दुनिया

दुनिया (4356)

पाकिस्तानी सेना की बर्बरता के खिलाफ पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) में गुरुवार को एक बार फिर लोग सड़कों पर उतरे। मुजफ्फराबाद में प्रदर्शन कर रहे लोगों ने आजादी के नारे लगाए और पाक सेना को वहां से हटाने की मांग की।पीओके में शांतिपूर्ण ब्लैक डे प्रदर्शन में शामिल लोगों पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया। प्रदर्शनकारियों को बुरी तरह से पीटा गया।प्रदर्शनकारियों ने एक स्वर में कहा कि उनको आजादी चाहिए। पाकिस्तान को यहां से अपनी सेना हटानी चाहिए। वे अब इसे बर्दाश्त नहीं कर सकते हैं।एक प्रदर्शनकारी ने कहा कि पाकिस्तान अपने आप को तो संभाल नहीं पाता। नवाज शरीफ दुनिया के जिस कोने में जाते हैं, राहिल शरीफ का साया उनके साथ होता है।गौरतलब है कि बलूचिस्तान और पीओके में लोग पाक सेना की बर्बरता से परेशान हैं। वहां लगातार पाक सरकार और सेना के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं।

ब्रिटेन की नई प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने स्पष्ट कर दिया है कि कश्मीर मसले पर उनका देश कोई मध्यस्थता या हस्तक्षेप नहीं करेगा। पाकिस्तानी मूल की एक सांसद के सवाल के जवाब में ब्रिटिश संसद में थेरेसा ने बताया कि 6 नवंबर से अपनी भारत यात्रा के दौरान वह पीएम मोदी से इस मसले पर कोई बात नहीं करेंगी। उन्होंने कहा, यह द्विपक्षीय मुद्दा है इसे इन्हीं दो देशों को सुलझाना चाहिए।पाकिस्तान में जन्मी लेबर पार्टी की सांसद यास्मीन कुरैशी ने प्रधानमंत्री के साप्ताहिक प्रश्न सत्र के दौरान हाउस ऑफ कॉमन्स में यह मुद्दा उठाया। यास्मीन ने पूछा कि क्या टेरेसा की अगले महीने की भारत यात्रा के दौरान कश्मीर मुददे पर बातचीत की जाएगी। ब्रिटेन की प्रधानमंत्री ने संसद में इस बात का संकेत दिया कि वह जब छह से आठ नवंबर के बीच भारत जाएंगी तो उस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ द्विपक्षीय वार्ताओं में कश्मीर मुद्दे के एजेंडे मेंमिल रहने की संभावना नहीं है।थेरेसा ने कहा, मैं वही रुख अपनाउंगी जो सरकार ने सत्ता में आने के बाद से और पहले भी अपनाया है। यह रुख है कि कश्मीर ऐसा मुद्दा है जिससे भारत एवं पाकिस्तान को निपटना चाहिए और उसे सुलझाना चाहिए। कुरैशी पश्चिमोत्तर इंग्लैंड के बोल्टन निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करती हैं। इस क्षेत्र में बड़ी संख्या में पाकिस्तानी मूल के लोग रहते है।उन्होंने सदन में प्रश्न किया, क्या प्रधानमंत्री मेरे और अन्य दलों के सहयोगियों के साथ मुलाकात करके जैसा कि 1948 में संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव बताया गया था, कश्मीर के आत्म निर्णय के उस मुद्दे और मानवाधिकार उल्लंघनों पर बातचीत करेंगी और क्या वह भारत के प्रधानमंत्री के समक्ष इस मुद्दे को उठा सकती हैं। थेरेसा ने किसी भी बैठक को खारिज करते हुए कहा, विदेश सचिव (बोरिस जॉनसन) ने उनके अभिवेदन को सुना है और मुझे भरोसा है कि वह उनसे (कुरैशी) उन मुद्दों पर बात करेंगे।

पहली विदेश यात्रा पर भारत आ रही हैं थेरेसा;-ब्रिटेन की प्रधानमंत्री यूरोप के बाहर विदेश की अपनी पहली द्विपक्षीय यात्रा के लिए छह नवंबर को भारत आएंगी। वह मोदी के साथ भारत-ब्रिटेन तकनीक शिखर सम्मेलन का उद्घाटन करने के अलावा बेंगलुरु जाने से पहले अपने भारतीय समकक्ष के साथ वार्ता करेंगी। टेरेसा के साथ उनके अंतरराष्ट्रीय व्यापार मंत्री लियाम फॉक्स और ब्रिटेन के लघु एवं मध्यम उद्यमों के प्रतिनिधियों समेत एक व्यापार प्रतिनिधिमंडल भारत जाएगा।

सीरिया में विद्रोहियों के कब्जे वाले इदलिब प्रांत में एक स्कूल पर हुए हवाई हमले में 22 बच्चों एवं छह अध्यापकों की मौत हो गई है।बच्चों के लिए काम करने वाली संयुक्त राष्ट्र की एजेंसी यूनिसेफ के निदेशक एंटनी लेक ने बुधवार को कहा, यह दु:खद घटना है। यह अत्याचार है और यदि यह जानबूझकर किया गया है तो यह युद्ध अपराध है।सीरियन आब्जर्वेटरी फॉर हयूमन राइटस ने कहा कि रूस या सीरिया के युद्धक विमानों ने एक स्कूल परिसर समेत हास गांव में छह हमले किए।लेक ने बताया कि स्कूल परिसर पर बार बार हमले किए गए। ऐसी संभावना है कि यह पांच वर्ष से भी अधिक समय पहले शुरू हुए युद्ध के बाद से किसी स्कूल पर अब तक का सबसे घातक हमला हो।सोशल मीडिया पर दिखाई दे रहे एक फोटोग्राफ में दिखाया गया है कि एक बच्चे की बाजू कोहनी के ऊपर तक कटी हुई है लेकिन फिर भी उसने धूल से भरे थैले की पट्टी पकड़ रखी है।यूनिसेफ के निदेशक ने कहा, इस प्रकार की बर्बरता के प्रति दुनिया की नफरत इस हद तक कब बढ़ेगी जब हम सब इसे रोकने की जिद ठान लेंगे।

रूस का हमले से इनकार;-हमले के बारे में सवाल पूछे जाने पर रूसी राजदूत वितली चुर्किन ने कहा, यह भयानक है, अत्यंत भयानक। मैं उम्मीद करता है कि हम इसमें शामिल नहीं हैं।उन्होंने संवाददाताओं से कहा, मेरे लिए ना कहना आसान है लेकिन मैं जिम्मेदार व्यक्ति हूं। मुझे यह देखना होगा कि हमारे रक्षा मंत्री क्या कहते हैं।पश्चिमी ताकतें एवं मानवाधिकार समूह सीरियाई सरकारी बलों एवं उनके रूसी सहयोगियों पर असैन्य बुनियादी सुविधाओं पर अंधाधुंध हमले करने का आरोप लगाते रहे हैं।सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों के साथ मार्च 2011 में संघर्ष शुरू होने के बाद से सीरिया में 3,00,000 से अधिक लोग मारे गए हैं और देश की आधी से अधिक आबादी विस्थापित हो गई है।

क्वेटा में एक पुलिस प्रशिक्षण कॉलेज पर हुए बड़े हमले के एक दिन बाद पाकिस्तान ने दावा किया है कि भारत और अफगानिस्तान की खुफिया एजेंसियां देश के आसान ठिकानों पर हमले के लिए आतंकी संगठनों को संरक्षण दे रही हैं और उनके गठजोड़ को तोड़ने के लिए उसने अमेरिका से मदद की मांग की है।रेडियो पाकिस्तान की रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार लेफ्टिनेंट जनरल (अवकाश प्राप्त) नसीर खान जांजुआ ने बुधवार को अमेरिकी राजदूत डेविड हाले के साथ बैठक के दौरान यह बात कही।रिपोर्ट के मुताबिक जांजुआ ने हाले को बताया कि भारत की रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रॉ) और अफगानिस्तान की नेशनल डायरेक्टर ऑफ सिक्योरटी (एनडीएस) पाकिस्तान के आसान ठिकानों पर हमले के लिए आतंकवादियों को संरक्षण दे रही हैं।क्वेटा में पुलिस प्रशिक्षण कॉलेज पर आतंकवादी हमला, आतंक-निरोधक अभियानों और सीमा पार से हमलों पर चर्चा के लिए यह बैठक आयोजित की गई।

क्वेटा हमले से पाकिस्तान में आईएस की दस्तक:-गौरतलब है कि सोमवार की देर रात पाकिस्तान के अशांत बलूचिस्तान प्रांत की राजधानी क्वेटा के एक पुलिस प्रशिक्षण कॉलेज पर हुए हमले में बहुसंख्य पुलिसकर्मियों समेत 61 सुरक्षाकर्मियों की मौत हो गई थी और 100 से अधिक लोग घायल हो गए थे।जांजुआ ने अफगान खुफिया एजेंसी एनडीएस और भारतीय खुफिया एजेंसी रॉ के संरक्षण से अभियान चलाने वाले अफगान आतंकवादियों के गठजोड़ को तोड़ने की जरूरत पर बल दिया।इसके मुताबिक पाकिस्तान ने स्थिति से निपटने के लिए अमेरिका से मदद की मांग की।पाकिस्तानी एनएसए ने राजदूत को बताया कि पुलिस प्रशिक्षण कॉलेज पर हमला करने वाले आतंकवादी अफगानिस्तान में बैठे अपने आका से लगातार संपर्क में थे। हाले ने क्वेटा हमले की निंदा की और अपनी संवेदनाएं जाहिर की। उन्होंने इसके लिए अमेरिकी समर्थन भी जताया

कभी नेशनल जियोग्राफिक पत्रिका के कवर पर तस्वीर प्रकाशित होने के बाद सुर्खियों में आई हरी आंखों वाली अफगान लड़की शरबत गुला को पाकिस्तान में फर्जी पहचान पत्र रखने के आरोप में बुधवार को गिरफ्तार कर लिया गया।गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए संघीय जांच एजेंसी (एफआईए) के अधिकारियों ने कहा कि शरबत को कथित तौर पर पकिस्तान पहचान पत्र रखने के आरोप में नोथिया इलाके से गिरफ्तार किया गया। शरबत की उम्र अब 40 साल से ऊपर हो चुकी है।अफगान युद्ध की मोनालिसा कही जाने वाली शरबत साल 1984 में उस वक्त सुर्खियों में आई थीं जब नेशनल जियोग्राफिक पत्रिका के फोटोग्राफर स्टीव मैकक ने पेशावर के निकट निसार बाग शरणार्थी शिविर में उनकी तस्वीर ली थी। उस वक्त वह 12 साल की थीं। यह तस्वीर पत्रिका के मुख्य पष्ठ पर प्रकाशित हुई और वह सुर्खियों में आ गई थीं।अफगानिस्तान में हालात खराब होने के बाद शरबत पाकिस्तान में आ गई और एक पाकिस्तानी पुरूष से विवाह कर लिया।उसे दो साल की जांच के बाद धोखाधड़ी के लिए गिरफ्तार किया गया है।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

आतंकवादियों की पनाहगाह माना जाने वाला पाकिस्तान खुद ही आतंकवाद से जूझ रहा है। पाकिस्तान के क्वेटा में पुलिस ट्रेनिंग सेंटर पर आतंकी हमला हुआ है। पाकिस्तानी अखबार 'डॉन' के मुताबिक, सोमवार देर रात हुए इस हमले में 60 कैडेट्स की मौत हो गई है, जबकि 100 से ज्यादा पुलिसवाले घायल हो गए हैं। पिछले दस साल के रिकार्ड के मुताबिक पाकिस्तान में हर साल सैंकड़ों लोगों ने आत्मघाती हमलों में जान गवाई है।

2007-

अक्टूबर 18- आठ साल बाद वापस पाकिस्तान लौट रही पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो को उपर आतंकी हमला हुआ, इसमें लगभग 139 लोगों की मौत हो गई। हालांकि इस हमले में बेनजीर भुट्टो बच गईं थीं।

2008-

अगस्त 21- पाकिस्तान के इस्लामाबाद के पास वाह में मुख्य हथियार फैक्ट्री के बाहर दो आत्मघाती हमलों में 64 लोगों की मौत हो गई थी। सितंबर 20- इस्लामाबाद के मेरियट होटल में आत्मघाती हमला, 60 लोगों की मौत

2009-

अक्टूबर 28- पेशावर में बीच बाजार में कार बम में विस्फोट में 125 लोगों की मौत हो गई थी।

2010-

1 जनवरी- उत्तर पश्चिमी इलाके के बन्नू में एक कार में आत्मघाती हमलावर में बॉलीबॉल मैच के दौरान खुद को उड़ा दिया। इस हमले में 101 लोगों की मौत हुई थी। इसी साल 9 जुलाई को एक अन्य आत्मघाती हमले में मोहमंड जिले में 105 लोग आतंक की भेट चढ़ गए। इस साल अलग-अलग हमलों में 472 लोगों की मौत हुई थी।

2011–

13 मई- खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के चरसद्दा में एक पुलिस कैडेट प्रशिक्षण केंद्र के बाहर हुए दो आत्मघाती हमलों में कम से कम 98 लोगों मारे गए थे। इस साल भी अलग-अलग हमलों में 191 लोगों की मौत हुई थी।

2013-जनवरी और फरवरी में क्वेटा में हुई आत्मघाती हमलों में 181 लोगों की मौत हुई थी। ये दोनों अत्मघाती हमले क्वेटा के शिया हजारा में हुए थे।

2014–इस साल दिसंबर में पाकिस्तान के इतिहास का सबसे क्रूर आतंकी हमला हुआ। अतंकवादियों ने पेशावर में एक सैनिक स्कूल पर कब्जा कर लिया। इस आतंकी हमले में 154 लोगों की मौत हुई थी। मरने वालों में 135 स्कूली बच्चे थे। वहीं इस साल नबंवर में भारत-पाक सीमा पर वाघा बार्डर पर आत्मघाती हमला हुआ जिसमें 55 लोगों की मौत हुई थी।

2015–

18 सितंबर-पाकिस्तानी तालिबान ने पेशावर के एयर फोर्स स्टेशन पर हमला कर 29 लोगों को मौत के घाट उतार दिया था। मरने वालों में अधिकतर एयर फोर्स कर्मचारी थे। इस हमले में सेना को काफी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ा था।

2016–

25 अक्टूबर-पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत के क्वेटा शहर में पुलिस ट्रेनिंग सेंटर पर आतंकी हमला। हमले में ट्रेनिंग ले रहे 60 जवानों की मौत, जबकि 117 से ज्यादा सुरक्षाकर्मी घायल बताए जा रहे हैं। खबरों के मुताबिक हमले में तीन आतंकी मारे गए हैं।

104 साल पहले अटलांटिक महासागर में डूब गए टाइटैनिक जहाज के लाइफ जैकेट लॉकर की एक चाभी करीब 70 लाख रुपये में नीलाम की गई है। यह चाभी जहाज के तृतीय श्रेणी के कर्मचारी सिडनी सेडुनेरी की थी जिनकी इस हादसे में मौत हुई थी। 'Locker 14 F Deck' की इस चाभी को 23 वर्षीय सिडनी के शव बरामद होने के बाद उनकी प्रेग्नेंट वाइफ को दिया गया था।नीलामी कर्ता…
पाकिस्तान को वैश्विक आतंकवाद का केंद्र बताते हुए भारत ने पाकिस्तान को रिवाज के अनुसार दूसरे जगहों पर मानवाधिकारों के उल्लंघन का मुददा उठाने के बजाय अपनी समस्याओं का समाधान करने और आतंकवादी समूहों के खिलाफ कार्रवाई करने की नसीहत दी।आईपीयू के 135 वें असेंबली सत्र में आम बहस के दौरान पाकिस्तान के कश्मीर मुददे को उठाने के बाद जवाब देने के अपने अधिकार का इस्तेमाल करते हुए भारत ने…
अमेरिका के राष्ट्रपति पद के लिए हो रहे कांटे की टक्कर वाले चुनावी मुकाबले में डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन अपने रिपब्लिकन प्रतिद्वंद्वी डोनाल्ड ट्रंप से पांच प्रतिशत अंक आगे चल रही हैं। चुनाव पूर्व एक ताजा सर्वेक्षण में यह बात सामने आई है।सीएनएन-ओआरसी द्वारा जारी ताजा सर्वेक्षण के परिणाम के अनुसार, हिलेरी को ट्रंप के 44 प्रतिशत के मुकाबले 49 प्रतिशत लोगों का समर्थन मिलने की उम्मीद है।सीएनएन…
अमेरिका के दक्षिणी कैलीफोर्निया राजमार्ग पर एक टूर बस और ट्रक की टक्कर में आज चालक समेत कम से कम 13 लोगों की मौत हो गई और 31 अन्य घायल हो गए।कैलीफोर्निया हाईवे पट्रोल बॉर्डर डिविजन के प्रमुख जिम एबेले ने संवाददाताओं से कहा कि बस कैसिनो से लॉस एंजेल्स की तरफ आ रही थी, तभी लॉस एंजेल्स से 160 किलोमीटर दूर पॉम स्प्रिंग्स के पास सुबह करीब पांच बजे…

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें