लंदन - ब्रिटेन की विपक्षी लेबर पार्टी ने ट्विटर पर जानकारी देते हुए बताया है कि पूर्व रूसी डबल एजेंट की जहर से हुई मौत को लेकर ब्रिटेन की प्रधानमंत्री थेरेसा मे बुधवार को संसद में बयान देंगी। मे ने सोमवार को जासूस की गंभीर हालत के लिए रूस को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने संसद को बताया कि जासूस को मारने के लिए जिस जहर का इसतेमाल हुआ वो रूस का बनाया हुआ एक मिलिट्री ग्रेड नर्व एजेंट था। ये जहर रूस के खतरनाक नोविचोक जहर में से एक है।
सर्गी ऐसे नहीं अकेले एजेंट
आपको यहां पर ये भी बता दें कि सर्गी ऐसे पहले रूसी एजेंट नहीं हैं, जिनकी हत्‍या की गई हो। इससे पहले एलेक्‍जेंडर लिटविनेंको की 2006 में हत्‍या कर दी गई थी। वह वर्ष 2000 में ब्रिटेन छोड़कर भागे थे। उनकी हत्‍या की वजह रेडियो‍एक्टिव पोलोनियम 210 बताया गया है। उनकी हत्‍या के आरोप ड्यूमा के डिप्‍टी ऐंड्रे लूगोवॉए पर लगा था, लेकिन उन्‍होंने हत्‍या की बात को सिरे से खारिज कर दिया था। इसके अलावा ब्रिटेन में रूसी बिजनेसमैन की हत्‍या को लेकर भी मास्‍को के खिलाफ अंगुली उठी थी, लेकिन ब्रिटेन को इसका कोई सबूत नहीं मिल सका था।

 

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें