दुनिया

दुनिया (4356)

 

दुबई (HH)-सीरिया की राजधानी दमिश्क के सईदा जेनाब जिले में रविवार को हुए तीन आत्मघाती हमलों में मृतकों की संख्या बढ़कर 76 हो गई है। इन हमलों की जिम्मेदारी आतंकवादी इस्लामिक स्टेट ने ली है।

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, इन हमलों में मारे जाने वाले लोगों की संख्या अभी और बढ़ सकती है। पहला विस्फोट क्षेत्र के अल सुदान इलाके में एक यात्री बस को निशाना बनाकर किया गया और इसके बाद दो आत्मघाती हमले किये गये।

इन हमलों में करीब 76 लोग मारे गये हैं और मृतकों की संख्या और भी बढ सकती है क्योंकि काफी संख्या में लोग घायल भी हुए हैं।

उल्लेखनीय है कि सईदा जेनाब जिले में लेबनान के आतंकवादी संगठन हिजबुल्लाह और अन्य इराकी तथा ईरानी आतंकवादियों का वर्चस्व है।

 

दुबई (HH)-सीरिया की राजधानी दमिश्क के सईदा जेनाब जिले में रविवार को हुए तीन आत्मघाती हमलों में मृतकों की संख्या बढ़कर 76 हो गई है। इन हमलों की जिम्मेदारी आतंकवादी इस्लामिक स्टेट ने ली है।

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, इन हमलों में मारे जाने वाले लोगों की संख्या अभी और बढ़ सकती है। पहला विस्फोट क्षेत्र के अल सुदान इलाके में एक यात्री बस को निशाना बनाकर किया गया और इसके बाद दो आत्मघाती हमले किये गये।

इन हमलों में करीब 76 लोग मारे गये हैं और मृतकों की संख्या और भी बढ सकती है क्योंकि काफी संख्या में लोग घायल भी हुए हैं।

उल्लेखनीय है कि सईदा जेनाब जिले में लेबनान के आतंकवादी संगठन हिजबुल्लाह और अन्य इराकी तथा ईरानी आतंकवादियों का वर्चस्व है।

 

काबुल (HH)-अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में आज एक पुलिस ठिकाने को निशाना बनाकर आत्मघाती बम हमला किया गया जिसमें कई लोगों के हताहत होने की खबर है।

किसी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है। यह हमला उस वक्त हुआ है जब औपचारिक शांति वार्ता को बहाल करने के प्रयासों के बावजूद तालिबान ने हमले तेज कर दिए हैं।

गृह मंत्रालय के प्रवक्ता नजीब दानिश ने बताया, काबुल शहर में एक पुलिस ठिकाने पर आत्मघाती कार बम हमला हुआ है। कुछ लोगों के हताहत होने की आशंका है।

एएफपी के फोटोग्राफर ने मौके पर कम से कम 10 शव देखे, हालांकि अभी इस बात की पुष्टि नहीं हो पाई है कि इस हमले में कितने लोग मारे गए हैं।

हमले के तत्काल बाद एंबुलेंस को घटनास्थल के लिए रवाना कर दिया गया। सुरक्षा अधिकारियों ने मौके की घेराबंदी कर दी है।

 

वॉशिंगटन (HH)-अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने सूरज के अदृश्य चुंबकीय क्षेत्र को देखने और समझने के लिए एक वीडियो तैयार किया है जो गहरे अंतरिक्ष के सफर के लिए अहम साबित हो सकता है। नासा के इस वीडियो में रियल टाइम अवलोकन को कंप्यूटर के सिमुलेशन से जोड़ा गया है और इसके आधार पर विश्लेषण किया गया है कि कैसे प्लाज्मा सूरज के कोरोना से गुजरता है।

उल्लेखनीय है कि हमारा सूरज एक विकराल चुंबकीय तारा है। यह ऐसे पदार्थ से बना है जो विद्युत-चुंबकत्व के नियमों के अनुरूप गमन करता है।

सूरज का चुंबकीय क्षेत्र सौर विस्फोटों से होने वाले औरोरा से ले कर अंतर-ग्रहीय चुंबकीय क्षेत्र और विकिरण तक सारी सौर परिघटनाओं के लिए जिम्मेदार है।

नासा के गोडार्ड फ्लाइट सेंटर के अंतरिक्ष वैज्ञानिक डीन पेसनेल ने कहा, हम यकीनी तौर पर नहीं कह सकते कि सूरज में ठीक कहां चुंबकीसय क्षेत्र का निर्माण होता है। पेसनेल ने कहा, यह सौर सतह के नजदीक हो सकता है या सूरज के गहरे अंदर या फिर विभिन्न गहराइयों पर।

इन अदृश्य क्षेत्रों को देखने के लिए वैज्ञानिकों ने सूरज पर पदार्थ का अवलोकन किया। सूरज प्लाज्मा से बना है जो पदार्थ की गैस की तरह की अवस्था है जिसमें इलेक्ट्रोन और आयन अलग हो जाते हैं और इस तरह आवेशित कणों का बेहद गरम मिश्रण तैयार होता है।

लंदन:-ब्रिटेन के सांसदों को मरम्मत कार्य के लिए वेस्टमिंस्टर पैलेस छोड़ने पर शराब पर प्रतिबंध सहित शरिया कानून का पालन करना पड़ सकता है क्योंकि नये परिसर में जहां वे जाएंगे, वहां इस्लामिक कानून चलता है।

ब्रिटेन की एक संसदीय कमेटी ने पसंदीदा विकल्प के तौर पर वेस्टमिंस्टर के पैलेस के बाहर हाउस ऑफ कामंस के लिए एक अस्थायी ठिकाने के तौर पर रिचमंड हाउस की पहचान की है, जो ब्रिटेन के स्वास्थ्य विभाग की जगह है।

लेकिन लंदन के इस भवन को दो साल पहले इस्लामिक आधारित सुकुक वित्तीय प्रक्रिया के तहत स्थानांतरित किया गया था और लीज की शर्त है कि शरिया कानून द्वारा प्रतिबंधित उद्देश्यों के लिए इस्तेमाल नहीं हो सकता।

काहिरा:-आईएसआईएस ने इराक के मोसुल शहर में संघर्ष क्षेत्र से भागने की कोशिश कर रहे 20 लड़ाकों के कथित तौर पर सार्वजनिक रूप से सिर काट दिये और इस तरह से आतंकवादी संगठन के दूसरे सदस्यों को भागने की कोशिश करने पर ऐसे नतीजे भुगतने की चेतावनी दी।

आरा न्यूज के अनुसार इस्लामिक स्टेट इन इराक एंड सीरिया (आईएसआईएस) ने निनेवे प्रांत के मोसुल शहर में संघर्ष क्षेत्र से भागने की कोशिश करने वाले अपने ही आतंकवादियों को पकड़ लिया और सबके सामने उन्हें मौत के घाट उतार दिया। एक स्थानीय सूत्र ने आईएसआईएस के एक ओहदेदार के हवाले से कहा कि विद्रोहियों को शुक्रवार की शाम को मोसुल के पास जांच चौकी पर गिरफ्तार किया गया था।

पश्चिमी मोसुल में लड़ाई पर मोर्चे के दौरान लड़ाकों के तौर पर अपनी स्थिति को छोड़ने वाले इन आतंकियों को मुकदमे के लिए शरीया अदालत में भेजा गया था। उसने कहा कि संक्षिप्त पूछताछ के बाद शरीया अदालत ने धोखाधड़ी के आरोप में भागने वालों का सिर काटने का फैसला किया। खबर के अनुसार जिहादियों को मोसुल में सैकड़ों लोगों के सामने मौत के घाट उतारा गया जिनमें अधिकतर आईएसआईएस के सदस्य और कमांडर थे।

बगदाद:-इस्लामिक स्टेट ने एक वीडियो जारी किया है जिसमें कथित रूप से दिखाया गया है कि फ्रेंच बोलने वाले आतंकवादी पश्चिमी देशों को हमले की धमकी दे रहे हैं। इसमें इराक में जासूसों को और आईएस से हटने वालों को सजाए मौत देते हुए भी दिखाया गया है। बताया जाता है कि जिहादी वेबसाइट पर कल लगाया गया फुटेज आईएस के मीडिया कार्यालय ने इराक के निनेवे प्रांत में बनाया…
वाशिंगटन(HH)-भारतीय मूल के प्रमुख अमेरिकी योगगुरु बिक्रम चौधरी को अपनी पूर्व वकील को 10 लाख डॉलर (तकरीबन 6 करोड़ 28 लाख रुपये) चुकाने का आदेश दिया गया है। अमेरिका की एक अदालत ने सोमवार को यौन उत्पीड़न के एक मामले में योगगुरु को यह सजा सुनाई है। बिक्रम योगा के 69 वर्षीय संस्थापक योगगुरु पर आरोप है कि उसने यौन उत्पीड़न की जांच कर रही वकील का यौन उत्पीड़न किया।…
इस्लामाबाद(HH)-आतंकी हमले का खतरा देखते हुए आज पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में सभी स्कूल बंद कर दिए गए हैं। हाल ही में पेशावर के बाचा खान यूनिवर्सिटी में आतंकियों ने हमला कर 21 लोगों को मार दिया था। (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); सरकार द्वारा जारी मेमो के अनुसार पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी को सूचना मिली है कि पड़ोसी देश अफगानिस्तान से 13 तालिबान लड़ाके पाकिस्तान के स्कूलों में आत्मघाती…
टोरंटो(HH)-एयर इंडिया कनिष्क में 1985 में हुए विस्फोटों के एकमात्र दोषी इन्द्रजीत सिंह रेयत को बुधवार को कनाडा की जेल से रिहा कर दिया गया। विमान में हुए विस्फोट के कारण उसमें सवार सभी 329 लोग मारे गए थे। वर्ष 2003 में रिपुदमन सिंह मलिक और अजायब सिंह बागरी की सुनवायी के दौरान अदालत के सामने झूठ बोलने के लिए रेयत को 2010 में झूठी गवाही देने का दोषी करार…

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें