दुनिया

दुनिया (3651)

इस्लामाबाद:-पाकिस्तान अमेरिका के इंकार के बाद अब जार्डन से इस्तेमाल किये जा चुके एफ-16 लड़ाकू विमान खरीदने के प्रश्न पर विचार कर रहा है किन्तु उसे आशंका है कि अमेरिका अब भी उसके इस प्रयास में बाधा डाल सकता है।पाकिस्तान के रक्षा सचिव लेफ्टीनेन्ट जनरल आलम खटक ने सीनेट की रक्षा तथा विदेशी मामलों की समिति की सुनवाई के दौरान कहा कि हमारे सामने एफ-16 विमानों की खरीद के लिए जार्डन का प्रस्ताव है किन्तु यह विमान 1980-90 के बीच के बने हैं और उनका नवीनीकरण पाकिस्तानी वायुसेना की जरूरतों को देखते हुये 2001-2002 में किया गया था।उन्होंने कहा कि हमें अपने पुराने एफ-16 विमानों को बदलने के लिए नये विमानों की तुरंत जरूरत थी और अमेरिका से इनके नहीं मिलने से दूसरे देशों से इन्हें प्राप्त करने का प्रयास करना पड़ रहा है। लेकिन जार्डन से भी हमें पुराने ही विमान मिल रहे हैं।

ऑरलैंडो:-ऑरलैंडो के पल्स क्लब में गोलीबारी करके 49 लोगों की जान ले लेने वाला व्यक्ति खुद भी इस गे नाइटस्पॉट पर नियमित रूप से आता था। यह जानकारी क्लब जाने वाले चार लोगों ने दी है। टीवाई स्मिथ ने मारे जा चुके बंदूकधारी उमर मतीन के बारे में ऑरलैंडो सेंटीनेल को कल बताया, कई बार वह कोने में जाकर बैठकर अकेले शराब पीने लगता था और कई बार वह इतनी ज्यादा पी लेता था कि बेहद उग्र और झगड़ालू हो जाता था।स्मिथ ने अखबार को बताया कि उन्होंने मतीन को दर्जनों बार क्लब के अंदर देखा था। स्मिथ ने कहा, हमने उससे ज्यादा बात नहीं की लेकिन मुझे याद है कि वह कई बार अपने पिता के बारे में बात करता था। उसने हमें बताया था कि उसकी एक पत्नी और बच्चा था। पल्स में नियमित रूप से आने वाले एक अन्य व्यक्ति केविन वेस्ट ने लॉस एंजिलिस टाइम्स को बताया कि मतीन ने एक साल तक किसी गे चैट एप्प की मदद से एक साल तक कभी-कभी संदेश भेजता रहा।क्लब में जाने वाले एक अन्य व्यक्ति ने स्थानीय मीडिया और एमएसएनबीसी को बताया कि मतीन ग्रिंडर समेत कई गे एप्प इस्तेमाल करता था। डिज्नी के एक प्रबंधक ने नाम उजागर न करने के अनुरोध के साथ बताया कि मतीन अप्रैल में वॉल्ट डिज्नी वर्ल्ड भी गया था। द सेंटीनल ने कहा कि पहचान गुप्त रखने की शर्त पर एक कानून प्रवर्तन अधिकारी ने बताया है कि मतीन की पत्नी नूर जही सलमान अधिकारियों के साथ सहयोग नहीं कर रही।अमेरिका के इतिहास की इस सबसे घातक सामूहिक गोलीबारी में 49 लोग मारे गए और 53 अन्य घायल हो गए। एफबीआई के प्रमुख जेम्स कॉमे ने कहा कि उनके ब्यूरो को पूरा यकीन है कि मतीन ऑनलाइन चलाए जा रहे दुष्प्रचार के संपर्क में आकर चरमपंथ की चपेट में आ गया और उसने हमले के दौरान किए गए कॉलों में इस्लामिक स्टेट के नेता अबु बकर अल-बगदादी के साथ जुड़ाव का दावा किया था।

नई दिल्ली:-ISIS के सरगना अबु बकर अल बगदादी के मारे जाने की बात सामने आ रही है। माना जा रहा है कि वह गठबंधन सेनाओं के हवाई हमलों में घायल हो गया था और अब उसकी मौत हो गई है। रिपोर्ट के मुताबिक वह रमजान के 5वें दिन यानि 12 तारीख को मारा गया था। हालांकि आतंकी संगठन की ओर से इस खबर की पुष्टि नहीं की गई है। सितंबर 2014 और अप्रैल 2015 में भी उसकी मौत का दावा किया गया था लेकिन वह जिंदा था।बगदादी इराक में सीरिया सीमा के निकट संगठन के कमान मुख्यालयों में से एक में घायल हुआ था। गठबंधन सेना के विमानों ने उस जगह बमबारी की, जहां आईएसआईएस सदस्यों का ठिकाना है। यह स्थान इराक एवं सीरिया के बीच सीमा के पास और निनवेह से 65 किलोमीटर पश्चिम में है। खबरों के अनुसार बगदादी संगठन के कुछ अन्य सदस्यों के साथ घायल हो गया, जो बैठक में शामिल हुए थे।हाल के वर्षों में बगदादी के घायल होने और यहां तक कि मौत की भी कई बार खबरें आई हैं किन्तु किसी की पुष्टि नहीं हो सकी। बगदादी 18 मार्च 2015 को हुए हवाई हमले में बुरी तरह से घायल हुआ था। इस हमले में उसके साथ यात्रा कर रहे तीन अन्य लोग मारे गये थे। बताया जाता है कि इस हमले में घायल होने के बाद उसकी रीढ़ की हड्डी का उपचार चल रहा था।इस चोट से आतंकवादी संगठन का प्रमुख असहाय हो गया था तथा उस समय कुछ लोगों ने दावा किया था कि उसके घायल होने का मतलब है कि वह अब कभी कमान का प्रभार नहीं संभाल पाएगा।वर्ष 2011 में अमेरिकी विदेश विभाग ने बगदादी का नाम एक आतंकवादी के रूप में लिया था उसको पकड़वाने या उसको मरवाने में मददगार सूचना देने पर एक करोड़ अमेरिकी डालर के इनाम की घोषणा की गयी थी। बगदाद ही आतंकवादी समूह का 2010 में नेता बना था। किन्तु संगठन ने 2014 में सीरिया एवं इराक में खिलाफत शुरू होने की घोषणा की।

पेरिस:-इस्लामिक स्टेट से अपने जुड़ाव का दावा करने वाला एक व्यक्ति एक फ्रांसीसी पुलिसकर्मी और उसकी पत्नी की हत्या करने के बाद नाटकीय पुलिस अभियान में मारा गया। इस बात का खुलासा जांच से जुड़े करीबी सूत्रों ने किया है।आईएस से जुड़ी एक समाचार एजेंसी ने कल कहा कि हमले को इस्लामिक स्टेट के लड़ाके द्वारा अंजाम दिया गया। इससे कुछ ही दिन पहले इस एजेंसी ने फ्लोरिडा के ओरलैंडो में एक गे क्लब में जनसंहार के बाद भी ऐसा ही दावा किया था।फ्रांसीसी पुलिसकर्मी और उनकी पाटर्नर की पेरिस के उपनगर मैगननविले स्थित आवास में हत्या के बाद फ्रांसीसी अभियोजकों ने आतंकवाद रोधी जांच शुरू कर दी है।प्रत्यक्षदर्शियों ने जांचकर्ताओं को बताया कि उस व्यक्ति ने पुलिसकर्मी के घर के बाहर ही उसपर धारदार हथियार से बार-बार वार किया। इसके बाद वह उनके मकान में छिप गया, जिसमें पुलिसकर्मी की पाटर्नर और इस जोड़े का तीन साल का बेटा मौजूद था।जांच से जुड़े सूत्रों ने बताया कि हमलावर के साथ बातचीत विफल हो जाने के बाद जब विशिष्ट आरएआईडी पुलिस वहां पहुंची तो घटनास्थल पर तीव्र विस्फोट सुने गए। हमलावर ने अधिकारियों से बातचीत के दौरान अपना संबंध आईएस के साथ बताया था।एक सूत्र ने कहा, पेरिस प्रॉसीक्यूशन सर्विस का आतंकवाद रोधी विभाग इस स्तर पर अभियान के तरीके, लक्ष्य और आरएआईडी के साथ बातचीत के दौरान की गई टिप्पणियों पर गौर कर रहा है।अमेरिका के निरीक्षक समूह-एसआईटीई इंटेलिजेंस ग्रुप ने आईएस से जुड़ी अमाक समाचार एजेंसी की ओर से उसके टेलीग्राम चैनलों पर कही गई बात के हवाले से कहा है, इस्लामिक स्टेट के लड़ाके ने ले मूरे शहर के पुलिस स्टेशन के उप प्रमुख और उसकी पत्नी की पेरिस के पास धारदार हथियारों से हत्या कर दी।पुलिसकर्मी और उनकी पाटर्नर की हत्या एक ऐसे समय पर की गई है, जब फ्रांस कड़ी सुरक्षा के बीच यूरो 2016 फुटबॉल टूर्नामेंट की मेजबानी कर रहा है और बीते नवंबर में पेरिस में 130 लोगों की जान ले लेने वाले जिहादी हमलों की कड़वी यादों से उबरने की कोशिश कर रहा है।हमलावर की पहचान होनी अभी बाकी है। किसी भी पीड़ित का नाम उजागर नहीं किया गया लेकिन मृतक पुलिसकर्मी 42 वर्ष का था और एक स्थानीय पुलिस अधिकारी था।राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने एक बयान में कहा कि वह इस घृणित कृत्य की कड़ी निंदा करते हैं।ओलांद ने कहा, एक पुलिस कमांडर और उनकी पाटर्नर, जो गृह मंत्रालय में लोकसेवक थीं, उनकी आज शाम को शर्मनाक ढंग से हत्या कर दी गई।उन्होंने आज राष्ट्रपति आवास पर शीर्ष अधिकारियों की एक बैठक की घोषणा करते हुए कहा, इस भयावह त्रासदी की परिस्थितियों पर रोशनी डाली जाएगी।गृह मंत्रालय के प्रवक्ता पियरे-हेनरी ब्रैंडेट ने कहा कि अधिकारियों ने जब मकान पर छापा मारा तो वहां से महिला का शव बरामद हुआ और हमलावर पुलिस की कार्रवाई में मारा गया।

अकरा:-अफ्रीकी देश घाना ने स्वच्छ और सतत ऊर्जा का दोहन करने की कोशिश के तहत असैन्य परमाणु ऊर्जा के क्षेत्र में भारत से सहयोग करने की मांग की है।राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और घाना के राष्ट्रपति जॉन द्रामनी महामा के बीच सोमवार को हुई वार्ता के दौरान इस मुद्दे पर विचार विमर्श किया गया। महामा ने असैन्य परमाणु ऊर्जा के अलावा आतंकवाद के खिलाफ संघर्ष में भी भारत से सहयोग की इच्छा जताई।विदेश मंत्रालय के सचिव (आर्थिक मामले) अमर सिन्हा ने बातचीत का ब्योरा देते हुये कहा कि घाना ने खासतौर पर असैन्य परमाणु ऊर्जा के क्षेत्र में भारत से सहयोग का जिक्र किया क्योंकि भारत परमाणु ऊर्जा के क्षेत्र में अग्रणी है इसलिए वे भारत के साथ असैन्य परमाणु सहयोग चाहते हैं। घाना सीओपी 21 (पेरिस जलवायु समझौता) के हस्ताक्षरकर्ता है और स्वच्छ ऊर्जा पर आगे बढ़ना चाहते हैं।सिन्हा ने कहा कि घाना कम लागत वाले आवास और ऊर्जा दक्षता चाहता है, जिसमें भारत अपने अनुभव और विशेषज्ञता के साथ मदद कर सकता है। दोनों देशों ने खनन, ऊर्जा, शिक्षा, कृषि सहित बहुत से अन्य क्षेत्रों में परस्पर सहयोग किए जाने पर सहमति व्यक्त की है।उन्होंने कहा कि घाना आतंकवाद को समाप्त करने के मुद्दे में भारत के समान ही रुख रखता है और अच्छे आतंकवाद और बुरे आतंकवाद जैसी बातों पर विश्वास नहीं करता। भारत और घाना के राष्ट्रपति के बीच हुयी बैठक में आतंकवाद के मुद्दे पर विचार विमर्श किया गया। दोनों देश यह मानते हैं कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई वैश्विक समझौते के तहत होनी चाहिए।सचिव ने कहा, 'दोनों देशों ने कहा है कि हम अच्छे आतंकवाद और बुरे आतंकवाद जैसी सोच के साथ आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई को आगे नहीं ले जा सकते।'बातचीत के बाद दोनों देशों के बीच राजनयिक और आधिकारिक पासपोर्ट धारकों के लिए वीजा समाप्त करने और एक संयुक्त आयोग की स्थापना सहित तीन समझौते पर हस्ताक्षर किए गए।भारत के उच्चायुक्त के जीवा सागर ने कहा कि घाना परमाणु ऊर्जा का इस्तेमाल करना चाहता है क्योंकि वे पारंपरिक ऊर्जा स्रोत पर अत्यधिक निर्भर है जो कि महंगी होती जा रही है। इसके अलावा कुछ अन्य महत्त्वपूर्ण निर्णय भी आज लिये गये, जिनमें घाना में तेमा और अक्सोम्बो में 55 किलोमीटर लंबी रेल लाइन का निर्माण किये जाने को लेकर है। इसके लिये एक्जिम बैंक चार सौ मिलियन डॉलर का ऋण देगा।

वाशिंगटन:-अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा कि फ्लोरिडा के ओरलैंडो में हुआ आतंकी हमला घर में ही पनपे उग्रवाद का नतीजा है। उन्होंने कहा कि हमलावर के आईएसआईएस की व्यापक साजिश का हिस्सा होने के संकेत नहीं हैं।ओबामा ने यहां कहा, 'फ्लोरिडा के ऑरलैंडो में हुआ आतंकी हमला घर में ही पनपा उग्रवाद जैसे हमले का अंजाम है। लेकिन अभी तक इस बात के कोई स्पष्ट सबूत नहीं मिले हैं कि नाइट क्लब में हुई गोलीबारी की घटना किसी बड़ी साजिश का हिस्सा है या हमलावर उमर मतीन को कहीं बाहर से दिशानिर्देश मिला था।'उन्होंने हालांकि यह भी कहा कि पल्स समलैंगिक नाइट क्लब पर हुए हमले, जिसमें 50 लोग मारे गए थे, की जांच आतंकवादी हमले के एंगल से भी किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हो सकता है कि हमलावर इंटरनेट पर मौजूद कट्टरपंथी विचारधारा से प्रेरित रहा हो।अमेरिकी राष्ट्रपति ने एक बार फिर से दोहराया कि अमरीका में बंदूक के कानून में बदलाव करने की जरुरत है। उन्होंने कहा कि हथियारों तक सबकी पहुंच होने से सदैव इस बात का खतरा रहता है कि कहीं मानसिक तनाव से गुजर रहा कोई व्यक्ति या आतंकी संगठन इसका गलत इस्तेमाल न करें।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

न्यूयॉर्क:-न्यूयॉर्क के टाइम्स स्क्वायर में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को कार्यक्रम में हजारों लोग जुट सकते हैं। यह आयोजन टाइम्स स्क्वायर अलाइन्स द्वारा आयोजित किया जा रहा है। सुबह सात से रात 8.30 बजे तक कई सिटी ब्लॉक में यह जश्न में मनाया जाएगा।पिछले साल टाइम्स स्क्वायर कार्यक्रम में 30,000 से ज्यादा लोगों ने भाग लिया था। टाइम्स स्क्वायर मे सॉलिस्टस के सह-संस्थापक डगलस स्टीवर्ट ने कहा कि योग…
वाशिंगटन:-व्हाइट हाउस की वेबसाइट पर एक याचिका में भोपाल गैस त्रासदी में बहुराष्ट्रीय कंपनी डाउ केमिकल को जिम्मेदार ठहराने की मांग की गई है। याचिका में ओबामा प्रशासन से डाउ केमिकल को संरक्षण देना बंद करने की भी अपील की गई है।याचिका में मांग की गई है कि यूनियन कार्बाइड को संरक्षण बंद होना चाहिए। अमेरिकी सरकार संधि और अंतरराष्ट्रीय कानून का पालन करते हुए डाउ को नोटिस जारी कर…
लंदन:-लंदन में हार्ट सर्जरी कराने के बाद आराम कर रहे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से शनिवार को एक शाही मेहमान मिलने आया। यह मेहमान ब्रिटेन के प्रिंस चार्ल्स थे, जिन्होंने लंदन स्थित नवाज के आवास पर उनसे मुलाकात की और उन्हें शहद भेंट किया।नवाज (66) की बेटी मरियम नवाज की ट्वीट के अनुसार, प्रिंस चार्ल्स प्रधानमंत्री के लिए शाही आवास के क्लेरेंस हाउस बगीचे से शहद भी लाए। इसे…
इस्लामाबाद:-पाकिस्तान की ताकतवर सेना के प्रमुख जनरल राहिल शरीफ ने अमेरिका से अफगानिस्तान में तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान के ठिकानों और उसके प्रमुख मुल्ला फजलुल्लाह को निशाना बनाने के लिए कहा है।जनरल राहिल ने यह मांग यहां कल कमांडर रेज़लूट सपोर्ट मिशन इन अफगानिस्तान जनरल जॉन निकोल्सन और अफगानिस्तान तथा पाकिस्तान के लिए अमेरिका के विशेष प्रतिनिधि रिचर्ड ऑलसन के साथ उच्च स्तरीय बैठक में की।देर रात को जारीकिए गए बयान में,…

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें