दुनिया

दुनिया (2561)


कोलंबो - श्रीलंका के उत्तरी शहर जाफना में तमिलों ने राजनीतिक कैदियों की रिहाई की मांग करते हुए विरोध प्रदर्शन शुरु कर दिया है। मई 2009 में एलटीटीई के साथ सशस्त्र संघर्ष की समाप्ति के बाद आतंकवाद निरोधक कानून के तहत उन्हें बंदी बना लिया गया था। प्रदर्शनकारियों ने गवर्नर सचिवालय के सामने इकट्ठा होकर हाथों में बैनर लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे, जिस पर लिखा था- आतंकवाद निरोधक अधिनियम को हटाओ, 'बिना किसी शर्त के सभी राजनीतिक कैदियों को रिहा करो।
तमिल नेशनल एलायंस (टीएनए) के नेता श्री संपनथन ने भी राष्ट्रपति मैत्रीपला सिरीसेना को एक पत्र लिखकर तमिल राजनीतिक कैदियों की रिहाई की मांग की। "इनमें से अधिकतर व्यक्तियों के खिलाफ उपलब्ध एकमात्र सबूत उनके द्वारा आतंकवाद कानून की रोकथाम के खिलाफ बोले गए बयान हैं, जो सामान्य न्यायालय में उन के खिलाफ अस्वीकार्य होगा। पत्र में यह भी कहा गया कि इनमें से कई मामलों को स्थगित कर दिया गया है क्योंकि अभियोजन पक्ष मामले को आगे बढ़ाने के लिए तैयार नहीं है।
बता दें कि श्रीलंका में 1979 में तमिलों ने अलग गृहराज्य की मांग करते हुए बड़े स्तर पर अभियान चलाया था। तीन दशकों तक चला यह अभियान 2009 में समाप्त हो गया। लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम (एलटीटीई) द्वारा सशस्त्र अभियान के दौरान, विद्रोही संगठन के कई कार्यकर्ता पीटीए के तहत गिरफ्तार कर लिए गए थे।

 


कैलिफोर्निया - अमेरिका के राज्य कैलिफोर्निया के जंगलों में लगी आग और भयानक होती जा रही है। इस आग की वजह से अब तक 31 लोगों की मौत हो चुकी हैं और सैंकड़ों लोग लापता हैं। अधिकारियों की ओर से बताया गया है कि यह यहां पर लगी अब तक की सबसे भयंकर आग है। गुरुवार को हालांकि फायरफाइटर्स को इस आग को नियंत्रित करने में थोड़ी सफलता मिल सकी।
न्यूॉर्क शहर जितने इलाके में फैली है आग
गुरुवार को जंगल की आग की वजह से आठ और लोगों की मौत हो गई। कहा जा रहा है अमेरिकी इतिहास में यह पहला मौका है जब आग की वजह से इतनी संख्या में मौते हुई हैं। इससे पहले लॉस एंजिल्स में सन् 1933 में ग्रिफिथ पार्क में लगी आग में 29 लोगों की मौत हो गई थी। इसके अलावा नॉर्थ बे फायर को भी सबसे खतरनाक आग माना जाता है। इस आग में 3,500 घर तबाह हो गए थे और इतने ही बिजनेस आग में पूरी तरह से तबाह हो गए थे। कैलिफोर्निया के जंगलों में लगी आग 190,000 एकड़ से ज्यादा के इलाके में फैल चुकी है और इतना इलाका पूरे न्यूयॉर्क शहर के बराबर है। धीरे-धीरे और भी इलाकों की ओर बढ़ रही है। इस तबाही की आधिकारिक वजह अभी तक सामने नहीं आई है लेकिन अधिकारियों का कहना है कि रविवार रात तेज हवाओं के संपर्क में पावर लाइंस के आने से चिंगारी भड़की और यह तबाही में बदल गई। इस तबाही में मौतों का आंकड़ा बढ़ने की संभावना है।


लास वेगास - अमेरिका के लास वेगास में कुछ दिन पहले हुए नरसंहार में घायल हुई एक छात्रा ने होटल, कंसर्ट के प्रमोटर और हथियार निर्माताओं के खिलाफ मुकदमा दायर किया है। ये छात्रा कैलिफोर्निया की रहने वाली है। छात्रा का दावा है कि बड़े पैमाने पर हुई गोलीबारी के लिए ये सब भी जिम्मेदार हैं, जिसमें 59 लोगों की मौत हो गई थी।
रिपोर्ट के मुताबिक, केस एमजीएम रिजॉर्ट इंटरनेशनल के खिलाफ किया गया है, जिसके पास मैंडाले बे और कंसर्ट स्थल का जिम्मा है। इसी कंपनी ने एक अक्टूबर को म्यूजिक कंसर्ट करवाया था। कंपनी द्वारा इस कंसर्ट के समय में कई बार बदलाव किया जाना कई सवाल उठाता है. क्लार्क काउंटी के शेरिफ (पुलिस अधिकारी) जो लोम्बार्डो ने बताया कि उस कार्यक्रम के समय में और बदलाव होने की संभावना भी थी।
पेज गैस्पर द्वारा बुधवार को किया गया यह केस इस बात पर भी सवाल उठाता है कि होटल के कर्मचारियों ने हत्यारे स्टीफन पैडॉक के व्यवहार पर ध्यान क्यों नहीं दिया। इसमें एमजीएम पर सुरक्षा अधिकारी जीसस कैम्पोस पर गोली चालाए जाने के बाद समय पर प्रतिक्रिया नहीं देने का आरोप भी लगाया गया है।
इसके अलावा संगीत महोत्सव के प्रमोटर लाइव नेशन के खिलाफ भी मुकदमा दायर किया गया है। उन पर आपात स्थिति में बाहर की व्यवस्था नहीं करने और अपने कर्मचारियों को ऐसी स्थिति से निपटने के लिए प्रशिक्षित नहीं करने का आरोप है। एक वकील ने बताया, ‘आपात स्थिति में बाहर निकलने की व्यवस्था नहीं बनाई गई थी और किसी भी उद्घोषक ने साउंड सिस्टम के माध्यम से लोगों को कोई निर्देश नहीं दिए।’


संयुक्त राष्ट्र - भारत ने फिर परमाणु अप्रसार संधि (एनपीटी) पर अपना रुख स्पष्ट किया है। संयुक्त राष्ट्र में भारत के प्रतिनिधि अमनदीप सिंह गिल ने कहा कि भारत परमाणु शक्ति संपन्न राष्ट्र का दर्जा मिले बगैर एनपीटी का हिस्सा नहीं बनेगा। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि परमाणु परीक्षण पर एकतरफा प्रतिबंध को लेकर भारत पूर्व की भांति प्रतिबद्ध है। गिल ने अंतरिक्ष में हथियार तैनात करने की बढ़ती होड़ पर भी चिंता जताते हुए इसे रोकने के लिए समुचित उपाय करने का आह्वान किया।
भारतीय प्रतिनिधि ने यूएन महासभा में निरस्त्रीकरण पर जारी बहस में परमाणु हथियारों पर देश का पक्ष रखा। उन्होंने कहा, 'गैर परमाणु शक्ति संपन्न राष्ट्र के तौर पर एनपीटी में शामिल होने का सवाल ही नहीं उठता। इस पर भारत का रुख जगजाहिर है, ऐसे में उसे दोहराने की जरूरत नहीं है। इसके बावजूद भारत वैश्विक अप्रसार के उद्देश्यों को बरकरार रखने और उसे मजबूत करने के कदम का समर्थन करता है। खासकर विभिन्न देशों द्वारा एनपीटी समेत विभिन्न करार में तय लक्ष्यों के प्रभावी क्रियान्वयन का पक्षधर है।'
क्या है एनपीटी
एनपीटी एक अंतरराष्ट्रीय समझौता है, जिसका उद्देश्य परमाणु हथियारों के प्रसार को रोकना और परमाणु ऊर्जा के शांतिपूर्ण इस्तेमाल को बढ़ावा देना है। इस संधि के मुताबिक 1 जनवरी, 1967 से पहले परमाणु परीक्षण करने वाले देशों को परमाणु शक्ति संपन्न राष्ट्र माना गया है।
पाक और उत्तर कोरिया पर कार्रवाई की मांग
भारत ने इस दौरान पाकिस्तान और उत्तर कोरिया के बीच परमाणु व मिसाइल तकनीक के आदान-प्रदान का मुद्दा भी उठाया। गिल ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से इस गतिविधि में शामिल देशों पर कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने कहा कि गुप्त तरीके से परमाणु हथियार के प्रसार में जुटे देशों के खिलाफ दुनिया को एकजुट होकर कदम उठाना चाहिए।


ज्यूरिक - अगर पूछा जाए कि हमारे शहर के नालों में क्या बहता है, तो जाहिर है आप गंदा सा चेहरा बना लेंगे! लेकिन दुनिया में एक देश ऐसा भी है जहां नालियों में सिर्फ गंदगी ही नहीं सोना-चांदी भी बहता है।
आपको ये जानकर हैरानी होगी दुनिया के सबसे रहीस देशों में शुमार स्विजरलैंड के वेस्ट सिस्टम (कचरे के पाइप) में सोना और चांदी पाया जाता है। इतना ही नहीं अगर इन दोनों तत्वों की मात्रा को इकट्ठा किया जाए तो इनकी कीमत करोड़ों रुपये होगी।
इस तरह कचरे में मिलता है सोना-चांदी
पिछले साल स्विजरलैंड के रिसर्चरों ने वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट (जल उपचार संयंत्र) में कचरे में से 3 टन चांदी और 43 किलो सोना बरामद किया। अगर इनकी कीमत जोड़ी जाए तो ये लगभग दो करोड़ रुपये के आसपास होगी।
यहां से आता है इतना सोना-चांदी
स्विजरलैंड सरकार के अनुसार कचरे में मिलने वाले साने और चांदी के छोटे टुकड़े घड़ी बनाने वाली कंपनियों, दवाई निर्माता कंपनियों और अन्य रसायनिक कारखानों से निकलते हैं। इन सभी जगहों पर विभिन्न उतपात के निर्माण के लिए इन धातुओं का प्रयोग किया जाता है।
एक लेखक ने कहा, 'यहां किसी महिला द्वारा टॉयलेट में अंगूठी फेंके जाने जैसे किस्से सुनने में आते हैं, लेकिन ये सही नहीं है। सोने-चांदी के जो कण मिलते हैं वो काफी छोटी मात्रा में होते हैं, लेकिन जब इसे जोड़ा जाता है तो इसकी मात्रा अच्छी-खासी हो जाती है।'


इस्लामाबाद - पाकिस्तान के गृह मंत्री अहसान इकबाल ने बुधवार को संयुक्त राज्य अमेरिका से कहा कि वह चीन-पाकिस्तान आर्थिक कॉरिडोर (सीपीईसी) को भारत के नजरिए से न देखें। पाकिस्तान का यह बयान तब आया है जब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खक्कान अब्बासी ने कहा कि भारत सीपीईसी के खिलाफ बेबुनियाद प्रचार कर रहा है।
अमेरिकी रक्षा सचिव जेम्स मैटिस ने पहले ही कहा था कि वन बेल्ट, वन रोड परियोजना एक विवादित क्षेत्र से गुजर रही है, जो शांति स्थापित करने की राह में रुकावट की तरह है। मैटिस ने कहा कि विश्व में इस प्रकार के कई बेल्ट और सड़क हैं, इसलिए कोई भी देश 'वन बेल्ट, वन रोड' की तानाशाही नहीं अपना सकता है।
इकबाल ने वाशिंगटन से आग्रह किया कि वह अन्य राज्यों और अन्य मुद्दों पर बहस करने के बजाए इस्लामाबाद पर अपने तरीके से डील करे। सीपीईसी को लेकर इकबाल ने कहा, " यह परियोजना किसी के खिलाफ साजिश नहीं है, यह आर्थिक समृद्धि की एक योजना है।"
बता दें कि चीन 2013 में वन बेल्ट वन रोड (ओबीओआर) के साथ सामने आया था। इस परियोजना में रेलवे, सड़कों और पाइपलाइनों का एक नेटवर्क शामिल है जो चीन के झिंजियांग प्रांत से पाकिस्तान के बंदरगाह शहर ग्वादर से से जुड़ जाएगा।

वाशिंगटन - अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि उत्तर कोरिया के हालिया मिसाइल और परमाणु परीक्षणों पर उनका नजरिया अलग है। यह समस्या ऐसी स्थिति में पहुंच गई है, जहां कुछ तो किया जाना चाहिए। उत्तर कोरिया ने इस साल फरवरी से किए गए अपने 15 परीक्षणों के दौरान 22 मिसाइलें दागी हैं, जिनमें से दो जापान के ऊपर से होकर गुजरीं। उत्तर कोरिया के इस कदम पर…
वॉशिंगटन - वैज्ञानिकों ने एक ऐसी सामग्री ढूंढी है जिसके बाद सुपरसोनिक विमान से बेहतर तकनीक वाले हाइपरसोनिक विमान बनाने में मदद मिलेगी। यह सामग्री बेहद हल्की है जो बहुत अधिक तामपान और दबाव को झेल सकती है। माना जा रहा है कि यह खोज ध्वनि की गति से पांच से दस गुणा अधिक रफ्तार से चलने वाले सुपरसोनिक विमान के विकास की दिशा में एक अहम कदम है। नासा…
वॉशिंगटन - मंगल ग्रह से जुड़ी रिसर्च में शामिल नासा के एक यान ने लाल ग्रह पर पृथ्वी के समान दिखने वाली मिट्टी खोजी है। नासा के मंगल टोही यान (एमआरओ) ने आज इस ग्रह पर एक ऐसे संभावित स्थान की तस्वीर भेजी जहां बालू के कण बन रहे हैं। नासा के रिसर्चरों ने बताया कि दक्षिणी उच्चस्थल और उत्तरी निम्नस्थल की सीमा के पास एक गोल आकार के गडडे…
इस्लामाबाद - हेग स्थित इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (आइसीजे) में चल रहे कुलभूषण जाधव के मामले को लीड करने के लिए पाकिस्तान सरकार ने पूर्व चीफ जस्टिस तसादुक हुसैन जिलानी को एड-हॉक जज नियुक्त किया है। पाक राष्ट्रीयता का कोई न्यायाधीश आइसीजे में न होने से पाक को ये सहूलियत मिली है। भारत के जस्टिस भंडारी अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में कार्यरत हैं। जिलानी को 2007 में उस समय नजरबंद रहना पड़ा…
Page 4 of 183

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें