दुनिया

दुनिया (2208)


दोहा - कतर ने बुधवार को 80 देशों के नागरिकों को देश में बिना वीजा दाखिले को मंजूरी दे दी है जिसमें भारत भी शामिल है। कतर ने छह अरब देशों की ओर से लगाए गए प्रतिबंधों के बाद अपने देश में पर्यटन और हवाई यातायात को बढ़ावा देने के मकसद से यह कदम उठाया है।
2022 में होना है वर्ल्ड कप
यूरोप के दर्जन भर देशों और भारत समेत दूसरे देशों जैसे न्यूजलैंड, दक्षिण अफ्रीका और अमेरिका से आने वाले कई नागरिकों को अब कतर में दाखिल होने के लिए सिर्फ एक पासपोर्ट की जरूरत होगी। कतर वर्ष 2022 में होने वाले फुटबॉल वर्ल्ड कप का मेजबान है। 33 देशों के नागरिकों को जहां कतर में 180 दिनों तक रहने की मंजूरी है तो वही बाकी 47 देशों के नागरिक 30 दिनों से ज्यादा दिनों तक कतर में रुक पाएंगे। दोहा में एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कतर के पर्यटन विभाग के चीफ डेवलपमेंट ऑफिसर हसन अल इब्राहिम ने बताया कि वीजा में छूट देने की योजना कतर को इस क्षेत्र में सबसे खुला देश बनाएगी। सऊदी अरब, इजिप्ट, बहरीन और यूएई ने पांच जून को कतर को बैन लिस्ट में डाल दिया था कई तरह के प्रतिबंध लगाएथ जिसमें देश के साथ हर तरह के यातायात को भी बैन कर दिया गया था। इन देशों ने कतर को आतंकवाद का समर्थक बताते हुए और ईरान के साथ करीबी संबंध रखने की वजह से ब्लैकलिस्ट कर दिया था।


वाशिंगटन - अमेरिकी विदेश मंत्रालय के एक अधिकारी ने उत्तर कोरिया के मामले पर सरकार में मतभेदों की रिपोर्टों को खारिज करते हुए कहा है कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का पूरा प्रशासन उत्तर कोरिया से पैदा होने वाले खतरे और इससे निपटने के तरीके को लेकर एकमत है।
विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हीथर नोर्ट ने संवाददाताओं से कहा कि आप में से कुछ इस पर असहमत हो सकते हैं लेकिन अमेरिका एकमत है। चाहे व्हाइट हाउस हो, विदेश मंत्रालय हो या रक्षा मंत्रालय हो, हम सब एक स्वर में बोल रहे हैं। उन्होंने कहा कि वास्तव में, दुनिया एक स्वर में बात कर रही है और हमने यह संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भी देखा, जहां एक सप्ताह से भी कम समय पहले प्रस्ताव पारित हुआ।
अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच पिछले कुछ दिनों से तनाव बढ़ गया है। ट्रंप ने मंगलवार को कहा था कि अगर उत्तर कोरिया अमेरिका को धमकाता है तो उसे गंभीर परिणाम भुगतने होंगे। ट्रंप उन रिपोर्टों पर प्रतिक्रिया दे रहे थे जिसमें कहा गया था कि उत्तर कोरिया ने एक परमाणु हथियार का निर्माण किया है जो इतना छोटा है कि उसकी मिसाइलों में लगाया जा सकता है।
हीथर ने कहा कि अन्य देशों के साथ अमेरिका, उत्तर कोरिया की अस्थिरता पैदा करने वाली गतिविधियों की निंदा करता है। उन्होंने कहा कि वे लगातार इसमें शामिल रहे हैं, एक महीने से भी कम समय में दो आईसीबीएम का प्रक्षेपण किया गया। दुनिया इसे लेके आईसीबीएम (अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल) ने उत्तर कोरिया की मिसाइलों की पहुंच अमेरिका के मुख्य भूभाग तक बढ़ा दी है।
हीथर ने कहा कि उत्तर कोरिया पर अमेरिका के नेतत्व में अंतरराष्ट्रीय दबाव का असर हो रहा है और इसके परिणाम निकल रहे हैं जो उत्तर कोरिया पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा सर्वसम्मति से लगाए गए प्रतिबंधों के रूप में दिखता है।
विदेश विभाग की प्रवक्ता ने ट्रंप की इस टिप्पणी का बचाव किया कि उत्तर कोरिया अगर अमेरिका को धमकाता है तो उसे विध्वंस का सामना करना पड़ेगा। हीथर ने कहा कि राष्ट्रपति उत्तर कोरिया को उस भाषा में कड़ा संदेश दे रहे हैं, जो वह समझता है। नोर्ट ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय अमेरिका से सहमत है और उसके कई साझेदार तथा सहयोगी उत्तर कोरिया पर अतिरिक्त दबाव बनाने के पक्ष में हैं।


सोल - अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा देश पर किसी प्रकार के हमले का 'मुंहतोड़ जवाब' देने की चेतावनी के बाद उत्तर कोरिया ने भी पलटवार किया है। उत्तर कोरिया ने कहा है कि वह अगस्त के मध्य तक प्रशासनिक रूप से अमेरिका के अधीन प्रशांत महासागर के पश्चिमी भाग में स्थित ग्वाम द्वीप पर मिसाइल हमले कर सकता है।
स्थानीय मीडिया ने जनरल किम रेक ग्योम के हवाले से बताया कि कोरियन्स पीपल्स आर्मी (केपीए) जापान के शिमाने, हिरोशिमा और कोईिच पर 12 रोकेट छोड़ेगा। ये रोकेट 1065 सेकेंड में 3356.7 किलोमीटर की दूरी तक मार सकता है। इसके अलावा ग्वाम से 30-4० किलोमीटर दूर तक पानी में भी मार कर सकता है।
उत्तर कोरिया ने कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा देश पर किसी प्रकार के हमले का 'मुंहतोड़ जवाब' देने की चेतावनी सिर्फ बकवास है और उन पर असली कार्रवाई अब हम करेंगे।

 


वाशिंगटन - अमेरिकी विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन ने आज कहा कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ऐसी भाषा का इस्तेमाल कर रहे हैं जिसे किम जोंग उन समझ सकते हैं।
गौरतलब है कि ट्रंप ने उत्तर कोरिया के हथियार कार्यक्रम को लेकर उसे अंजाम भुगतने की चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति उत्तर कोरिया को उस भाषा में सख्त संदेश भेज रहे हैं जिसे किम जोंग समझेंगे क्योंकि वह कूटनीतिक भाषा समझते नहीं दिख रहे।
टिलरसन अमेरिका के अधिकार क्षेत्र वाले द्वीप गुआम जाते समय अपने विमान में संवाददाताओं से बात कर रहे थे। गुआम में उत्तर कोरिया ने अपना मिसाइल हमले करने की चेतावनी दी है।


तेहरान - बुधवार को एयर इंडिया की जर्मनी के फ्रैंकफर्ट से दिल्ली आ रही फ्लाइट एआई-120 की ईरान की राजधानी तेहरान में इमरजेंसी लैंडिंग कराई गई। इस फ्लाइट में 249 पैसेंजर्स सवार थे। फ्लाइट में तकनीकी खराबी की वजह से इसकी इमरजेंसी लैंडिंग करानी पड़ गई। फिलहाल दिल्ली से एक फ्लाइट को तेहरान रवाना किया गया है ताकि यात्रियों को भारत लाया जा सके। इस फ्लाइट को बुधवार सुबह 8:30 बजे दिल्ली लैंड करना था।
दो बजे मुंबई से रवाना दूसरा विमान
एयर इंडिया के प्रवक्ता की ओर से जानकारी दी गई कि एआई-120 के बायीं तरफ वाले कॉकपिट की विंडशील्ड में एक क्रैक था। इस बात का पता लगने पर एयरक्राफ्ट को फौरन तेहरान की ओर रवाना किया गया। यहां पर सारे पैसेंजर्स को होटल भेज दिया गया था। अब एक जंबो जेट मुंबई से दोपहर दो बजे तेहरान रवाना किया गया है। यह जंबो जेट सभी यात्रियों को देश लेकर आएगा। इसके अलावा खराब हुए एयरक्राफ्ट ड्रीमलाइनर को ठीक करने के लिए एक व्यक्ति और सारा जरूरी सामान भी भेजा गया है। एयर इंडिया का जो जेट खराब हुआ है वह ड्रीमलाइनर है जबकि बोइंग 747 जंबो जेट पैसेंजर्स को दिल्ली लेकर आएगा। एआई 120 फ्रैंकफर्ट से टाइम पर दिल्ली के लिए रवाना हुआ था। रास्ते में हर इसकी विंडशील्ड में क्रैक आ गया और फिर इसे डाइवर्ट करना पड़ गया। अब ड्रीमलाइनर पूरी तरह से ठीक होने के बाद दिल्ली के लिए उड़ान भरेगा। इसकी विंडशील्ड को बदला जाएगा।

 


पेरिस - पेरिस के बाहर गश्त कर रहे सैनिकों को आज एक कार ने जोरदार टक्कर मार दी जिसमें छह लोग घायल हो गए। इनमें से दो लोग गंभीर रूप से घायल हैं। यह जानकारी फ्रांस की राजधानी में मौजूद पुलिस ने दी।
लेवालॉयस-पैरेट के उत्तरपश्चिमी नगर प्रांत में सुबह तकरीबन आठ बजे (भारतीय समयानुसार) हुई घटना के बाद से वाहन गायब है। पुलिस ने घटना स्पष्टतः इरादतन कृत्य बताया है। फ्रांस नवंबर 2015 से आपातकाल की स्थिति में है और उसके सुरक्षा बलों पर हमलों का सिलसिला देखा जा सकता है, खासकर उनपर जो मुख्य पर्यटक स्थलों पर तैनात रहते हैं।
मनोवैज्ञानिक समस्याओं से जूझ रहे एक 18 वषीर्य लड़के को चाकू दिखाने के कारण शनिवार को एफिल टावर के पास से गिरफ्तार किया गया था। मामले से जुड़े सूत्रों ने बताया कि उसने जांचकतार्ओं को बताया था कि वह एक सैनिक को मारना चाहता था।
फरवरी में हथियार से लैस एक व्यक्ति ने पेरिस के लोव्रे म्यूजियम पर गश्त कर रहे चार सैनिकों पर हमला कर दिया था जबकि अप्रैल में एक और उग्रवादी ने चैंप्स एलिसीज पर एक पुलिस वाले की गोली मारकर हत्या कर दी थी।
जून में इस्लामिक स्टेट समूह द्वारा बंधक बनाई गई 40 वषीर्य अल्जीरिया की डॉक्टोरेट छात्रा ने नोट्रे डेम गिरजार के बाहर कुल्हाड़ी से एक पुलिस वाले पर हमला किया था।

 

बीजिंग - सिक्किम के डोकलाम में पिछले दो माह से जारी तनाव में कोई कमी नहीं आई है। इस पूरे मुद्दे पर चीन की तरफ से लगातार भारत को डरान और धमकाने वाले बयान आ रहे हैं। अब इसी कड़ी में उसका नया बयान भी शामिल हो गया है। चीन ने भारत को फिर से धमकी दी है और कहा है कि अगर चीन उत्तराखंड के कालापानी या फिर कश्मीर…
बीजिंग - दक्षिणी-पश्चिमी चीन के चेंगदु में मंगलवार रात आए भूकंप से करीब 100 लोगों की मौत हो गई और हजारों लोग घायल हो गए हैं। भूकंप की तीव्रता 7 मापी गई है। वहीं इसकी गहराई जमीन के भीतर दस किलोमीटर बताई गई है। सियुचान प्रांत के प्राथमिक विश्लेषण के मुताबिक, 9 बजकर 20 मिनट पर आए भूकंप से 1.3 लाख घरों को नुकसान पहुंचा है। वहीं सिचुआन प्रांत के…
गुआम - अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की चेतावनी के कुछ ही घंटों के बाद उत्तर कोरिया ने गुआम पर हमले के लिए मिसाइल तैयार होने की बात कही है। गुआम प्रशांत महासागर में अमेरिका प्रशासित द्वीप है। करीब दो लाख की आबादी वाले इस द्वीप में अमेरिका का बड़ा सैन्य अड्डा भी है। वैसे गुआम के गवर्नर ने हमले के किसी आशंका को खारिज किया है।कहा है, द्वीप की सुरक्षा…
काठमांडू - नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा अपने पहले आधिकारिक विदेश दौरे के तहत इस महीने भारत पहुंचेंगे। विदेश मंत्रालय ने यह घोषणा की। द हिमालयन टाइम्स की खबर के अनुसार उप प्रधानमंत्री एवं विदेश मंत्री कृष्ण बहादुर महारा ने कहा कि 23 अगस्त से शुरू होने वाली पांच दिन की यात्रा के एजेंडे पर चर्चा की जा रही है।महारा ने बताया कि देउबा की भारत यात्रा से पहले…
Page 4 of 158

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें