दुनिया

दुनिया (3066)

दक्षिणी मिस्त्र में उस वक्त अचानक अफरा-तफरी मच गई जब शुक्रवार को एक बंदूकधारी ने चर्च के बाहर अंधाधुध फायरिंग कर दी। मिस्त्र के स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता ने बताया कि इस घटना में बंदूकधारी समेत दस लोगों की मौत हो गई। वहां के न्यूज़ टेलीविज़न चैनल के मुताबिक, इस हमले मे एक पुलिस ऑफिसर की भी मौत हो गई है।पुलिस अधिकारी ने बताया कि बंदूकधारी ने पहले तो चर्च के बाहर खड़े पांच सुरक्षाकर्मियों को बुरी तरह से घायल कर दिया और उसके बाद बिल्डिंग के अंदर घुसने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि अब वे अन्य बंदूकधारियों की तलाश कर रहे हैं जो ऐसा संभव है कि मौके से भाग निकला हो।सोशल मीडिया में मोबाइल से शूट किए गए वीडियो दाढ़ी वाले एक शख्स को बारूद के साथ साथ वहां की गलियों में देखा गया। पिछले एक वर्ष के दौरान इस्लामिक स्टेट ग्रुप से जुड़े आतंकी समूहों ने यहां पर चर्च के ऊपर हमले के दर्जनों लोगों को मौत के घाट उतारा है। इसके साथ ही, कई और आतंकी हमले की धमकी दी थी।

अमेरिका में एक भारतीय युवक की गोली मारकर हत्या कर दी गयी है। यह घटना शुक्रवार को शिकागो के डाल्टन शहर में घटित हुई है। मृत युवक का नाम अरशद वोरा बताया गया है।घटना के समय युवक अपने एक रिश्तेदार के साथ डाल्टन गैस स्टेशन पर मौजूद था, वहां पर आए कुछ बदमाशों ने डकैती के प्रयास के दौरान युवक को गोली मार दी। मारा जाने वाला युवक गुजरात के नादियाद का रहने वाला बताया जा रहा है। इसके साथ ही युवक के साथ मौजूद रिश्तेदार की हालत भी नाजुक बनी हुई है।विदेश मंत्रालय ने स्थानीय अधिकारीयों से इस घटना से सम्बंधित जानकारी प्राप्त की है। युवक के परिजनों को भी घटना की सूचना दे दी गयी है। इससे पहले भी अमेरिका में भारतीय लोगों के साथ हिंसा की काफी घटनाएं हो चुकी हैं।

 


काबुल - अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में हुए एक आत्मघाती हमले में 40 लोगों की मौत हो गई है जबकि 30 लोग घायल हो गए हैं। टोलो न्यूज के मुताबिक आत्मघाती हमलावर ने पीडी6 इलाके में तेबीयन केंद्र के दरवाजे पर विस्फोट किया है। बताया जा रहा है कि राजधानी काबुल में एक शिया सांस्कृतिक और धार्मिक संगठन में आत्मघाती हमला हुआ है।
अफगानिस्तान के गृह मंत्रालय के मुताबिक एक आत्मघाती विस्फोट के बाद इलाके में और दो विस्फोट हुए हैं।
घायलों को इलाज के लिए नजदीकी अस्पतला में भर्ती कराया गया है। अस्पताल के डॉक्टर्स का कहना है कि कई लोग गंभीर रूप से घायल हैं और मृतकों की संख्या बढ़ भी सकती है। हालांकि अभी किसी आतंकी संगठन ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है।
आपको बता दें कि कुछ दिन पहले ही काबुल में अब्दुल्हाक स्क्वायर के नजदीक राष्ट्रीय सुरक्षा निदेशालय (एनडीएस) के कार्यालय के पास आत्मघाती हमलावर ने खुद को विस्फोट से उड़ा दिया। इस हमले की जिम्मेदारी आतंकी समूह आईएस ने ली थी।
यह हमला तब किया गया जब लोग दफ्तर से अपने घरों को लौट रहे थे। एक हफ्ते पहले ही आतंकियों ने काबुल स्थित एनडीएस के प्रशिक्षण केंद्र को उड़ाने की कोशिश भी की थी। अफगानिस्तान के गृह मंत्रालय के प्रवक्ता नजीब दानिश ने बताया कि धमाके के वक्त पास से गुजर रही टोयोटा कार में सवार नागरिकों की मौके पर ही मौत हो गई। कई लोग घायल भी हुए हैं। बताया जा रहा है कि हमले को एक नाबालिग आतंकी ने अंजाम दिया।


सेंट पीटर्सबर्ग - रूस के सेंट पीटर्सबर्ग में एक शॉपिंग मॉल में हुए धमाके में कम से कम 10 लोग घायल हो गए। रूसी न्यूज एजेंसी स्पूतनिक ने आपातकालीन सेवाओं के स्रोत का हवाला देते हुए कहा कि रूसी शहर सेंट पीटर्सबर्ग में एक दुकान में अज्ञात डिवाइस से हुए विस्फोट में 10 लोग घायल हुए हैं। विस्फोट के परिणामस्वरूप कई लोगों को इस क्षेत्र से निकाला भी जा रहा है।
स्पाटनिक न्यूज़ एजेंसी ने बताया कि ये विस्फोट इंटरटेनमेंट कॉम्प्लेक्स में स्थित एक किराने की दुकान के लॉकर के अंदर हुआ। 200 ग्राम विस्फोटक वाली एक डिवाइस के फटने से यह हादसा हुआ है।
इस बीच पुलिस, बम-डिस्पोजल एक्सपर्ट्स और बचाव दल को घटनास्थल पर भेजा गया है। प्रारंभिव जांच में आधिकारी इसे संभावित सामूहिक हत्या का प्रयास मान रही है। हालांकि अबतक इस विस्फोट की जिम्मेदारी किसी भी आतंकी संगठन ने नहीं ली है।
बता दें कि इसी साल अप्रैल में सेंट पीटर्सबर्ग के सब-वे में हुए धमाके में 16 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि 50 से अधिक लोग घायल हो गए थे।


लंदन - जम्मू कश्मीर के एक राजनीतिक कार्यकर्ता ने जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (JKLF) के प्रमुख यासीन मलिक की पत्नी के हाल ही में जारी एक बयान की जमकर आलोचना की है। आपको बता दें कि यासीन मलिक की पत्नी मुशाल मुल्लिक ने भारत पर यह आरोप लगाया है कि उन्हें और उनकी बेटी को उनके पति से मिलने के लिए तीन साल तक दूर रखा। मुशाल का यह बयान पाकिस्तान के इस्लामाबाद में कैद पूर्व भारतीय नौसेना अधिकारी कूलभूषण जाधव के अपने परिवार से मुलाकात के बाद आया है।
पाकिस्तान की नागरिक मुशाल ने एक वीडियो जारी कर कहा है कि "भारत ने उसे और उसकी बेटी को उसके पति से मिलने से तीन साल तक दूर रखा। एक कश्मीरी को अपनी पत्नी और बेटी से मिलने का कोई हक नहीं है। मेरे पति के साथ एक आतंकवादी से भी ज्यादा बुरा बर्ताव किया गया है।"
जम्मू कश्मीर नेशनल अवामी पार्टी के पूर्व प्रमुख सज्जाद रजा ने मुशाल की आलोचना करते हुए कहा, "मुझे लगता है ये भारत के खिलाफ एक गलत तरीके से किया जा रहा दुष्प्रचार है। उक्त महिला को अपने पति की राजनीतिक गतिविधियों के बारे में कुछ भी ज्ञात नहीं है और अब वो अपने पति के राजनीतिक स्टेटस का लाभ अपने निजी फायदों के लिए कर रही है। यह महिला पाकिस्तानी प्रवक्ता है और पाक के लिए काम करती है और उसका काम ही भारत के खिलाफ आग उगलना है। लेकिन वह पाक अधिकृत कश्मीर और गिल्गित-बाल्टिस्तान में लोगों की परिशानियों को लेकर पाकिस्तान के खिलाफ एक आवाज नहीं उठा सकती है। मुझे लगता है कि भारत अधिकृत जम्मू कश्मीर के लोग अधिक सुरक्षित हैं।"
बताया जाता है कि मुशाल ने 2009 में यासीन मलिक से शादी की थी। 2013 में उसने वीजा अप्लाय कर दो बार भारत यात्रा की अनुमति पायी थी। सूत्रों के अनुसार, 2015 में वीजा एक्सपायर होने के बाद वह एक बार भी भारत यात्रा पर नहीं आई।
युनाइटेड कश्मीर पीपुल्स नेशनल पार्टी के कार्यकर्ता जमील मकसूद ने भी कहा, मिसेज मुल्लिक को कूलभूषण मामले से तुलना करने से पहले अपने वीजा आवेदन का सबूत पेश करना चाहिए। दूसरी चीज ये है कि, कूलभूषण का मामला अंतरराष्ट्रीय अदालत में चल रहा है। जबकि मुशाल मामले का कोई अंतरराष्ट्रीय ताल्लुक नहीं है।इसलिए पाकिस्तान की गोद में बैठकर और हाफिज सईद और अन्य आतंकी समूहों का समर्थन पाकर उसे भारत के खिलाफ दुष्प्रचार नही करना चाहिए।
गौरतलब है कि, कश्मीरी अलगाववादी नेता यासीन मलिक जेकेएलएफ प्रमुख हैं, जिसने कश्मीर घाटी में सशस्त्र आतंकवाद का नेतृत्व किया है। इसके अलावा वह जम्मू और कश्मीर में कई अलगाववादी तत्वों के साथ भी जुड़ा रहा है।

 


वाशिंगटन - अमेरिका में भले ही अब 'ट्रंप' राज हो, मगर अमेरिकियों के दिलों में पूर्व राष्‍ट्रपति बराक ओबामा ही बसे हुए हैं। साथ ही पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन का जलवा भी बरकरार है। तभी तो गैलप द्वारा किए गए एक सर्वे में दोनों एक बार फिर अमेरिका में सबसे ज्‍यादा सराहनीय शख्सियत के रूप में उभरकर सामने आए हैं।
इस वार्षिक सर्वे में ओबामा लगातार 10 साल से और हिलेरी 16 साल से शीर्ष पर बनी हुई हैं। दोनों ने पुरुष और महिला की अलग-अलग कैटेगरी में यह उपलब्धि हासिल की है। सर्वे में शामिल 17 फीसदी अमेरिकियों का मानना है कि वह ओबामा को सबसे ज्यादा पसंद करते हैं। ट्रंप 14 फीसदी वोट के साथ दूसरे नंबर पर रहे, जबकि पोप फ्रांसिस को तीसरा स्थान मिला है।
वोट करने वालों में से नौ फीसदी लोगों का मानना है कि हिलेरी सबसे सराही गई महिला हैं, जबकि देश की पूर्व प्रथम महिला मिशेल ओबामा सात प्रतिशत के साथ दूसरे और चार फीसदी वोटों के साथ ओपरा विन्फ्रे तीसरे स्थान पर हैं। सूची में कई अन्‍य राजनीतिक शख्सियत भी शामिल हैं। सर्वे में एक फीसदी लोगों ने माना कि देश की प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप सबसे ज्‍यादा सराहनीय महिला हैं।

अदन - गृह युद्ध में फंसे यमन में हवाई बमबारी का दायरा बढ़ गया है। सऊदी अरब के विमानों की अगुआई में हुए ताजा हवाई हमले में ग्रामीण बाजार पर बमबारी की गई। हमले में 14 नागरिकों के मारे जाने और 16 के घायल होने की खबर है। तीन साल से जारी संघर्ष में पहली बार ताएज शहर के ग्रामीण इलाके में बमबारी की गई है।वैसे सऊदी अरब समर्थित सरकार…
ल्हासा - तिब्बत के एक फिल्म निर्माता ने चीन से भागकर अमेरिका में शरण ली है। 43 वर्षीय ढोंडुप वांगचेन तिब्बत में अत्याचार के खिलाफ डाक्यूमेंटरी बनाने पर छह साल की जेल की सजा काट चुके हैं। तिब्बत पर फिल्म बनाने वाले संगठन ने बताया कि वांगचेन सोमवार को सैन फ्रांसिस्को पहुंच गए। उनकी पत्नी और बच्चे अमेरिका में ही रह रहे हैं। उन्हें 2012 में वहां राजनीतिक शरण मिला…
ब्यूनस आयर्स - अर्जेंटीना के बंदरगाह शहर रोसारियो में चीन की निर्यात कंपनी कोफ्को इंटरनेशनल के ग्रेन टर्मिनल में हुए विस्फोट में एक कर्मचारी की मौत हो गई और आठ अन्य घायल हो गए। दुनिया की सबसे बड़ी खाद्य आपूर्तिकर्ता कंपनियों में शामिल कोफ्को ने अपने जारी बयान में कहा, 'कोफ्को इंटरनेशनल रोसोरियों के जनरल सैन मार्टिन स्थित इकाई में विस्फोट के लदान क्षेत्र में विस्फोट की पुष्टि करता है।'…
इस्लामाबाद - पाकिस्तान की पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टों की हत्या के दस साल बाद खुफिया एजेंसी आईएसआई ने दावा किया कि इसके पीछे ओसामा बिन लादेन का हाथ था। मीडिया में आई एक रिपोर्ट के मुताबिक दो बार की प्रधानमंत्री बेनजीर को मरवाने की पूरी साजिश अल-कायदा के सरगना लादेन ने रची थी और हत्या से पहले उसने अपना ठिकाना अफगानिस्तान में बना लिया था। पाकिस्तान पीपल्स पार्टी (PPP) के…
Page 10 of 219

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें