बीजिंग - शंघाई सहयोग संगठन एससीओ द्वारा अपने बीजिंग मुख्यालय में आयोजित एक स्वागत समारोह में आयोजकों को उस वक्त शर्मिंदगी का सामना करना पड़ा, जब पाकिस्तान की झांकी में लाहौर के शालीमार गार्डेन के तौर पर तिरंगा के साथ भारत का लाल किला दिखाया गया।
भारत और पाक के एससीओ में प्रवेश को रेखांकित करने के लिए इस स्वागत समारोह का आयोजन किया गया।
चीन के विदेश मंत्राी वांग यी, चीन में नियुक्त भारतीय दूत विजय गोखले के साथ पाकिस्तान के राजदूत मसूद खालिद और एससीओ के अन्य सदस्य इस कार्यक्रम में शरीक हुए।
हालांकि यह प्रथम रंगारंग कार्यक्रम आयोजकों के लिए शर्मिंदगी का सबब बन गया। दरअसल, तिरंगे के साथ लाल किला को लाहौर के शालीमार गार्डेन के तौर पर पाकिस्तान की झांकी में दिखाया गया।
वहीं, एससीओ अधिकारी इस गफलत को लेकर क्षमापार्थी थे। उन्होंने कहा कि वे तस्वीरों की जांच करने में नाकाम रहे क्योंकि यह भारत और पाक की भागीदारी वाला पहला कार्यक्रम था।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें