दुनिया

दुनिया (1820)

 

नई दिल्ली - दुनिया के सभी विश्वविद्यालयों में कोर्स की समाप्ति पर विद्यार्थियों को डिग्रियां दी जाती हैं। इसके लिए विश्वविद्यालयों में दीक्षांत समारोहों का आयोजन भी किया जाता है। मगर एक अमेरिकी विश्वविद्यालय में बीते दिनों जो दीक्षांत समारोह हुआ, वह अनूठा था। यहां बेटे को डिग्री लेते हुए देखने पहुंची मां को भी एमबीए की डिग्री दे दी गई। ऐसा क्यों हुआ, यह जानना अपने आप में काफी दिलचस्प है।
डिग्री पाने वाली मां का नाम है जूडी ओ’कोन्नोर और उनके बेटे का नाम है मार्टी ओ’कोन्नोर। मार्टी दोनों हाथों और पैरों से लकवाग्रस्त हैं, फिर भी उच्च शिक्षा पाने के जज्बे के साथ उन्होंने चैपमैन यूनिवर्सिटी के एमबीए पाठ्यक्रम में दाखिला लिया। मगर शारीरिक अक्षमता उनकी पढ़ाई के आड़े आ रही थी। ऐसे में जूडी ने बेटे की इच्छा को पूरा करने का बीड़ा उठाया। कोर्स के दौरान वह हर दिन बेटे को क्लास में ले जातीं, उसके साथ लगातार बैठकर लेक्चर सुनतीं और नोट्स बनातीं।
बेटे के लिए मां का यह लगाव और समर्पण, यूनिवर्सिटी के शिक्षकों, प्रशासकों और ट्रस्टियों को इतना भाया कि उन्होंने जूडी को एमबीए की मानद उपाधि देने का निर्णय ले लिया।
दुर्घटना से लकवाग्रस्त हुए मार्टी
अमेरिका की कोलोराडो यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन के बाद मार्टी ने एक पैकेजिंग कंपनी में सेल्समैन के तौर पर काम करना शुरू किया था। इसी बीच 2012 में सीढ़ियों से गिरने की वजह से उन्हें लकवा मार गया। वह अब अपने हाथों और पैरों से कुछ भी करने में अक्षम हैं।
बेटे के लिए छोड़ा राज्य
प्राइमरी टीचर रहीं जूडी फ्लोरिडा में रह रही थीं, मगर जब मार्टी ने दक्षिणी कैलिफोर्निया के ऑरेंज शहर की चैपमैन यूनिवर्सिटी में पढ़ने की इच्छा जाहिर की। इस पर उन्होंने बेटे की मदद के लिए फौरन फ्लोरिडा छोड़ने का निर्णय ले लिया।
नहीं पता था मिलेगी डिग्री
दीक्षांत समारोह में जूडी व्हीलचेयर पर बैठे बेटे को उसकी डिग्री दिलाने गईं थीं। जैसे ही उन्होंने बेटे की डिग्री प्राप्त की, तभी समारोह के उद्घोषक ने यह घोषणा कर दी कि उन्हें एमबीए की मानद उपाधि के लिए चुना गया है। यह सुन वहां मौजूद सभी लोग जूडी के सम्मान में खड़े गए।

 

बीजिंग - पूर्वी एशिया के लिये अमेरिका के एक शीर्ष राजनयिक ने कहा कि चीनी अधिकारियों ने वाशिंगटन को बताया है कि उत्तर कोरिया के परमाणु एवं मिसाइल गतिविधियों पर लगाम लगाने के मकसद से उन्होंने उत्तर कोरिया के साथ लगती सीमा पर सुरक्षा बढ़ा दी है।
अमेरिका की कार्यवाहक सहायक विदेश मंत्री सुसन थॉर्नटन ने शुक्रवार को बीजिंग में बताया कि उत्तर कोरिया के मिसाइल एवं परमाणु बमों के परीक्षण पर रोक लगाने के मकसद से उस पर दबाव बनाने की तत्काल जरूरत से चीन लगातार वाकिफ है। उन्होंने कहा कि चीनी अधिकारियों ने कहा कि उन्होंने सीमा पर जांच, पुलिस गश्त और सीमा शुल्क जांच बढ़ा दी है।
चीन ने उत्तर कोरिया से कोयला आयात स्थगित करने की घोषणा की है, बहरहाल आम तौर पर वह उत्तर कोरिया के सबसे महत्वपूर्ण कारोबारी एवं कूटनीतिक सहयोगी के तौर पर उठाये जाने वाले अपने फायदों पर चुप्पी साधे रहता है।

 

वाशिंगटन - अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के दामाद और व्हाइट हाउस के वरिष्ठ सलाहकार जारेड कुशनेर रूस के खिलाफ फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (एफबीआई) के निशाने पर हैं।
वाशिंगटन पोस्ट और एनबीसी न्यूज के मुताबिक इस मामले में कुशनेर की जांच की जा रही क्योंकि उन्होंने रूस के राजदूत और मास्को के एक बैंकर के अलावा दूसरे अन्य रूसी अधिकारियों से बातचीत की है। अभी यह साफ नहीं हो पाया है कि एफबीआई ने कुशनेर को पूछताछ के लिये बुलाया है या नहीं।

 

एथेंस - ग्रीस की राजधानी एथेंस में हुए एक धमाके में वहां के पूर्व प्रधानमंत्री लुकास पापाडेमॉस घायल हो गए। पुलिस के मुताबिक यह धमाका कार में हुआ है।
पुलिस ने बताया कि पापाडेमॉस अब खतरे से बाहर हैं। 69 साल के पापाडेमॉस 2011-2012 में छह महीने तक ग्रीस के प्रधानमंत्री रहे हैं। अधिकारियों ने बताया कि पूर्व प्रधानमंत्री को अस्पताल में भर्ती कराया गया है और उनका उपचार किया जा रहा है।
पुलिस ने बताया कि कार में मौजूद दो अन्य लोग भी घायल हो गए हैं। माना जा रहा है कि जिस कार में पापाडेमॉस बैठे थे, उसमें पार्सल बम रखा था। गौरतलब है कि 23 मई को ही इंग्लैंड के मैनचेस्टर में गायिका अरियाना ग्रांदे के कॉन्सर्ट में धमाका हुआ था। जिसमें इसमें 22 लोगों की मौत हो गई थी जबकि 50 से ज्यादा लोग घायल हुए थे।

 

वाशिंगटन - संघीय अदालत ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के छह मुस्लिम बहुल देशों को निशाना बनाने वाले संशोधित यात्रा प्रतिबंध के खिलाफ आदेश जारी करते हुए कहा कि उनका यह यात्रा प्रतिबंध राष्ट्रीय सुरक्षा के बारे में अस्पष्ट शब्दों के साथ बात करता है लेकिन उनमें धार्मिक असहिष्णुता, वैर-भाव और भेदभाव का पुट रहता है। ट्रंप प्रशासन ने इस लड़ाई को अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट तक ले जाने का फैसला किया है।
अमेरिका की फोर्थ सर्किट की अपीली अदालत में कल 10-3 के अंतर से हुए मतदान में कहा गया कि यह प्रतिबंध संभवत: संविधान का उल्लंघन करता है। अदालत ने एक निचली अदालत के उस फैसले को बरकरार रखा, जो रिपब्लिकन प्रशासन को ईरान, लीबिया, सोमालिया, सूडान, सीरिया और यमन के लोगों के वीजा बंद करने से रोकता है।
निश्चित तौर पर यदि कहा जाता है तो सुप्रीम कोर्ट इस मामले में दखल देगा। जब भी कभी निचली अदालत किसी संघीय नियम या राष्ट्रपति के कदम पर रोक लगाती है, तो न्यायाधीशों का फैसला अंतिम होता है।

 

वाशिंगटन - बेरोजगारी और विवादों से परेशान युवक ने इसका हल अपनी मौत में ढूंढ़ना चाहा, लेकिन होनी को कुछ और ही मंजूर था। उसकी बंदूक से निकली गोली ने युवक के सिर को बेधा और पारकर उसकी गर्लफ्रेंड को जा लगी। हादसे में युवती की मौत हो गई, जबकि युवक के खिलाफ अदालत में हत्या का मुकदमा चल रहा है।
यह अजीबोगरीब घटना अमेरिका के डलास स्थित एक नाइट क्लब में पेश आई। जहां गत माह अलास्का निवासी विक्टर सिब्सन (21) अपनी गर्लफ्रेंड ब्रिटनी मे हाग (22) के साथ गया था। किसी बात से परेशान विक्टर ने खुद को मारने के लिए कनपटी पर पिस्टल रखकर गोली चला दी। पिस्टल से निकली गोली उसके सिर को पार करती हुई पास बैठी गर्लफ्रेंड को जा लगी।
दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए। नाइट क्लब में मौजूद लोगों ने पुलिस को फोन कर घटना की जानकारी दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों को अस्पताल में भर्ती कराया। इलाज के दौरान ब्रिटनी की मौत हो गई, जबकि विक्टर की हालत में एक माह बाद सुधार हो गया।
मामले में पुलिस ने विक्टर के खिलाफ हत्या की प्राथमिकी दर्ज की। उसे गत रविवार को अदालत में पेश किया गया, जहां जज ने उसे दूसरे स्तर की हत्या का आरोपी करार दिया। विक्टर ने अदालत को बताया कि वह बेरोजगार और अपनी जमानत के लिए ढाई लाख अमेरिकी डॉलर जमा नहीं करा सकता।
उसने अदालत से मांग की कि उसे बताया जाए कि वह दोषी है या नहीं। फिलहाल अदालत उसके निर्दोष करार दिए जाने की मांग पर सुनवाई कर रही है। अगर विक्टर दोषी करार होता है तो उसे 99 साल की सजा सुनाई जाएगी।

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); वाशिंगटन - दक्षिण चीन सागर के विवादित क्षेत्र में अमेरिकी युद्धपोत यूएसएस देवे के गश्त लगाने पर गुरुवार को चीन ने नाराजगी जताई। उसने कहा कि अमेरिका का यह कदम चीन को भड़का सकता है। डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के बाद पहली बार अमेरिकी नौसेना ने विवादित दक्षिण चीन सागर क्षेत्र के उस कृत्रिम द्वीप के पास युद्धपोत भेजा, जिस पर चीन अपना दावा…
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); लंदन - ब्रिटेन की पुलिस ने सोमवार रात मैनचेस्टर में हुए जानलेवा आतंकवादी हमले के सिलसिले में तलाशी के दौरान दो और लोगों को गिरफ्तार किया है। जिसके बाद गिरफ्तार किए गए लोगों की संख्या बढ़ कर आठ हो गई है। इससे पहले की सारी गिरफ्तारियां मैनचेस्टर और उसके आस पास के इलाके से की गईं हैं जहां सोमवार रात पॉप स्टार के कॉन्सर्ट में…
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); लंदन - मैनचेस्टर एरिना के आत्मघाती हमलावर सलमान आब्दी के शहर में सक्रिय इस्लामिक स्टेट की ईकाई से संबंध थे और आतंकी समूह के लिए भर्ती करने वाले एक बड़े साजिशकर्ता को भी वह जानता था। स्काई न्यूज ने यह दावा किया है।स्काई न्यूज के आईएस फाइल्स में दिखाया गया कि मैनचेस्टर में मौस साइड का रहने वाला आईएसआईएस लड़ाका रोफेल होस्टेय सैकड़ों आतंकियों को…
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); मोगादीशू - सोमालिया की राजधानी मोगादीशू में इस्लामिक विद्रोहियों की ओर से किए गए एक बम विस्फोट में पांच लोगों की मौत हो गई जबकि छह अन्य घायल हो गए। मोगादीशू के मेयर के प्रवक्ता अब्दीफतह उमर हलाने ने आज इस बात की जानकारी दी। हलाने ने इस बम विस्फोट में एक महिला और उसके बेटे समेत कुल पांच लोगों के मारे जाने की पुष्टि…
Page 1 of 130

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें