कराची - पाकिस्तान के थार इलाके में 16 साल की हिंदू लड़की का अपहरण कर जबरन धर्मांतरण कराने के मामले ने तूल पकड़ लिया है। हिंदू समुदाय ने राज्य सरकार और पुलिस की चुप्पी को लेकर शुक्रवार को विरोध प्रदर्शन किया।
डॉन अखबार के मुताबिक, सिंध प्रांत वानहारो गांव के सैय्यद समुदाय के कुछ युवकों ने रविता मेघवार का छह जून को अपहरण कर लिया। गुरुवार को नवाज अली शाह नाम का उमरकोट जिले में रविता को लेकर सामने आया और खुद को उसका पति बताया। उसने खुलासा किया कि रविता ने इस्लाम धर्म कबूल करने के बाद उससे निकाह कर लिया है।
रविता को भी शुक्रवार मीडिया के समक्ष पेश किया गया। रविता ने अपहरण से इनकार करते हुए कहा कि वह अपनी मर्जी से नवाज के साथ भागी थी और उससे निकाह किया है। हालांकि विवाह प्रमाणपत्र में उसकी उम्र 18 बताई जा रही है, जबकि अभी वह 16 साल की है। रविता के प्राइमरी स्कूल प्रमाणपत्र में भी उसकी जन्मतिथि 14 जुलाई 2001 है। हिंदू विवाह कानून के अनुसार, 18 साल से कम उम्र की लड़की का धर्मांतरण और शादी नहीं कराई जा सकती।
हालांकि लड़की के परिवारवालों ने पुलिस के समक्ष हंगामा किया। रविता के पिता सतराम दास ने कहा कि उनके परिवार को नींद की गोलियां खिलाने के बाद मुस्लिम युवक उनकी बेटी को जबरन साथ ले गए। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस ने उनकी एक नहीं सुनी। पीएमएल-एन के नेता और हिंदू परिषद के प्रमुख रमेश कुमार वैंकवानी ने घटना पर चिंता जताई है। उन्होंने लड़की को कोर्ट में पेश होकर बयान देने की मांग की है। हालांकि दबाव के बाद पुलिस ने चार युवकों के खिलाफ केस दर्ज किया है और लड़की को बरामद करने की कोशिश कर रही है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें