Editor

Editor

नई दिल्ली: कांग्रेस के नेतृत्व में विपक्षी दलों ने आज उपराष्ट्रपति व राज्यसभा के सभापति एम. वेंकैया नायडू से मिलकर भारत के प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग चलाने का नोटिस दिया। सूत्रों के अनुसार, सात राजनीतिक दलों से राज्यसभा के 60 से ज्यादा सदस्यों ने प्रधान न्यायाधीश के खिलाफ महाभियोग का नोटिस दिया। महाभियोग के नोटिस पर हस्ताक्षर करने वाले सांसदों में कांग्रेस, राकांपा, माकपा, भाकपा, सपा और बसपा के सदस्य शामिल हैं। इन दलों के नेताओं ने आज पहले संसद भवन में बैठक की और महाभियोग के नोटिस को अंतिम रुप दिया। बैठक के बाद विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने पुष्टि की कि नेता प्रधान न्यायाधीश के खिलाफ महाभियोग का नोटिस दे रहे हैं. संसद भवन में हुई बैठक में कांग्रेस नेता आजाद , कपिल सिब्बल , रणदीप सुरजेवाला, भाकपा के. डी. राजा और राकांपा के वंदना चव्हाण ने हिस्सा लिया। सूत्रों के अनुसार, तृणमूल कांग्रेस और द्रमुक पहले प्रधान न्यायाधीश के महाभियोग के पक्ष में थे, लेकिन बाद में इससे अलग हो गए। गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय द्वारा सीबीआई के विशेष न्यायाधीश बी. एच. लोया की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मृत्यु की जांच के लिये दायर याचिकायें खारिज किये जाने के अगले ही दिन महाभियोग का नोटिस दिया गया है। लोया सोहराबुद्दीन फर्जी मुठभेड़ मामले की सुनवाई कर रहे थे। शीर्ष अदालत की प्रधान न्यायाधीश की अध्यक्षता वाली पीठ ने कल यह फैसला सुनाया था। महाभियोग का नोटिस देने के लिए राज्यसभा के कम से 50 सदस्यों जबकि लोकसभा में कम से कम 100 सदस्यों के हस्ताक्षर की जरुरत होती है.

नई दिल्ली: एक ओर जहां मशहूर कॉमेडियन कपिल शर्मा का करियर बर्बादी की ओर जा रहा है, तो वहीं कभी उनके दोस्त रहे सुनील ग्रोवर का लक इन दिनों उनके साथ है। फ्लाइट में हुए झगड़े के बाद अपने दोस्त कपिल शर्मा से अलग होने के बाद सुनील ग्रोवर सुर्खियों में छाए हुए हैं। एक तरफ जहां कपिल के नए टीवी शो 'फैमिली टाइम विद कपिल' को लोगों ने पसंद नहीं किया। वहीं, दूसरी ओर सुनील के नए शो 'दन दना दन' को फैंस ने काफी सपोर्ट किया है। अब छोटे पर्दे के बाद सुनील ग्रोवर के लिए बॉलीवुड के दरवाजे भी खुल गए हैं। एक खबर के अनुसार सुनील ग्रोवर के हाथ एक बहुत बड़ी बॉलीवुड फिल्म लगी है, जिसका नाम 'भारत' हैं। जी हां, यह सुनील के लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है। इस फिल्म में सुनील सलमान खान और प्रियंका चोपड़ा के साथ नजर आने वाले हैं। यही नहीं, खबरों की मानें तो इस फिल्म में सुनील का एक नया अवतार भी हमें देखने को मिलेगा। बता दें कि फिल्म 'भारत' में सुनील कोई कॉमेडी नहीं करने वाले हैं, बल्कि वह सलमान के दोस्त की भूमिका में दिखेंगे और वह एक दिलचस्प किरदार में नजर आएंगे। इसके अलावा सुनील डायरेक्टर विशाल भारद्वाज की अपकमिंग फिल्म 'छूरियां' में लीड रोल प्‍ले करते दिखेंगे। विशाल भारद्वाज की फिल्‍म 'छूरियां' में सुनील के साथ दो लीड एक्ट्रेस सान्या मल्होत्रा और राधिका मदान का नाम भी सामने आया है।

झांसीः उत्तर प्रदेश के झांसी में नगर पार्षद का टिकट दिलाने के नाम पर पांच लाख रुपये ऐंठने और जान से मारने की धमकी देने के मामले में स्थानीय अदालत ने बसपा के क्षेत्रीय समन्वयक समेत अन्य आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किये जाने का आदेश दिया है।बसपा कार्यकर्ता हरीशंकर ने आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के लिए मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में एक वाद दायर किया था। इस वाद पर अदालत ने कल सभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया है।पीड़ित के वकीलने अदालत में प्रार्थना पत्र देते हुए बताया कि जब 2017 के नगर निगम चुनाव हुए थे। इसमें बसपा कार्यकर्ता हरीशंकर उर्फ कल्लन को वार्ड छह से टिकट दिलाने के लिए पार्टी के मुख्य जोन कोआॅर्डिनेटर लालाराम अहिरवार से बातचीत की थी। आरोप है कि उन्होंने टिकट के बदले पांच लाख रुपये मांगे और अगले दिन राजगढ़ में आवास पर बुलाया था। वहां पर वह हरीशंकर के साथ पांच लाख रुपये लेकर गया और लालाराम को सारा पैसा दे दिया था।लालाराम ने रुपए अपने साथियों को देकर गिनवाए और दो लाख रुपये अपने पास रखते एक-एक लाख रुपये तीन साथियों जोन इंचार्ज रवि मौर्या, जोन इंचाज चार भूपेन्द्र आर्या व महानगर अध्यक्ष आनंद साहू को दिए थे साथ ही कहा था कि नामांकन के एक दिन पूर्व ही हरीशंकर को अधिकृत प्रत्याशी घोषित कर उसे अधिकार पत्र दे दिया जाएगा लेकिन नामांकन वाले दिन मालूम हुआ कि सभी प्रत्याशियों ने पर्चा दाखिल कर दिया था।प्रार्थना पत्र में कहा कि जब हरीशंकर को न टिकट मिला और न उसके पैसा वापस मिले। कई बार वह पैसा मांगने गया तो वह लोग टरकाते रहे। बाद में लालाराम ने एकांत में ले जाकर उसे जान से मारने की धमकी दी थी और उसे पार्टी से बाहर निकाल दिया। इसकी सूचना पुलिस को दी मगर पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज नहीं की।सुनवाई के दौरान अदालत ने नवाबाद प्रभारी निरीक्षक को मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया। इस आदेश के तहत लालाराम अहिरवार, रवि मौर्या, भूपेन्द्र आर्या, महानगर अध्यक्ष भूपेन्द्र साहू के खिलाफ दफा 406, 420,323,506,504, 120 बी के तहत मुकदमा दर्ज होगा। इस संबंध में पुलिस का कहना है कि आदेश अभी नहीं आया है। आदेश आते ही मुकदमा दर्ज कर लिया जाएगा।

नई दिल्लीः जाने-माने मानवाधिकारवादी और दिल्ली उच्च न्यायालय के पूर्व मुख्य न्यायाधीश राजेन्द्र सच्चर का आज पूर्वाह्न यहां निधन हो गया। वह 94 वर्ष के थे। उनका अंतिम संस्कार आज शाम करीब साढ़े पांच बजे लोधी रोड स्थित श्मशान में किया जाएगा। यह जानकारी उनके परिवार के सूत्रों ने दी। न्यायमूर्ति सच्चर का जन्म 22 दिसंबर 1923 को लाहौर में हुआ था। उनके दादा जी लाहौर उच्च न्यायालय के जाने माने फौजदारी वकील थे। वह 1970 में दिल्ली उच्च न्यायालय में अतिरिक्त न्यायाधीश नियुक्त हुए थे। वह एकमात्र न्यायाधीश थे जिन्होंने आपातकाल में सरकार के आपातकाल संबंधी निर्देशों को मानने से इन्कार किया था। वह अगस्त 1985 से दिसंबर 1985 तक दिल्ली उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश रहे। वह मानवाधिकारों के दृढ़ पैरोकार थे और संयुक्त राष्ट्र के मानवाधिकार संरक्षण एवं संवर्धन उप आयोग के सदस्य भी रहे। उन्होंने भारत सरकार द्वारा देश में मुस्लिम समाज के पिछड़ेपन के अध्ययन के लिए गठित समिति की अध्यक्षता की और अनेक क्रांतिकारी सिफारिशें कीं।

बेंगलुरुः भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने आज अपनी पार्टी के मतदान केंद्र स्तरीय कार्यकर्ताओं से कहा कि कर्नाटक विधानसभा चुनाव कोई ‘‘साधारण चुनाव’’ नहीं है। इसके साथ ही उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि जब तक प्रदेश भाजपा प्रमुख बी एस येदियुरप्पा मुख्यमंत्री नहीं बन जाते, वे अपना आराम और नींद त्याग दें। अमित शाह ने यहां के पास देवनहल्ली में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘2014 से हम 14 राज्यों में चुनाव जीत चुके है। अब 15 वें राज्य कर्नाटक में चुनाव होने हैं।’’ उन्होंने सवाल किया कि कोई अनुमान है कि क्या होगा? इस पर कार्यकर्ताओं ने जवाब दिया कि भाजपा जीतेगी। शाह ने कहा, ‘‘यह कोई साधारण चुनाव नहीं है।यह दक्षिण भारत में हमारा भव्य प्रवेश है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं इस हॉल में मौजूद सभी मतदान केंद्र स्तरीय कार्यकर्ताओं और शक्ति केंद्र प्रमुखों से अपील करना चाहता हूं कि आपको अपना आराम और अपनी नींद उस समय तक के लिए त्यागनी होगी जब तक कि 15 मई को येदियुरप्पा मुख्यमंत्री के रुप में शपथ नहीं ले लेते।’’ कर्नाटक विधानसभा के लिए 12 मई को मतदान कराए जाएंग और 15 मई को मतों की गिनती होगी। शाह ने कहा कि सरकार बदलना आवश्यक है क्योंकि कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने बेंगलुरु को ‘‘बर्बाद’’ कर दिया जो देश में सबसे ज्यादा राजस्व देने वाले शहरों में से एक था

 

 

 

लखनऊः बलात्कार मामले के आरोपी उन्नाव के बांगरमऊ में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की वाई श्रेणी की सुरक्षा उत्तर प्रदेश सरकार ने हटा दी है। प्रमुख सचिव (गृह) अरविंद कुमार ने बुधवार को बताया कि 12 अप्रैल को सेंगर के खिलाफ बलात्कार का मामला दर्ज होने के बाद सरकार विधायक की‘वाई’कैटेगरी सुरक्षा को वापस लेने का फैसला किया है।केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने विधायक को सात दिन की रिमांड पर ले रखा है। उन्हे कल सुबह विशेष अदालत में पेश किया जायेगा जहां जांच एजेंसी रिमांड बढाने की गुजारिश कर सकती है। सूत्रों ने बताया कि विधायक के माखी स्थित आवास पर तैनात दो कमांडो समेत 11 सुरक्षा कर्मियों को हटा लिया गया है। उधर सीबीआई ने विधायक के खिलाफ 363, 366, 376 ,506 और पाक्सो एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज की है। सेंगर को 13 अप्रैल को गिरफ्तार किया गया था। इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने विधायक की गिरफ्तारी को लेकर हो रहे विलंब को लेकर अपनी नाखुशी व्यक्त की थी। इस बीच चार दिन की पुलिस रिमांड समाप्त होने के बाद विधायक की सहयोगी शशि सिंह को वापस जेल भेज दिया गया है।

नई दिल्लीः केंद्र सरकार 12 साल की आयु तक के बच्चों के बलात्कार के दोषी को मौत की सजा के प्रावधान करने पर विचार कर रही है। केंद्र सरकार ने आज उच्चतम न्यायालय को यह जानकारी दी।केंद्र की ओर से मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ को यह बताया गया कि सरकार बाल यौन अपराध निरोधक कानून (पॉक्सो एक्ट) 2012 में संशोधन करके 12 वर्ष तक की आयु के बच्चों के साथ बलात्कार के दोषियों के लिए फांसी की सजा के प्रावधान पर विचार कर रही है।सरकार का यह कदम उन्नाव और कठुआ सामूहिक बलात्कार कांड के बाद देशभर में पैदा हुए आक्रोश के बीच सामने आया है। पेशे से वकील अलख आलोक श्रीवास्तव की एक जनहित याचिका की सुनवाई की पृष्ठभूमि में केंद्र सरकार ने यह रिपोर्ट सौंपी। मामले की अगली सुनवाई 27 अप्रैल को होगी।केंद्र सरकार ने महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के उप-सचिव आनंद प्रकाश के माध्यम से यह पत्र सौंपा है। गौरतलब है कि उन्नाव सामूहिक बलात्कार मामले में उत्तर प्रदेश के भारतीय जनता पार्टी के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर बलात्कार और पीड़तिा के पिता की जेल में हत्या करवाने का आरोप लगा है। उन्नाव के माखी गांव की यह घटना पूरे देश में चर्चा का विषय बनी हुई है और इसकी जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) कर रही है। वहीं, कठुआ सामूहिक दुष्कर्म का मुद्दा भी अंतरराष्ट्रीय मीडिया की सुर्खियों में है। देशभर में पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए प्रदर्शन हो रहे हैं।

‘मिजवां 2018’ की इस बार जान रही एक्स-लवबर्ड्स दीपिका पादुकोण और रणबीर कपूर की जोड़ी। सालों बाद एक साथ दिखी इस जोड़ी ने ‘मिजवां 2018’ शो में कहर ढा दिया। दोनों एक साथ रैंप पर चले तो ये किसी सुहाने मंजर से कम नहीं था। हालांकि दीपिका पादुकोण और रणबीर कपूर के अफेयर्स की खबरें अब बीते दिनों की बात हो गई है और ‘पद्मावत’ स्टार अब अपनी जिंदगी के बेहतरीन समय का मजा ले रही हैं लेकिन मनीष मल्होत्रा और शबाना आजमी के इस शो के लिए दोनों रैंप पर उतरे तो इन दोनों के ही फैंस इस खूबसूरत लम्हे को कैमरे में कैद कर लेना चाहते थे।सालाना आयोजित होने वाले ‘मिजवां 2018’ में इस बार थीम थी चिकनकारी की ड्रेसेस। चिकन कारीगरी के लहंगे में दीपिका पादुकोण ने रणबीर के साथ रैंप वॉक किया। वहीं रणबीर कपूर ने भी ब्लैक कलर का कोट पहना था जिस पर व्हाइट कलर से चिकन की कढ़ाई का काम हो रहा था। रणबीर कपूर इस रॉयल कोट में बेहद डैशिंग लग रहे थे। इस ‘मिजवां 2018’ के लुक्स को हम आपके लिए लाए हैं।दरअसल ‘मिजवां’ सालाना आयोजित होने वाला फैशन शो है जिसे हर साल शबाना आजमी अपने पिता कैफी आजमी की याद में आयोजित करवातीं है। बीते 9 साल से ये शो आयोजित किया जाता है। शो का मकसद कैफी आजमी की गरीब बच्चों की शिक्षा, रोजगार और महिला सशक्तिकरण जैसी योजनाओं को साकार करने के लिए फंड जुटाने का है। इस सामाजिक काम के लिए सेलेब्स और एलिट क्लास की सोसायटी से फंड जुटा कर गांव-गांव के गरीब बच्चों खासकर बच्चियों की बेहतरी के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

अहमदाबादः गुजरात हाईकोर्ट ने शुक्रवार को साल 2002 के नरोदा पाटिया नरसंहार मामले में फैसला सुना दिया है। अभी तक आए फैसले में कोर्ट ने पूर्व मंत्री माया कोडनानी को बरी कर दिया है और बजरंग दल के पूर्व नेता बाबू बजरंगी को कोर्ई राहत न देते हुए उन्हें मौत तक जेल में रहने की सजा सुनाई है। जस्टिस हर्षा देवानी और न्यायमूर्ति ए एस सुपेहिया की पीठ ने मामले में सुनवाई पूरी होने के बाद पिछले साल अगस्त में अपना आदेश सुरक्षित रख लिया था। इस केस में स्पेशल कोर्ट ने बीजेपी नेता माया कोडनानी और बाबू बजरंगी समेत 32 को दोषी ठहराया था। इन्हीं की अर्जी पर आज गुजरात हाईकोर्ट फैसला सुनाने वाला है। 28 फरवरी 2002 को अहमदाबाद के नरोदा पाटिया इलाके में एक बड़ा नरसंहार हुआ था। 27 फरवरी 2002 को गोधरा में साबरमती एक्सप्रेस की बोगियां जलाने की घटना के बाद अगले दिन जब गुजरात में दंगे भड़के तो नरोदा पाटिया सबसे सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ था। यहां हुए दंगे में 97 लोगों की हत्या कर दी गई थी, जबकि 33 लोग जख्मी भी हुए थे।बता दें कि इस मामले में माया कोडनानी को 28 साल के कारावास की सजा सुनाई गई थी। बजरंग दल के पूर्व नेता बाबू बजरंगी को मृत्यु पर्यंत आजीवन कारावास और सात अन्य को 21 साल के आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी। एक अन्य को 14 साल के साधारण आजीवन कारावास की सजा हुई थी। निचली अदालत ने सबूतों के अभाव में 29 अन्य आरोपियों को बरी कर दिया था। जहां दोषियों ने निचली अदालत के आदेश को हाई कोर्ट में चुनौती दी, वहीं विशेष जांच दल ने 29 लोगों को बरी किए जाने के फैसले को हाईकोर्ट में चुनौती दी थी

बेंगलुरुः भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने आज कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार ने देश में विकास का पैमाना बदल दिया है और यदि कर्नाटक में भाजपा सत्ता में आती है तो राज्य को ‘भ्रष्टाचार मुक्त’ मॉडल राज्य के रुप में तब्बदील कर दिया जायेगा।शाह ने यहां व्यापारियों और उद्योग से जुड़े लोगों के सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा,' 2014 से पहले देश में हालात बहुत खराब थे। हमने कार्य का पैमाना बदल दिया है। हमारी सरकार ने सुनिश्चित किया है कि कोई घर बिना शौचालय के न रहे। प्रत्येक व्यक्ति का बैंक खाता हो और हर गांव में बिजली हो। वर्ष 2014 से पहले भ्रष्टाचार के अनेक मामले सामने आ रहे थे और 12 लाख करोड़ रुपये के भ्रष्टाचार के मामले उजागर हुए थे।'उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार के अथक परिश्रम से पिछले चार वर्षों में 29 लाख लोगों के बैंक खाते खुले और साढ़े सात लाख शौचालय बनाये गये। नौ लाख परिवारों को रसोई गैस सिलेंडर दिये गये। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि कोई सरकार देश के सभी युवाओं को रोजगार प्रदान नहीं कर सकती। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 2014 में युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने के वादे को लेकर केंद्र सरकार की प्राय: आलोचना होती रहती है।शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री ने स्व रोजगार के नये रास्ते खोले हैं और बिना किसी जमानत या जमानतदार के युवा रोजगार के लिए 10 हजार से 10 लाख रुपये तक के कर्ज ले सकते हैं। इस योजना से बड़ी संख्या में लोग लाभान्वित हुए हैं।

Page 10 of 2546

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें