह

चीन को झिंजियांग उइघुर स्वायत्त क्षेत्र में मानवाधिकार उल्लंघनों के मामलों पर ध्‍यान देना चाहिए-मानवाधिकार विशेषज्ञ समूह
  • PublishedSeptember 16, 2022

09-09-2022-संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद द्वारा दुनिया भर में विभिन्न मानवाधिकार चिंताओं पर निगरानी और रिपोर्ट करने के लिए नियुक्त किए गए संयुक्त राष्ट्र के 40 से अधिक स्वतंत्र विशेषज्ञों के एक समूह ने बुधवार को कहा कि चीन को झिंजियांग उइघुर स्वायत्त क्षेत्र में मानवाधिकार उल्लंघनों के मामलों पर ध्‍यान देना चाहिए।

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद द्वारा दुनिया भर में विभिन्न मानवाधिकार चिंताओं पर निगरानी और रिपोर्ट करने के लिए नियुक्त किए गए संयुक्त राष्ट्र के 40 से अधिक स्वतंत्र विशेषज्ञों के एक समूह ने बुधवार को कहा कि चीन को झिंजियांग उइघुर स्वायत्त क्षेत्र में मानवाधिकार उल्लंघनों के मामलों पर ध्‍यान देना चाहिए। समूह ने कहा है कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय को इन मामलों की अनदेखी नहीं करनी चाहिये । इससे पहले संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार कार्यालय, ओएचसीएचआर की हाल में प्रकाशित रिपोर्ट मे कहा गया था कि चीन में उइगर और अन्य मुस्लिम बहुल समुदायों के खिलाफ “गंभीर मानवाधिकारों का उल्लंघन” किया गया। इस रिपोर्ट में जबरन चिकित्सा उपचार और प्रतिकूल हिरासत की स्थिति, साथ ही यौन और लिंग आधारित हिंसा की घटनाएं और परिवार नियोजन और जन्म नियंत्रण दमनकारी नीतियों के संकेत शामिल थे।
चीन ने शिनजियांग में मानवाधिकारों के उल्लंघन पर संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट को खारिज कर दिया है और इसे अमेरिकी एजेंडे का हिस्‍सा और चीन को बदनाम करने का प्रयास करार दिया है।

Written By
bhangu