दुनिया

दुनिया (4033)

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने जब अपने पाकिस्तानी समकक्ष आसिफ अली जरदारी को सूचित किया कि अमरीकी बलों ने ऐबटाबाद में ओसामा बिन लादेन को मार गिराया है तो उन्होंने ओबामा से कहा कि यह ‘अच्छी खबर’ है। व्हाइट हाऊस में ओबामा के करीबी सहयोगी रहे बेन रोड्स ने अपनी नई किताब में इस किस्से का जिक्र किया है। अमरीकी बलों ने 2 मई 2011 को पाकिस्तानी सीमा में घुसकर अल कायदा के पूर्व प्रमुख ओसामा को मार गिराया था। किताब के मुताबिक, जब अमरीकी राष्ट्रपति ने इस बारे में जानकारी देने के लिए जरदारी को फोन किया तो ‘उन्होंने (जरदारी ने) ओबामा से कहा कि जो भी नतीजा हो, यह बहुत अच्छी खबर है। अल्लाह आपके और अमरीकी लोगों के साथ है।’ जरदारी की पत्नी और प्रतिष्ठित नेता बेनजीर भुट्टो की चरमपंथियों ने 27 दिसंबर, 2007 को हत्या कर दी थी जिसके बाद वह पाकिस्तान की राजनीति में मुख्य भूमिका में आ गए थे। रोड्स ने अपनी किताब ‘द वल्र्ड एज इट इज : ए मेमोइर ऑफ द ओबामा व्हाइट हाऊस’ में लिखा है, ‘जरदारी को पता था कि अमरीका द्वारा पाकिस्तान की संप्रभुता का उल्लंघन करने पर उन्हें देश में कड़ी प्रतिक्रिया का सामना करना पड़ेगा।’ यह किताब इसी हफ्ते बाजार में आई है।

 

 

बेंगलूर में देश की पहली स्वदेशी तकनीक तैयार कर ली गई है जो दुश्मनों के ड्रोन्स को ढूंढने और ट्रैक करने के बाद उसका खात्मा कर देगी। फिलहाल यह एक वर्किग प्रोटोटाइप है। वर्ष 2015 में इंटैलीजैंस ब्यूरो (आईबी) ने दिल्ली में ड्रोन हमले का खतरा जाहिर किया था और वर्ष 2016 में आई.ए.एफ. दक्षिणी कमान ने ड्रोन के होने की बात कही थी। ऐसे में ड्रोन अटैक के खतरे को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता था। यह प्रोटोटाइप रक्षा पीएसयू भारत इलैक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (बी.ई.एल.) के पास है। बेंगलूर स्थित बी.ई.एल. के पूर्व डायरैक्टर (रिसर्च एंड डिवैल्पमैंट) एटी कलघात्गी ने बताया कि बी.ई.एल. ने इस प्रोटोटाइप के प्रदर्शन के संबंध में यूजर एजैंसीज से बात की है और इसका पहला फील्ड डैमो 2 महीने के भीतर हो सकता है।माना जा रहा है कि इस ग्राऊंड-बेस्ड सिस्टम का इस्तेमाल करने के लिए इसे सबसे पहले सीमावर्ती इलाकों और पहाड़ी क्षेत्रों में तैनात सशस्त्र बल को दिया जा सकता है। इसके अलावा इसे एयरपोर्ट्स और संसद भवन जैसे महत्वपूर्ण स्थानों पर भी तैनात किया जा सकता है। ड्रोन को ढूंढ़ने के लिए यह पोर्टेबल प्रोटोटाइप रडार और इलैक्ट्रॉ-ऑप्टिकल एंड इलैक्ट्रॉमैग्नेटिक सैंसर्स का इस्तेमाल करता है। कलघात्गी ने कहा, चूंकि यह एक प्रोटोटाइप है, इसलिए हमने एक छोटी रेंज का प्रोडक्ट तैयार किया जो 3-5 कि.मी. की सीमा में काम करता है, लेकिन हम रडार बदल सकते हैं और उपयोगकत्र्ता आवश्यकताओं के आधार पर सीमा बढ़ा सकते हैं।यह ड्रोन को आसानी से सर्च करके ट्रैक कर सकता है, हालांकि उसे खत्म या डिसेबल करना चुनौतीपूर्ण होगा। अग्नि शक्ति का उपयोग करके एक ड्रोन नीचे सही नहीं होगा क्योंकि इसे शहरों या घनी आबादी वाले इलाकों में भी लॉन्च किया जा सकता है। कलघात्गी कहते हैं, हमारे पास एक सॉफ्ट-किल प्रोटोटाइप तैयार है और हार्ड-किल प्रोटोटाइप तैयार करने के लिए बी.ई.एल. रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन के साथ मिलकर काम कर रहा है।

 

 

7 जून को चीनी वाणिज्य मंत्रालय के प्रेस प्रवक्ता काओ फ़ङ ने पेइचिंग में कहा कि पिछले हफ्ते आयोजित चीन-अमेरिका व्यापारिक वार्ता के ब्यूरो की अंतिम पुष्टि करने की आवश्यक्ता है। उन्होंने ज़ोर दिया कि चीन वार्ता और सलाह मश्विरे से सहयोग का निरंतर विस्तार करना चाहता है और मतभेदों को दूर करना चाहता है। काओ फ़ङ ने कहा कि चीन और अमेरिका के बीच राजनयिक संबंधों की स्थापना के पिछले 40 सालों में हालांकि द्विपक्षीय आर्थिक, व्यापारिक सहयोग में डांवाडोल थी, फिर भी निरंतर आगे विकसित होती रही है। चीन वार्तालाप के जरिए अमेरिका के साथ सहयोग का निरंतर विस्तार करना चाहता है। आशा है कि अमेरिका चीन के साथ उभय प्रयास कर द्विपक्षीय आर्थिक, व्यापारिक संबंधों के स्थिर, स्वस्थ विकास की रक्षा करेगा। देश में उच्च गुणवत्ता वाले आर्थिक विकास की मांग और सुन्दर जीवन के प्रति जनता की मांग को पूरा करने के लिए चीन अमेरिका समेत विश्व के विभिन्न देशों के आयात को बढ़ाना चाहता है।

वांशिगटनः अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने व्हाइट हाउस में अपनी ओर से पहली बार इफ्तार की दावत दी हैं। इस दौरान उन्होंने सभी के लिए सुरक्षित और समृद्ध भविष्य हासिल करने के वास्ते मुस्लिम समुदाय से सहयोग मांगा हैं।ट्रंप के इस कदम से कई लोग हैरान हो गए हैं। पिछले साल उन्होंने इफ्तार की दावत देने से मना कर दिया था। वर्ष 1990 में बिल क्लिंटन के कार्यकाल के दौरान इसकी शुरुआत हुई थी। मुस्लिम विरोधी रुख के लिए पहचाने जाने वाले ट्रंप ने दुनियाभर के मुस्लिमों को रमजान की मुबारकबाद दी तथा सभी के लिए सुरक्षित और समृद्ध भविष्य हासिल करने के वास्ते सहयोग मांगा।ट्रंप ने कल शाम दावत केदौरान राजनयिकों और अधिकारियों से कहा कि एक साथ काम करके ही हम सभी के लिए सुरक्षित और समृद्ध भविष्य हासिल कर सकते हैं। इसी कारण मुझे राष्ट्रपति के तौर पर पहली विदेश यात्र के रुप में मुस्लिम देश जाकर गर्व महसूस हुआ, जहां मैंने मुस्लिम बहुल देशों के 50 से अधिक नेताओं की सभा को संबोधित किया। सभा को संबोधित करने के बाद ट्रंप भोज के लिए बैठे। मेज पर उनके साथ सऊदी अरब के शहजादे खालिद बिन सलमान और जॉर्डन के दूत दीना कवार मौजूद थे। इंडोनेशिया के राजदूत भी रात्रिभोज में शामिल हुए।इफ्तार पार्टी के लिए संयुक्त अरब अमीरात, मिस्र, ट्यूनीशिया, कतर, बहरीन, मोरक्को, अल्जीरिया, लीबिया, कुवैत, जाम्बिया, इथियोपिया, इराक और बोस्निया समेत कई मुस्लिम देशों के दूतों को आमंत्रित किया गया था। उपराष्ट्रपति माइक पेंस और वित्त मंत्री स्टीवन मुचिन तथा वाणिज्य मंत्री विल्बर रॉस समेत ट्रंप के मंत्रिमंडल के कई सदस्य भी इफ्तार पार्टी में शामिल हुए। इस बीच, ट्रंप प्रशासन के कथित मुस्लिम विरोधी रुख के खिलफ प्रदर्शन स्वरुप कुछ मुस्लिम समूहों ने व्हाइट हाउस के बाहर इफ्तार पार्टी का आयोजन किया।

दुबईः दुबई में रह रहे एक भारतीय शख्स ने केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन की हत्या करने की धमकी दी है, जिसके चलते उसे नौकरी से भी निकाल दिया गया। खलीज टाइम्स ने गुरुवार को बताया कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के समर्थक कृष्णकुमार एस.एन. नायर ने फेसबुक वीडियो में कहा कि वह अपने इस मंसूबे को अंजाम देने के लिए जल्द केरल आएगा। उसने चार मिनट के वीडियो में कहा, ‘‘मैं आरएसएस का पूर्व कार्यकर्ता हूं। मैं फिर से सक्रिय होने जा रहा हूं। मैं यहां अपनी नौकरी से इस्तीफा दे रहा हूं और केरल लौट रहा हूं। मैं दुबई में रह रहा हूं। मैं हत्या के मकसद से दो-तीन दिनों में केरल में होऊंगा। मैं इस बात को लेकर ज्यादा चिंतित नहीं हूं कि मेरे जीवन का अंत कैसे होगा। अगर हमने किसी शख्स की हत्या करने का फैसला किया है तो फिर हमें इस काम को पूरा करने की जरूरत है।’’ नायर जो अबूधाबी स्थित टारगेट इंजीनियरिंग कंस्ट्रक्शन कंपनी में रिगिंग सुपरवाइजर के पद पर काम करता था, उसने विजयन के लिए अपशब्दों को भी इस्तेमाल किया और उनकी जाति पर भी टिप्पणी की। भड़काऊ पोस्ट करने पर उसे बुधवार को तत्काल प्रभाव से नौकरी से निकाल दिया गया। नायर ने बुधवार को माफी मांगते हुए कहा, ‘‘मैंने अपनी नौकरी गंवा दी। मैं किसी भी कार्रवाई का सामना करने के लिए तैयार हूं। मैं हमेशा आरएसएस का समर्थक बना रहूंगा। मैं पिनरई विजयन और सभी राजनेताओं से माफी मांगता हूं।’’

रूसी राष्ट्रपति पुतिन ने हाल ही में बताया कि वे अमेरिका-उत्तर कोरिया शिखर बैठक में सकारात्मक उपलब्धियां प्राप्त करने की प्रतीक्षा करते हैं। रूस इस बैठक की सफलता के लिए यथासंभव कोशिश करेगा। पुतिन ने चाइना मीडिया ग्रुप के महानिदेशक शन हाईशोंग के साथ हुए विशेष साक्षात्कार में यह बात कही। शांगहाई सहयोग संगठन की शिखर बैठक 9 से 10 जून तक चीन के छिंगताओ शहर में आयोजित होगी। पुतिन इस बैठक में भाग लेंगे और चीन की राजकीय यात्रा करेंगे। कोरियाई प्रायद्वीप सवाल के बारे में पुतिन ने कहा कि रूस और चीन के रुख एकदम समान हैं। दोनों पक्षों ने कोरियाई प्रायद्वीप मुद्दे के समाधान का रोडमैप पेश किया। फिलहाल चीन ने क्षेत्रीय स्थिति में तनाव कम करने के लिए बड़ी कोशिश की है। रूस ने उसे पूरा समर्थन दिया है। पुतिन ने उत्तर कोरिया के नेतागण दवारा मिसाइल परीक्षण और नाभिकीय परीक्षण बंद करने के फैसले का उच्च मूल्यांकन किया और उसे क्षेत्रीय तवान दूर करने के लिए अभूतपूर्व प्रयास और प्रायद्वीप के गैर न्यूक्लियरकरण की ओर उठाया गया एक महत्वपूर्ण कदम बताया। पुतिन ने कहा कि सुरक्षा गारंटी पर उत्तर कोरिया की मांग समझी जा सकती है। हालांकि गारंटी के ठोस कदमों के बारे में अभी स्पष्ट नहीं है और गारंटी के कार्यांवयन की काल का पता नहीं है, आशा है कि इस क्षेत्र के देश चौतरफा तौर पर सुरक्षा गारंटी की नीति बनाने में भाग लेंगे। रूस और पश्चिमी देशों के संबंधों के बारे में पुतिन ने कहा कि रूस स्वतंत्र और प्रभुसत्ता संपन्न विकास के रास्ते पर कायम रहेगा और किसी भी प्रतिबंध से नहीं डरता। उन्होंने दोहराया कि रूस अमेरिका समेत पश्चिमी देशों के साथ बेहतर संबंध बनाए रखने की आशा करता है

काबुलः अफगानिस्तान के पूर्वी खोस्त प्रांत की एक मस्जिद में नमाज अदा कर रहे चार लोगों की बंदूकधारियों ने गोली मारकर हत्या कर दी हैं। प्रांतीय गवर्नर के प्रवक्ता तालिब मंगल ने बताया कि बुधवार की दोपहर हमलावरों ने कार में बैठे-बैठे गोलियां चलाईं। उस दौरान करीब 15 लोग मस्जिद में नमाज अदा कर रहे थे।प्रांतीय पुलिस के मुख्य प्रवक्ता बशीर बेइना ने बताया कि 4 लोग मारे गए जबकि…
वॉशिंगटन:अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने आज कहा कि फर्जी मीडिया प्रथम महिला मेलानिया के स्वास्थ्य को लेर ‘‘अन्यायपूर्ण’’और ‘‘दुर्भावनापूर्ण’’ रहा है। हाल में मामूली ऑपरेशन से गुजर चुकीं मेलानिया के स्वास्थ्य को लेकर उन्होंने मीडिया पर गलत रिपोर्टिंग का आरोप लगाया। ट्रम्प ने ट्वीट किया,‘‘फर्जी न्यूज मीडिया मेरी पत्नी और प्रथम महिला मेलानिया के प्रति बेहद अन्यायपूर्ण और दुर्भावनापूर्ण रहा है. सर्जरी के बाद उनके स्वास्थ्य लाभ को लेकर…
लंदन: ब्रिटेन में एक प्रमुख गुरुद्वारे और एक मस्जिद में आग लगा दी गई जिसे पुलिस घृणा अपराधों के तौर पर देख रही है। ‘बी.बी.सी.’ की एक खबर के अनुसार बीस्टन में हार्डी स्ट्रीट पर ‘जामा मस्जिद अबू हूरैरा मॉस्क’ और लेडी पीट लेन पर ‘गुरु नानक निष्काम सेवक जत्था गुरुद्वारे’ में आग लगा दी गई। रिपोर्ट के अनुसार मस्जिद के प्रमुख द्वार पर स्थानीय समयानुसार सुबह करीब 3 बजकर…
बगदादः इराक की राजधानी बगदाद के सदर सिटी जिले में स्थित हथियारों के डिपो में आज विस्फोट हुअा हैं। इसमें कम से कम 16 लोगों की मौत हो गई हैं जबकि कई जख्मी हो गए। इस बात की जानकारी सुरक्षा और चिकित्सकीय सूत्रों ने दी हैं। बगदाद की सुरक्षा अभियान कमान ने एक बयान में बताया कि हथियारों के डिपो में विस्फोट हुआ है। सुरक्षा बलों ने विस्फोट के कारण…
Page 7 of 289

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें