दुनिया

दुनिया (1937)

 

नई दिल्ली - बॉलीवड के दिवंगत अभिनेता राजकपूर के क्लासिक गानों ‘आवारा हूं’ और ‘मेरा जूता है जापानी’ को शंघाई सहयोग सम्मेलन में खूब प्रशंसा मिली। ये दोनों गाने शंघाई सहयोग संगठन के कार्यक्रम स्थल पर पैलेस ऑफ इंडिपेंडेंस के बैंक्वेट हॉल में लांच के दौरान बजाए गए। इस दौरान यहां शामिल हुए नेताओं ने इन गानों की खूब प्रशंसा की।
बता दें कि चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात के दौरान अभिनेता आमिर खान की फिल्म दंगल की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि मैंने दंगल फिल्म देखी है और मुझे फिल्म और उसके किरदार बेहद पसंद आए। उन्होंने भारतीय फिल्मों के बारे में काफी बातें की। उन्होंने कहा कि दंगल ने वहां पर काफी अच्छी कमाई की है और इसलिए उन्होंने भी इस फिल्म को देखा।
बॉलीवुड फिल्म दंगल 5 मई को चीन में रिलीज हुई थी। यह फिल्म चीन में कमाई करने वाली सबसे बड़ी बॉलीवुड फिल्म है। फिल्म ने वहां पर 1,100 करोड़ से अधिक की कमाई की है। यह चीन में प्रदर्शित होने वाली मात्र 33 वीं फिल्म है जिसने एक हजार करोड़ से अधिक की कमाई की है। यह फिल्म अभी भी पूरे चीन में 7,000 से अधिक स्क्रीन पर चल रही है।

 

वॉशिंगटन - अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आज कहा कि कतर इतिहास में लंबे समय से आतंकवाद का वित्तपोषण करता आया है। उन्होंने इस छोटे से खाड़ी देश और अन्य देशों से कहा कि वे आतंक का वित्त पोषण तत्काल बंद करें।
रोमानिया के राष्ट्रपति क्लॉस जोहानिस के साथ व्हाइट हाउस के रोज गार्डन में संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में संवाददाताओं से ट्रंप ने कहा, वित्तपोषण (आतंकवाद का) बंद करें, हिंसा का पाठ पढ़ाना बंद करें, हत्याएं करना बंद करें। ट्रंप ने आरोप लगाया कि आतंकवाद का सबसे ज्यादा वित्त पोषण कतर कर रहा है।
ट्रंप की ये टिप्पणियां ऐसे समय आई हैं जब उनके शीर्ष राजनयिक रैक्स टिलरसन ने सउदी अरब और उसके अन्य क्षेत्रीय सहयोगियों से कतर के साथ गतिरोध में नरमी लाने का अनुरोध किया है और कहा है कि इससे क्षेत्र में अमेरिकी सेना की गतिविधियां तथा इस्लामिक स्टेट के खिलाफ लड़ाई में बाधा उत्पन्न हो रही है।
बहरीन, मिस्र, सउदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात ने कतर से संबंध खत्म कर लिए हैं और उस पर कटटरपंथी समूहों का साथ देने का आरोप लगाया है।

 

लंदन - ब्रिटिश प्रधानमंत्री टेरिजा मे का ब्रेग्जिट चर्चाओं में अपनी स्थिति मजबूत करने के लिए समय से पहले चुनाव कराने का दांव उल्टा पड़ गया और मतदाताओं ने उन्हें संसद में बहुमत नहीं दिया। ब्रेग्जिट के लिए बातचीत के मुश्किल दौर से पहले त्रिशंकु संसद के साथ टेरिजा को अब सत्ता में बने रहने की खातिर उत्तरी आयरलैंड के एक दल का समर्थन लेने को मजबूर हो गई हैं।
हालांकि चुनाव में झटका लगने के बावजूद टेरिजा अपने इस्तीफे की मांगों को लेकर बेपरवाह रहीं और जोर देते हुए कहा कि वह डेमोक्रेटिक यूनियनिस्ट पार्टी (डीयूपी) के अनौपचारिक समर्थन के साथ सरकार का गठन करेंगी। उन्होंने घोषणा कि वह प्रधानमंत्री बनी रहेंगी और यूरोपीय संघ के साथ ब्रेग्जिट को लेकर बातचीत तय योजना के अनुरूप दस दिनों में शुरू कर देंगी।
डाउनिंग स्ट्रीट (ब्रिटिश सरकार का मुख्यालय) के बाहर उदास चेहरे के साथ मे ने एक बयान में कहा कि मैं अभी अभी महारानी से मिलकर आ रही हूं और अब सरकार का गठन करूंगी, वह सरकार जो हमारे देश के लिए निश्चितता का दौर लेकर आए और इस गंभीर समय में उसे आगे की तरफ ले जाए।
60 वर्षीय नेता ने कहा कि दोनों दलों के बीच सालों से मजबूत संबंध रहे हैं और उनका मानना है कि वे देश हित में साथ काम करने में सक्षम होंगे। उन्होंने कहा कि इससे हमें एक देश के रूप में साथ आने और हमारी दीर्घकालीन खुशहाली सुनिश्चित करने के लिए यूरोपीय संघ के साथ एक नई साझेदारी हासिल कर देश में हर किसी के लिए फायदेमंद एक सफल ब्रेग्जिट समझौते की दिशा में अपनी उर्जा का इस्तेमाल करने में मदद मिलेगी। पिछले साल जून में लोगों ने (जनमत सवेर्क्षण में) इसी के लिए मत दिया था।
हालांकि टेरिजा की कंजरवेटिव पार्टी चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी है, जेरेमी कोर्बिन के नेतृत्व में लेबर पार्टी के अच्छे प्रर्दशन ने देश की राजनीति को संकट की स्थिति में डाल दिया है और 19 जून को निर्धारित ब्रेग्जिट वार्ता से पहले टेरिजा को एक जटिल स्थिति में पहुंचा दिया है। इन चुनावी नतीजों समयपूर्व चुनाव कराने का टेरिजा का फैसला सवालों के घेरे में आ गया है।
करीब करीब सभी 650 सीटों के नतीजे घोषित हो चुके हैं। इनमें कंजरवेटिव पार्टी को 318 जबकि विपक्षी लेबर पार्टी को 261 सीटें मिली हैं और दोनो ही दल पूर्ण बहुमत के लिए जरूरी 326 सीटों के जादुई आंकड़े से दूर हैं। कंजरवेटिव पार्टी को अब सरकार के गठन के लिए डीयूपी के दस सांसदों पर निर्भर होना पड़ेगा।
चुनाव पूर्ण अनुमानों में कंजरवेटिव पार्टी को आसानी से बहुमत मिलने की बात कही जा रही थी, लेकिन उसकी चौंकाने वाली हार को अब ब्रिटिश मीडिया टेरिजा के अपने पद पर बने रहने के लिहाज से शर्मिंदगी की बात बता रहा है। कोर्बिन भले ही चुनाव में टेरिजा को शिकस्त देने में नाकाम रहे हों लेकिन उनकी पार्टी के अच्छे प्रदर्शन ने उन्हें टेरिजा से इस्तीफा मांगने को प्रेरित किया और उन्होंने कहा कि टेरिजा को इस्तीफा दे देना चाहिए क्योंकि उन्होंने वोट गंवा दिए और लोगों का समर्थन एवं विश्वास खो दिया।
अप्रैल में टेरिजा ने निर्धारित समय से तीन साल पहले इस साल जून में चुनाव कराने का आहवान किया था ताकि वे व्यापक जनादेश के साथ ब्रेग्जिट चर्चाओं में हिस्सा ले सकें। चुनाव के नतीजे से आतंकवाद संबंधी बढ़ती घटनाओं के बीच देश में एक राजनीतिक संकट खड़ा हो गया है। 37,780 वोट के साथ टेरिजा ने दक्षिण पूर्व इंग्लैंड के मेडनहेड सीट से चुनाव जीता लेकिन चुनाव से पहले संसद में पार्टी को हासिल बहुमत गंवाने के बाद उनपर इस्तीफे का दबाव बढ़ गया।
इस चुनाव को ब्रेग्जिट चुनाव के तौर पर देखा जा रहा था और इस परिणाम को उन 48 प्रतिशत लोगों के लिए उम्मीद की किरण समझा जा रहा है जिन्होंने जून 2016 में हुए जनमत संग्रह में यूरोपीय संघ में बने रहने के लिए वोट दिया था। कंजरवेटिव पार्टी की सांसद अन्ना सोब्री ने इन चुनाव परिणामों को भयानक और त्रासदी करार देते हुए प्रधानमंत्री टेरिजा के पद पर बने रहने पर सवाल खड़े किए।

 

अस्ताना - भारत और पाकिस्तान शुक्रवार को शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के पूर्णकालिक सदस्य बन गए। यह चीन के प्रभुत्व वाले इस सुरक्षा समूह का पहला विस्तार है। इस संगठन को नाटो का शक्ति-संतुलन करने वाले संगठन के तौर पर देखा जा रहा है।
रूस ने एससीओ में भारत की सदस्यता की पुरजोर वकालत की थी वहीं समूह में पाकिस्तान के प्रवेश का समर्थन चीन ने किया था। साल 2001 में गठन के बाद से संगठन के पहले विस्तार के बाद अब एससीओ 40 प्रतिशत आबादी और वैश्विक जीडीपी के करीब 20 प्रतिशत हिस्से का प्रतिनिधित्व करेगा।
एससीओ के सदस्य के रूप में भारत आतंकवाद से निपटने के लिए समन्वित कार्रवाई पर जोर देने में और क्षेत्र में सुरक्षा तथा रक्षा से जुड़े विषयों पर व्यापक रूप से अपनी बात रख सकता है। फिलहाल एससीओ की अध्यक्षता कर रहे कजाकिस्तान के राष्ट्रपति नूरसुल्तान नजरबायेव ने यहां संगठन के शिखर-सम्मेलन में घोषणा करते हुए कहा कि भारत और पाकिस्तान अब एससीओ के सदस्य हैं। यह हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण क्षण है।
दुनिया में सर्वाधिक ऊर्जा खपत वाले देशों में शामिल भारत को संगठन का सदस्य बनने से मध्य एशिया में प्रमुख गैस और तेल अन्वेषण परियोजनाओं में व्यापक पहुंच मिल सकती है। एससीओ के अधिकतर देशों में तेल और प्राककि गैस का प्रचुर भंडार है। एससीओ ने जुलाई 2015 में रूस के उफा में हुए सम्मेलन में भारत को समूह का सदस्य बनाने की प्रक्रिया शुरू की थी। उस समय भारत और पाकिस्तान को सदस्यता प्रदान करने के लिए प्रशासनिक अवरोधों को दूर किया गया था।
रूस, चीन, किर्गिज गणराज्य, कजाकिस्तान, ताजिकिस्तान और उजबेकिस्तान के राष्ट्रपतियों ने 2001 में शंघाई में एक शिखर-सम्मेलन में एससीओ की नींव रखी थी। भारत, ईरान और पाकिस्तान को 2005 में अस्ताना में हुए सम्मेलन में पर्यवेक्षकों के रूप में शामिल किया गया था।
जून 2010 में ताशकंत में हुए एससीओ के सम्मेलन में नई सदस्यता पर लगी रोक हटाई गयी थी और समूह के विस्तार का रास्ता साफ हो गया। भारत का मानना है कि एससीओ के सदस्य के रूप में वह क्षेत्र में आतंकवाद के खतरे से निपटने में बड़ी भूमिका निभा सकेगा।

 

इस्लामाबाद - आतंकी समूह इस्लामिक स्टेट ने पाकिस्तान में दो चीनी नागरिकों की हत्या की जिम्मेदारी ली है। मरने वालों में एक महिला भी थी। इन दोनों को पाकिस्तान के अशांत बलूचिस्तान प्रांत से बंदूकधारियों ने अगवा कर लिया था।
ये दोनों चीनी नागरिक क्वेटा स्थित स्थानीय शिक्षण केंद्र में उर्दू भाषा की पढ़ाई कर रहे थे। पिछले माह अज्ञात बंदूकधारियों ने इनका अपहरण कर लिया।
एक अन्य चीनी महिला किसी तरह भाग निकली और अपहरण से बच गई।
इस्लामिक स्टेट ने अपनी अमाक न्यूज एजेंसी पर कल अरबी में एक बयान अपलोड किया। इसमें कहा गया कि उसने दो अपहृत चीनी नागरिकों की हत्या की थी।
पाकिस्तानी अधिकारियों ने आईएसआईएस के इस दावे पर कोई टिप्पणी नहीं की है। इससे एक ही दिन पहले सेना ने दावा किया था कि उसने बलूचिस्तान में एक अभियान चलाया है।
जून की शुरूआत में चलाए गए तीन दिवसीय अभियान में आईएसआईएस के कम से कम 12 आतंकी मारे गए थे।
इससे पहले स्थानीय मीडिया ने खबर दी थी कि आतंकवादियों के अपहृत चीनी नागरिकों के साथ छिपे होने की खुफिया जानकारी मिलने के बाद अभियान चलाया गया था।
चीन बलूचिस्तान में रणनीतिक रूप से अहम ग्वादर पत्तन को विकसित कर रहा है। विशेषज्ञों का कहना है कि इसका उदृदेश्य भारी सैन्य मौजूदगी बनाना है।
पाकिस्तान वर्ष 2004 से बलूचिस्तान में इस्लामी और चरमपंथी उग्रवाद से जूझ रहा है। यहां सैंकड़ों सैनिक और आतंकी युद्ध में मारे जा चुके हैं।
लश्कर—ए—झांगवी और जमात—उल—अहरार जैसे स्थानीय आतंकी संगठनों के साथ रिश्तों की मदद से आईएस पाकिस्तान में पैठ बना रहा है। हालांकि सरकार ने आईएसआईएस की मौजूदगी की बात को मोटे तौर पर खारिज ही किया है।

 

लंदन - ब्रिटेन में हुए आम चुनाव के नतीजे आए हैं, जिसमें लेबर पार्टी को ज्यादा सीटें मिली हैं। इनमें भारतीय मूल के दो ब्रितानी उम्मीदवारों प्रीत कौर गिल और तनमनजीत सिंह ने जीत दर्ज की है। प्रीत पहली सिख महिला सांसद और तनमनजीत पहले पगड़ीधारी सांसद होंगे।
प्रीत ने बर्मिंघम एजबास्टन सीट 24,124 वोटों से जीती है। उन्होंने कंजर्वेटिव पार्टी के उम्मीदवार कैरोलिन स्क्वायर को 6,917 मतों के अंतर से हराया है।
उन्होंने कहा, मैं खुश हूं, मुझे एजबास्टन का अगला सांसद बनने का अवसर दिया गया। यहां मेरा जन्म हुआ और मेरी परवरिश हुई। मैं मेहनत और लगन के साथ एजबास्टन की जनता के साथ सहयोग बढ़ाना चाहती हूं। मुझे लगता है कि हम मिलकर बड़े लक्ष्य हासिल कर सकते हैं।
जीत दर्ज करने वाले दूसरे उम्मीदवार तनमनजीत सिंह देसाई, जिन्हें तान के नाम से भी जाना जाता है, ने स्लोघ सीट 34, 170 मतों से जीती है।
तनमनजीत ने कहा कि वह वह उस शहर की सेवा करना चाहते हैं जहां उनका जन्म हुआ है।
सिख फेडरेशन यूके ने एक बयान जारी कर कहा, सारा श्रेय लेबर पार्टी को जाता है, जिसने सिखों को चुनाव लड़ाने का अवसर देने का साहसिक कदम उठाया।

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); काबुलः अफगानिस्तान के पकतिया प्रांत की मस्जिद में हुई गोलीबारी में 3 लोगों की मौत हो गई जबकि 9 घायल हो गए।आंतरिक मामलों के मंत्रालय द्वारा जारी बयान के मुताबिक, “यह गोलीबारी गारदेज शहर की मस्जिद में रात लगभग 8.45 बजे हुई।”समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, अभी तक किसी भी आतंकवादी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है। यह हमला रमजान के पवित्र…
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); नयी दिल्ली - अमेरिका के कैलीफोर्निया में रविवार को एक अज्ञात व्यक्ति ने तेलंगाना के 26 साल के एक व्यक्ति को गोली मारी दी, जिससे उसकी हालत गंभीर हो गई। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बताया कि मुबीन अहमद खतरे से बाहर है। उन्होंने बताया कि उसका इडेन मेडिकल सेंटर में इलाज चल रहा है। मुबीन के पिता ने सुषमा स्वराज से जल्द वीजा दिलाने…
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); अस्ताना - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के में भाग लेने के लिए गुरुवार को दो दिन की यात्रा पर यहां पहुंचे। कजाकिस्तान की राजधानी में आयोजित इस सम्मेलन में भारत और पाकिस्तान को औपचारिक रूप से पूर्ण सदस्य के रूप में शामिल किया जाएगा। वर्ष 2001 में इस संगठन की स्थापना के बाद पहली बार इसका विस्तार किया जा रहा है।चीनी प्रभुत्व…
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); लंदन - ब्रिटेन में आतंकवादी हमलों के बाद बदली राजनीतिक परिस्थितियों के बीच आज आम चुनाव के लिए मतदान हो रहे हैं। इस चुनाव में करीब पांच करोड़ मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे।आज सुबह मतदान से ठीक पहले के सर्वे में सामने आए अंतर थेरेसा मे के प्रधानमंत्री पद पर बने रहने के पक्ष में दिखाई दे रहे हैं।इस चुनाव में कुल 650 वेस्टमिंस्टर…
Page 5 of 139

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें