दुनिया

दुनिया (4356)

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के होने वाले प्रधानमंत्री इमरान खान ने शुक्रवार को चुनाव आयोग से माफी मांगी। बता दें कि चुनाव के दौरान इमरान खान ने सबके सामने बैलेट पेपर पर मुहर लगाई थी। जिसके बाद चुनाव आयोग ने गोपनीयता भंग करने का आरोप लगाते हुए उनके खिलाफ नोटिस जारी किया था। पाकिस्तान चुनाव आयोग ने पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ के प्रमुख की माफी स्वीकार कर ली है। चुनाव आयोग ने उनकी जीत का नोटिफिकेशन भी जारी करने का फैसला किया है।मुख्य चुनाव आयुक्त रिटायर्ड जस्टिस सरदार मुहम्मद रजा ने इस माफीनामे का समर्थन कर बलोचिस्तान, खैबर पख्तूनवा और सिंध के चुनाव अधिकारियों पर नाराजगी जाहिर की है। बता दें कि रजा समेत चार सदस्यों की एक बेंच इमरान खान के मामले पर सुनवाई की।इससे पहले गुरुवार को बेंच के समक्ष हाजिर हुए इमरान खान के वकील की ओर दायर किए गए जवाब का खारिज कर दिया गया। उन्होंने कहा था कि इमरान खान ने जानबूझकर बैलेट पर सार्वजनिक रूप से ठप्पा नहीं लगाया था। उसने चुनाव आयोग से इस मामले को खत्म करने और उनकी जीत की औपचारिक घोषणा करने की बात कही। गौरतलब है कि मतदान के दिन इमरान खान ने सब लोगों के सामने अपने बैलेट पेपर पर ठप्पा लगाया था, जिसके बाद आयोग ने स्वतः संज्ञान लेते हुए खान को नोटिस जारी किया था।इसके साथ ही खान के वकील ने कहा कि मीडिया ने इमरान के फोटो बिना इजाजत उतारे थे।

 

 

काबुल। तालिबान आतंकियों ने गुरुवार देर रात अफगानिस्तान के दक्षिण पश्चिमी शहर गजनी पर कब्जे के इरादे से पूरी तैयारी के साथ धावा बोला। उन्होंने गोलीबारी करते हुए कई पुलिस चौकियों, घरों और बाजारों में आग लगा दी। इस हमले में 14 पुलिसकर्मियों की मौत हो गई और कई घायल हो गए। सुरक्षा बलों की जवाबी कार्रवाई में दर्जनों आतंकियों के भी मारे जाने की खबर है।प्रांतीय पुलिस प्रमुख फरीद अहमद के अनुसार, गजनी में स्थानीय समयानुसार रात करीब दो बजे हमला किया गया था। हमले को विफल करने के बाद पुलिस ने बचे हुए आतंकियों को पकड़ने के लिए घर-घर तलाशी शुरू की है। इसकी भी जांच की जा रही है कि राजधानी काबुल से 120 किमी दूर स्थित इस शहर के भीतरी इलाकों तक आतंकी कैसे पहुंच गए? पुलिस प्रमुख ने बताया कि गजनी के एक पुल के नीचे से 39 आतंकियों के शव बरामद किए गए।सड़कों पर कई और आतंकियों के शव पड़े हैं। गजनी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने हालांकि शुक्रवार सुबह कहा कि तालिबान ने रिहायशी और कारोबारी इलाकों में मिसाइलों से हमला किया। पिछले आठ घंटों से लगातार गोलीबारी की आवाजें सुनाई पड़ रही हैं। तालिबान प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद ने दावा किया कि गजनी हमले में दर्जनों अफगान सैनिक और पुलिसकर्मी मारे गए।
आतंकियों को खदेड़ने में अमेरिका ने की मदद:-अफगानिस्तान में अमेरिकी बलों के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल मार्टिन ओडोनेल ने बताया कि तालिबान आतंकियों को खदेड़ने के लिए अमेरिकी लड़ाकू हेलीकॉप्टरों ने भी अफगान बलों की सहायता की।

कराची। पाकिस्तान में 25 जुलाई को हुए आम चुनाव में धांधली का मामला सामना आया है। बलूचिस्तान प्रांत के दो पोलिंग बूथों के चुनाव प्रभारियों ने दावा किया है कि सुरक्षा बलों ने मुत्ताहिदा मजलिस अमल (एमएमए) के एक प्रत्याशी के पक्ष में फर्जी मतदान के लिए उन्हें अगवा कर लिया था। एमएमए धार्मिक पार्टी है। पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पीएमएल-एन और बिलावल भुट्टो की पीपीपी समेत कई दल पहले ही चुनाव में धांधली के आरोप लगा रहे हैं।पाकिस्तान चुनाव आयोग (ईसीपी) ने अपनी वेबसाइट पर वाशुक जिले के मतदान केंद्र संख्या 45 के प्रभारी अधिकारी का एक पत्र अपलोड किया है। इस पत्र पर बलूचिस्तान विधानसभा के निर्वाचन क्षेत्र पीबी-41 के रिटर्निग अधिकारी की मुहर भी लगी है। इस पत्र में अधिकारी ने आरोप लगाया है कि सुरक्षा बलों ने उसे अगवा किया और एमएमए उम्मीदवार के पक्ष में फर्जी फार्म संख्या 45 दाखिल करने के लिए विवश किया था। इस फार्म पर उम्मीदवारों को मिले वोटों का हिसाब रहता है।ईसीपी ने गुरुवार को क्वेटा में इस मामले की सुनवाई की। इस दौरान प्रांत के एक रिटर्निग अधिकारी ने ईसीपी को बताया कि मतदान वाले दिन दो बूथों के प्रभारी अधिकारियों का नकाबपोश लोगों ने कथित रूप से अपहरण कर लिया था। इसके चलते उनके मतदान केंद्रों पर पड़े मतों को निर्वाचन क्षेत्र पीबी-41 के अंतिम नतीजे में शामिल नहीं किया गया। चुनाव आयोग में यह मामला बलूचिस्तान अवामी पार्टी के उम्मीदवार मीर मुजीबुर रहमान मुहम्मद हसनी लेकर पहुंचे थे। उन्हें इस सीट से हार का सामना करना पड़ा है।

 

 

नई दिल्‍ली। दक्षिण चीन सागर में मौजूद विवादित द्वीप के ऊपर से उड़ते अमेरिकी नेवी के जहाज को चीन की तरफ से छह बार चेतावनी दी गई। इस चेतावनी में कहा गया कि आप यहां से तुरंत निकल जाएं, आप चीन की सीमा में हैं। आपको बता दें कि यह वही विवादित द्वीप है जिसपर चीन अपना हक जताता रहा है। इस पर कुछ दूसरे देश भी अपना हक जताते रहे हैं। इतना ही नहीं इसको लेकर कई बार अमेरिका और चीन आमने-सामने तक आ चुके हैं। वहीं ताजा मामला इस विवाद को बढ़ाने के लिए आग में घी का काम कर रहा है। अमेरिका के मुताबिक दक्षिण चीन सागर में चीन लगातार अवैध निर्माण कर रहा है। इसके तहत उसने विवादित द्वीप पर रनवे समेत मिलिट्री के लिए स्‍ट्रक्‍चर भी तैयार कर लिया है।
चीन की अमेरिका को चेतावनी:-अमेरिकी नौसा के विमान P-8A Poseidon ने इस द्वीप की करीब 16500 फीट की ऊंचाई से उड़ते हुए ताजा तस्‍वीरें और वीडियो ली है। इसी दौरान यह पाया गया है कि यहां पर पांच मंजिला इमारत समेत, बड़े-बड़े राडार, पावर प्‍लांट, रनवे आदि का निर्माण किया गया है। यह रनवे बड़े मिलिट्री एयरक्राफ्ट के उतरने में सहायक है। आपको बता दें कि इसी दौरान विमान के क्रू को करीब छह बार चीन की तरफ से चेतावनी भरे संदेश मिले। इन संदेशों में कहा गया था कि आप चीन की सीमा में हैं यहां से तुरंत दफा हो जाएं। न ही किसी गलतफहमी में रहें। आपको यहां पर बता दें कि दक्षिण चीन सागर में करीब चार द्वीप विवादित हैं। इनमें सूबी रीफ, फेरी क्रॉस रीफ, जॉनसन रीफ और मिसचीफ रीफ शामिल है।
चीन कर रहा अवैध निर्माण;-अमेरिकी नेवी के विमान ने उड़ान के दौरान इन चारों द्वीपों का चक्‍कर लगाया। सूबी रीफ पर कई छोटे जहाज समेत चीइनीज कोस्‍ट गार्ड का जहाज दिखाई दिए। इसके अलावा फैरी क्रॉस रीफ पर जहाजों के हैंगर और एक बड़ा रनवे दिखाई दिया। अमेरिकी नौसेना के लिए यह देखना बेहद हैरानी भरा था कि चीन ने इस द्वीप पर एक बड़ा एयरपोर्ट का निर्माण कर लिया है। विमान की टीम को लीड कर रहे लेफ्टिनेंट लॉरेन कालेन का कहना था‍ अकसर यहां पर उड़ान भरते हुए चीन की धमकियों का सामना करना पड़ता है, लेकिन चीन को उसके ही अंदाज में जवाब दिया जाता है। उनके मुतबिक उनका इस इलाके में उड़ान भरना पूरी तरह से नियमों के अंदर आता है। वहीं चीन इस इलाके में अवैध निर्माण करने पर तुला है। यह पूरा इलाके अंतरराष्‍ट्रीय नियमों के अंतर्गत आता है।
कुछ दूसरे देश भी जताते हैं हक;-यहां पर आपको ये भी बता दें कि इस इलाके पर वियतनाम, फिलीपींस, ताइवान,इंडोनेशिया, मलेशिया और ब्रूनेई भी इस पर अपना हक जताते रहे हैं। दक्षिण चीन सागर का यह विवादित इलाका करीब 3.6 मिलीयन स्‍क्‍वायर किमी तक फैला हुआ है। इसके अधिकतर भाग पर चीन अपना हक जताता है। आपको यहां पर ये भी बताना जरूरी हो जाता है कि यह इलाका समुद्री व्‍यापार के लिहाज से सबसे अधिक उपयोग में लाया जाता है। पूरी दुनिया का करीब एक तिहाई व्‍यापार इसी समुद्री मार्ग से होता है। इसके अलावा यह पूरा इलाका गैस ओर तेल के लिहाज से भी काफी संपन्‍न है। इस लिहाज से भी यह काफी अहम इलाका है।

इस्लामाबाद। जेल में बंद पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और उनके पारिवारिक सदस्यों के खिलाफ भ्रष्टाचार के बाकी दो मामलों की सुनवाई भी गुरुवार से शुरू हो गई। राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (एनएबी) की अदालत ने सोमवार को शरीफ को पेश करने का आदेश दिया है।एनएबी अदालत ने लंदन में चार लक्जरी फ्लैट खरीदने से जुड़े भ्रष्टाचार के पहले मामले में छह जुलाई को शरीफ को दस साल, उनकी बेटी मरयम को सात साल और दामाद मुहम्मद सफदर को एक साल जेल की सजा सुनाई थी। जबकि शरीफ परिवार के खिलाफ अजीजिया स्टील मिल्स और हिल मेटल कंपनी से जुड़े भ्रष्टाचार के दो अन्य मामले लंबित थे।एनएबी कोर्ट के जज अरशद मलिक ने गुरुवार को इन दोनों मामलों में पहली सुनवाई की। जज मलिक ने जब एनएबी के वकीलों से शरीफ की गैरमौजूदगी के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि सुरक्षा कारणों से उन्हें जेल से लाया नहीं गया। इसके बाद जज ने मामले की सुनवाई सोमवार तक के लिए स्थगित कर दी।
सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर चल रहे मुकदमे:-सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर पिछले साल सितंबर में शरीफ परिवार के खिलाफ भ्रष्टाचार के तीन मुकदमे दर्ज किए गए थे। शीर्ष अदालत ने पिछले पिछले साल जुलाई में पनामा पेपर मामले में शरीफ को संवैधानिक पद के अयोग्य करार दिया था। इसकी वजह से उन्हें प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था।

लंदन। किचन की सिंक में नल से पानी गिरने के दौरान आपने पानी को नाली में बहने से पहले थोड़ा ऊपर उठते देखा होगा। ऐसा विज्ञान के एक सिद्धांत हाइड्रोलिक जंप के कारण होता है। इसकी खोज 1500 ईसवी में इटली के प्रसिद्ध खोजकर्ता और पेंटर लियोनार्डाे द विंची ने की थी।हालांकि इसकी वजह आज तक वैज्ञानिकों के लिए रहस्य ही रही है। इसे लेकर वैज्ञानिकों ने समय-समय पर कई थ्योरी दीं, लेकिन एक भारतीय शोधार्थी ने हाइड्रोलिक जंप का सही कारण खोजने का दावा किया है। हाइड्रोलिक जंप की ये प्रक्रिया केवल सिंक में नहीं सभी जल स्रोतों खासकर नदी और बांध से निकलने वाले पानी में भी होती है। इसे गुरुत्वाकर्षण सिद्धांत, ऊर्जा सिद्धांत से परिभाषित किया गया है।ब्रिटेन की यूनिवर्सिटी ऑफ कैंब्रिज में सेंट जोंस कॉलेज के शोधार्थी राजेश भगत ने हाइड्रोलिक जंप का कारण पृष्ठ तनाव बताया है। उनका कहना है कि 1820 से वैज्ञानिक गुरुत्वाकर्षण को इसका कारण मानते आ रहे हैं, लेकिन जनरल ऑफ फ्लुइड मेकेनिक्स में प्रकाशित अध्ययन से यह थ्योरी गलत साबित हुई है।
क्या है हाइड्रोलिक जंप:-बता दें कि जब पानी तेज बहाव से कम बहाव की की ओर चलता है तो कम बहाव वाली सतह पर पानी थोड़ा ऊपर उठ जाता है। लियोनार्डा द विंची ने इस प्रकार पानी के ऊपर उठने को हाइड्रोलिक जंप कहा। माना जाता है कि ऐसा पानी की गतिज ऊर्जा के स्थितिज ऊर्जा में बदलने के कारण होता है। सिंक में इसका कारण गुरुत्वाकर्षण माना गया।
पृष्ठ तनाव थ्योरी:-राजेश भगत ने अपने प्रयोग में पानी की तेज धार को ऊपर की ओर फेंका और तिरछी सतह पर बहाया। उन्हें भी समान परिणाम प्राप्त हुए। इस पर उन्होंने हाइड्रोलिक जंप का कारण पृष्ठ तनाव और श्यानता को माना है। पानी की गति को कम ज्यादा करके उन्होंने हाइड्रोलिक जंप का सही आकार भी खोजा। राजेश ने इसे वृत्ताकार हाइड्रोलिक जंप नाम दिया है।यूनिवर्सिटी ऑफ कैंब्रिज के प्रोफेसर पॉल लिंडन ने राजेश की खोज को ग्राउंड ब्रेकिंग करार दिया है। उनका कहना है कि हाइड्रोलिक जंप की पृष्ठ तनाव थ्योरी से पतली सतह वाले द्रवों की गति समझने में मदद मिलेगी।
कार की सफाई में मिलेगी मदद:-भगत का कहना है कि उनके सिद्धांत से उन उद्योगों को फायदा होगा जहां पानी का अत्यधिक मात्र में उपभोग किया जाता है। हाइड्रोलिक जंप की सीमा को बदलकर हम उद्योगों में पानी के प्रयोग का घटा सकते हैं। इसके अलावा कार की सफाई और घर में कई कार्य करने के दौरान होने वाले पानी का उपभोग कम से कम करने में भी इस सिद्धांत से मदद मिलेगी।

इस्लामाबाद। अगले कुछ दिनों में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री का पद संभालने जा रहे इमरान खान ने कहा है कि उनकी सरकार अमेरिका के साथ ज्यादा संतुलित और विश्वास आधारित संबंध बनाएगी। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि विश्वासहीनता के चलते दोनों देशों के संबंधों में कई तरह के उतार-चढ़ाव आए हैं।पाकिस्तान में अमेरिका के कार्यकारी राजदूत जॉन एफ हूवर के साथ बात करते हुए क्रिकेटर से राजनेता बने इमरान…
नई दिल्ली। पाकिस्‍तान में एक बार फिर से एक अदाकारा पुरुष के गुरूर का शिकार हुई है। इस बार खैबर पख्‍तून्‍ख्‍वां की अदाकारा और गायिका रेशमा इसका शिकार बनी है। जानकारी के मुताबिक रेशमा की उसके ही पति ने नौशेरा कलां इलाके में गोली मारकर हत्‍या कर दी। पाकिस्‍तानी मीडिया के मुताबिक रेशमा आरोपी की चौथी बीवी थी और अपने भाई के साथ हकीमाबाद इलाके में रह रही थी। पुलिस…
दमिश्क। सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल-असद की पत्नी असमा अल-असद को स्तन कैंसर हो गया है। सीरिया के राष्ट्रपति कार्यालय ने बुधवार को यह जानकारी देते हुए बताया कि बीमारी अभी पहले चरण में है जिसका इलाज किया जा रहा है।वर्ष 2012 में गृहयुद्ध के दौरान अपने ही नागरिकों के खिलाफ ¨हसक कार्रवाई के चलते यूरोपीय यूनियन ने सीरिया के जिन 12 लोगों पर प्रतिबंध लगाया था, उनमें असमा भी…
सियोल। परमाणु समझौते से ट्रंप प्रशासन के हटने से नाराज ईरान ने उत्तर कोरिया से कहा है कि अमेरिका पर भरोसा नहीं किया जा सकता। ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने तेहरान गए उत्तर कोरिया के वरिष्ठ राजनयिक री योंग हो से यह बात कही।रूहानी ने कहा कि हाल के वर्षो में देखा जा रहा है कि जो देश अमेरिका की बात नहीं मानते हैं, उन्हें वह संदिग्ध मानने लगता…
Page 3 of 312

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें