इस्‍लामाबाद - एवेनफील्‍ड संपत्‍ति मामले में फंसे पाकिस्‍तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ का कहना है कि उनके इस केस को लड़ने के लिए कोई वकील तैयार नहीं हो रहा है। शरीफ के वकील ख्‍वाजा हैरिस ने सोमवार को नवाज व उनके परिवार को दी जाने वाली अपनी कानूनी सेवाओं को समाप्‍त कर दिया। हैरिस ने कहा कि सप्‍ताहांत में अकाउंटैबिलिटी कोर्ट में पेश होने में वे असमर्थ हैं।
शरीफ ने दावा किया कि उनके मौलिक अधिकारों का उल्लंघन किया जा रहा है क्योंकि कोई वकील ऐसे मामले में पैरवी नहीं करेगा जहां उसे मामला तैयार करने के लिए समय नहीं मिले और उससे सप्ताहांत पर पेश होने के लिए कहा जाए। शरीफ उनके वकील ख्वाजा हैरिस का जिक्र कर रहे थे जो 11 जून(सोमवार) को उनका प्रतिनिधित्व करने में नाकाम रहे क्योंकि हैरिस ने कहा कि वह न तो दबाव में काम कर सकते और ना ही अकाउंटैबिलिटी कोर्ट की मांग के अनुसार सप्ताहांत पर पेश हो सकते. ‘डान’ अखबार ने शरीफ के हवाले से कहा, ‘क्या प्रधान न्यायाधीश (मियां साकिब निसार) नहीं जानते कि न्याय में जल्दबाजी न्याय को कुचलने के समान है?’
हैरिस ने यह भी कहा कि सुप्रीम कोर्ट एक माह के अंदर सुनवाई खत्‍म करना चाहता था जो संभव नहीं था। नवाज और उनका परिवार भ्रष्‍टाचार के तीन मामलों का सामना कर रहा है जो नेशनल अकाउंटैबिलिटी ब्‍यूरो (एनएबी) द्वारा दायर की गई है। यदि पाकिस्‍तान आम चुनाव के पहले भ्रष्‍टाचार मामलों में फैसला आया तो यह कानून का अपमान होगा। उन्‍होंने परवेज मुशर्रफ की भी आलोचना की। उन्‍होंने कहा, ‘संविधान का उल्‍लंघन करने वाले तानाशाह को कैसे इतना प्‍यार दिया जा रहा है।‘ अकाउंटैबिलिटी कोर्ट में भ्रष्‍टाचार मामले में शरीफ के बेटे हसन और हुसैन, बेटी मरियम, दामाद मोहम्‍मद सफदर और वित्‍त मंत्री इशाक डार का नाम शामिल है।
बता दें कि पिछले साल 28 जुलाई को पाकिस्‍तान सुप्रीम कोर्ट ने शरीफ को प्रधानमंत्री पद के लिए अयोग्‍य करार दिया था।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें