आतंकी संगठन आईएस का सरगना अबू बकर अल-बगदादी पिछले साल मई में हवाई हमले में घायल हो गया था। उसे पांच महीनों तक इस आतंकी समूह की कमान छोड़नी पड़ी थी।अमेरिकी अधिकारियों का हवाला देते हुए ‘सीएनएन’ ने खबर दी है कि अमेरिकी खुफिया एजेंसियों को इस बात का पूरा यकीन है कि पिछले साल मई में जब सीरिया में रक्का के निकट मिसाइल हमला किया गया तब बगदादी वहीं था। उत्तर सीरिया में कैद रहे लोगों और शरणार्थियों से मिली जानकारी के आधार पर खुफिया एजेंसियों के लोग इस नतीजे पर पहुंचे हैं।यह स्पष्ट नहीं है कि बगदादी की हालत गंभीर थी या नहीं, लेकिन इतना जरूर है कि वह समूह के सरगना का कामकाज लंबे समय तक जारी नहीं रख सका।
पिछले साल मई में सीरिया के रक्का के पास था मौजूद:-अमेरिकी खुफिया अधिकारियों का यह आकलन उत्तरी सीरिया में आईएस कैदियों और शरणार्थियों की रिपोर्ट पर आधारित है। ये रिपोर्ट हवाई हमले के कई महीनों बाद सामने आई हैं। हालांकि बगदादी की चोटें जानलेवा नहीं थी लेकिन वह गुट के रोजाना के ऑपरेशनों की निगरानी रखने के काबिल नहीं था।इसी समय आईएस ने इराक के मोसुल शहर पर अपना कब्जा गंवा दिया और संगठन की राजधानी कहे जाने वाले रक्का को अमेरिकी समर्थक सेनाओं ने घेर लिया था। हालांकि यह अभी स्पष्ट नहीं हो सका है कि हमले का निशाना बगदादी था या फिर हमले की चपेट में आ गया। इससे पहले भी कई बार बगदादी के मारे जाने या घायल होने की खबरें आती रही हैं लेकिन इनकी कभी पुष्टि नहीं हो सकी।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें