न्यूयार्क - औसत वैश्विक तापमान का रिकॉर्ड रखने की आधुनिक व्यवस्था शुरू होने के बाद से पिछले 137 वर्षों में मई में सबसे गर्म तापमान के मामले में यह साल दूसरे नंबर पर रहा। नासा ने यह जानकारी दी।
मई में सर्वाधिक तापमान पिछले दो साल में इस साल रहा है।इससे पहले सबसे गर्म मई वर्ष 2016 में रही थी। इस दौरान तापमान विशेष सांखियकी गणना के अनुसार औसत तापमान से 0.93 डिग्री सेल्सियस अधिक दर्ज किया गया था।
वर्ष 1951 से 1980 तक यह औसत तापमान मई के तापमान की तुलना में पिछले महीने 0.88 डिग्री सेल्सियस अधिक था।
इस साल मई में तापमान पिछले साल मई की तुलना में 0.05 डिग्री सेल्सियस कम था। मई में सबसे गर्म तापमान के मामले में तीसरे नंबर पर रहे वर्ष 2014 की तुलना में इस साल तापमान 0.01 डिग्री सेल्सियस अधिक रहा।
नासा के गोडार्ड इंस्टीटयूट फॉर स्पेस स्टडीज (जीआईएसएस) में वैज्ञानिकों ने विश्वभर के करीब 6300 मौसम विज्ञान स्टेशनों, समुद्र की सतह का तापमान मापने वाले उपकरणों और अंटाटर्कि अनुसंधान स्टेशन के सार्वजनिक तौर पर उपलब्ध डेटा को एकत्र करके मासिक विश्लेषण किया है।
आधुनिक वैश्विक तापमान रिकॉर्ड व्यवस्था साल 1880 के आस पास शुरू हुई थी क्योंकि पहले के पर्यवेक्षणों में ग्रह के पर्याप्त भाग का पर्यवेक्षण नहीं हो पाता था।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें