Editor

Editor

बालाजी प्रोडक्शन हाउस की मालकिन एकता कपूर एक के बाद एक सरप्राइज देती जा रही हैं। उन्होंने बीते दिनों ही अपने सुपरहिट सीरियल ‘नागिन’ की तीसरी कड़ी का ऐलान किया है, जिसमें करिश्मा तन्ना और अनीता हसनंदानी मुख्य भूमिका निभाती दिखेंगी। इसके साथ-साथ उन्होंने आज ही इस खबर पर भी मुहर लगाई है कि वो मौनी रॉय के साथ ‘मेहरुनिसा’ नाम का एक वेब शो बनाने जा रही हैं। इन दोनों शोज के अलावा दर्शक ‘कसौटी जिंदगी की’ के रीमेक की भी उम्मीदें लगाए बैठे हैं।इन तीनों प्रोजेक्ट्स के साथ-साथ आज एकता कपूर ने इस बात का इशारा भी दे ही दिया है कि वो करण जौहर की सुपरहिट फिल्म ‘कभी खुशी कभी गम’ का टीवी वर्जन बनाने की तैयारी कर रही हैं। साल 2001 में रिलीज हुई ‘कभी खुशी कभी गम’ में शाहरुख खान, काजोल, अमिताभ बच्चन, जया बच्चन, ऋतिक रोशन और करीना कपूर जैसे कलाकार दिखे थे।असल में एकता कपूर ने अपने ट्विटर अकाउंट से दो ट्वीट करके दर्शकों को इस बात की जानकारी दी है कि वो कई सालों के बाद एक फैमिली सोप बनाने जा रही हैं। एकता कपूर का यह नया शो सोनी चैनल पर प्रसारित होगा। एकता कपूर के ट्वीट के अनुसार वो इस शो से एक ऐसे परिवार को समाज के सामने पेश करने जा रही हैं जो एक दूसरे का सम्मान करना जानता है और खुशियों को साझा करना जानता है।खबरों की मानें तो ‘नागिन 3’, ‘कसौटी जिंदगी की’ रीबूट और ‘कभी खुशी कभी गम’ टीवी सीरियल के साथ-साथ एकता कपूर एक सुनपनैचुरल सीरियल भी टीवी पर लाने की तैयारी कर रही हैं। इसके साथ-साथ बॉलीवुड लाइफ ने आपको यह जानकारी तो दे दी है कि वो ‘यह हैं मोहब्बतें’ का स्पिन ऑफ बनायेंगी, जिसका नाम ‘यह हैं चाहते’ होगा।

रजनीकांत के फैंस के लिए खुशखबरी है। रजनीकांत की मचअवेटेड फिल्म ‘काला’ की रिलीज पर छा रही आशंकाओं के बादल साफ हो गए हैं और फिल्म की रिलीज की नई तारीख सामने आ गई है। रजनीकांत की फिल्म ‘काला’ अब 7 जून को रिलीज होने जा रही है।पहले ये फिल्म 27 अप्रैल को रिलीज होने वाली थी लेकिन तमिल फिल्म इंडस्ट्री में सिनेमा मालिकों की अनिश्चितकालीन हड़ताल के चलते इसकी रिलीज को लेकर स्थिति साफ नहीं हो पा रही थी। हालांकि सिनेमामालिकों की हड़ताल खत्म हो गईं है लेकिन ‘काला’ की रिलीज को लेकर सावधानी बरतते हुए इस फिल्म की रिलीज को थोड़ा और आगे खिसका दिया गया है। शुक्रवार को फिल्म का नया पोस्टर जारी किया भी गया और इसमें फिल्म की रिलीज डेट 7 जून दी गई है।फिल्म को रजनीकांत के दामाद धनुष ने प्रोड्यूस किया है। इस फिल्म का पोस्टर रिलीज करते हुए धनुष ने कहा, ‘ये एनाउंस करते हुए खुशी हो रही है कि सुपरस्टार की काला 7 जून को दुनियाभर में सभी भाषाओं में ये फिल्म रिलीज की जाएगी।’रजनीकांत के फैंस के लिए ये साल स्पेशल होने वाला है। इस साल रजनीकांत की ‘काला’ के बाद डायरेक्टर शंकर की मचअवेटेड साइंटिफिक फिक्शन फिल्म ‘2.0’ रिलीज होने वाली है। इस फिल्म के साथ अक्षय कुमार तमिल फिल्म इंडस्ट्री में डेब्यू करने वाले है।

बेंगलुरु। आइपीएल के 11वें संस्करण में शुरुआत से ही उतार-चढ़ाव से गुजर रही दिल्ली डेयरडेविल्स अपने नए कप्तान गौतम गंभीर के नेतृत्व में भी खास प्रदर्शन नहीं कर पा रही है और शनिवार को अपने अगले मुकाबले में विराट कोहली की रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूर (आरसीबी) के खिलाफ पटरी पर लौटने के लिए जोर लगाएगी।गंभीर ने आइपीएल में दो बार कोलकाता नाइटराइडर्स को चैंपियन बनाया है लेकिन उनके नेतृत्व में दिल्ली कुछ खास नहीं कर पा रही है और अपने पिछले चार मैचों में केवल एक ही जीत सकी है। पिछले मैच में उसे कोलकाता से हार झेलनी पड़ी और वह तालिका में आखिरी पायदान पर चल रही है। दूसरी ओर देश और दुनिया के भी स्टार क्रिकेटर विराट कोहली के नेतृत्व वाली आरसीबी का भी हाल बदला नहीं है। विराट के अलावा एबी डिविलियर्स, क्विंटन डिकॉक जैसे जबरदस्त खिलाडिय़ों वाली आरसीबी आइपीएल के पिछले 10 संस्करणों की तरह 11वें संस्करण में भी फिसड्डी ही साबित हो रही है और उसने भी पिछले चार मैचों में केवल एक ही मैच जीता है। बेंगलुरु ने अपना पिछला मैच मुंबई इंडियंस के हाथों 46 रन से गंवाया था, वहीं दिल्ली को कोलकाता ने 71 रनों से हराया था।
नेतृत्व मजबूत प्रदर्शन फिसड्डी : दोनों ही टीमों के पास गंभीर और विराट जैसे दो मजबूत नेतृत्वकर्ता हैं और उनकी कोशिश रहेगी कि वे अपनी-अपनी टीमों को जीत की पटरी पर ले आएं। आरसीबी यह मैच अपने घरेलू मैदान पर खेलने जा रही है और उसके लिए घरेलू परिस्थितियों और समर्थन का अतिरिक्त फायदा रहेगा, वहीं दिल्ली भी अब जीत के लिए पूरा जोर लगाने का प्रयास करेगी। दिल्ली के नए कप्तान और उसके घरेलू खिलाड़ी गंभीर ने हार के बाद कहा था कि हारना कोई अपराध नहीं लेकिन लगातार आलोचना के बाद उन पर जीत के लिए दबाव काफी बढ़ गया है। दिल्ली आइपीएल की सबसे फिसड्डी टीमों में है जिसने 10 वर्षों में एक भी बार खिताब नहीं जीता है। दिल्ली ने पहला मैच पंजाब से छह विकेट, दूसरा मैच राजस्थान से 10 रन से हारा था जबकि तीसरे मैच में उसे मुंबई पर सात विकेट से जीत मिली। हालांकि वह कोलकाता के हाथों उसके घरेलू मैदान पर 71 रन से हारकर फिर से पटरी से उतर गई।

कोलकाता। कहते हैं अकेला चना भाड़ नहीं फोड़ सकता, लेकिन आइपीएल में अक्सर अकेला चना ही भाड़ फोड़ता है। क्रिकेट टीम गेम है लेकिन इसके सबसे छोटे प्रारूप में कभी-कभार कुछ खिलाड़ी इस कदर हावी हो जाते हैं कि उनकी टीम वन मैन आर्मी लगने लगती है। शनिवार को ईडन गार्डेंस स्टेडियम में यूं तो कोलकाता नाइटराइडर्स और किंग्स इलेवन पंजाब के 11-11 खिलाड़ी ही उतरेंगे लेकिन इस मैच को दो खिलाडिय़ों के बीच महामुकाबले के तौर पर देखा जा रहा है। एक तरफ हैं पंजाब के विस्फोटक सलामी बल्लेबाज क्रिस गेल तो दूसरी ओर हैं कोलकाता के मध्यक्रम के सबसे खतरनाक खिलाड़ी आंद्रे रसेल। दो हमवतन, जमैका के जांबाज, जिन्होंने वेस्टइंडीज के लिए साथ में कई मैच खेले और जिताए हैं, अब ईडन में एक-दूसरे के खिलाफ उतरेंगे। इतना तो तय है कि ईडन में इन दोनों में से जिसका भी बल्ला जितनी जोर से गरजेगा, उस टीम की जीत लगभग पक्की होगी। रविचंद्रन अश्विन की पंजाब जहां कोलकाता को उसी के घर में हराकर अंक तालिका मे नंबर वन बनना चाहेगी, वहीं दिनेश कार्तिक की कोलकाता पंजाब को मात देकर जीत की हैट्रिक मनाकर नंबर वन के पायदान पर बने रहने को कोई कसर नहीं छोड़ेगी।
पूरे शबाब में हैं दोनों टीमें : पंजाब ने पिछले तीन मैच जीते हैं, वहीं कोलकाता ने भी पिछले दो मैच जीतकर शानदार वापसी की है। वैसे आंकड़े पर जाएंगे तो वे हमेशा की तरह कोलकाता की तरफदारी कर रहे हैं। दोनों टीमें अब तक 17 बार भिड़ी हैं। कोलकाता ने 10 और पंजाब को 7 बार जीत मिली है। कोलकाता के गेंदबाजों की असली परीक्षा तो अब होगी, जब उन्हें जबरदस्त फॉर्म में चल रहे गेल को रोकना होगा। ईडन में गेल और भी रौद्र रूप धारण कर सकते हैं क्योंकि वे एक समय कोलकाता टीम का हिस्सा रहे हैं और यहां की परिस्थितियों से भली-भांति वाकिफ हैं। स्पिन तिकड़ी सुनील नारायण, कुलदीप यादव और पीयूष चावला पर गेल को रोकने का दारोमदार होगा।
मध्यक्रम की जान हैं रसेल : केकेआर की मध्यक्रम की जान रसेल ने ईडन में दिल्ली के खिलाफ पिछले मैच में 12 गेंदों पर 41 रन की ताबड़तोड़ पारी खेली थी। चेन्नई के खिलाफ मैच में भी उन्होंने 36 गेंदों पर नाबाद 88 रन बनाए थे। नीतीश राणा भी इस समय शानदार फॉर्म में है और पिछले दो मैचों में जीत के नायक रहे हैं। वह अच्छी गेंदबाजी भी कर रहे हैं। रॉबिन उथप्पा का पिछले मैच में फॉर्म में लौटना और कप्तान कार्तिक के बल्ले से रन निकलना भी कोलकाता के लिए बड़ी राहत है।

थाइलैंड सरकार ने 19 अप्रैल को अलीबाबा ग्रूप के साथ बैंकाक में रणनीतिक सहयोग समझौते पर हस्ताक्षर किये। भविष्य में दोनों पक्ष ई-वाणिज्य, पर्यटन व सुयोग्य व्यक्तियों के प्रशिक्षण आदि क्षेत्रों में सहयोग करेंगे। थाइलैंड के उप प्रधानमंत्री सोमकिद जातुस्रीपिताक, थाइलैंड स्थित चीनी राजदूत लू चेन, अलीबाबा ग्रूप के निदेशक मंडल के अध्यक्ष मा यून आदि ने हस्ताक्षर रस्म में भाग लिया और भाषण दिया।थाइलैंड स्थित चीनी राजदूत लू चेन ने कहा कि थाइलैंड सरकार व अलीबाबा के सहयोग चीन-थाइलैंड के डिजिटल आर्थिक सहयोग की नयी उपल्बधि है, वह दोनों देशों के नेताओं द्वारा प्राप्त सहमति को लागू करने की नयी प्रगति भी है।मा यून ने भाषण देते समय कहा कि अलीबाबा थाइलैंड को कृषि उत्पाद बेचने की मदद देने के साथ स्मार्ट रसद प्रणाली का निर्माण भी करेगा, और थाइलैंड के मध्य व लघु उद्यमों व युवाओं को ज्यादा मौके देगा।

वाशिंगटनः आग्नेयास्त्रों को रखने के अपराध में वांछित भारतीय मूल के एक अमेरिकी किशोर को कैलिफोर्निया पुलिस ने गोली मार दी जिससे उसकी मौत हो गई। किशोर ने पुलिस पर गोली चलाई थी जिसके बाद उसे गोली मारी गई। प्रीमोंट पुलिस विभाग द्वारा जारी जांच रिपोर्ट के अनुसार, किशोर की पहचान 18 वर्षीय नाथनील प्रसाद के रुप में हुई ह। उसे पांच अप्रैल को गोली मारी गई थी जिसमें उसकी मौत हो गई। वह एक अपराध में वांछित था और 22 मार्च को गिरफ्तारी से बचने के लिए फरार हो गया था। प्रीमोंट पुलिस विभाग ने पांच अप्रैल को प्रीमोंट इलाके में एक वाहन में यात्रा कर रहे प्रसाद को पहचान लिया। इसके बाद पुलिस रेडियो पर वाहन के बारे में सूचना प्रसारित होने लगी और पुलिस के दल सव्रिय हो गए। जांच रिपोर्ट के अनुसार, वाहन के चालक ने गाड़ी रोकी और प्रसाद भाग गया। पुलिस ने बताया कि इसके बाद प्रसाद ने पुलिस अधिकारी को निशाना बनाकर एक या दो गोली चलाई। इसके जवाब में अधिकारी ने भी प्रसाद पर गोली चलाई जिससे वह जमीन पर गिर पड़ा और उसकी मौत हो गई।

चीनी सूचना तकनीक कंपनी जेडटीई ने 20 अप्रैल को दक्षिणी चीन के शेनचेन शहर में आयोजित समाचार समारोह में कहा कि अमेरिका द्वारा उसके खिलाफ किया गया प्रतिबंध अनुचित है। जेडटीई वर्तमान कठिनाइयों को दूर करने में काफी विश्वस्त है। अमेरिका के वाणिज्य मंत्रालय ने 16 अप्रैल को जेडटीई के खिलाफ सात सालों तक प्रतिबंध लगाने का फैसला किया जिसके मुताबिक अमेरिकी कारोबार सात सालों के भीतर जेडटीई को पुरजों की सप्लाई नहीं कर सकेंगे।जेडटीई के वरिष्ठ पदाधिकारी का कहना है कि अमेरिका का फैसला अनुचित है और हम व्यापारिक मुद्दों के राजनीतिकरण का डटकर विरोध करते हैं। और अमेरिका के फैसले से अमेरिकी कारोबारों समेत दूसरे सहपाठियों के हितों को भी चोट पहुंचेगी। जेडटीई के विश्व भर में लाखों हजारों ग्राहकों और उपभोक्ताओं को भी अमेरिका के प्रतिबंध से नुकसान पहुंचेगा।

24 अप्रैल को तीसरा चीनी अंतरिक्ष दिवस मनाया जाएगा। इस बार दिवस का मुद्दा है अंतरिक्ष के नये युग का निर्माण एक साथ करें। चीनी राष्ट्रीय अंतरिक्ष ब्यूरो के प्रवक्ता ली क्वोफिंग ने 19 अप्रैल को पेइचिंग में परिचय देते हुए कहा कि अंतरिक्ष दिवस की मुख्य गतिविधि चीन के हेलोंगच्यांग प्रांत के हार्बिन शहर में आयोजित होगी। साथ ही चीनी अंतरिक्ष महासभा, वाणिज्यिक अंतरिक्ष अंतर्राष्ट्रीय मंच आदि 20 सिलसिलेवार गतिविधियों का आयोजन होगा।इस प्रवक्ता के अनुसार चीन इस वर्ष में छांगअर नंबर चार रिले उपग्रह व डिटेक्टर का प्रक्षेपण करेगा, और इस लक्ष्य को पूरा करेगा कि मानव पहली बार चंद्र के पीछे भाग में सोफ़्ट लैंडिंग करेगा, और जांच कार्य करेगा। चीनी राष्ट्रीय अंतरिक्ष ब्यूरो के प्रवक्ता ली क्वोफिंग ने चीनी अंतरिक्ष दिवस का परिचय देते समय कहा कि गत वर्ष के 24 अप्रैल से चीन ने 25 बार एयरोस्पेस लॉन्च किया है, और 53 उपग्रहों को अंतरिक्ष में पहुंचाया। अंतरिक्ष विज्ञान, अंतरिक्ष तकनीक व अंतरिक्ष प्रयोग में सिलसिलेवार महत्वपूर्ण उपलब्धियां हासिल हुई हैं।

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश में उगाए जाने वाले बासमती चावल को भी ज्यॉग्रफीकल इंडीकेटर (जीआइ) पेटेंट दिए जाने के विरोध में उद्योग संगठन उतर आए हैं। संगठनों का कहना है कि केंद्र सरकार को बासमती चावल की ग्लोबल प्रतिष्ठा को बचाना चाहिए और मध्य प्रदेश समेत दूसरे राज्यों को इसमें शामिल नहीं किया जाना चाहिए। अगर ऐसा किया गया तो उद्योग और बासमती की पैदावार वाले पारंपरिक राज्यों के किसानों पर इसका बुरा असर पड़ेगा।बासमती राइस फार्मर्स एंड एक्सपोर्टर्स डवलपमेंट फोरम का कहना है कि सरकार को बासमती ब्रांड की उसी तरह सुरक्षा करनी चाहिए जैसे फ्रांस अपनी शैंपेन की सुरक्षा करता है। फोरम की सदस्य प्रियंका मित्तल ने एक बयान में कहा कि मध्य प्रदेश बासमती चावल का ब्रांड हासिल करना चाहता है। अगर बासमती उत्पादक क्षेत्रों में मध्य प्रदेश को भी शामिल किया जाता है तो इससे ब्रांड की खासियत पर असर पड़ेगा। इससे न सिर्फ पारंपरिक राज्यों बल्कि पूरे देश ही इससे नुकसान होगा। हालांकि मध्य प्रदेश बासमती ब्रांड के तहत अपने सुगंधित चावल को शामिल कराने में पहले विफल हो चुका है। लेकिन अब वह फिर से प्रयास कर रहा है। इस समय पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और जम्मू कश्मीर के दो जिलों में उगने वाले सुगंधित चावल को बासमती का दर्जा हासिल है।इन राज्यों में उगाए गए सुगंधित चावल को बासमती के तौर पर दर्जा मिलता है। इसके लिए जीआइ का चिन्ह इस्तेमाल किया जा सकता है। इससे उपभोक्ता को क्वालिटी और उत्पादक क्षेत्र का भरोसा मिलता है। दार्जिलिंग की चाय, महाबलेश्वर की स्ट्रॉबेरी, जयपुर की ब्लू पॉटरी, बनारसी साड़ी और तिरुपति के लड्डू कुछ और जीआइ धारक भारतीय उत्पाद हैं।

नई दिल्ली। मार्केट रेगुलेटर सेबी ने वायु टरबाइन बनाने वाली अग्रणी कंपनी सुजलॉन पर एक करोड़ रुपये जुर्माना लगाया है। लिस्टिंग के नियमों का उल्लंघन किए जाने के कारण यह कार्रवाई की गई है।कंपनी को लिस्टिंग के नियमों के तहत शेयर मूल्य के लिहाज से संवेदनशील सूचनाओं की घोषणा करनी होती है। वह एक से ज्यादा बार इसमें विफल रही है। इस वजह से उस पर 1.1 करोड़ रुपये जुर्माना लगाया गया है। एक कंपनी अधिकारी पर लगाया गया पांच लाख रुपये का जुर्माना भी इसमें शामिल है। सेबी के अधिकारी साहिल मलिक ने कहा कि जांच के अनुसार सूचनाएं न देने के कारण कंपनी को कोई फायदा नहीं हुआ और न ही निवेशकों को कोई नुकसान हुआ। लेकिन वह एक से ज्यादा बार सूचनाएं देने में विफल रही। इस वजह से कहा जा सकता है कि कंपनी ने बार-बार नियमों का उल्लंघन किया।सेबी ने इसके लिए सुजलॉन एनर्जी और इसके प्रमोटर तुलसी आर. तांती, गिरीश आर. तांती और हेमल ए. कनुगा को नोटिस जारी किया था। आदेश के अनुसार कंपनी के कंप्लायंस अधिकारी हेमल ए. कनुगा पर पांच लाख रुपये जुर्माना लगाया गया है। बीएसई पर दर्ज सूचना के अनुसार वह कंपनी के सचिव हैं। उल्लंघन के ये मामले अप्रैल 2006 से मार्च 2009 के बीच के हैं।
डेट सिक्योरिटी की लिस्टिंग का समय घटाने की तैयारी:-सेबी ने बांड मार्केट को ज्यादा कार्यकुशल बनाने के लिए डेट सिक्योरिटी की लिस्टिंग का समय घटाने का प्रस्ताव किया है। इसके अनुसार 12 दिनों के बजाय इसकी लिस्टिंग छह दिनों में करने के नियमों का प्रस्ताव किया गया है। इसके अलावा सेबी ने डेट सिक्योरिटी के पब्लिक इश्यू में सभी तरह के निवेशकों के लिए आबसा (बैंक में ब्लॉक्ड राशि के जरिये निवेश आवेदन) लागू करने का भी प्रस्ताव किया है। इसके तहत निवेशक को आवेदन की राशि अपने बैंक खाते में ही आरक्षित करनी होती है। जैसे की निवेशक को शेयर या कोई दूसरा प्रपत्र आवंटित होता है, आरक्षित राशि कंपनी को भेज दी जाती है।
करुर वैश्य बैंक आरोपों से मुक्त:-सेबी ने प्राइवेट क्षेत्र के बैंक करुर वैश्य बैंक को आरोपों से मुक्त कर दिया है क्योंकि उसे शेयरहोल्डिंग की सूचना देने के नियमों का कोई उल्लंघन नहीं मिला। बैंक पर आरोप था कि उसने 15 अक्टूबर 2014 को कंपनी के पास अरविंद रेमेडीज के 5.91 फीसद शेयर थे जो अनिवार्य सूचना देने की सीमा पांच फीसद से ज्यादा थी। सेबी को जांच में पता चला कि बैंक ने शेयर गिरवी पर रखे या बेच दिए। इस वजह से उसकी होल्डिंग में हलचल रही। वास्तविक होल्डिंग भी तय सीमा से कम रही।
शेयर ट्रांसफर, लाभांश भुगतान के लिए गाइडलाइन:-रजिस्ट्रार और शेयर ट्रांसफर एजेंटों द्वारा रिकॉर्ड के रखरखाव, शेयर ट्रांसफर और लाभांश वितरण की प्रक्रिया को मजबूत करने के लिए सेबी ने विस्तृत गाइडलाइन जारी की है। यह गाइडलाइन इश्यूकर्ता कंपनी और बैंकरों पर भी लागू होंगे। मुख्य तौर पर यह गाइडलाइन लाभांश, ब्याज के भुगतान, गलतियों में सुधार और रजिस्ट्रार व शेयर ट्रांसफर एजेंटों के इंटरनल ऑडिट के संबंध में है।

Page 8 of 2546

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें