दुनिया

दुनिया (4033)

चीनी विज्ञान अकादमी ने 13 जून को ऐलान किया कि इस संस्था ने पावर लिथियम बैटरी, ग्रीन प्रिंटिंग, स्वास्थ्य उपचार और पेयजल के उपचार आदि संदर्भ में कोर प्रौद्योगिकी नवाचार किया और पांच अरब युआन सामाजिक निवेश एकत्र किया। चीनी विज्ञान अकादमी के तहत नेशनल नैनोसाइंस रिसर्च सेंटर के अनुसंधानकर्ता वांग छेन ने कहा कि हमने नैनोसाइंस के बेसिक अनुसंधान से औद्योगिक विकास तक पहुंचने में व्यापक प्रयास किया है। हमने कोर सामग्री व प्रौद्योगिकी के विकास के जरिये औद्योगिक उपकरण, सिस्टम एकीकरण, और अनुमानित औद्योगिकीकरण पर नैनो तकनीक का प्रयोग शुरू किया। साथ ही पर्यावरणीय, सामाजिक और आर्थिक लाभों में भी महत्वपूर्ण प्रगति हासिल हुई।नेशनल नैनो साइंस सेंटर के सीनियर इंजीनियर शेन हाई ईंग ने कहा कि हम ने प्रयोगशाला की तकनीकों का औद्योगिकीकरण किया है और कुछ तकनीकी प्रगतियां हासिल की हैं। हमारे उत्पाद वस्तुओं को चिकित्सा उपकरण प्रमाण पत्र प्राप्त हुआ है और सरकार के खाद्य एवं दवा प्रशासन की तरफ से पुष्टि भी की गयी है। चीनी विज्ञान अकादमी के मेजर साइंस एंड टेक्नोलॉजी ब्यूरो के उप प्रधान ची थाओ ने कहा कि चीन में नैनो तकनीक का विकास स्तर विश्व उन्नत माना जाता है। मिसाल के लिए साल 1997 में नैनो तकनीक से संबंधित एससीआई थीसिस में केवल 6 प्रतिशत चीनी लेखक के थे, जबकि वर्ष 2011 में चीनी वैज्ञानिकों के एससीआई थीसिस की मात्रा अमेरिका से बढ़ गयी है। और आज चीनी वैज्ञानिकों व तकनीशियनों के थीसिस और पेटेंट की संख्या भी बड़ी तेज़ी से बढ़ती जा रही है।

वांशिगटनः अंटार्कटिका में बर्फ चिंताजनक दर से पिघल रही है। वर्ष 1992 के बाद से करीब तीन ट्रिलियन टन बर्फ पिघल चुकी है। हिम विशेषज्ञों के एक अंतरराष्ट्रीय दल ने एक नए अध्ययन में कहा कि सदी की पिछली तिमाही में अंटार्कटिका के दक्षिणी छोर में पानी में इतनी ज्यादा बर्फ पिघल चुकी है कि टेक्सास में करीब 13 फीट तक जमीन डूब गई है। दक्षिणी छोर में बर्फ की यह चादर जलवायु परिवर्तन की मुख्य संकेतक है।यह अध्ययन बुधवार को नेचर पत्रिका में प्रकाशित हुआ। अध्ययन के अनुसार वर्ष 1992 से 2011 तक अंटार्कटिका में एक साल में करीब 84 बिलियन टन बर्फ पिघली हैं। साल 2012 से 2017 तक बर्फ पिघलने की दर प्रति वर्ष 241 बिलियन टन से भी ज्यादा हो गई। अध्ययन से जुड़ी यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया इरविन की इजाबेल वेलिकोग्ना ने कहा कि मुझे लगता है कि हमें चिंतित होना चाहिए। इसका मतलब यह नहीं है कि हमें हताश होना चाहिए। चीजें हो रही हैं। हमारी उम्मीदों से अधिक तेजी से चीजें हो रही हैं। पश्चिम अंटार्कटिका का वह हिस्सा ढहने की स्थिति में है। इसी हिस्से में सबसे ज्यादा बर्फ पिघली है।

शांगहाई सहयोग संगठन (एससीओ) का पहला राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव 13 जून को पूर्वी चीन के शानतोंग प्रांत के समुद्रतटीय शहर छिंगताओ में उद्घाटित हुआ। महोत्सव के दौरान दर्शक 12 देशों की श्रेष्ठ फिल्मों का मज़ा ले सकेंगे। इन फिल्मों में 23 फिल्में प्रतियोगिता में भाग लेंगी, जबकि 55 फिल्में प्रदर्शित की जाएंगी।पहला एससीओ राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव एससीओ छिंगताओ शिखर सम्मेलन के लिए महत्वपूर्ण मानविकी आदान प्रदान गतिविधि है। जिसका आयोजन चीनी राष्ट्रीय फिल्म ब्यूरो,शानतोंग प्रांत की जन सरकार और छिंगताओ की जन सरकार के संयुक्त तत्वावधान में किया जा रहा है। इसका चीनी विदेश मंत्रालय और एससीओ सचिवालय ने समर्थन किया।चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की केंद्रीय समिति के प्रचार-प्रसार विभाग के उप प्रधान, राष्ट्रीय फिल्म ब्यूरो के निदेशक वांग श्याओहुई ने कहा कि चीन ने एससीओ फिल्म महोत्सव के आयोजन का आह्वान किया, जिसका विभिन्न देशों ने सक्रिय समर्थन किया। इससे विभिन्न देशों के फिल्म सहयोग को मज़बूत करने और मानविकी आवाजाही को गहराने की अभिलाषा जाहिर हुई।विश्वास है कि पहले एससीओ राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव से लाभ उठाकर विभिन्न देश एक दूसरे से सीखने और सहयोग को मजबूत करने से फिल्म उद्योग के विकास और फिल्म रचनाओं में प्रगति हासिल हो सकेगी। इसके साथ ही शांगहाई सहयोग संगठन के साझे भाग्य समुदाय की स्थापना और वैश्विक फिल्म की समृद्धि और विकास के लिए खास योगदान किया जा सकेगा।गौरतलब है कि फिल्म महोत्सव 5 दिन जारी रहेगा, इस दौरान प्रतियोगिता में हिस्सा लेने वाली फिल्मों में “गोल्ड सीगल पुरस्कार”हासिल 6 फिल्में चुनी जाएंगी।

13 जून को पहला एससीओ फिल्मोत्व पूर्वी चीन के छिंगताओ में उद्घाटित हुआ। एससीओ के सदस्य देशों के फिल्म प्रतिनिधि मंडल, फिल्म कलाकारों, फिल्म उद्यमों के प्रतिनिधियों, देसी-विदेशी संवाददाताओं और जोशपूर्ण छिंगताओ नागरिकों समेत 900 से अधिक लोगों ने उद्घाटन समारोह में भाग लिया।एसीसीओ में शामिल होने के बाद भारत पहली बार सदस्य देश की हैसियत से इस फिल्मोत्सव में भाग ले रहा है। मशहूर भारतीय निर्देशक साकेत चौधरी ज्युरी के सदस्य होने के नाते उद्घाटन समारोह में उपस्थित थे। दो भारतीय फिल्में टेकऑफ़ और विलेज रॉकस्टार इस उत्सव की प्रतियोगिता में हिस्सा लेंगी ,जबकि दंगल, सैराट और बिसोर्जोन समेत तीन फिल्में दिखाई जाएंगी। चीनी राजकीय फिल्म ब्यूरो के महानिदेशक वांग श्योहुइ ने उद्घाटन समारोह में अपने भाषण में विश्वास जताया कि पहले एससीओ फिल्मोत्सव की शुरुआत से एक दूसरे से सीखने और सहयोग गहराने के ज़रिये एससीओ के सदस्य देशों के फिल्म उद्योग के विकास को बढ़ावा मिलेगा और एससीओ के साझे भविष्य का निर्माण करने और विश्व फिल्म की समृद्धि के लिए विशिष्ट योगदान दिया जाएगा ।यह महोत्सव पाँच दिनों तक चलेगा। 12 देशों की श्रेष्ठ फिल्में दिखायी जाएंगी, जिन में 23 फिल्में प्रतियोगिता में भाग लेंगी

चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के महासचिव, राष्ट्रपति शी चिनफींग ने 13 जून को अपनी शानतोंग यात्रा जारी रखी। पूर्वी चीन के इस प्रांत का दौरा करते हुए शी ने कई बार स्वतंत्र नवाचार पर जोर दिया।13 जून को शी चिनफिंग ने यैनथाई शहर के औद्योगिक पार्क का दौरा करते हुए कहा कि औद्योगिक विकास के दौरान स्वतंत्र नवाचार को बढ़ाने की बड़ी जरूरत है। राज्य के स्वामित्व वाले उद्यमों में बदलाव किए जाने की आवश्यकता है, अन्यथा इनका संचालन बेहतर तरीके से नहीं हो सकेगा।उन्होंने ज्वलनशील बर्फ खनन की खुदाई करने के महासागर इंजीनियरिंग कंपनी का दौरा भी किया। इस कारोबार ने गत वर्ष ज्वलनशील बर्फ की खुदाई करने वाले समय और उत्पादन मात्रा के दो विश्व रिकॉर्ड कीर्तिमान स्थापित किये। शी ने खुशी से कंपनी के कर्मचारियों से आगे कोशिश करने की आशा व्यक्त की और कहा कि बेसिक और कोर तकनीक विदेशों से नहीं खरीदी जा सकती। हमें आत्म निर्भरता होना पड़ेगा।

मई में चीन की आर्थिक स्थिति स्थिर और बेहतर है, उत्पादन की मांग भी मूल रूप से स्थिर और बेहतर है, रोजगार की स्थिति अच्छी है, कीमतें हल्के से बढ़ रही है, आपूर्ति और मांग संरचना के साथ ही व्यापार दक्षता में सुधार हो रहा है। चीनी राष्ट्रीय सांख्यिकी ब्यूरो के प्रवक्ता ने 14 जून को पेइचिंग में यह जानकारी दी।प्रवक्ता के मुताबिक मई में चीन के औद्योगिक उत्पादन की स्थिति स्थिर है, सेवा उद्योग का तेज़ विकास हो रहा है, उपभोक्ता की मांग भी निरंतर बढ़ रही है, उपभोक्ता कीमतों की हालत स्थिर हो रही है, व्यापार विकास अच्छा होने की उम्मीद है।चीनी राष्ट्रीय सांख्यिकी ब्यूरो द्वारा उस दिन जारी आंकड़ों के अनुसार मई में बड़े चीनी उद्यमों का अतिरिक्त औद्योगिक मूल्य 6.8 प्रतिशत अधिक रहा, शहरी सर्वेक्षण बेरोजगारी दर 4.8 प्रतिशत रही, जो पिछले वर्ष की इसी अवधि और इस वर्ष की तुलना में 0.1 प्रतिशत नीचे गिरा है

 

 

 

चीन के युन्नान प्रांत-भारत के पश्चिम बंगाल प्रदेश यानि 2 के सहयोग मंच की 12वीं बैठक 13 जून को खुनमिंग शहर में उद्घाटित हुई। इस बार के मंच का प्रमुख मुद्दा है चीन और भारत के बीच औद्योगिक सहयोग। मंच में दोनों देशों के विशेषज्ञों और विद्वानों ने विचार-विमर्श कर कई सहमतियां बनाईं।के 2 के सहयोग वार्ता व्यवस्था का लक्ष्य है पूरी तरह दोनों पक्षों के थिंकटैंक के बीच पुल…
इस्लामाबादः पाकिस्तान ने आज भारत के कार्यवाहक उप उच्चायुक्त को तलब किया और नियंत्रण रेखा के पार से भारतीय सैनिकों द्वारा बिना किसी उकसावे के कथित संघर्ष विराम उल्लंघन की निंदा की जिसमें एक आम नागरिक की मौत हो गई। विदेश कार्यालय ने कहा है कि कार्यवाहक महानिदेशकर् दक्षिण एशिया और सार्की ने उप उच्चा युक्त को तलब किया और चिरिकोट सेक्टर में कल भारतीय सुरक्षा बलों द्वारा बिना किसी…
वाशिंगटनः अमेरिकी सरकार ने भारत को छह एएच -64 ई अपाचे हेलीकॉप्टर बेचने के सौदे को मंजूरी दे दी है. यह सौदा 93 करोड़ डॉलर में हुआ है। अमेरिका के विदेश मंत्रालय ने आज इसकी जानकारी दी। समझौते को मंजूरी के लिए अमेरिकी कांग्रेस के पास भेजा गया है , यदि कोई भी अमेरिकी सांसद अनुबंध पर आपत्ति नहीं जताता है तो सौदे को हरी झंडी मिल जाएगी। बोइंग और…
चंडीगढ़: भारत में 1984 में हुए आॅपरेशन ब्लू स्टार से जुड़े दस्तावेजों को सार्वजनिक करने के लिए यूके के एक जज ने आदेश दिए है। मिली जानकारी के अनुसार लंदन में जस्टिस मुरे शैंक्स मार्च में तीन दिन चली फर्स्ट टियर ट्रिब्यूनल की अध्यक्षता कर चुके हैं। जिसमें 1984 के ऑपरेशन ब्लू स्टार में ब्रिटेन के शामिल होने संबंधी कैबिनेट ऑफिस की गोपनीय फाइलों को फ्रीडम और इंर्फोमेशन के तहत…
Page 4 of 289

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें