दुनिया

दुनिया (3632)

लाहौरः भ्रष्टाचार के मुकद्दमों का सामना कर रहे पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ  के वापस लंदन  जाने पर अटकलों का दौर तेज हो गया है। शरीफ अपनी कैंसर पीड़ित पत्नी कुलसुम को देखने के लिए बेटी मरियम के साथ बुधवार को लंदन रवाना हुए।  शरीफ की इस लंदन यात्रा को लेकर  कयास लगाए जा रहे हैं कि भ्रष्टाचार के मामलों में सजा सुनाए जाने की संभावनाओं के चलते शायद वह वापस नहीं लौटेंगे। शरीफ परिवार के प्रवक्ता ने भी उनकी वापसी को लेकर कुछ भी कहने से इन्कार किया है।

शरीफ को 21 अप्रैल को लाहौर में राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (एनएबी) के संयुक्त जांच दल के सामने पेश होना था। लेकिन इस आकस्मिक यात्रा की वजह से संभावना जताई जा रही है कि वह पेशी से नदारद रह सकते हैं। रायविंड के जटी उमरा स्थित अपने घर तक अवैध रूप से एक सड़क बनवाने के लिए पद का दुरुपयोग करने के मामले में एनएबी ने उन्हें तलब किया है। सुप्रीम कोर्ट से अयोग्य ठहराए गए शरीफ को इसके बाद 23 अप्रैल को भी भ्रष्टाचार के एक मामले में जवाबदेही अदालत के समक्ष पेश होना है।

बीजिंगः डोकलाम और अरुणाचल मुद्दे पर हेकड़ी दिखाने वाला चीन अब नेपाल Projects को लेकर  भारत के साथ दोस्ताना बढ़ाने का प्रयास कर रहा है। चीन के वरिष्ठ राजनयिक वांग यी ने बुधवार को  इच्छा जताई कि बीजिंग चाहता है कि भारत, चीन-नेपाल संपर्क परियोजना में शामिल हो। उन्होंने साथ ही कहा कि दोनों देशों के लिए इस हिमालयी देश का विकास साझा लक्ष्य होना चाहिए।

नेपाल, भारत और चीन के बीच बसा हुआ है और पारंपरिक रूप से भारत के ज्यादा करीब है। लेकिन, बीजिंग ने यहां कई क्षेत्रों में निवेश कर उपस्थिति दर्ज कराई है। वांग ने नेपाल के विदेश मंत्री प्रदीप कुमार गयावाली से मुलाकात के बाद कहा, ""चीन और नेपाल ट्रांस-हिमालय संपर्क नैटवर्क के एक लंबे दृष्टिकोण के लिए सहमत हुए हैं।"उन्होंने कहा कि  आशा है कि यह नैटवर्क अगर अच्छे तरीके से विकसित हो तो यह चीन, नेपाल और भारत को जोड़ने वाले आर्थिक गलियारे की स्थिति मुहैया करा सकता है। 

वांग ने  उम्मीद  जताई है  कि इस तरह के सहयोग से तीनों देशों के विकास और समृद्धि में योगदान मिलेगा। उन्होंने कहा कि नेपाल पहले से ही चीन की वन बेल्ट एंड रोड परियोजना का हिस्सा है। गौरतलब है कि नेपाल में चीन का दखल भारत के लिए चिंता का सबब है औऱ प्रधानमंत्री के.पी. शर्मा ओली के नेतृत्व वाली मौजूदा सरकार को चीन का करीबी माना जाता है।

क्यूबा की संसद ने मिगेल डियाज़ कनेल को देश का नया नेता चुन लिया है। वे 86 वर्षीय राष्ट्रपति राउल कास्त्रो का स्थान लेंगे।

 

कास्त्रो परिवार दशकों से क्यूबा की सत्ता पर क़ाबिज़ रहा है. राउल कास्त्रो ने साल 2006 में अपने बीमार भाई फ़िदेल कास्त्रो से सत्ता अपने हाथों में ली थी. क्यूबा की नेशनल असेंबली उनके नामांकन पर मतदान करेगी लेकिन डियाज़ का राष्ट्रपति बनना पक्का माना जा रहा है. राउल कास्त्रो पद छोड़ने के बाद भी क्यूबा की राजनीति में प्रभावशाली व्यक्ति बने रहेंगे. वे साल 2021 में कम्यूनिस्ट पार्टी के राष्ट्रीय अधिवेशन के होने तक पार्टी के अध्यक्ष बने रहेंगे. हालांकि आज नेशनल असेंबली में मतदान होने के बाद वे राष्ट्रपति पद का भार औपचारिक तौर से डियाज़ को सौंप देंगे।

लंदन : भारत और ब्रिटेन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में तकनीकी, व्यापार और निवेश के मुद्दों सहित नौ समझौतों पर हस्ताक्षर किये. दोनों देशों ने अंतरराष्ट्रीय अपराधों को खत्म करने के उद्देश्य से सूचना के आदान-प्रदान और सहयोग के लिए भी सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किये. अपराधियों के रिकार्ड के आदान-प्रदान के साथ ही संगठित अपराधों को खत्म करने के लिए भी दोनों देशों में सहमति बनी. यही नहीं, दोनों देशों ने साइबर संबंधों के साथ ही स्वतंत्र, मुक्त, शांतिपूर्ण और सुरक्षित साइबर स्पेस के संबंध में समझौते के अलावा, साइबर सुरक्षा प्रबंधन पर भी समझौते दोनों देशों ने किये. सूचनाओं के आदान-प्रदान में सहयोग पर समझौता भी हुआ.

इससे पहले, पीएम मोदी ने ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीजा मे से मुलाकात की इस दौरान  उन्होंने आश्वासन दिया कि ब्रिटेन के यूरोपीय संघ से अलग होने से द्विपक्षीय व्यापार को और बढ़ाने के बेहतर अवसर मिले हैं. दोनों नेताओं के बीच भारत और ब्रिटेन के संबंधों में विभिन्न आयामों पर लाभकारी बातचीत हुई. इस दौरान आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई, कट्टरवाद और ऑनलाइन कट्टरवाद पर भी चर्चा हुई. इसके बाद, पीएम मोदी ने ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय से बकिंघम पैलेस में मुलाकात की और साझा हितों पर बातचीत की.

पीएम मोदी ने सुबह सबसे पहले ब्रिटिश पीएम टेरीजा मे से उनके सरकारी आवास 10 डाउनिंग स्ट्रीट में नाश्‍ते पर मुलाकात की. ब्रिटिश पीएम ने गर्मजोशी के साथ मोदी से हाथ मिलाया और कहा कि लंदन में आपका बहुत स्वागत है प्रधानमंत्री... मुलाकात के बाद मोदी ने ट्वीट किया और बताया कि प्रधानमंत्री मे के साथ उनकी कई मुद्दों पर लाभकारी बातचीत हुई है. उन्हें भरोसा है कि इस मुलाकात से दोनों देशों के संबंधों में नई ऊर्जा आएगी.

बकिंघम पैलेस में रात्रिभोज
देर शाम को पीएम मोदी 91 वर्षीय ब्रिटिश महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के न्योता पर उनसे बकिंघम पैलेस पहुंचे और उनसे मुलाकात की. राष्ट्रमंडल की प्रमुख महारानी ने पीएम मोदी के सम्मान में यह भेंट रखी थी. पीएम मोदी यहां गुरुवार को राष्ट्रमंडल देशों के राष्ट्राध्यक्षों की बैठक में भी हिस्सा लेंगे. महारानी इसी दिन राष्ट्रमंडल के सभी राष्ट्राध्यक्षों को अपने महल में डिनर भी देंगी.

वाशिंगटन:  इस सप्ताहांत फुटबाल के मैदान के आकार का एक क्षुद्रग्रह (एस्टेरॉयड) पृथ्वी के बहुत पास से गुजर गया । इस घटनाा से नासा के वैज्ञानिकों भी हैरान हैं क्यों उनको भी महज 21 घंटे पहले ही इसकी जानकारी मिली थी। 

स्पेस डॉट कॉम के अनुसार, 2018 जीई 3 नामक यह क्षुद्रग्रह धरती से करीब दो लाख किलोमीटर की दूरी से गुजरा।   रविवार तड़के दो बजकर 41 मिनट पर यह एक लाख छह हजार किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से धरती के पास से गुजरा। एरिजोना वेधशाला में तैनात नासा वैज्ञानिकों के अनुसार, इस क्षुद्रग्रह की चौड़ाई 47 से 100 मीटर के बीच थी।

यानी यह 1908 में रूस के साइबेरिया क्षेत्र में गिरे उस एस्टेरॉयड से करीब 3.6 गुना बड़ा था, जिसने दो हजार वर्ग किलोमीटर जंगल को नष्ट कर दिया था। उस एस्टेरॉयड से हिरोशिमा में गिराए गए परमाणु बम से 185 गुना ज्यादा ऊर्जा पैदा हुई थी। वैज्ञानिकों का कहना है कि यदि 2018 जीई 3 धरती से टकराता, तो इससे क्षेत्रीय स्तर पर ही नुकसान होता लेकिन इसके कण पूरे वातावरण में फैल जाते।

लंदनः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने विदेश दौरे के दूसरे पड़ाव में आज ब्रिटेन पहुंच गए हैं। पीएम मोदी भारतीय समय के अनुसार आज सुबह करीब 4 बजे लंदन पहुंचे। वे यहां ब्रिटेन की प्रधानमंत्री थेरेसा मे, महारानी एलिजाबेथ द्वितीय, प्रिंस चार्ल्स से मुलाकात करेंगे। दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों के बीच द्विपक्षीय वार्ता भी होगी। वहीं मोदी रात को यहां 'भारत की बात, सबके साथ' कार्यक्रम को भी संबोधित करेंगे। इसका प्रसारण कई देशों में किया जाएगा। इसके अलावा वे यहां कॉमनवेल्थ देशों (चोगम) की एक बैठक में हिस्सा लेंगे। मोदी यहां लंदन की थेम्स नदी के पास लिंगायत समुदाय के सुधारक रहे बासवन्ना को श्रद्धांजलि देंगे।वे यहां चल रही विज्ञान प्रदर्शनी भी देखने जाएंगे, जहां भारत के 5000 सालों की वैज्ञानिक उपलब्धियों और आविष्कारों को दर्शाया गया है। उल्लेखनीय है कि मोदी लंदन में कॉमनवेल्थ समिट में शिरकत करने के लिए आए हैं। वहीं खबरें हैं कि मोदी को कॉमनवैल्थ के प्रमुख की भूमिका सौंपी जा सकती है। ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ 92 साल की हो चुकी हैं। इसलिए अब उनके लिए ज्यादा यात्रा करना और सक्रिय रहना संभव नहीं है। हालांकि अभी यह साफ नहीं है कि कॉमनवैल्थ का प्रमुख कौन होगा।

इस्लामाबादः इन दिनों पाकिस्तान में लापता लोगों को लेकर पश्तून तहाफुज आंदोलन (पीटीएम) चल रहा है। एेसे में पाकिस्तान के पूर्व जज का एेसा बयान सामने आया है जिससे पाक की राजनीति में भूचाल आ गया है। पूर्व जज जावेद इकबाल ने पाक की राजनीति में वापसी की कोशिश कर रहे पूर्व सैन्य प्रमुख और राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ पर गंभीर आरोप लगाते कहा है कि मुशर्रफ ने हजारों नागरिकों को…
फिलाडेल्फियाः अमरीका में फिलाडेल्फिया अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर एक विमान की आपात लैंडिंग दौरान हुए भयानक हादसे में एक महिला की मौत हो गई व 7 अन्य यात्री घायल हो गए। राष्ट्रीय परिवहन सुरक्षा बोर्ड के चेयरमैन रॉबर्ट समवाल्ट ने बताया कि साउथवेस्ट एयरलाइंस कंपनी की एक विमान के इंजन में खराबी के कारण कल आपात स्थिति में उतारा गया । विमान न्यूयार्क से टेक्सास के डल्लास जा रहा थालेकिन…
रूस ने सीरिया में संदिग्ध रासायनिक हमले वाली जगह पर सबूतों के साथ किसी तरह की छेड़छाड़ करने के आरोप से इंकार किया है। रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने कहा ने कहा है कि रूस ने उस जगह पर कोई छेड़छाड़ नहीं की है।रूस ने सीरिया में संदिग्ध रासायनिक हमले वाली जगह पर सबूतों के साथ किसी तरह की छेड़छाड़ करने के आरोप से इंकार किया है। रूस…
नई दिल्ली - जर्मनी के विदेश मंत्री हाइको मास ने कहा कि सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल असद के पद से हटने के बाद ही सीरियाई संकट का समाधान होगा. चांसलर एंजेला मर्केल (सीडीयू) के आधिकारिक प्रवक्ता स्टेफन सेबर्ट ने कहा कि सीरियाई संघर्ष का दीर्घकालीन समाधान असद के बिना ही संभव है. जर्मनी के विदेश मंत्री का यह बयान अमेरिका के नेतृत्व में सीरिया पर हवाई हमलों में शामिल…
Page 1 of 260

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें