दुनिया

दुनिया (4374)

कोलंबो। श्रीलंकाई नौसेना ने शनिवार को एक बार फिर से भारत के 27 मछुआरों को गिरफ्तार किया। यह गिरफ्तारी डेल्फ्ट आइलैंड के नजदीक से हुई है। नौसेना ने इनकी चार नौकाओं को भी जब्त कर लिया है। यहां के कराईनगर में जांच जारी है।यह कोई पहला मौका नहीं जब श्रीलंकाई नौसेना ने भारतीय मछुआरों को गिरफ्तार किया हो। इसी साल अप्रैल में पाकिस्तान ने अपने जलक्षेत्र में कथित तौर पर भटक कर प्रवेश कर जाने को लेकर 52 भारतीय मछुआरों को गिरफ्तार किया था।श्रीलंका में आए दिन भारतीय मछुआरों की गिरफ्तारी द्विपक्षीय संबंधों के लिए गंभीर चुनौती बन गया है। श्रीलंका कई सालों से आरोप लगा रहा है कि भारतीय मछुआरे गैर कानूनी तरीके से उसकी सीमा में घुस आते हैं। वहीं भारत का कहना है कि श्रीलंका अब तक 100 से अधिक भारतीय मछुआरों की जान ले चुका है।

पेरिस। फ्रांस के ऐतिहासिक थीम पार्क में कचड़े की सफाई करने के लिए इंसानों की जगह कौओं को प्रशिक्षित किया गया है। पार्क के अध्‍यक्ष ने बताया कि 6 कौओं को इस बात के लिए ट्रेनिंग दी जा चुकी है। ये कौए पार्क में लोगों द्वारा फेंके गए सिगरेट के टुकड़ों समेत अन्‍य कचड़े को चुन-चुन कर हटा देंगे।प्‍यू डू फोउ पार्क के निकोलस डे विलियर्स ने बताया, ‘इस काम के बदले इन पक्षियों को खाना दिया जाएगा, ताकि इन्‍हें इस काम के लिए प्रोत्‍साहित किया जा सके। इसके पीछे केवल सफाई और स्‍वच्‍छता ही एकमात्र उद्देश्‍य नहीं है बल्‍कि यह भी दिखाना है कि प्रकृति खुद ही हमें पर्यावरण का ध्‍यान रखना सिखाती है।’विलियर्स ने आगे बताया कि इन्‍हीं कौओं में से रुक्‍स, कैरियन, जैकडॉ और रैवन कौए विशेष अहमियत रखते हैं और सही परिस्‍थिति में मनुष्‍यों के साथ बातचीत पसंद करते हैं और खेल-खेल में रिश्‍ते स्‍थापित कर लेते हैं। फ्रांस का यह पार्क बेहतर रख-रखाव के लिए जाना जाता है और यहां हर साल 22 लाख से अधिक पर्यटक आते हैं

यह वारदात कनाडा के पूर्वी शहर फ्रेडेरिक्टर में हुई है। फिलहाल, पुलिस ने इलाके के लोगों को चेतावनी जारी की है कि वो घरों में रहें।कनाडा में हुई गोलीबारी मे 4 लोगों की मौत हो गई। यह वारदात कनाडा के पूर्वी शहर फ्रेडेरिक्टर में हुई है। फिलहाल, पुलिस ने इलाके के लोगों को चेतावनी जारी की है कि वो घरों में रहें।इसके साथ ही पुलिस ने भी कहा है कि लोगों को फिलहाल इस इलाके में आने से बचना चाहिए। पुलिस का कहना है कि वे जल्द से जल्द इस मामले के बारे में और जानकारी साझा करेंगे।

कराची। न्‍यूयॉर्क में आयोजित पाकिस्‍तान के स्‍वतंत्रता दिवस पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान एक अजीबो-गरीब वाकया सामना आया। इस घटना के बाद पाकिस्‍तानी सिंगर अतिफ असलम सोशल मीडिया पर जबरदस्‍त ट्रोल हुए। दरअसल हुआ यूं कि इस मौके पर वह रणबीर और कटरीना की हिंदी फिल्‍म अजब प्रेम की गजब कहानी का गाना गा बैठे। इसके बाद उनकी सोशल मीडिया पर जबरदस्‍त खिंचाई की गई और देखते ही देखते वह सोशल मीडिया पर ट्रोल हो गए। न्‍यूयॉर्क में यह कार्यक्रम स्‍वतंत्रता दिवस से पूर्व आयोजित किया गया था, जिसमें असलम को गाने का मौका दिया गया था। आपको बता दें कि असलम ने यूं भी कुछ हिंदी फिल्‍मों के हिट सॉन्‍ग्‍स को अपनी आवाज दी है। इसमें अजब प्रेम की गजब कहानी का तेरा होने लगा हूं भी शामिल है।लेकिन हिंदी मूवी का गाना गाने के बाद असलम की परेशानी बढ़ गई। असलम के कई फैंस ने इसको लेकर उनकी कड़ी आलोचना की तो कुछ ने यहां तक लिख डाला कि क्‍या उनका देशप्रेम पाकिस्‍तान के अलावा भारत के लिए भी है। उनके एक फैंस ने तो असलम के बारे में यहां तक लिख डाला कि उनके मन में असलम के प्रति कोई इज्‍जत नहीं रह गई है। इकसे अलावा एक अन्‍य यूजर ने ट्वीट कर लिखा कि इसके लिए असलम का बहिष्‍कार किया जाना चाहिए। वहीं दूसरी तरफ एक अन्‍य पाकिस्‍तानी सिंगर शफकात अमानत अली ने असलम का बचाव किया है। गौरतलब है कि अमानत ने भी कुछ हिंदी फिल्‍मों में गीत गाए हैं।अमानत का कहना है कि वह असलम के समर्थन में खड़े हैं। संगीत की कोई जुबान नहीं होती है और न ही वह भारत या पाकिस्‍तान का हो सकता है। कोई भी गायक संगीत और गीत को बिना हिचक और बिना भेदभाव के प्रेम करता है। वह अपने फैंस को भी उसी तरह से प्रेम करता है फिर चाहे वह भारत का हो या फिर पाकिस्‍तान का, इससे उसे कोई फर्क नहीं पड़ता है। उनके अलावा फिल्‍म आलोचक कमेर अल्‍वी का भी कहना है कि लोगों को ये ध्‍यान रखना चाहिए कि बॉलीवुड ने कई पाकिस्‍तानी गायकों को आगे बढ़ने का मौका दिया है। इतना ही नहीं बॉलीवुड मूवी पाकिस्‍तान में खुलेतौर पर दिखाई जाती हैं। फिल्‍म और संगीत को किसी सीमा में नहीं बांधा जा सकता है। उन्‍होंने असलम का विरोध करने वालों पर सख्‍त टिप्‍पणी करते हुए यहां तक कहा कि यदि असलम का विरोध करना सही है तो ऐसे लोगों को भारतीय फिल्‍में नहीं देखनी चाहिए और न ही इन्‍हें देखने के लिए हॉल में जाना चाहिए।

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के होने वाले प्रधानमंत्री इमरान खान ने शुक्रवार को चुनाव आयोग से माफी मांगी। बता दें कि चुनाव के दौरान इमरान खान ने सबके सामने बैलेट पेपर पर मुहर लगाई थी। जिसके बाद चुनाव आयोग ने गोपनीयता भंग करने का आरोप लगाते हुए उनके खिलाफ नोटिस जारी किया था। पाकिस्तान चुनाव आयोग ने पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ के प्रमुख की माफी स्वीकार कर ली है। चुनाव आयोग ने उनकी जीत का नोटिफिकेशन भी जारी करने का फैसला किया है।मुख्य चुनाव आयुक्त रिटायर्ड जस्टिस सरदार मुहम्मद रजा ने इस माफीनामे का समर्थन कर बलोचिस्तान, खैबर पख्तूनवा और सिंध के चुनाव अधिकारियों पर नाराजगी जाहिर की है। बता दें कि रजा समेत चार सदस्यों की एक बेंच इमरान खान के मामले पर सुनवाई की।इससे पहले गुरुवार को बेंच के समक्ष हाजिर हुए इमरान खान के वकील की ओर दायर किए गए जवाब का खारिज कर दिया गया। उन्होंने कहा था कि इमरान खान ने जानबूझकर बैलेट पर सार्वजनिक रूप से ठप्पा नहीं लगाया था। उसने चुनाव आयोग से इस मामले को खत्म करने और उनकी जीत की औपचारिक घोषणा करने की बात कही। गौरतलब है कि मतदान के दिन इमरान खान ने सब लोगों के सामने अपने बैलेट पेपर पर ठप्पा लगाया था, जिसके बाद आयोग ने स्वतः संज्ञान लेते हुए खान को नोटिस जारी किया था।इसके साथ ही खान के वकील ने कहा कि मीडिया ने इमरान के फोटो बिना इजाजत उतारे थे।

 

 

काबुल। तालिबान आतंकियों ने गुरुवार देर रात अफगानिस्तान के दक्षिण पश्चिमी शहर गजनी पर कब्जे के इरादे से पूरी तैयारी के साथ धावा बोला। उन्होंने गोलीबारी करते हुए कई पुलिस चौकियों, घरों और बाजारों में आग लगा दी। इस हमले में 14 पुलिसकर्मियों की मौत हो गई और कई घायल हो गए। सुरक्षा बलों की जवाबी कार्रवाई में दर्जनों आतंकियों के भी मारे जाने की खबर है।प्रांतीय पुलिस प्रमुख फरीद अहमद के अनुसार, गजनी में स्थानीय समयानुसार रात करीब दो बजे हमला किया गया था। हमले को विफल करने के बाद पुलिस ने बचे हुए आतंकियों को पकड़ने के लिए घर-घर तलाशी शुरू की है। इसकी भी जांच की जा रही है कि राजधानी काबुल से 120 किमी दूर स्थित इस शहर के भीतरी इलाकों तक आतंकी कैसे पहुंच गए? पुलिस प्रमुख ने बताया कि गजनी के एक पुल के नीचे से 39 आतंकियों के शव बरामद किए गए।सड़कों पर कई और आतंकियों के शव पड़े हैं। गजनी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने हालांकि शुक्रवार सुबह कहा कि तालिबान ने रिहायशी और कारोबारी इलाकों में मिसाइलों से हमला किया। पिछले आठ घंटों से लगातार गोलीबारी की आवाजें सुनाई पड़ रही हैं। तालिबान प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद ने दावा किया कि गजनी हमले में दर्जनों अफगान सैनिक और पुलिसकर्मी मारे गए।
आतंकियों को खदेड़ने में अमेरिका ने की मदद:-अफगानिस्तान में अमेरिकी बलों के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल मार्टिन ओडोनेल ने बताया कि तालिबान आतंकियों को खदेड़ने के लिए अमेरिकी लड़ाकू हेलीकॉप्टरों ने भी अफगान बलों की सहायता की।

कराची। पाकिस्तान में 25 जुलाई को हुए आम चुनाव में धांधली का मामला सामना आया है। बलूचिस्तान प्रांत के दो पोलिंग बूथों के चुनाव प्रभारियों ने दावा किया है कि सुरक्षा बलों ने मुत्ताहिदा मजलिस अमल (एमएमए) के एक प्रत्याशी के पक्ष में फर्जी मतदान के लिए उन्हें अगवा कर लिया था। एमएमए धार्मिक पार्टी है। पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पीएमएल-एन और बिलावल भुट्टो की पीपीपी समेत कई दल…
नई दिल्‍ली। दक्षिण चीन सागर में मौजूद विवादित द्वीप के ऊपर से उड़ते अमेरिकी नेवी के जहाज को चीन की तरफ से छह बार चेतावनी दी गई। इस चेतावनी में कहा गया कि आप यहां से तुरंत निकल जाएं, आप चीन की सीमा में हैं। आपको बता दें कि यह वही विवादित द्वीप है जिसपर चीन अपना हक जताता रहा है। इस पर कुछ दूसरे देश भी अपना हक जताते…
इस्लामाबाद। जेल में बंद पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और उनके पारिवारिक सदस्यों के खिलाफ भ्रष्टाचार के बाकी दो मामलों की सुनवाई भी गुरुवार से शुरू हो गई। राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (एनएबी) की अदालत ने सोमवार को शरीफ को पेश करने का आदेश दिया है।एनएबी अदालत ने लंदन में चार लक्जरी फ्लैट खरीदने से जुड़े भ्रष्टाचार के पहले मामले में छह जुलाई को शरीफ को दस साल, उनकी बेटी…
लंदन। किचन की सिंक में नल से पानी गिरने के दौरान आपने पानी को नाली में बहने से पहले थोड़ा ऊपर उठते देखा होगा। ऐसा विज्ञान के एक सिद्धांत हाइड्रोलिक जंप के कारण होता है। इसकी खोज 1500 ईसवी में इटली के प्रसिद्ध खोजकर्ता और पेंटर लियोनार्डाे द विंची ने की थी।हालांकि इसकी वजह आज तक वैज्ञानिकों के लिए रहस्य ही रही है। इसे लेकर वैज्ञानिकों ने समय-समय पर कई…
Page 4 of 313

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें