चीन की महत्वाकांक्षी परियोजना सिल्क रोड जिसमें रेलवे, बंदरगाह और अन्य मार्गों को एशिया से यूरोप की योजना है। लेकिन, इस योजना को पाकिस्तान में कई तरह की अड़चनों का सामने करना पड़ा रहा है।पाकिस्तान का बीजिंग के साथ संबंध इस कदर घनिष्ठ है कि अधिकारी पाकिस्तान का अपना आयरन ब्रदर बताते हैं। उसके बावजूद नवंबर महीने में डेमर भाषा डैम में चीन की मदद को पाकिस्तान ने यह कहते हुए ठुकरा दिया इसमें चीन इस हैड्रो पावर प्रोजेक्ट पर अपना मालिकाना हक चाहता है। उन्होंने इसे पाकिस्तान के हितों के खिलाफ बताया।हालांकि, चीन ने इसका खंडन किया लेकिन अधिकारियों ने दोनों देशों के तरफ से विकसित किए जा रहे दर्जनों प्रोजेक्ट से इस डैम को हटा दिया है। चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग के महत्वाकांक्षी बेल्ड ऐंड रोड इनिशिएटिव के तहत प्रॉजेक्ट्स को पाकिस्तान से लेकर तंजानिया और हंगरी तक कई तरह की मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। कुछ प्रॉजेक्ट्स रद्द हो रहे हैं या उन पर नए सिरे से बातचीत हो रही है। जबकि, कुछ प्रॉजेक्ट्स में लागत को लेकर विवाद की वजह से देरी हो रही है।शी चिनफिंग ने 2013 में ओबोर (वन बेल्ट वन रोड) का ऐलान किया था। ओबोर प्रॉजेक्ट का जब चीन ने ऐलान किया था उस वक्त दुनिया के कई देशों ने इसका स्वागत किया था। लेकिन अब वॉशिंगटन से लेकर मॉस्को और नई दिल्ली की सरकारें बेल्ट ऐंड रोड को लेकर सशंकित है। इनके मुताबिक बीजिंग वन बेल्ट वन रोड का इस्तेमाल चीन-केंद्रित राजनीतिक ढांचे को बनाने की कोशिश के तौर पर कर रहा है।वन बेल्ट वन रोड के तहत आने वाले जिन प्रॉजेक्ट्स पर ग्रहण लगा है उनमें नेपाल का भी एक हाइड्रो प्रॉजेक्ट शामिल है। पिछले साल नवंबर में नेपाल ने चीन की कंपनियों की ओर से 2.5 अरब डॉलर के डैम प्रॉजेक्ट को बनाने के प्रस्ताव को खारिज कर दिया। नेपाल ने कहा था कि गंडकी हाइड्रो इलेक्ट्रिक प्रॉजेक्ट के ठेकों में नियमों का उल्लंघन हुआ था।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें