नई दिल्ली - जर्मनी के विदेश मंत्री हाइको मास ने कहा कि सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल असद के पद से हटने के बाद ही सीरियाई संकट का समाधान होगा. चांसलर एंजेला मर्केल (सीडीयू) के आधिकारिक प्रवक्ता स्टेफन सेबर्ट ने कहा कि सीरियाई संघर्ष का दीर्घकालीन समाधान असद के बिना ही संभव है.  जर्मनी के विदेश मंत्री का यह बयान अमेरिका के नेतृत्व में सीरिया पर हवाई हमलों में शामिल होने के जर्मनी के इनकार के बावजूद आया है. गौरतलब है कि शनिवार को अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन ने संयुक्त रूप से सीरिया के सैन्य ठिकानों पर हवाई हमले किए.​

सीरियाई सेना द्वारा डौमा में कथित रासायनिक हमले पर प्रतिक्रियास्वरूप यह संयुक्त कार्रवाई की गई. हालांकि, सीरिया सरकार ने इन आरोपों का खंडन किया है.

सीरिया में रासायनिक हथियार जांचकर्ताओं को जांच के लिए डौमा जाने की मंजूरी मिल गई है. सीरिया के डौमा में ही कथित तौर पर रासायनिक हमला किया गया था.

Share this article

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें