चीन के बेइहांग यूनिविर्सिटी के एक प्रोफेसर को यौन उत्पीड़न के आरोप में पद से हटा दिया गया है। प्रोफेसर पर एक पूर्व छात्रा ने सोशल मीडिया के जरिए यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया था।समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, यूनिवर्सिटी ने गुरुवार को अपने साइना वेईबो अकाउंट पर घोषित किया कि चेन शियाओवु को यूनिवर्सिटी के ग्रेजुएट स्कूल के कार्यकारी उपाध्यक्ष के पद से हटा दिया गया है। उनके शिक्षण प्रमाणपत्र को भी रद्द कर दिया गया है।यूनिवर्सिटी ने कहा कि यह फैसला स्कूल द्वारा कराई गई जांच के बाद लिया गया, जिसमें पता चला कि 'चेन ने छात्राओं का यौन उत्पीड़न किया था।'जनवरी की शुरुआत में चेन की पूर्व डॉक्टरेट छात्रा लुओ कियानकियान ने वेईबो पर पोस्ट एक आलेख में उन पर उसका और अन्य छात्राओं का यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया था।लुओ ने अपने आलेख में लिखा था कि चेन ने 1० साल पहले अपनी बहन के घर पर उन्हें बुलाकर उसके साथ जबरदस्ती करने की कोशिश की थी, हालांकि, वह खुद को बचाने में सफल रही और रोते हुए वहां से निकल गई।लुओ ने अन्य पीड़िताओं तक पहुंचने के लिए और उन लोगों के अनुभवों को साझा करने के लिए उन लोगों के साथ वीचैट ग्रुप बनाया और यूनिवर्सिटी को सबूत एकत्र कर सौंपा।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें