दुनिया

दुनिया (4374)

संयुक्त राष्ट्र। संयुक्त राष्ट्र में धन की कमी के खतरे की ओर ध्यान खींचते हुए महासचिव एंटोनियो गुतेरस ने सदस्य देशों से अनिवार्य अनुदान की राशि पूरी और समय पर अदा करने का आग्रह किया है। संयुक्त राष्ट्र कर्मियों को लिखे पत्र में गुतेरस ने कहा कि उन्होंने संगठन के सामने आ रहे कठिन आर्थिक हालात के संबंध में सदस्य देशों को आगाह किया है।उन्होंने पत्र में लिखा, 'नियमित बजट में सदस्य देशों की ओर से अनुदान राशि अदा करने में देरी के चलते नगदी की कमी का सामना जिस तरह हम कर रहे हैं, वैसा पहले कभी नहीं किया।' उन्होंने कहा है कि किसी कैलेंडर वर्ष में हमारा धन इतनी जल्दी इतना कम कभी नहीं हुआ।26 जुलाई तक भारत समेत 112 सदस्य देशों ने अपने नियमित बजट बकाये का पूरा भुगतान कर दिया है। भारत ने इस साल 29 जनवरी को 1.79 करोड़ डॉलर (लगभग 123 करोड़ रुपये) का भुगतान किया था। इस साल जून के आखिर में सदस्य देशों द्वारा 2008 के आकलन के लिए अदा की गई राशि करीब 1.49 अरब डॉलर (लगभग 10,238 करोड़ रुपये) रही। पिछले साल इसी अवधि में नियमित बजट में जमा राशि 1.70 अरब डॉलर (लगभग 11,680 करोड़ रुपये) से कुछ अधिक थी।कुल 81 देशों को अभी अपने नियमित बजट बकाये का भुगतान करना है। इनमें अफगानिस्तान, बांग्लादेश, ब्राजील, मिस्त्र, इजरायल, मालदीव, पाकिस्तान, सऊदी अरब, सेशेल्स, सूडान, सीरिया, अमेरिका और जिम्बाब्वे शामिल हैं।
अमेरिका उठाता है सबसे ज्यादा खर्च:-संयुक्त राष्ट्र के कुल खर्च का सबसे ज्यादा हिस्सा अमेरिका देता है। वह वैश्विक निकाय को सालाना मुख्य बजट 540 करोड़ डॉलर (लगभग 37,095 करोड़ रुपये) का 22 फीसद भुगतान करता है। शांति अभियानों का वह 28.5 फीसद खर्च उठाता है। शांति अभियानों का सालाना बजट 790 करोड़ डॉलर (लगभग 54,245 करोड़ रुपये) का है। संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत निक्की हेली रंधावा ने कहा कि अन्य देशों को अपना भुगतान बढ़ाने की जरूरत है। उन्होंने यह भी कहा कि अमेरिका अपना हिस्सा 25 फीसद से आगे नहीं बढ़ाएगा।

बीजिंग। चीन की राजधानी बीजिंग में अमेरिकी दूतावास के बाहर 26 वर्षीय व्यक्ति ने गुरुवार को कम शक्तिशाली विस्फोट किया। इसमें उसका हाथ जख्मी हो गया। पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया है। पुलिस ने कहा कि घटना में उसके अलावा कोई और जख्मी नहीं हुआ है। यह घटना उस जगह के पास हुई है, जहां इंटरव्यू के लिए वीजा आवेदकों की कतार लगती है।पुलिस ने बताया कि व्यक्ति चीन के इनर मंगोलिया क्षेत्र का रहने वाला है। उसका उप नाम जिआंग है। विस्फोट में उसे मामूली चोट आई है। इसके अलावा एक पुलिस वाहन को भी इससे नुकसान पहुंचा। घटना के फौरन बाद सोशल मीडिया पर प्रसारित वीडियो क्लिप में दूतावास परिसर से धुआं उठता दिख रहा है।एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि हमने दोपहर करीब एक बजे (स्थानीय समय) विस्फोट की तेज आवाज सुनी। हम देखने के लिए सड़क पर आए, लेकिन पुलिस ने बहुत जल्द इलाके की घेराबंदी कर दी। मामले की अधिक जानकारी उपलब्ध नहीं है।चीन के सरकारी-सेंसरशिप संगठन ने तेजी से ट्विटर जैसे प्लेटफॉर्म वीबो पर 'यूएस एंबेसी' शब्द के सर्च को ब्लॉक कर दिया। वीजा दफ्तर ने घटना के कुछ देर बाद ही फिर से अपना काम शुरू कर दिया। दूतावास के बाहर उसी तरह लोगों की भीड़ लगी हुई है। यह घटना बीजिंग के बाहरी इलाके में हुई है। इसी इलाके में अमेरिका, भारत, इजरायल समेत कई देशों के दूतावास हैंपुलिस ने फिलहाल घटना का कारण नहीं बताया है। हालांकि, वाशिंगटन द्वारा अल्यूमीनियम और इस्पात के आयात पर शुल्क लगा देने के बाद से चीन और अमेरिका में ट्रेड वार चल रहा है।
मौके पर पहुंची पुलिस, छानबीन शुरू:-धमाके के बाद पुलिस की टीम भी मौके पर पहुंच गई है और इलाके की घेराबंदी कर जांच शुरू कर दी है। कहा जा रहा है कि ये काफी कम तीव्रता का धमाका था। धमाके वाली जगह से भारतीय दूतावास भी पास में है। लोग परिसर के बाहर इकट्ठा हो गए, क्योंकि धुएं के कारण सांस लेना मुश्किल हो रहा था। हालांकि अब तक चीनी और अमेरिकी अधिकारियों ने इस घटना पर टिप्पणी नहीं की है। एक प्रत्यक्षदर्शी जिमी झोंग ने ट्वीट कर बताया, 'बस कुछ ही मिनट पहले बीजिंग, चीन में अमेरिकी दूतावास के पास विस्फोट हुआ है। हर तरफ धुआं छाया हुआ है।'

इस्लामाबाद। इमरान खान की जीत पर उनकी पूर्व पत्नी जेमिमा गोल्डस्मिथ ने गुरुवार को अपनी खुशी जाहिर की। उन्होंने चुनाव का आधिकारिक नतीजा आने से पहले ही इमरान को पाकिस्तान का अगला प्रधानमंत्री घोषित कर दिया और बधाई दी।44 वर्षीय जेमिमा क्रिकेटर से नेता बने पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआइ) के अध्यक्ष इमरान खान की पहली पत्नी हैं। दोनों की साल 1995 में शादी हुई थी और सहमति से साल 2004 में अलग हो गए थे। जेमिमा को इमरान से दो बेटे सुलेमान और कासिम हैं। इमरान से तलाक लेने के बाद जेमिमा लंदन लौट गई थीं। इसके बावजूद दोनों में अच्छे संबंध कायम हैं। जेमिमा ने ट्वीट किया कि दो बच्चों के पिता पाकिस्तान के अगले प्रधानमंत्री बनेंगे।उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा, 'मुझे इमरान खान का 1997 में पहला चुनाव याद है जो सियासी रूप से निष्कपट और अनुभवहीनता वाला था। बाधाओं और कुर्बानियों के 22 साल बाद मेरे दो बेटों के पिता पाकिस्तान के अगले प्रधानमंत्री बनेंगे।' 65 वर्षीय इमरान ने जेमिमा को तलाक देने के बाद बीबीसी की पत्रकार रेहम खान से शादी की थी। दोनों की शादी दस माह बाद 2015 में टूट गई। इमरान ने इस साल शुरू में तीसरी शादी बुशरा से की।

नई दिल्ली। दक्षिण अफ्रीका की राजधानी जोहान्सबर्ग में पांच राष्‍ट्राें के प्रमुखों की औपचारिक मुलाकात के साथ 10वें शिखर सम्मेलन का शुभारंभ हो गया है। ब्रिक्‍स शिखर सम्मेलन में भाग लेने कि लिए पीएम मोदी, चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग, रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा मौजूद हैं। पीएम मोदी ने इस सम्मेलन के दौरान कहा कि हमें अपने स्कूलों और विश्वविद्यालयों के पाठ्यक्रम को इस तरह से बदलना होगा जिससे कि वह भविष्य के लिए युवाओं को तैयार करे। हमें यह सुनिश्चित करना है कि प्रौद्योगिकी में बदलाव की गति को हमारे पाठ्यक्रम में जगह मिले। बतादें कि दक्षिण अफ्रीका इस उत्‍सव की दूसरी बार मेजबानी कर रहा है। इस शिखर सम्‍मेलन में ब्रिक्‍स से जुड़े पांचों देश समावेशी विकास, स्‍वास्‍थ और सतता विकास, अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा समेत कई वैश्विक महत्व के मुद्दों पर चर्चा करेंगे। बता दें कि तीन अफ्रीकी देशों की यात्रा के अंतिम पड़ाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार सुबह दक्षिण अफ्रीका की राजधानी जोहान्सबर्ग पहुंचे। ब्रिक्‍स सम्‍मेलन के दौरान प्रधानमंत्री मोदी यहां दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा के साथ द्पिक्षीय बैठक भी करेंगे। यात्रा के दौरान रक्षा, व्‍यापार, संस्‍कृति, कृषि और डेरी क्षेत्र मे समझौते पर हस्‍ताक्षर हो सकते हैं।
चीनी राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री मोदी की होगी मुलाकात:-चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इस शिखर सम्मेलन के दौरान मुलाकात होगी। इस दौरान दोनों नेताओं के बीच अमरीकी व्यापार संरक्षणवाद और साझा हित के अन्य मुद्दों पर चर्चा की उम्मीद है। प्रधानमंत्री मोदी और राष्ट्रपति शी की 25-27 जुलाई को ब्रिक्स शिखर सम्मेलन के दौरान अलग से बैठक होगी। पिछले तीन महीनों में दोनों नेताओं की यह तीसरी मुलाकात होगी। इससे पहले अप्रैल में चीनी शहर वुहान में दोनों नेताओं की दो दिवसीय अनौपचारिक बैठक हुई थी। वह बैठक डोकलाम गतिरोध के बाद द्विपक्षीय संबंधों को फिर से पटरी पर लाने तथा प्रमुख वैश्विक मुद्दों पर चर्चा के इरादे से हुई थी।

 

वाशिंगटन। अमेरिका के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा है कि चीन ने डोकलाम इलाके में चुपचाप अपनी गतिविधियां फिर से शुरू कर दी हैं। और न तो भूटान और न ही भारत ने उसे ऐसा करने से रोका है। दक्षिणी एवं मध्य एशिया के लिए विदेश मंत्रालय के प्रमुख उप सहायक एलीस जी वेल्स ने संसदीय सुनवाई के दौरान यह बात कही। उन्होंने सांसदों से कहा कि मेरा आकलन है कि भारत मजबूती से अपनी उत्तरी सीमा का बचाव कर रहा है और चीन की गतिविधि भारत के लिए चिंता का विषय है। वेल्स भारतीय सीमा के निकट सड़क बनाने की चीन की उग्र गतिविधियों के संबंध में पूछे गए सवाल का जवाब दे रहे थे।भारत और चीन के बीच हिमालयी क्षेत्रों को लेकर लगातार विवाद होते रहे हैं। हाल ही में चीन और भारत के बीच डोकलाम को लेकर गतिरोध पैदा हो गया था। चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ने डोकलाम में सड़क निर्माण का काम शुरू किया था। इसके बाद से चीन और भारत के बीच इस मुद्दे पर कई दिनों तक गतिरोध रहा था।महिला सांसद एन वेगनर ने कहा कि हालांकि दोनों देश बाद में पीछे हट गए थे। लेकिन, चीन ने डोकलाम में फिर से अपनी गतिविधियां चुपचाप शुरू कर दी हैं। हिमालयी क्षेत्र में चीन की गतिविधि मुझे उसके दक्षिण चीन सागर नीति की याद दिलाती हैं। चीन पूरे दक्षिण चीन सागर पर अपना दावा करता रहा है। वहीं वियतनाम, मलेशिया, फिलीपींस, ब्रुनेई और ताईवान इस दावे का विरोध करते रहे हैं।

 

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में आम चुनाव लगभग समाप्त हो चुका है। मतगणना के बाद आ रहे रुझानों के मुताबिक, वोटों की गिनती में इमरान की पार्टी तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआइ) सबसे आगे चल रही है। इमरान खान पहली बार प्रधानमंत्री पद के प्रबल दावेदार बन कर उभरे हैं। इस चुनाव में राजनीतिक पार्टियों के अलावा कई चरमपंथी और प्रतिबंधित समूहों ने भी भाग लिया था। लेकिन जैसे-जैसे चुनाव के नतीजे सामने आ रहे हैं उनकी पोल खुलती नजर आ रही है। यहां के नागरिकों ने अब एक नए पाकिस्तान का सपना देखना शुरू कर दिया है उन्होंने आतंकी समूह और उनके लोगों को नकारना शुरू कर दिया है यही कारण है कि चरमपंथी और प्रतिबंथित समूहों की इस चुनाव में बहुत बुरी तरह से हार हुई है।मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड और अल्लाह-हू-अकबर तहरीक नाम की पार्टी बनाकर पाकिस्तान के चुनावी मैदान में उतरने वाले हाफिज सईद को चुनाव में बुरी तरह हार का सामना करना पड़ा है। हाफिज ने जबकि बड़े स्तर पर चुनावी अभियान किया था बावजूद इसके उसे एक भी वोट नहीं मिला।अनाधिकारिक नतीजों के मुताबिक, सैकड़ों लोग जो इस तरह के समूह से जुड़े थे उन सभी को चुनावी मैदान में बुरी तरह हार का मुंह देखना पड़ा है। उनमें से किसी को भी राष्ट्रीय स्तर या प्रांतीय स्तर पर एक भी सीट पर जीत हासिल नहीं हुई है। केवल कुछ गिने-चुने लोग ही हैं जिन्हें कुछ वोट मिले हैं, लेकिन वे जीत से काफी दूर हैं। उनमें से एक हैं मौलाना मोहम्मद अहमद लुधियानवी जिसका नाम चुनाव से कुछ समय पहले ही प्रतिबंधित सूची से हटा लिया गया था और चुनाव लड़ने की इजाजत दे दी गई थी। जिओ टीवी के मुताबिक, लुधियानवी को 45,000 वोट मिले लेकिन ये जीत से काफी दूर थी।मिली मुस्लिम लीग से जुड़े सईद ने अल्लाह-हू-अकबर तहरीक के साथ दर्जनों उम्मीदवार चुनावी मैदान में उतारे थे जिन्हें पाकिस्तान चुनाव आयोग ने खारिज कर दिया था। सईद का बेटा हाफिज तल्हा सईद लाहौर से 200 किमी दूर सरगोढ़ा से खड़ा हुआ था। सईद का दामाद खालिद वलीद भी पीपी-167 से चुनावी मैदान में खड़ा हुआ था। तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान ने भी अपने 100 उम्मीदवारों को चुनाव में उतारा था लेकिन इनमें से कोई भी जीत के करीब भी नहीं पहुंच पाया। प्रभावशाली मौलाना फजलुर्रहमान की पार्टी मुताहिदा मजलिस-ए-अमल ने भी चुनाव में भाग लिया था जिसे भी हार का मुंह देखना पड़ा।

 

कराची। 'इंक लगे अंगूठे दिखाएं और मुफ्त में भोजन पाएं।' पाकिस्तान में कई ऐसे रेस्तरां हैं जो देश में चल रहे आम चुनाव के दिन एक अनूठी पहल के साथ एक नई मिसाल कायम कर रहे हैं। दरअसल ये रेस्तरां मतदान के लिए लोगों को प्रेरित करने के उद्देश्य से उन्हें मुफ्त में खाना ऑफर कर रहे हैं। उन्होंने सिंपल फंडा अपनाया है कि स्याही लगा अपना अंगूठा दिखाओ और…
बैंकॉक। थाइलैंड के पड़ोसी देश लाओस में निर्माणाधीन बांध टूटने से आई बाढ़ में 19 लोगों की मौत हो गई। बांध के आसपास के सात गांवों में तीन हजार लोग फंसे हुए हैं। ये लोग अपने आधे डूबे घरों की छत पर खड़े होकर मदद का इंतजार कर रहे हैं। बचाव कर्मियों ने करीब तीन हजार लोगों को सुरक्षित जगह पहुंचाया है। थाइलैंड और दक्षिण कोरिया ने भी बचाव अभियान…
बेरुत। सीरिया के स्वीदा शहर में बुधवार को आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट द्वारा किए गए सिलसिलेवार आत्मघाती धमाकों में 40 लोगों की मौत हो गई। इन धमाकों में जान गंवाने वाले ज्यादातर लोग सरकार समर्थित लड़ाके हैं। सीरिया में इसे बीते कुछ महीनों में हुआ सबसे बड़ा आतंकी हमला बताया जा रहा है।मानवाधिकार संगठन सीरियन ऑब्जरवेटरी का कहना है कि तीन आत्मघाती हमलावरों ने स्वीदा शहर में खुद को विस्फोट…
वाशिंगटन। मुंबई आतंकी हमले के गुनहगार डेविड कोलमैन हेडली को अमेरिकी जेल में हुए जानलेवा हमले के बाद कहां रखा गया है, इसको लेकर संदेह गहरा गया है। उसके वकील जॉन थीज ने बुधवार को कहा कि हेडली ना तो शिकागो में है और ना ही अस्पताल में है। वकील ने उन खबरों को भी खारिज कर दिया कि हमले के बाद हेडली जीवन और मौत के बीच जूझ रहा…
Page 9 of 313

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें