Editor

Editor

टीवी की चहेती जोड़ियों में से एक नायरा और कार्तिक का रोल निभाने वाले मोहसीन खान और शिवांगी जोशी की फैन फालोइंग कमाल की है। इनका हर फैन इनकी हर गतिविधियों को जानने के लिए काफी उत्सुक रहता है। बता दें कि मोहसीन और शिवांगी से जुड़ी एक और ताजा खबर हम आपके लिए लेकर आए हैं। जी हाँ इन दिनों ये चहेती जोड़ी ग्रीस की वादियों का लुत्फ उठा रहा है। वैसे आपको बता दें कि ये लोग किसी छुट्टी पर नहीं है। दरअसल ‘ये रिश्ता क्या कहलाता है’ में कार्तिक और नायरा का हनीमून ट्रैक चल रहा है और इन दिनों इसी ट्रैक कीशूटिंग ग्रीस में चल रही है।शो के सेट से ही मोहसीन ने शिवांगी के साथ की एक बेहद ही खूबसूरत तस्वीर को साझा किया है। तस्वीर की बात करें तो इसमें मोहसीन काफी हैंडसम नजर आ रहे हैं और शिवांगी ब्राइडल ड्रेस में किसी डॉल से कम नहीं लग रही हैं। इस तस्वीर को साझा करते हुए मोहसीन ने कैप्शन में लिखा है कि, “एक खूबसूरत सीन बहुत जल्द ही आने वाला है…बाहों में चले आओ!!! इसके साथ ही मोहसीन ने अपने फैंस से भी इस तस्वीर का कैप्शन पूछा है और कहा है कि जिसका भी कैप्शन उन्हें पसंद आएगा वह उसकी जानकारी सभी को देंगे।” फिलहाल तो इस तस्वीर को आप नीचे देख सकते हैं।काफी लम्बे समय से दोनों के लिंकअप की खबरें सामने आती रही है और कुछ दिन पहले ही मोहसीन ने इस पर अपनी चुप्पी तोड़ते हुए भी कहा था कि, “इन दिनों हमारे लिकंअप की खबरें चारोँ ओर है लेकिन हम अपनी दोस्ती और काम को उससे प्रभावित होने नहीं देते है। जब हमारे बीच कुछ नहीं था तो उस बारें में बात करने के लिए कुछ भी नहीं था। हाल ही में हमारी दोस्ती ने एक कदम और बढ़ाया है। हम डेढ़ महीने से एक दूसरे को डेट कर रहे है। हम नए साल पर मेरे परिवार के साथ इकठ्ठा हुए थे। टाइट शेड्यूल के चलते हम ऑफिसियल डेट पर भी नहीं गए।” मोहसिन ने ये भी कहा कि उनकी मासूमियत को देखकर ही मोहसीन शिवांगी को दिल बैठे। वैसे आपको बता दें कि ये रिश्ता क्या कहलाता है में आने वाले दिनों में कुछ ऐसा होने वाला है जिससे नायरा और कार्तिक का रिश्ता टूटने की कगार पर आ जाएगा।

बिग बॉस के घर में सभी कंटेस्टेंट्स को आए हुए 8 हफ्ते होने वाले हैं। इन दिनों जहाँ कंटेस्टेंट्स के बीच एक जंग सी छिड़ चुकी है वहीं हर कोई एक दूसरे के खिलाफ या तो जहर उगल रहा है या फिर गंभीर आरोप लगा रहा है। इन्हीं सबके के बीच टीवी की दुनिया मशहूर प्रोड्यूसर विकास गुप्ता इस घर में काफी स्मार्ट तरीके से हर कदम उठा रहे हैं। अब तक ना सिर्फ फैंस बल्कि कई कलाकार विकास की वाहवाही कर चुके है।सभी ने विकास को मास्टरमाइंड का खिताब दे रखा है और वाकई में विकास हर बार इस बात को साबित भी कर रहे हैं कि वह इस घर में काफी दिमाल लगाकर हर टॉस्क को पूरा करते हैं। अगर आप सोशल मीडिया पर एक्टिव है तो आपको पता होगा कि टीवी के कई कलाकार इस शो को खूब फॉलो करते है और समय समय पर इस शो में हो रहे विवादों पर अपनी राय भी देते रहते हैं। हाल ही में पिंकविला को दिए गए एक इंटरव्यू में टीवी की मशहूर अदाकारा आशा नेगी ने कहा कि इस शो में विकास काफी अच्छा खेल रहे हैं।पिंकविला से बात करते हुए कहा कि मुझे लगता है कि मुझे लगता है कि, “इस खेल को विकास काफी अच्छी तरह से खेल रहे हैं और मैं इसलिए ऐसा नहीं कह रही हूँ क्योंकि वह मेरे अच्छे दोस्त है। सभी लोग उन्हें मास्टरमाइंड कह रहे है लेकिन मुझे लगता है कि वह समझदारी से इस खेल को खेल नहीं पा रहे है इसलिए सभी उनसे जलते है।” बता दें कि आशा ने विकास के साथ साथ हितेन की भी जमकर तारीफ की।बता दें कि टीवी की दुनिया की चहेती अदाकाराओं में से एक आशा के चाहने वालों की कमी नहीं है। आशा ने जी टीवी के मशहूर शो पवित्र रिश्ता में अंकिता लोंखेडे की बेटी का रोल अदा किया था। इन दिनों वह कलर्स चैनल के कॉमेडी शो एंटरटेनमेंट की रात में नजर आती हैं।

हाल ही में स्टार प्लस के मशहूर धारावाहिक ये हैं मोहब्बते की पूरी स्टारकास्ट बुडापेस्ट से मुबंई लौटी थी। बता दें कि वहाँ पर सभी इस सीरियल के एक महत्वपूर्ण सीक्वेंस की शूटिंग के लिए गए थे और इस दौरान कलाकारों के घरवाले भी उनके साथ गए। दिव्यांका त्रिपाठी हो या अनीता हसननंदानी या फिर करण पटेल सभी ने सोशल मीडिया पर बुडापेस्ट की कई तस्वीरों को सोशल मीडिया पर साझा किया जिसे देखकर हर किसी को लगा कि इन लोगों ने बुडापेस्ट में ढ़ेर सारी मस्ती की है लेकिन आपको बता दें कि दिव्यांका त्रिपाठी दहिया के पति विवेक ने एक ऐसा खुलासा किया है जिसे जानकर आपको हैरानी हो जाएगी। विवेक ने चौंकाने वाला खुलासा करते हुए कहा कि वहाँ से लौटते वक्त उन्हें एयरपोर्ट पर नस्लभेद का शिकार होना पड़ा।टीओआई को दिए गए इंटरव्यू में विवेक ने कहा है कि, “मैं जब 18 साल का था तबसे टैवलिंग कर रहा हूँ और सात साल तक मैंने यूके में पढ़ाई की है। 14 साल से मैंने ऐसी किसी भी सिचुएशन का सामना नहीं किया। बुडापेस्ट ऐसा पहला शहर है जहाँ मुझे नस्लभेद का शिकार होना पड़ा। शुरुआत में बहुत सी ऐसी चीजें हुई थी लेकिन मैंने सोचा या तो ये महज इत्तेफाक है या फिर ये लोग सबसे ज्यादा घुलते मिलते नहीं है। खैर मुझे जल्द ही इस बात का एहसास हुआ कि ये लोग बाहरी लोगों के साथ ऐसा ही व्यवहार करते हैं। फिर जिस तरह से हमें एयरपोर्ट पर ट्रीटमेंट मिली उसने तो चीजों को और भी ज्यादा खराब बना दिया।विवेक आगे कहते है कि, “जब आप अपने देश में लौटते है तो आपको एहसास होता है कि यहाँ पर भी स्थिति कुछ ऐसी ही है। यहाँ पर फेयर स्किन को ज्यादा तवज्जो दी जाती है और विदेशियों को यहाँ पर ज्यादा तवज्जो दी जाती है। हर देश को अपने टूरिस्ट और अपने नागरिकों को एक जैसा ट्रीट करना चाहिए।” खैर ऐसा पहली बार नहीं हुआ है कि हमारे सेलीब्रिटीज को दूसरे देशों में नस्लभेद का सामना करना पड़ा हो। वैसे बुडापेस्ट में दिव्यांका और विवेक ने ढ़ेर सारे ऐसे लम्हें बिताए जो यादगार बन गए है।

नई दिल्ली - गुजरात विधानसभा चुनाव की तारीख नजदीक आते ही कांग्रेस और बीजेपी के एक-दूसरे पर हमले और तेज हो गए हैं। बापू की जन्मस्थली पोरबंदर से अपने दो दिवसीय गुजरात दौरे की शुरुआत करते हुए शुक्रवार को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों पर जमकर हमला बोला। रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि गुजरात सिर्फ 5- 10 कारोबारियों का नहीं है, यह किसानों, मजदूरों और छोटे कारोबारियों का है।
केंद्र के नोटबंदी के फैसले पर तीखा हमला बोलते हुए राहुल गांधी ने कहा 'उस वक्त जब आप लाइन में लगते थे, तो क्या किसी सूट-बूटवाले को देखा था? मैं बताता हूं क्यों नहीं देखा था क्योंकि वे पहले से ही पीछे से घुसकर बैंक के अंदर एसी में बैठे थे। '
कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि हम आपको अपने मन की बात नहीं बताना चाहते, बल्कि हम आपके मन की बात सुनना चाहते हैं। दिसंबर में होने वाले चुनावों में कांग्रेस जीतेगी, और सत्ता में आने के बाद आपके मन की बात सुनी जाएगी।
गांधी ने यहां नवा बंदर इलाके में मछुआरों को अपने संबोधन में कहा कि सरकार खेती के लिए किसानों को पेट्रोल डीजल पर 300 करोड़ की सब्सिडी नहीं दे रही पर इससे बड़ी रकम उद्योगपतियों को दे रही है। पिछले साल 10 से 15 उद्योगपतियों को एक लाख 20 हजार करोड़ का कर्ज माफ कर देने वाली मोदी सरकार आने वाले समय में छह लाख करोड़ का कर्ज माफ करने वाली है पर गुजरात के किसानों का कर्ज माफ नहीं करती।
उन्होंने कहा - 'मछुआरों ने कहा था कि जो काम किसान करता है वही काम मछुआरा करता है, मछुआरों के लिये अलग मंत्रालय होना चाहिए और हमारी सरकार बनेगी तो हम ये काम करके दिखायेंगे।'गुजरात विधानसभा चुनाव की तारीख नजदीक आते ही कांग्रेस और बीजेपी के एक-दूसरे पर हमले और तेज हो गए हैं। बापू की जन्मस्थली पोरबंदर से अपने दो दिवसीय गुजरात दौरे की शुरुआत करते हुए शुक्रवार को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों पर जमकर हमला बोला। रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि गुजरात सिर्फ 5- 10 कारोबारियों का नहीं है, यह किसानों, मजदूरों और छोटे कारोबारियों का है।
केंद्र के नोटबंदी के फैसले पर तीखा हमला बोलते हुए राहुल गांधी ने कहा 'उस वक्त जब आप लाइन में लगते थे, तो क्या किसी सूट-बूटवाले को देखा था? मैं बताता हूं क्यों नहीं देखा था क्योंकि वे पहले से ही पीछे से घुसकर बैंक के अंदर एसी में बैठे थे। '
कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि हम आपको अपने मन की बात नहीं बताना चाहते, बल्कि हम आपके मन की बात सुनना चाहते हैं। दिसंबर में होने वाले चुनावों में कांग्रेस जीतेगी, और सत्ता में आने के बाद आपके मन की बात सुनी जाएगी।
गांधी ने यहां नवा बंदर इलाके में मछुआरों को अपने संबोधन में कहा कि सरकार खेती के लिए किसानों को पेट्रोल डीजल पर 300 करोड़ की सब्सिडी नहीं दे रही पर इससे बड़ी रकम उद्योगपतियों को दे रही है। पिछले साल 10 से 15 उद्योगपतियों को एक लाख 20 हजार करोड़ का कर्ज माफ कर देने वाली मोदी सरकार आने वाले समय में छह लाख करोड़ का कर्ज माफ करने वाली है पर गुजरात के किसानों का कर्ज माफ नहीं करती।
उन्होंने कहा - 'मछुआरों ने कहा था कि जो काम किसान करता है वही काम मछुआरा करता है, मछुआरों के लिये अलग मंत्रालय होना चाहिए और हमारी सरकार बनेगी तो हम ये काम करके दिखायेंगे।'

नयी दिल्ली - तमिलनाडु की आर के नगर विधानसभा सीट सहित चार राज्यों की पांच विधानसभा सीटों के लिये 21 दिसंबर को उपचुनाव होगा।
चुनाव आयोग ने शुक्रवार को इन सीटों के चुनाव कार्यक्रम की घोषणा करते हुये यह जानकारी दी। अरुणाचल प्रदेश की पाक्के कसांग और लीकाबाली (सुरक्षित), तमिलनाडु की राधाकृष्णनगर, उत्तर प्रदेश की सकंदरा और पश्चिम बंगाल की सबांग विधानसभा सीट पर 21 दिसंबर को उपचुनाव के लिये मतदान होगा।
इन सीटों पर उपचुनाव के लिये 27 नवंबर को अधिसूचना जारी होने के साथ ही उम्मीदवार नामांकन कर सकेंगे। नामांकन की अंतिम तारीख चार दिसंबर होगी, जबकि नामांकन पत्रों की जांच पांच दिसंबर और नामांकन वापस लेने की अंतिम तारीख सात दिसंबर नियत की गयी है।
इन सीटों पर 21 दिसंबर को मतदान के बाद 24 दिसंबर को मतगणना होगी। आयोग ने स्पष्ट किया कि इन सभी सीटों पर वीवीपीईट युक्त ईवीएम के द्वारा मतदान कराया जायेगा।

नई दिल्ली - सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात सरकार को यह बताने के लिए शुक्रवार को 6 सप्ताह का समय दिया कि वर्ष 2002 के बिलकिस बानो गैंगरेप मामले में दोषी ठहराये गये पुलिसकर्मियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की गयी है या नहीं।
मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा और न्यायमूर्ति ए एम खानविलकर और न्यायमूर्ति डी वाई चन्द्रचूड की एक पीठ ने राज्य सरकार की तरफ से पेश अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल तुशार मेहता के उस आग्रह पर विचार किया कि मामले में संबंधित अधिकारियों को निर्देश के लिए कुछ समय दिया जाना चाहिए।
पीठ ने मामले की सुनवाई जनवरी के पहले सप्ताह में निर्धारित की है। पीठ ने हालांकि यह स्पष्ट किया कि बिलकिस बानो को दिये जाने वाले मुआवजे को बढ़ाये जाने संबंधी एक अलग याचिका पर सुनवाई अगले सप्ताह होगी।
इससे पहले 23 अक्टूबर को सुप्रीम कोर्ट ने मामले में गुजरात सरकार से दोषी अफसरों के विभागीय जांच संबंधी स्टेटस रिपोर्ट मांगी थी। सुप्रीम कोर्ट ने पूछा था कि क्या उन अधिकारियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की गई। साथ ही ये भी कहा कि उन्हें सेवा में नहीं रखा जा सकता। कोर्ट ने इस मामले में चार हफ्ते में जवाब मांगा था। मामले में गुजरात सरकार को शुक्रवार (24 नवंबर) को सुप्रीम कोर्ट में जवाब देना था, लेकिन उसने समय मांग लिया। जिसके बाद कोर्ट ने छह हफ्ते का समय दिया। अब सुनवाई जनवरी के पहले सप्ताह में होगी।
बॉम्बे हाई कोर्ट ने चार मई को अपने फैसले में सामूहिक बलात्कार के इस मामले में 12 दोषियों की उम्र कैद की सजा बरकरार रखी थी जबकि कोर्ट ने पुलिसकर्मियों और चिकित्सकों सहित सात व्यक्तियों को बरी करने का निचली अदालत का आदेश निरस्त कर दिया था।
क्या है पूरा मामला
गोधरा ट्रेन अग्निकांड की घटना के बाद गुजरात में भड़की सांप्रदायिक हिंसा के दौरान मार्च, 2002 में गर्भवती बिलकिस के साथ सामूहिक बलात्कार किया गया था । इस हिंसा में उसके परिवार के सात सदस्य मार डाले गये थे जबकि परिवार के छह अन्य सदस्य बच कर भाग निकलने में कामयाब हो गये थे।
कोर्ट ने पांच पुलिसकर्मियों और दो डॉक्टरों को अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन नहीं करने और साक्ष्यों से छेडछाड करने के अपराध का दोषी ठहराया था। दोषी ठहराये गये पुलिसकर्मियों नरपत सिंह, इदरीस अब्दुल सैयद, बीकाभाई पटेल, रामसिंह भाभोर, सोमभाई गोरी और और डाक्टरों में अरूण कमार प्रसाद और संगीता कुमार प्रसाद शामिल हैं। स्पेशल कोर्ट ने 21 जनवरी, 2008 को इस मामले में 11 आरोपियों को दोषी ठहराते हुये उन्हें उम्र कैद की सजा सुनाई थी

नई दिल्ली - गुजरात में अहमदाबाद रेलवे स्टेशन पर बम होने की सूचना मिलने से हड़कंप मच गया। हालांकि शुरुआती जांच में यह सूचना अफवाह निकली। स्टेशन पर बम होने की खबर मिलते ही पुलिस, डॉग स्क्वॉयड और बम निरोधक दस्ता मौके पर पहुंच गया। जांच टीम ने स्टेशन पर तलाशी अभियान चलाया लेकिन कोई संदिग्ध सामान बरामद नहीं हुआ।
गौरतलब है कि गुजरात में पहले चरण के लिए 9 दिसंबर को वोटिंग होनी है। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 27 नवंबर और 29 नवंबर को राज्य में आठ रैलियों को संबोधित करनेवाले हैं। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी शुक्रवार को गुजरात का चुनावी दौरा करेंगे और इस दौरान अहमदाबाद में एक रोड शो के अलावा पाटीदारों की बहुलता वाले निकोल क्षेत्र में सभा भी करेंगे।

 

ठाणे - ठाणे जिले के भिवंडी में चार मंजिला एक इमारत ढह गई जिसके मलबे में कई लोगों के फंसे होने की आशंका है। क्षेत्रीय आपदा प्रबंध प्रकोष्ठ के प्रमुख संतोष कदम ने बताया कि नवी बस्ती इलाके में सुबह करीब नौ बजे इमारत ढह गई। जिले के वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी ने बताया कि राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल के दलों को बचाव एवं राहत कार्य के लिए भिवंडी भेजा गया है। पुलिस अधिकारियों और अन्य अधिकारियों को भी घटनास्थल के लिए रवाना किया गया है। समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार इस हादसे में एक लोगों की मौत हुई जबकि 3 लोग घायल बताए जा रहे हैं।

रोहतक - दो साध्वियों के साथ बालात्कार के दौष में 20 साल की सजा काट रहे डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम को सीबीआई अदालत जाने के बाद जेल में नहीं जाने देने के लिए पूरी योजना तैयार की गई थी। हिंसा और देशद्रोह के आरोपी पवन इंसां ने रिमांड के दौरान पुलिस को बताया है कि 17 अगस्त की कोर कमेटी की बैठक से पहले हनीप्रीत ने डॉ. आदित्य और उसके साथ गुप्त बैठक की थी। उसी रात कोर कमेटी की बैठक बुलाई गई, जिसमें 45 सदस्यीय कमेटी के अधिकतर लोग शामिल थे। बैठक में निर्णय लिया गया था कि चाहे पंचकूला में कितना बड़ा नुकसान हो जाए, बाबा को जेल में जाने नहीं दिया जाएगा।
हनीप्रीत रखती थी हिसाब-किताब
पुलिस सूत्रों के मुताबिक, पवन इंसां ने बताया है कि डेरा के पैसे का पूरा हिसाब-किताब हनीप्रीत ही रखती थी। उसके कहने पर ही पैसा पहुंचाया जाता था। उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश के अलग-अलग जिलों में आगजनी और तोड़फोड़ के लिए काफी पैसा बांटा गया था।
प्रवक्ता आदित्य की जानकारी
पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में पवन ने बताया कि डेरे का मुख्य प्रवक्ता डॉ. आदित्य इंसां फिलहाल गुजरात के भुज या फिर महाराष्ट्र के फलटण में छिपा हो सकता है। आदित्य का दोस्त अभिजीत उर्फ बबलू उसे पिछले काफी दिनों से शरण दे रहा है।
पंजाब पुलिस के कमांडो ने की थी मदद
पवन इंसां ने बताया है कि पंजाब पुलिस के कुछ कमांडोज ने हनीप्रीत की मदद की थी। हनीप्रीत ने 28 अगस्त को जेड प्लस सिक्योरिटी की आड़ में ही डेरा छोड़ा था। 25 अगस्त को राम रहीम के काफिले में शामिल 400 गाड़ियों में ज्यादातर पंजाब नंबर की थी। पंजाब के मोहाली के एक बड़े बिल्डर द्वारा प्रायोजित दर्जनों गाड़ियां भी इस काफिले में शामिल थी।
बाबा ने जेल में कमाए 3520 रुपए
दुष्कर्म के केस में 20 बरस की की सजा काट रहे बाबा गुरमीत को सुनारियां जेल में तीन माह बीत गए हैं। बाबा ने इस दौरान यहां पौधों की उगाई व नलाई का काम करके 3520 रुपये कमाए हैं। पुलिस सूत्रों के मुताबिक बाबा ने कमाई से ज्यादा खर्च किया है। जेल की कैंटीन से उन्होंने तीन माह में 18 हजार रुपए से अधिक का सामान लिया है। यह पैसा उसके परिजन जब जेल में मुलाकात के लिए आते हैं तो दे जाते हैं।

नई दिल्ली - सेना ने 73 दिन तक चले डोकलाम गतिरोध की पृष्ठभूमि में चीन से लगी सीमा पर सड़क ढांचे को दुरुस्त करने का फैसला किया है। सेना ने अपने कोर इंजीनियरों को पूरे जोरशोर के साथ इस कार्य को करने का जिम्मा सौंपा है ताकि सैनिकों की तीव्र आवाजाही सुनिश्चित हो सके।
आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि कोर ऑफ इंजीनियर्स (सीओई) ने इस उद्देश्य के लिए पहले ही कई कदम उठाने शुरू कर दिये है। पहाड़ काटने और सड़क बिछाने की विभिन्न मशीनों के नये संस्करणों और उपकरणों के लिए आर्डर दिये गये है। इसके अलावा सैनिकों की तीव्र आवाजाही के लिए असाल्ट ट्रेक्स की खरीद की जा रही है।
सूत्रों ने बताया कि सेना मुख्यालय ने बारूदी सुरंग का पता लगाने की कोर इंजीनियरों की क्षमता बढ़ाने के लिए एक हजार से अधिक दोहरे ट्रैक माइन डिटेक्टरों के आर्डर दिये है। भारत और चीन 4000 किलोमीटर लम्बी सीमा साझा करते है। 237 पुरानी सीओई महत्वपूर्ण इंजीनियरिंग मदद उपलब्ध कराती है। यह सैनिकों तथा तोपों की तीव्र आवाजाही के लिए महत्वपूर्ण सीमाई इलाकों में सम्पर्क सुलभ कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।
सूत्रों ने बताया कि संवेदनशील सीमाओं पर आधारभूत ढ़ांचे को बढ़ाना सरकार की सशस्त्र सेनाओं की लड़ाकू तैयारियों को प्रोत्साहित करने की समग्र रणनीति का एक हिस्सा है।
सेना डोकलाम गतिरोध के बाद चीन-भारत सीमा पर आधारभूत संरचना पर ध्यान केन्द्रित कर रही है। उल्लेखनीय है कि चीनी सेना द्वारा विवादित क्षेत्र में सड़क निर्माण को भारतीय सैनिकों के रोकने के बाद 16 जून से डोकलाम में 73 दिनों तक भारत और चीन के सैनिकों के बीच गतिरोध बना रहा। यह गतिरोध 28 अगस्त को समाप्त हुआ था।

Page 1 of 1946

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें